Domicile Certificate Kya Hota Hai? डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या है?


हो सकता है कि आपको किसी स्कूल में एडमिशन लेना हो और स्कूल वालों की तरफ से आपसे डोमिसाइल सर्टिफिकेट की डिमांड की गई हो अथवा हो सकता है कि आपने किसी नौकरी में अप्लाई किया हो और उसमें भी डॉक्यूमेंट के तौर पर आपसे डोमिसाइल सर्टिफिकेट की मांग की जा रही हो। ऐसे में आपको शायद यह पता ही ना हो कि Domicile Certificate Kya Hota Hai? डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या है? और शायद इसीलिए आप परेशान हो गए हो।

डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या होता है? Domicile Certificate Kya Hai In Hindi?


बता दे कि डोमिसाइल सर्टिफिकेट एक दस्तावेज होता है जो हर व्यक्ति के नाम से अलग-अलग बनाया जाता है। इसे ऑफलाइन तरीके से भी बनाया जा सकता है साथ ही ऑनलाइन तरीके से भी बनाया जा सकता है।

इस आर्टिकल में हम आपको Domicile Certificate Kya Hota Hai? डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या है? इसकी डिटेल्स हिंदी में दे रहे हैं।

Domicile Certificate Kya Hota Hai?

आपने कभी ना कभी अपनी पहचान को साबित करने के लिए अपने बर्थ सर्टिफिकेट, एज सर्टिफिकेट, आधार कार्ड या फिर पैन कार्ड का इस्तेमाल किया ही होगा। यह सभी हमारे लिए महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट होते हैं और डोमिसाइल सर्टिफिकेट भी हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है।

हिंदी भाषा में डोमिसाइल सर्टिफिकेट को मूल निवास प्रमाण पत्र अथवा अधिवास प्रमाणपत्र कहा जाता है। इस प्रकार अगर कभी किसी ऑफिस के द्वारा या फिर व्यक्ति के द्वारा आप से मूल निवास प्रमाण पत्र मांगा जा रहा है तो आपको यह समझना चाहिए कि आपसे डोमिसाइल सर्टिफिकेट की डिमांड की जा रही है।

डोमिसाइल सर्टिफिकेट इस बात की इंफॉर्मेशन देता है कि डोमिसाइल सर्टिफिकेट में जिस राज्य को अंकित किया गया है, आप पिछले 15 सालों से उसी राज्य में रह रहे हैं और आप उसी राज्य के मूल निवासी हैं।

उदाहरण के तौर पर अगर आपके पास उत्तर प्रदेश राज्य का डोमिसाइल सर्टिफिकेट है, तो आपका डोमिसाइल सर्टिफिकेट इस बात की गवाही देगा कि आप उत्तर प्रदेश राज्य के मूल निवासी हैं और आपका गांव उत्तर प्रदेश राज्य के फलाना जिले में मौजूद है। डोमिसाइल सर्टिफिकेट में आपका नाम तो होता ही है, साथ ही आपके घर का एड्रेस, आपकी नागरिकता और आप 15 साल से यहां रह रहे हैं इसकी इंफॉर्मेशन भी होती है।

Domicile Certificate Meaning in Hindi

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए हम बता दें कि इंडिया के हर राज्य में इस सर्टिफिकेट को प्राप्त करने की एलिजिबिलिटी अलग-अलग होती है। जैसे कि अगर आप उत्तराखंड राज्य में डोमिसाइल सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए अप्लाई करते हैं, तो इसके लिए आपको कम से कम 15 साल लगातार उत्तराखंड का निवासी होना चाहिए अर्थात आप 15 साल से उत्तराखंड में रहते हो।

इंडिया के कुछ अन्य राज्यों में 5 साल, 10 साल और 20 साल रहने के बाद डोमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए आवेदन किया जा सकता है।

Domicile Certificate Ke Liye Documents

अगर आप ऑनलाइन मोड़ से या फिर ऑफलाइन मोड़ से निवास प्रमाण पत्र बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ डॉक्यूमेंट को इकट्ठा करके रखना पड़ेगा, जिसकी डीटेल्स नीचे दी गई है।

  • आधार कार्ड की फोटोकॉपी अथवा वोटर आईडी कार्ड की फोटो कॉपी
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज की 2 रंगीन फोटो
  • निर्धारित फीस
  • दसवीं क्लास और 12वीं क्लास का सर्टिफिकेट

Online Domicile Certificate Kaise Banwaye

आपको हम बता दें कि इस सर्टिफिकेट को प्राप्त करने के लिए आप ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं साथ ही ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं। इसीलिए आपको जो भी मोड सूटेबल लगता है, आप उस मोड का सिलेक्शन करके डोमिसाइल सर्टिफिकेट हेतु अप्लाई कर सकते हैं। नीचे हम आपको उत्तर प्रदेश राज्य में डोमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे कर सकते हैं, इसकी डिटेल दे रहे हैं।

1: उत्तर प्रदेश राज्य में अगर आप डोमिसाइल सर्टिफिकेट प्राप्त करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको नीचे दी गई वेबसाइट के लिंक के ऊपर क्लिक करके वेबसाइट के होम पेज पर चले जाना है।

विजिट वेबसाइट: Edistrict.up.nic.in

2: वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचने के पश्चात आपको साइट पर अपना नया अकाउंट बना लेना है। इसके लिए आपको क्रिएट अकाउंट अथवा रजिस्टर वाले ऑप्शन का इस्तेमाल करना है। नया अकाउंट बनाने के लिए आपको फोन नंबर, अपना नाम और ईमेल आईडी तथा पासवर्ड की आवश्यकता पड़ेगी।

