कंप्यूटर साइंस क्या है (What is Computer Science in Hindi)

0

कंप्यूटर साइंस क्या है आजके इस पोस्ट में हम इसके बारे में जानिंगे। दोस्तों chat gpt, midjourney ऐसे न जाने कितने ही AI tools आए दिन लांच हो रहे हैं। जहां देखो वहां AI और Machine learning की ही बातें हो रही है। क्योंकि information technology काफी तेजी से grow हो रही है। आज कंप्यूटर का इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जा रहा है।

कम्प्यूटर साइंस क्या है (What is Computer Science in Hindi)


चाहे शिक्षा हो या फिर विज्ञान हर जगह आपको कंप्यूटर का योगदान देखने को मिल जाएगा‌। ऐसे में अब लोग कंप्यूटर के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाह रहे हैं। जिसके लिए Computer Science की नॉलेज होना जरूरी है। पर अधिकतर लोगों को पता ही नहीं कि कंप्यूटर साइंस क्या है?

जिस वजह से उन्हें कंप्यूटर के बारे में और AI technology को समझने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अगर आपको भी Computer Science के बारे में कुछ खास पता नहीं है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको Computer Science के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने वाले हैं।

कंप्यूटर साइंस क्या है? (What is Computer Science in Hindi)

Computer Science, computer और computational system की पढ़ाई है। Computer Science एक बहुत ही बड़ा फील्ड हैं क्योंकि इसमें एल्गोरिथम से लेकर Software बनाना, software hardware के साथ कैसे काम करना, software develop करने जैसी सारी चीजे आती हैं।


Computer science की पढ़ाई करने वाले लोग mathematical algorithms, coding, expert programming skills का इस्तेमाल करके computer की प्रक्रिया को समझते है और सॉफ्टवेयर बनाते हैं। कंप्यूटर साइंस में कंप्यूटर के प्रोग्राम को बनाना और डिजाइन करना सिखाया जाता है इसीलिए इसे Informatics भी कहा जाता है। ‌

ध्यान देने वाली बात ये भी है कि कंप्यूटर साइंस में सिर्फ कंप्यूटर के बारे में ही नहीं पढ़ाया जाता है बल्कि इसमें और भी कई सारी चीजें आती है। कंप्यूटर साइंस का इस्तेमाल अलग-अलग क्षेत्रों में किया जाता हैं इसीलिए इसकी डिमांड बहुत ज्यादा हैं।

सॉफ्टवेयर डेवलपर करने के अलावा कंप्यूटर साइंस की मदद से डाटा रिकॉर्ड और एनालाइज किया जाता है। कंप्यूटर में जो Algorithm काम करते हैं उसका निर्माण भी कंप्यूटर साइंस के वजह से ही मुमकिन हो पाया है। कंप्यूटर साइंस के अंदर सिर्फ सॉफ्टवेयर के बारे में ही नहीं सिखाया जाता है।


बल्कि कंप्यूटर साइंस में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों के बारे में पढ़ाया जाता है। कंप्यूटर साइंस के वजह से Digital Information को edit करना, स्टोर करना और उसे share करना बहुत आसान हो गया है। कंप्यूटर साइंस में मुख्य रूप से किसी भी समस्या का समाधान खोजा जाता है और ये जो समस्या होती है वो ऐसी वैसी नहीं बल्कि कंप्यूटर से जुड़ी समस्या होती है।

कंप्यूटर साइंस, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से अलग क्यों है?

Computer science और information technology सुनने में तो बहुत हद तक एक जैसे लगते हैं लेकिन इनमें काफी अंतर होता है –

  • कंप्यूटर साइंस सॉफ्टवेयर और सॉफ्टवेयर सिस्टम बनाने व उसकी testing करने में ज्यादा फोकस करता है। जबकि IT में mathematical models, data analysis & security, algorithms और computational theory पर काम किया जाता है।
  • कंप्यूटर साइंस सभी सॉफ्टवेयर के बेसिक प्रिंसिपल्स के बारे में बात करते हैं। जबकि इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में कंप्यूटर और उसके इनफार्मेशन सिस्टम के development, implementation, support, और management पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है।
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के अंदर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों के ऊपर ही ध्यान दिया जाता है। इसके अलावा IT में जो काम करते हैं वो कंप्यूटर, नेटवर्क, और सिस्टम को अपने यूजर्स के लिए सही से run करते हैं।

कंप्यूटर साइंस में करियर स्कोप कितना है?

