डाटाबेस (Database) क्या है? – What Is Database In Hindi

0

Database Kya Hai? – What Is Database In Hindi? दोस्तों Database का नाम तो आप सब ने सुना ही होगा, लेकिन अगर आप database के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की डाटाबेस क्या है? कितने प्रकार का होता है? उपयोग और फ़ायदे क्या है? History of Database & All about database in hindi?

दोस्तों यदि आप एक कंप्यूटर यूजर हैं! तो आपको डेटाबेस के बारे में जानकारी होनी महत्वपूर्ण है! और आज के इस लेख में हम जानेंगे कि हमारे कंप्यूटर में डेटाबेस क्या होता है? डेटाबेस का क्या महत्व होता है? तथा डाटाबेस कितने प्रकार के होते हैं अतः डेटाबेस के बारे में पूर्ण एवं सरल शब्दों में जानकारी पाने के लिए इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें!


दोस्तों पिछले पोस्ट में मैंने आपको बताया था की ब्लॉग (Blog) क्या है? – What Is Blog Meaning In Hindi और वेबसाइट (Website) क्या है? – What Is Website In Hindi? और अब अगर आप डाटाबेस के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की डाटाबेस (Database) क्या है? – What Is Database In Hindi?

डाटाबेस (Database) क्या है? – What Is Database In Hindi

डेटाबेस डेटा का एक संगठित संग्रह (organized collection) है, जिसे आमतौर पर कंप्यूटर सिस्टम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से संग्रहीत और एक्सेस किया जाता है। जहां डेटाबेस अधिक जटिल (complex) होते हैं, उन्हें अक्सर औपचारिक (formal) डिजाइन और मॉडलिंग तकनीकों का उपयोग करके विकसित किया जाता है।

दोस्तों इस इंटरनेट की दुनिया में हम अपने सवालों का जवाब आसानी से पता कर पाते हैं! जैसे यदि हम Google search engine. पर यह पूछते हैं कि अमिताभ बच्चन कौन है? तो इस स्थिति मे सर्च इंजन अपने डेटाबेस में उपलब्ध डाटा के अनुसार result में show कर देता है कि अमिताभ बच्चन कौन हैं.

इसी तरह यदि हम ऑफ़लाइन डेटाबेस का उदाहरण समझें तो जब हम अपनी किसी नजदीकी दुकान पर जाते हैं तो जब हम किसी सामान का नाम या उसके बारे में दुकानदार को बताते हैं तो तुरंत दुकानदार हमें वह सामान दे देता है!

अब मेरे यहां कहने का अर्थ यह है कि जब हम किसी जानकारी को यदि संभाल कर रखते हैं तो आसानी से उसे कभी भी प्राप्त कर सकते हैं! “ठीक इसी तरह इंटरनेट की दुनिया में डेटाबेस होता है जिसका कार्य डाटा को व्यवस्थित रूप से संभाल कर रखना होता है” जिससे जो भी यूजर किसी जानकारी को पूछता है तो डेटाबेस के जरिये जानकारी को तुरंत प्रस्तुत किया जा सके!

तो डेटाबेस को सरल शब्दों में समझें तो “यह जानकारियों का कलेक्शन होता है जिसमें जनकारियों को व्यवस्थित रूप में रखा जाता है! ताकि डाटाबेस में उपलब्ध जानकारी को आसानी से प्राप्त किया जा सके”!

इसमें save की गई जानकारियां किसी भी तरह की हो सकती है! उदाहरण के लिए जब आप बैंक में जाते हैं और जब आप अपनी डिटेल डालते हैं तो तुरंत आपको आपकी बैंक अकाउंट डिटेल सामने आ जाती है! ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बैंक के डेटाबेस में अनेक users की तरह आपके अकाउंट की जानकारी व्यवस्थित रूप से रखी जाती है! और जब कोई यूजर वहां अपना अकाउंट नंबर डालता है तो आपके अकाउंट की जानकारी आसानी से मिल जाती है!

“दोस्तों हमारी ऑनलाइन जिंदगी और डेटाबेस का महत्व काफी बढ़ चुका है डेटाबेस को एक तरह का रिकॉर्ड कह सकते हैं! जिसमें सारी जानकारियां सम्मिलित होती हैं”

उदाहरण के लिए यदि आप अक्सर Ms-word  पर डॉक्यूमेंट तैयार करते हैं तो उसमें सैकड़ों डॉक्यूमेंट सेव होते हैं! यह सभी डॉक्यूमेंट को ही डेटाबेस में save किया जाता है तथा जब आप किसी डॉक्यूमेंट का नाम टाइप करते हैं तो आपका डॉक्यूमेंट आपके सामने आ जाता है! तथा फिर आप चाहे तो डॉक्यूमेंट को edit या डिलीट कर सकते हैं!

अतः उस डॉक्यूमेंट् के तेजी से मिलने का कारण यही है कि “उसको एक डेटाबेस में ऑर्गेनाइज करके रखा जाता है जिससे यूजर जब भी उसे सर्च करें तो आसानी से उसे वह जानकारी मिल सके”

संक्षेप में कहें तो एक कंप्यूटर में बड़ी संख्या में डाटा को स्टोर करना तथा बाद में उस डेटा को इस्तेमाल कर edit, डिलीट तथा अपडेट किया जा सके एक डेटाबेस कहालाता है!