3: अकाउंट बन जाने के पश्चात आपको वेबसाइट में सर्च बॉक्स पर डोमिसाइल सर्टिफिकेट सर्च करना है।


4: अब आपकी स्क्रीन पर डोमिसाइल सर्टिफिकेट फॉर्म ओपन हो करके आएगा जिसमें आपको जो भी जानकारी मांगी जा रही हैं उन सभी जानकारियों को भर देना है।

5: जानकारियों को भर देने के पश्चात आपको जो भी डॉक्यूमेंट मांगे जा रहे हैं, उन्हें भी अपलोड कर देना है और उसके बाद आपको निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए फीस भर देनी है।

इतनी प्रोसेस कंप्लीट होने के बद आपके एप्लीकेशन फॉर्म की जांच की जाएगी और सब कुछ सही पाए जाने पर आपको डोमिसाइल सर्टिफिकेट अपलोड कर दिया जाएगा और तकरीबन 10 दिनों के बाद आप डोमिसाइल सर्टिफिकेट को ऑनलाइन अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल करके अपने अकाउंट में लॉगिन करके डाउनलोड कर सकेंगे।


नोट: आपको हम यह भी बता दें कि एप्लीकेशन फॉर्म भरने के दरमियान कभी कबार व्यक्ति से गलती हो जाती है जिसकी वजह से एप्लीकेशन फॉर्म को रिजेक्ट कर दिया जाता है। ऐसे में आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है। आप दोबारा से एप्लीकेशन फॉर्म को बिल्कुल सही सही भर के अप्लाई कर सकते हैं।

Offline Domicile Certificate Kaise Banwaye

ऑफलाइन डोमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करने के लिए आपको अपने घर के आस-पास में स्थित सीएससी सेंटर में सभी दस्तावेज को लेकर के जाना है और उनसे डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनाने के बारे में बातचीत करनी है। इसके बाद वह खुद ही आपसे सभी जानकारियों को लेकर के ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भर देंगे और उसकी पेमेंट भी कर देंगे।

इसके बाद डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनवाने की जो फीस होती है उसे आपको दुकानदार को दे देनी है। आपको दुकानदार की तरफ से फॉर्म भरने की रिसिप्ट दी जाएगी जिसे आप को सुरक्षित रखना है। इस प्रकार कुछ दिनों के बाद आपका डोमिसाइल सर्टिफिकेट बन जाएगा।

Domicile Certificate Kaise Check Kare

अगर आपने डोमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई कर दिया है और आप उसके स्टेटस को देखना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन आपको करना है।

1: डोमिसाइल सर्टिफिकेट स्टेटस ऑनलाइन देखने के लिए आपको अपने राज्य के ऑफिशियल वेबसाइट या फिर पोर्टल पर विजिट करना है।

2: पोर्टल पर पहुंचने के पश्चात आपको “आवेदन की स्थिति” वाले ऑप्शन को ढूंढना है और प्राप्त होने पर उस पर क्लिक करना है।

3: अब आपकी स्क्रीन पर एप्लीकेशन फॉर्म आएगा जिसमें आपको रजिस्ट्रेशन नंबर भरने के लिए कहा जाएगा। ऐेसा आने पर आपको रजिस्ट्रेशन नंबर निर्धारित जगह में भर देना है।

4: अब आपको “सर्च” आइकन पर क्लिक करना है।

ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर आवेदन की स्थिति दिखाई देगी।

Domicile Certificate Ki Vaidhta

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि जब आप डोमिसाइल सर्टिफिकेट को बनाने के लिए अप्लाई कर देते हैं तो उसके तकरीबन 15 से 20 दिनों के बाद डोमिसाइल सर्टिफिकेट बन जाता है और इसे बनवाने के लिए आपको कुछ फीस भी भरनी पड़ती है फिर चाहे आप इसे ऑफलाइन अप्लाई करें या फिर ऑनलाइन अप्लाई करें।

देखा जाए तो इसे बनवाने की फीस ₹20 से लेकर ₹50 के आसपास में होती है। कुछ राज्यों में यह ₹100 भी हो सकती है। अगर आप जन सेवा केंद्र से डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनाते हैं तो सर्टिफिकेट की फीस के अलावा जन सेवा केंद्र का कर्मचारी अपना मेहनताना भी आपसे लेता है जो कि ₹100 के आसपास होता है।

FAQ:

डोमिसाइल सर्टिफिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं?

मूल निवास प्रमाण पत्र

डोमिसाइल सर्टिफिकेट का मतलब क्या होता है?

मूल निवास प्रमाण पत्र

डोमिसाइल सर्टिफिकेट कितने दिन में बनता है?

15 से 20 दिन

डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनवाने की फीस क्या है?

50-100

डोमिसाइल बनाने के लिए क्या-क्या चाहिए?

इससे संबंधित दस्तावेज।

इस आर्टिकल में आपने जाना कि Domicile Certificate Kya Hota Hai? साथ ही आपने यह भी जाना कि “डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनाने के लिए कौन से दस्तावेज लगते हैं” और “डोमिसाइल सर्टिफिकेट आवेदन की प्रक्रिया क्या है? 

Hope की आपको Domicile Certificate Kya Hota Hai? डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या है? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हो. और अगर आपको यह पोस्ट हेल्पफुल लगा हो तो इसको सोशल मीडिया पर अपने अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here