अगर मैं सीधी और स्पष्ट बात करूं तो आज टेक्नोलॉजी जितनी तेजी से grow कर रही है। इसे देखते हुए ये अनुमान लगाया जा सकता है की आज से 5 साल बाद या फिर 10 साल बाद हर जगह सिर्फ कंप्यूटर और रोबोट का ही बोलबाला होगा।


ऐसे में अगर आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करते हैं तो आने वाले वक्त में आप के पास नौकरी करने के लिए ज्यादा scope होगा। क्योंकि आने वाले समय में ऐसे लोगों की बहुत डिमांड होगी जो कंप्यूटर साइंस की डिग्री रखते हो।

ऐसा इसलिए क्योंकि कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करने से आपको सिर्फ AI के क्षेत्र में ही फायदा नहीं मिलता है। बल्कि आप computer systems & networks, security, database systems, human-computer interaction, vision & graphics, numerical analysis, programming languages, software engineering, bioinformatics जैसे क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

मान लीजिए आपको कंप्यूटर साइंस में इंटरेस्ट है और आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करके इसमें bachelor degree ले लेते हैं तो उसके बाद आप नीचे बताए इन कामों को कर सकते हैं (scope of jobs in computer science) 


  • Data Scientist
  • Web Optimization Specialist
  • Database Administrator
  • Security Analyst
  • Video Game Developer
  • Health Information Technician
  • Systems Analyst
  • Computer Programmer
  • Product Manager
  • Full-Stack Developer
  • Quality Assurance Engineer
  • Mobile Developer
  • Software Engineer
  • Network Administrator
  • Chief Information Officer
  • Hardware Engineer
  • Business Intelligence Analyst
  • Front-End Developer
  • Back-End Developer
  • Information Technology Specialist

कंप्यूटर साइंस प्रोफेशनल कितना पैसा कमाते हैं?

जैसा की मैंने आपको बताया कंप्यूटर साइंस एक बहुत ही demanding field है और इस क्षेत्र में skilled लोगों की बहुत ही ज्यादा डिमांड होती है। ऐसे में अगर आप कंप्यूटर साइंस के student हैं और आप ने पढ़ाई करते हुए कंप्यूटर से जुड़ी अच्छी skills सीखी हैं तो आप आसानी से बहुत पैसा कमा सकते है।

वैसे मैं आपको बता दूं कि कंप्यूटर साइंस प्रोफेशनल शुरुआत में साल के 2 से 3 लाख रुपए कमाते हैं। लेकिन आप कितने पैसे कमाएंगे वो आपकी skills पर निर्भर करता है। अगर आप की skills अच्छी होगी तो आप इससे भी ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

जो लोग कंप्यूटर साइंस के फील्ड में एक्सपर्ट होते हैं, वो महीने के लाखों रुपए कमाते हैं। इसीलिए पैसे कमाने की दृष्टि से भी अगर देखें, तो कंप्यूटर साइंस आपके लिए एक अच्छा फील्ड हो सकता है।

कंप्यूटर साइंस का महत्व क्या है?

आजकल आपको जो फोन की आदत लगी हुई है उसकी वजह भी कंप्यूटर साइंस ही है क्योंकि कंप्यूटर साइंस की वजह से ही algorithm बनाए गए हैं और उन्हें इस तरह से डिजाइन किया गया है कि वो आप की पसंद को ध्यान में रखते हुए आपको आपके पसंद की चीजें दिखाता है।

चाहे game हो, social media network हो या फिर Google, Youtube हर जगह जो चीज काम करता है वो है algorithm! इसीलिए इन चीजों को देखते हुए ये कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि अब हम सभी कंप्यूटर साइंस के ऊपर पूरी तरह से निर्भर हो चुके हैं।

लेकिन computer science मुख्य रूप से problem solving पर ध्यान देता है। कंप्यूटर साइंस में सिर्फ programming और कोडिंग की समस्याओं को हल करना ही नहीं सिखाया जाता बल्कि जिंदगी के समस्याओं को भी हल करना सिखाया जाता है।

इन सबके अलावा नीचे हमने आपको कुछ कारण बताएं जिसकी वजह से कंप्यूटर साइंस को पढ़ना इतना जरूरी हो गया है –