डाटाबेस का महत्व?

दोस्तों मान लीजिए यदि डाटाबेस न होता तो क्या होता आज हम इंटरनेट पर जो भी चीज सर्च करते हैं वह तुरन्त मिल जाता है ! वह सिर्फ इसलिए क्योंकि जो डाटा होता है उसको ऑर्गेनाइज तरीके से रखा जाता है यदि यह डेटा अस्त-व्यस्त होता तो हमें किसी जानकारी को ढूंढने में कई घंटों लग जाते हैं!

आप इसे अपने घर के सामान से भी compare कर सकते हैं यदि आपके टेबल पर कहीं सारी बुक्स को बेहतर तरीके से व्यवस्थित रूप में रखा हुआ है तो आप जब भी किसी बुक को ढूढेंगे तो आपको आसानी से मिल जाएंगे वहीं दूसरी ओर यदि उनको सही तरीके से न रखा जाए तो उसे ढूंढने में परेशानी होगी!


डाटाबेस का इतिहास – History Of Database In Hindi

1960 के दशक में डाटाबेस का विकास हुआ तथा डाटाबेस की शुरुआत 1980 के दशक में object oriented database के साथ हुई! परन्तु आज SQL,NoSQL डाटाबेस तथा cloud डेटाबेस उपलब्ध हैं!

तो दोस्तों इस तरह आपने जाना डेटाबेस क्या है? तथा इसके महत्व को जाना हम जानते हैं कि डेटाबेस के कितने प्रकार होते हैं?

डाटाबेस के प्रकार – Types Of Database In Hindi

Relational Database

रिलेशनल डेटाबेस का F.F. codd ने 1970 में IBM में अविष्कार किया था! यह एक  ट्यूबलर डाटाबेस है! रिलेशनल डाटाबेस डेटा के साथ tables के एक सेट से बने हुए थे जो पूर्व निर्धारित श्रेणी में फिट होते थे तथा प्रत्येक टेबल के एक कॉलम में एक डेटा कैटेगरी  होती थी!

relational डेटाबेस के लिए स्टैण्डर्ड यूजर तथा एप्लीकेशन प्रोग्राम इंटरफ़ेस होता है!! यह डाटाबेस  स्टोर किये गए items तथा इनफार्मेशन के बीच संबंध को व्यवस्थित करता है!

Distributor Database

डिस्ट्रीब्यूटर डेटाबेस में डेटाबेस के कई हिस्सों को विभिन्न भौतिक स्थानों पर store किया जाता है! जिसमें नेटवर्क में विभिन्न प्वाइंट्स के बीच प्रसंस्करण को फैलाया या दोहराया जाता है तथा डिस्ट्रीब्यूटर डेटाबेस सम विषम या हो सकते हैं<

Cloud Database

क्लाउड डेटाबेस एक डेटाबेस है जिसे आभाषी (virtual) वातावरण के लिए ऑप्टिमाइज या निर्मित किया गया है! हाइब्रिड cloud, सार्वजनिक क्लाउड या निजी क्लाउड के रूप में!

NoSql Database

डेटाबेस को भारी मात्रा में data performance की समस्याओं को सुधारने के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो कार्य रेलशनल डाटाबेस द्वारा नहीं किया जाता है!

Object Oriented Database

वे आइटम जो object oriented programming भाषा मे तैयार किये जाते हैं वे आमतौर पर रेलशनल डाटाबेस में store किये जाते हैं!

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड डाटाबेस आमतौर पर ऑब्जेक्ट के रूप में ऑर्गनाइज किये जाते हैं!

Graph Database

एक ग्राफ ओरिएंटेड डाटाबेस/ Graph डाटाबेस एक NoSQL डाटाबेस का एक प्रकार है! जो map, तथा क्वेरी रिलेशन के लिए graph theory का इस्तेमाल करता है!.

ग्राफ डेटाबेस वर्तमान समय में इंटरकनेक्शन को एनालाइज करने के लिए तेजी से प्रसिद्ध हो रहे हैं! उदाहरण के लिए कंपनियाँ ग्राफ डाटाबेस का इस्तेमाल कर सोशल मीडिया में यूज़र्स के बारे में जानकारी के लिए डेटा माइनिंग (अधिक डेटा प्राप्त करने के लिए) करती है!

यह लेख tagifind के लेखक Vikikhe Jimo द्वारा लिखा गया है! इसी तरह की अन्य उपयोगी पोस्ट पढ़ने के लिए आप tagifind वेबसाइट पर visit कर सकते हैं!

तो दोस्तों उम्मीद है की अब आपको डाटाबेस और डाटाबेस के प्रकारों के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की डाटाबेस क्या है? कितने प्रकार का होता है? उपयोग और फ़ायदे क्या है? History of Database & All about database in hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको डाटाबेस (Database) क्या है? – What Is Database In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here