Domain Name क्या है? – What Is Domain Name System In Hindi

0

Domain Kya Hai? – What Is Domain Name In Hindi? दोस्तों अगर आप अपने computer या mobile में internet use करते हो तो अपने website, blog और domain के बारे में तो ज़रूर सुना होगा। लेकिन अगर आप domain name system के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में मैं आपको बताऊँगा की Domain Name क्या है? SubDomain क्या है? इसके प्रकार? कैसे काम करता है? डोमेन कैसे ख़रीदे? & All About Domain Name System In Hindi?

दोस्तो आज इंटरनेट पर आप किसी भी टॉपिक पर सर्च करते हैं! तो उस टॉपिक से रिलेटेड कहीं सारी वेबसाइट आपके सामने खुल कर आ जाती हैं! ऐसा इसलिए क्योंकि आज इंटरनेट पर रोजाना इंग्लिश, हिंदी या अन्य भाषाओं में लाखों ब्लॉग पब्लिश होते हैं.


क्या आप भी इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट बनाने के बारे में सोच रहे हैं? तो यहां पर आपको domain शब्द सुनने को जरूर मिलेगा! दोस्तो आजकल आपने tv या mobile में godaddy के विज्ञापनों में भी देखा होगा कि godady से अपना डोमेन लीजिए और बिज़नेस को ऑनलाइन लाएं!

अब यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि आखिर यह domain name क्या होता है? और वेबसाइट बनाने में domain का इस्तेमाल क्यों होता है!

दोस्तो नए इंटरनेट यूजर को अक्सर domain name के बारे में कोई जानकारी नहीं होती! परंतु बिना डोमेन के हम अपनी वेबसाइट नहीं बना सकते! जी हां यदि आप भी अपनी वेबसाइट बनाने जा रहे हैं या भविष्य में बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको domain के बारे में जरूर पता होना चाहिए!

इसलिए यदि आप domain name के बारे में सरल एवं स्पष्ट शब्दों में जानना चाहते हैं कि डोमेन क्या होता है? domain कितने प्रकार होते हैं? और डोमेन नेम क्यों जरूरी होता है तथा sub domain क्या होता है! साथ ही आप जानेंगे कि डोमेन नेम कैसे खरीद सकते हैं!

Apne Domain Ki Information Ko Whois Data Se Kaise Hataye? उसकी पूरी जानकारी यहाँ है।

इन सभी सवालों के जवाब आपको आज के इस लेख में मिल जाएंगे! अतः आज के इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें और मुझे उम्मीद है आपको यह जानकारी जरूर पसंद आएगी! आइए सबसे पहले जानते हैं कि Domain Name क्या है? – What Is Domain Name In Hindi?

यह भी पढ़े: वेब होस्टिंग क्या है? – What Is Web Hosting In Hindi

Domain Name क्या है? – What Is Domain Name In Hindi?

Domain Name आपकी वेबसाइट का एड्रेस होता है! जिस एड्रेस को अपने ब्राउज़र पर टाइप कर users आपकी वेबसाइट पर विजिट करते हैं! सरल शब्दों में कहें तो जो वेबसाइट का नाम होता है उसी को domain नेम कहा जाता है सरल शब्दों में कहें तो यदि आपकी वेबसाइट एक घर है तो उसका address डोमेन नेम होता है!

विस्तारपूर्वक समझें तो इंटरनेट कंप्यूटर का एक जाल है जिसमें विभिन्न कंप्यूटर वैश्विक नेटवर्क के केबल्स के जरिए आपस में जुड़े हुए हैं! जिससे एक कंप्यूटर दूसरे कंप्यूटर से संचार कर सकते हैं!

संचार करने के लिए तथा कंप्यूटर को आईडेंटिफाई करने के लिए प्रत्येक कंप्यूटर का एक IP ऐड्रेस होता है! आईपी एड्रेस नंबर की एक श्रंखला होती है जो इंटरनेट पर विशेष कंप्यूटर को आईडेंटिफाई करती है!

उसी तरह प्रत्येक वेबसाइट का भी एक आईपी ऐड्रेस होता है! जिससे कोई भी यूजर उस वेबसाइट को open कर पाते हैं!

परंतु सोचिए यदि आपको अपनी फेवरेट वेबसाइट में विजिट करने के लिए उस वेबसाइट के domain की जगह उसका आईपी ऐड्रेस को search bar में enter करना पड़े तो कैसा लगेगा.

इसी समस्या का समाधान करने के लिए डोमेन name को विकसित किया गया! जिसकी मदद से इंटरनेट यूजर किसी वेबसाइट के आईपी ऐड्रेस को enter किये बिना अर्थात domain name से वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं!