  • Computing व कंप्यूटर का इस्तेमाल हर जगह पर किया जाता है, इसीलिए कंप्यूटर साइंस इतना जरूरी है।
  • कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अच्छा होने से आप मुश्किल से मुश्किल समस्याओं को आसानी से solve कर सकते हैं। ‌
  • कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करके आप कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना योगदान भी दे सकते हैं। क्योंकि इसका स्कोप बहुत बड़ा है। तो आप अपने पसंद के क्षेत्र में काम करते हैं, दूसरों के लिए कुछ अच्छा बना सकते हैं।
  • जैसे मान लेते हैं कि आपने रोबोटिक्स लेकर पढ़ाई की! ऐसे में आप लोग हैं ये कोई ऐसा रोबोट बना सकते हैं जो दूसरों के समस्याओं का चुटकी में समाधान कर सके।
  • कंप्यूटर साइंस के अंदर आपको करियर बनाने के लिए भी काफी सारे ऑप्शंस मिलते हैं। जिसकी वजह से आपको अपने passion को explore करने का मौका मिलता हैं।
  • कंप्यूटर साइंस लेकर अगर आप पढ़ाई करते हैं। तो इसमें आपको अच्छी सैलरी वाली jobs opportunity अन्य क्षेत्रों के मुकाबले ज्यादा मिलती हैं। जिससे आप अच्छे पैसे कमा सकते हैं।
  • कंप्यूटर में अच्छा होने की वजह से आप अगर अपना बिजनेस भी करते हैं, तो भी उसमें आपको काफी फायदा होता है। क्योंकि आप को कंप्यूटर साइंस के अंदर प्रॉब्लम सॉल्व करना सिखाया जाता है। तो आप बिजनेस की प्रॉब्लम को आसानी से सॉल्व कर सकते हैं।
  • कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करके आप खुद को बाकियों से अलग कर सकते हैं अगर आपको साइंटिस्ट बनने का शौक है या फिर कुछ create करने का शौक है तो आप ये चीज आसानी से कर सकते हैं।
  • कंप्यूटर साइंस के अंदर आपको अकेले काम करना तो सिखाया जाता ही है। पर साथ ही साथ आपको किसी बड़े काम के लिए team का महत्व भी सिखाया जाता है।

कंप्यूटर साइंस के लाभ क्या है?

अगर आप कंप्यूटर साइंस लेकर अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं और आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करना चाह रहे हैं।‌ तो इससे आप बिल्कुल सही रास्ते में है। क्योंकि कंप्यूटर साइंस से आपको बहुत फायदे मिलेंगे। जैसे –

#1. कंप्यूटर साइंस ने हमारी जिंदगी को बहुत ही ज्यादा आसान बना दिया है। आज हम घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं, दवाइयां मंगा सकते हैं, खाना मंगवा सकते हैं! या फिर कोई भी सर्विस जो ऑनलाइन available है हम घर बैठे उसका उपयोग कर सकते हैं।

ये सारी चीजें कंप्यूटर साइंस के मदद से मुमकिन हो पाया है क्योंकि कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करने के बाद ही लोगों ने ऐसे सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशंस बनाए हैं जो लोगों को इस तरह की सर्विस दे सके।

#2. सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि ज्यादातर देशों में आपको बेरोजगारी की समस्या देखने को मिल जाएगी। आज दुनिया में पापुलेशन ज्यादा है लेकिन उनके करने के लिए काम बहुत कम है। जिसकी वजह से युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है। पर जो लोग कंप्यूटर साइंस लेकर पढ़ाई करते हैं। उन्हें नौकरी आसानी से मिल जाती है क्योंकि कंप्यूटर साइंस की डिमांड ही बहुत ज्यादा है।

#3. कंप्यूटर साइंस में आपको कोडिंग करने से लेकर प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर बनाना, हर चीज सिखा दिया जाता है। ऐसे में जब आप real world में आते हैं तो आपको काम करने में ज्यादा परेशानी नहीं होती है। क्योंकि आपको सारी चीजें पहले से ही आती है।

#4. प्रोग्रामिंग, कोडिंग, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, डाटा एनालिस्ट इस तरह की स्किल्स अगर आप सीख जाते हैं, तो आपको सिर्फ आज नहीं बल्कि आने वाले समय में भी फायदा होगा। और आप बाकी लोगों से एक कदम आगे चल रहे होंगे क्योंकि आज के समय में सबसे ज्यादा इन्हीं skills की डिमांड है।

#5. कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करना शायद आप सोच रहे होंगे बहुत आसान होता है। लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि जो लोग कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करते हैं। उन्हें बहुत पढ़ना पड़ता है और सारी चीजों को गहराई से जाना पड़ता है।

यहां तक की कई बार एक simple code लिखने के लिए भी उन्हें complicated mathematical problems को solve करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप गहराई से कंप्यूटर के बारे में जानना चाहते हैं तो भी आप के लिए कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करना एक अच्छा विकल्प है।