इस प्रकार आपको किसी वेबसाइट पर विजिट करना हो तो ip एड्रेस के उन कठिन numbers के स्थान पर सिर्फ उस वेबसाइट का नाम enter करना होता है और आप विभिन्न जनकारियों का खोज पाते हैं!

दोस्तों इस तरह आप समझ चुके होंगे कि domain नाम क्या होता है? अब आपकी वेबसाइट को चलाने के लिए डोमेन नाम के साथ ही dns सर्वर भी काफी महत्वपूर्ण होते हैं! चलिये जानते हैं कि dns server क्या होते हैं?

Domain Name System क्या है? – What Is DNS In Hindi?

DNS ( डोमेन नेम सिस्टम ) इंटरनेट में phonebook की तरह होता है! फोनबुक इसलिए क्योंकि दोस्तों जब आप अपने मोबाइल में किसी नंबर को उस व्यक्ति के नाम से save करते हैं तो वह phonebook में स्टोर हो जाता है! इसी तरह मनुष्य इंटरनेट पर सूचनाओं को domain name के नाम से पूछते हैं जैसे कि futuretricks.org

दोस्तों जैसा कि आप जानते होंगे इंटरनेट से जो भी डिवाइस कनेक्ट होता है! उसका एक विशेष ip ऐड्रेस होता है जिस वजह से उस device को अन्य डिवाइस द्वारा ढूंढा जा सकता है!

web browser वेबसाइट के नाम से नहीं बल्कि उस वेबसाइट के ip ऐड्रेस के जरिए सूचनाएं हमें पहुंचाते हैं! और यहीं पर dns का कार्य सामने आता है! Dns ip address को domain name में बदलने का कार्य करता है।

जिस वजह से वेब ब्राउज़र उस ip ऐड्रेस को खोज कर हमें जानकारियां हमारे लिए उपलब्ध करते हैं!

अतः हम संक्षेप में कहें तो dns हम इंसानों को किसी वेबसाइट को उसके नाम से याद रखने में सहायता करते हैं ना कि उसके आईपी एड्रेस से! जरा सोचिए!

यह ip address 192.168.1.1 याद रखने में सरल है या फिर google.com

बिलकुल आपका जवाब होगा गूगल है ना! तो ठीक इसी तरह dns ip address को domain name के रूप में याद रखने में सहायता करता है।

डोमेन नेम कैसे कार्य करता है? How Domain Works In Hindi

डोमेन name की कार्यप्रणाली को जानने के लिए सबसे पहले हम जानते हैं कि क्या होता है जब आप गूगल के search bar पर किसी वेबसाइट के एड्रेस को टाइप करते हैं तो?

दोस्तों जब आप ब्राउज़र पर किसी डोमेन name को एंटर करते हैं तो browser सबसे पहले domain name system (DNS) बनाने वाले server के एक global network के लिए request भेजता है

उसके बाद यह server आपके डोमेन से जुड़े सभी name server की तलाश करते हैं तथा उन name server तक इस अनुरोध (request) को फॉरवर्ड कर देते हैं

उदाहरण के लिए यदि आपकी वेबसाइट bluehost होस्टिंग कंपनी पर hosted है तो nameserver कुछ इस तरह दिखाई देंगे!


ns1.bluehost.com
ns2.bluehost.com

यह nameserver कंप्यूटर होते हैं! जिन्हें होस्टिंग कंपनी द्वारा मैनेज किया जाता है! और hosting कंपनी आपकी रिक्वेस्ट को उस कंप्यूटर तक पहुंचा देती है जहां आपके वेबसाइट का डाटा store है! तथा इन कंप्यूटर्स को web servers के नाम से भी जाना जाता है! web सर्वर में कई विशेष सॉफ्टवेयर होते हैं यह वेब सर्वर वेबसाइट के सभी वेब पेजेस को fatch करता है! तथा जानकारियां खोजता है!

तथा अंत में उस data को browsers के पास send कर देता है

इस तरह लंबी प्रक्रिया के बाद आपको जो भी इंटरनेट पर सर्च करते हैं! आपको कुछ ही सेकंड में मिल जाता है! तो दोस्तों इस तरह आप समझ चुके होंगे कि डोमेन नेम कैसे काम करता है?

डोमेन के प्रकार – Types Of Domain In Hindi

अब हम आगे बढ़ते हैं तथा जानते हैं कि डोमेन नेम कितने प्रकार के होते हैं?