#6. कंप्यूटर साइंस का एक फायदा ये भी होता है कि डिमांड ज्यादा होने की वजह से इस क्षेत्र में जो नौकरी दी जाती है उसकी सैलरी भी काफी अच्छी होती है।

#7. इतना ही नहीं जैसा कि मैंने आपको बताया कंप्यूटर साइंस में बहुत ज्यादा स्कोप होने की वजह से लोग अपने interest और passion को ढूंढ पाते हैं। जिसकी वजह से उनमें job satisfaction आता है।

#8. शायद आपको ये बात सुनने में अजीब लगे लेकिन कंप्यूटर साइंस लोगों को खुद को डिवेलप करने में भी मदद करता है और उनके लिए जिंदगी में कई रास्ते खोलता है।

#9. अगर आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करके कंप्यूटर साइंस के किसी भी ब्रांच में skills सीख लेते हैं। तो आप सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी काम कर सकते हैं। कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करने का एक फायदा यह भी होता है कि जिस डिजिटल वर्ल्ड में हम जी रहे हैं उसके बारे में आपको सारी बातें पता होती है।

#10. सॉफ्टवेयर बनाना सीखकर आप अपने लिए passive income के रास्ते खड़े कर सकते हैं। आप दूसरों के लिए सॉफ्टवेयर बनाकर बेच सकते हैं और अपने इस काम के बदले उनसे royalty income ले सकते हैं।

#11. कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अभी कंपटीशन धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हो रहा है पर फिर भी बाकी सभी क्षेत्रों के मुकाबले इस क्षेत्र में कंपटीशन बहुत ही कम है। ऐसे में आप इस क्षेत्र में अगर अपना करियर बनाते हैं तो आप काफी आगे जा सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस में अपना करियर कैसे बनाये?

कंप्यूटर साइंस के बारे में इतना सब कुछ जानने के बाद आपके मन में ये सवाल आना लाजमी हैं की इस क्षेत्र में आप अपना करियर कैसे बना सकते हैं? हो सकता है कि आपको थोड़ा कंफ्यूजन हो रहा हो।

इसीलिए‌ आपकी मदद करने के लिए नीचे हमने आपको कुछ simple steps में कंप्यूटर साइंस में करियर बनाने का तरीका बताया है –

Step.1 Bachelor’s degree लीजिए

कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अगर आपको अपना कैरियर बनाना है या फिर इस क्षेत्र में आपको job करना है तो उसके लिए आपको सबसे पहले कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में ही एक स्नातक डिग्री लेनी होगी। स्नातक डिग्री लेने के बाद आप चाहे तो डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं।

Step.2 Interest पता कीजिए

computer science के क्षेत्र में डिग्री लेने के बाद आपको ये कई करना पड़ेगा की आप कंप्यूटर साइंस के किस ब्रांच में जॉब करना चाहते हैं। वैसे मैं आपको बता दूं कि कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में आप तभी सफल बन सकते हैं। जब आप इस क्षेत्र की किसी एक ब्रांच में speciality हासिल करें।

अगर आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आपके लिए कौन सा ब्रांच सही है तो आप सारे ब्रांच के बारे में जानकारी प्राप्त कीजिए, उसके बारे में पढ़िए। और फिर जिस ब्रांच में आपका इंटरेस्ट जगे आप उसी ब्रांच को लेकर आगे की पढ़ाई कीजिए।

Step.3 Certificates लीजिए

कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए भारत में सर्टिफिकेट बहुत ज्यादा जरूरी होता है। आप कितने काबिल हैं और आपको कौन-कौन सी चीजें आती हैं, ये आप का सर्टिफिकेट लोगों को बताता है। आप को security +, ethical hacking, Project Management Professional जैसे professional certificate जरूर प्राप्त करना चाहिए।

Step.4 शुरुआती Job ढूंढे

हर फील्ड की तरह, कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कर देने का मतलब ये नहीं है कि आप को एक ही बार में लाखों रुपए की जॉब मिल जाएगी। पढ़ाई कर लेने के बाद जब आपको नॉलेज मिल जाए तब आपको शुरुआत में experience लेने के लिए काम करना चाहिए। जितना ज्यादा आपके पास एक्सपीरियंस होगा आगे चलकर आपको उतना ही high package वाला job मिलेगा।

Step.5 Job Switch कीजिए

जैसा की मैंने आपको कहा शुरुआत में आपको पैसे कमाने के साथ-साथ experience लेने में भी ध्यान देना चाहिए। इसीलिए आपको एक job से दूसरे job में switch करना चाहिए और ये चीज आपको तब तक करनी है। जब तक आपको आपके मन मुताबिक  जॉब ना मिल जाए।

कंप्यूटर साइंस कोर्स के बारे में जानकारी

कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए आपको कंप्यूटर से जुड़ा कोई भी कोर्स बस ऐसे ही नहीं कर लेना है। बल्कि आपको अपने इंटरेस्ट को देखते हुए और future demand को ध्यान में रखते हुए ही कंप्यूटर साइंस कोर्स करना चाहिए।

कंप्यूटर साइंस के अंदर आप bachelor’s degree, diploma course और दूसरे certificate course आसानी से कर सकते हैं। टेक्नोलॉजी की वजह से अगर आप चाहें तो अब आप ऑनलाइन भी अपने पसंद का कोई भी कोर्स कर सकते हैं और सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस कोर्स आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों ही माध्यम से कर सकते हैं। आपको जो medium आसान लगता है, आप उस माध्यम से अपना कोर्स कर सकते हैं।

Degree Course of Computer Science के बारे में अगर मैं बात करूं तो आप इसमें Undergraduate (UG), Post Graduate (PG) और Doctorate (PhD) कर सकते हैं। जिसे करने में 3 साल से लेकर 5 साल का समय लगता है और पीएचडी करने पर 2 से 3 साल और लगते हैं। 12वीं पास करने के बाद आप कंप्यूटर साइंस के स्नातक की पढ़ाई कर सकते हैं।

Diploma Course of Computer Science में आपको इतना ज्यादा समय नहीं देना पड़ता है। अगर आपने स्नातक की डिग्री किसी और क्षेत्र में हासिल की हैं पर अब आपको कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में आना है।

तो आप अपने पसंद के किसी ब्रांच में डिप्लोमा कोर्स करके भी कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा कोर्स करने में 6 महीने से 2 साल का समय लगता है।

FAQ

कंप्यूटर साइंस पढ़ने में कितने साल लगते हैं?

कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में स्नातक की डिग्री लेने के लिए कम से कम 4 साल का समय लगता है।

मुझे कंप्यूटर साइंस क्यों चुनना चाहिए?

आपको कंप्यूटर साइंस इसीलिए चुनना चाहिए क्योंकि आने वाले समय में कंप्यूटर साइंस आपके सामने मौंको का दरवाजा खोलने वाली है।

कंप्यूटर साइंस लेने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए ?

अगर आप कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो आपका 12वीं में साइंस लेकर पास होना जरूरी है।

कंप्यूटर साइंस के लिए मैक्सिमम सैलरी कितनी है?

Skills होने पर कंप्यूटर साइंस से आप सालाना 2500000 रुपए तो आराम से कमा सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस के बाद कौन सी डिग्री?

कंप्यूटर साइंस से स्नातक की डिग्री लेने के बाद आप Big data engineering, data scientist, artificial intelligence, machine learning, data analyst जैसे ब्रांच में से किसी एक ब्रांच को चुनकर आगे की पढ़ाई कर सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस के लिए बीए या बीएस बेहतर है?

कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करने के लिए और इस क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए आपको Bsc करना चाहिए क्योंकि कंप्यूटर साइंस में साइंस और मैथ्स की समझ होनी बहुत जरूरी है।

दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने आपको कंप्यूटर साइंस क्या है? इस बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है साथ ही आपको ये भी बताया है कि अगर आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करते हैं तो आप इसमें कौन सा career बना सकते हैं।

इसके अलावा आज के समय में कंप्यूटर साइंस इतना जरूरी क्यों है? इस बारे में भी हमने आर्टिकल में बात की है। तो मुझे लगता है कि इस जानकारी को पढ़ने के बाद आपको कंप्यूटर साइंस से जुड़ी सारी बातें समझ आ गई होगी।

अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ में जरूर शेयर कीजिए। और अगर आपको कंप्यूटर साइंस में रुचि है।‌ तो आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कर सकते हैं, क्योंकि इसमें काफी स्कोप है।

Previous articleकंप्यूटर के प्रकार (Types of Computer in Hindi)
Next articleKisi Bhi Locked App Vault Ka Password Kaise Tode?
Ankur Singh
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकुर सिंह है और में New Delhi से हूँ। मैंने B.Tech (Computer Science) से ग्रेजुएशन किया है। और में इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, मोबाइल और इंटरनेट से जुड़े लेख लिखता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here