वर्तमान समय में domain name विभिन्न प्रकार के एक्सटेंशन में उपलब्ध हैं! जिनमें से सबसे अधिक लोकप्रिय .com, .in होता है तथा सामान्यतः जब भी आप गूगल पर किसी वेबसाइट को सर्च करते हैं तो उसके एक्सटेंशन पर डॉट कॉम डोमेन दिखाई देता है! परंतु .in के अलावा भी कई सारी एक्सटेंशन होते हैं जैसे कि .org, .tv, .info, .io, आदि.

Generic Top Level Domain

टॉप लेवल डोमेन generic डोमेन एक्सटेंशन होते हैं! तथा domain name system में सबसे अधिक मात्रा में टॉप लेवल डोमेन एक्सटेंशन listed है!

वर्तमान समय मे कहीं सारे टॉप लेवल domain आज के समय में उपलब्ध हैं! उनमें से कुछ मुख्य .com, .org, and .net आदि है!

इसके अलावा अन्य टॉप लेवल डोमेन है जो इनकी तुलना में कम लोकप्रिय हैं जैसे कि club, .info, .agency

इन domains को विश्व भर में किसी व्यक्ति द्वारा कहीं भी रजिस्टर किया जा सकता है! हालांकि हाल ही में रिलीस गए कुछ generic top level domain को खरीदने के लिये कुछ restrictions हैं!

Country Code Top Level Domain

CCTLD कंट्री स्पेसिफिक domain होते हैं! जिन्हें विशेषतया एक देश के भीतर इस्तेमाल करने के लिए बनाया होता है!

cctld डोमेन कुछ इस तरह दिखाई देते हैं जैसे कि .uk यूनाइटेड kindom के लिए, .de जर्मनी के लिए, .Au ऑस्ट्रेलिया तथा .in india के लिए.

इन domains का इस्तेमाल अधिकतर किसी विशेष देश की ऑडियंस को टारगेट करने के लिए किया जाता है!

स्पॉन्सर टॉप लेवल डोमेन TLD की कैटेगरी होती है! तथा यह डोमेन एक्सटेंशन एक खास कम्युनिटी के लोगों के लिए बनाई गई है! उदाहरण के लिए .edu एजुकेशन से संबंधित संस्था के लिए .gov यूनाइटेड स्टेट govrment के लिए आदि!

यह भी पढ़े: ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए (Top 5 Advertising Programs)

SubDomain क्या होता है? – What Is SubDomain In Hindi

दोस्तों यहा एक और domain जिसे sub domain के नाम से जाना जाता है! कहीं बार आपने वेबसाइट में subdomain इस्तेमाल देखा होगा? चलिये जानते हैं कि subdomain क्या होता है? subdomain एक web ऐड्रेस होता है जो पहले से रजिस्टर किए गए domain में third level domain में create करके बनाया जाता है!

इसे अब हम उदाहरण के लिए समझते हैं जैसे हमारे blog का नाम है www.futuretricks.org अब यदि हमें इस ब्लॉग का
subdomain बनाना है तो हम कुछ इस प्रकार बना सकते हैं!

hindi.subdomain.com

subdomain आपको single domain में multiple वेबसाइट बनाने की सुविधा देता है! subdomain का इस्तेमाल अलग अलग उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है! जैसे यदि हमें अपने ब्लॉग पर इंग्लिश आर्टिकल लिखने हैं तो हम अपने डोमेन को इस तरह बना सकते हैं!

english.futuretricks.org

दोस्तों अब जब भी आपको इस तरह वेबसाइट का नाम दिखाई दे तो आपको समझ जाना कि है कोई दूसरी वेबसाइट नहीं है बल्कि उसी domain का sub-domain है!

यह भी पढ़े: Freenom से फ्री में Domain Name कैसे ख़रीदे

डोमेन कैसे खरीदें?

आप जो domain खरीदना चाहते हैं उस unique name को choose कीजिये! और इंटरनेट पर कहीं सारी वेबसाइट हैं जहाँ से आप domain खरीद सकते हैं! यहां कुछ बेहतरीन कंपनियों के sites का नाम बता रहे हैं जहां से आप अपना domain खरीद सकते हैं!

https://in.godaddy.com/
https://www.bluehost.com/
https://www.hostgator.com/

दोस्तों इस तरह आज के इस लेख को पढ़ने के बाद आप सीख चुके होंगे कि डोमेन नेम क्या होता है? डोमेन नेम के कितने प्रकार होते हैं? और domain name का क्या महत्व है? और sub domain क्या होता है?

उम्मीद है की अब आपको domain name से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की Domain Name क्या है? SubDomain क्या है? इसके प्रकार? कैसे काम करता है? डोमेन कैसे ख़रीदे? & All About Domain Name System In Hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको Domain Name क्या है? – What Is Domain Name System In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा!

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here