ईमेल एड्रेस क्या होता है? फ़ायदे एवं कैसे बनाये? (पूरी जानकारी)

0

ईमेल एड्रेस क्या होता है? पहले जहां हमें अपने संदेश को एक जगह से दूसरी जगह पर पहुंचाने के लिए ऑफलाइन विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल करना पड़ता था, वहीं अब ऑनलाइन ईमेल आईडी की सहायता से हम सरलता से किसी भी व्यक्ति के पास तक अपने जरूरी संदेश पहुंचा सकते हैं। इसके लिए हमारे पास बस सामने वाले व्यक्ति की ईमेल आईडी का ईमेल एड्रेस होना चाहिए।

ईमेल एड्रेस क्या होता है? फ़ायदे एवं कैसे बनाये? (पूरी जानकारी)


ईमेल एड्रेस के द्वारा हम ऑडियो, वीडियो, दस्तावेज, फोटो इत्यादि चीजों को सिर्फ 1 सेकेंड के अंदर ही दुनिया के किसी भी कोने में पहुंचाने में कामयाब हो सकते हैं। अब जब बात ईमेल एड्रेस की हो रही है।

आज इस आर्टिकल में जानते हैं कि आखिर “ईमेल एड्रेस क्या होता है” और “ईमेल एड्रेस कैसे बनाया जाता है।”

ईमेल क्या होता है? (What is Email in Hindi)

E-Mail: Electronic Mail


ईमेल का फुल फॉर्म इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है, जिसका हिंदी भाषा में मतलब होता है इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की सहायता से किसी संदेश या फिर जानकारी को भेजना।

पहले जहां हम अपनी किसी भी बात को सामने वाले व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए उसे पत्र या फिर संदेश लिखते थे और पोस्ट ऑफिस के द्वारा उसे उस तक पहुंचाते थे। वहीं अब किसी भी जानकारी को पहुंचाने के लिए हमें सिर्फ सामने वाले व्यक्ति की ईमेल आईडी की आवश्यकता पड़ती है।

सामने वाले व्यक्ति के ईमेल एड्रेस को प्राप्त करने के बाद हम घर बैठे ही अपने लैपटॉप अथवा मोबाइल या फिर कंप्यूटर के द्वारा अपनी आवश्यक जानकारियों को सिर्फ 1 सेकेंड के अंदर ही सामने वाले व्यक्ति तक पहुंचा सकते हैं। फिर सामने वाला व्यक्ति चाहे दुनिया के किसी भी कोने में क्यों ना रहता हो।


ईमेल एड्रेस क्या होता है? (What is Email Address in Hindi)

यह किसी ईमेल आईडी धारक व्यक्ति का एड्रेस होता है अर्थात किसी व्यक्ति के द्वारा जब ईमेल अकाउंट बनाया जाता है तब उसे एक ईमेल आईडी प्राप्त होती है।

इसी ईमेल आईडी पर जब आप कोई फाइल या मैसेज भेजते हैं तो जिस ईमेल आईडी पर आपके द्वारा किसी मैसेज को भेजा गया है उस ईमेल आईडी पर मेल के माध्यम से वह मैसेज पहुंच जाता है और वह व्यक्ति उसे एक्सेस कर पाता है।

दुनियाभर में जितने भी लोग हैं उन सभी की ईमेल आईडी अलग-अलग होती है। हालांकि ईमेल आईडी अपने आप ही नहीं मिलती है, बल्कि इसका निर्माण करना पड़ता है। इलेक्ट्रॉनिक मैसेज अथवा डाटा को जब एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में ट्रांसमिट किया जाता है तो इसे ईमेल के रूप में जाना जाता है।


ईमेल सेंड करने के लिए आपके पास एक एक्टिव डाटा कनेक्शन, एक ईमेल सर्विस प्रोवाइडर तथा पर्सनल ईमेल एड्रेस के साथ ही साथ जिस व्यक्ति को आपको ईमेल भेजना है, उस व्यक्ति की ईमेल आईडी होनी चाहिए। ईमेल एड्रेस का प्रारूप [email protected], [email protected], [email protected] जैसा होता है।

ईमेल एड्रेस का मतलब क्या है?

ई-मेल दो अलग-अलग इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के बीच इलेक्ट्रॉनिक मैसेज भेजने का एक जरिया होता है। इंटरनेट पर काफी समय पहले से ही ईमेल का इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि तब यह सिर्फ सामान्य टेक्स्ट मैसेज के तौर पर ही भेजे जाते थे।


परंतु वर्तमान के समय में जो ईमेल भेजा जाता है उसमें शब्दों के साथ ही साथ ग्राफिक वीडियो या फिर दूसरी किसी भी प्रकार की फाइल को भी सेंड किया जा सकता है। जो ईमेल एड्रेस होते हैं इन्हें एक स्पेशल तरीके से लिखा जाता है।

ईमेल एड्रेस कैसे काम करता है?

इसके काम करने की प्रक्रिया बहुत ही सामान्य होती है। जब आप किसी भी दूसरे व्यक्ति के ईमेल एड्रेस पर कोई भी ईमेल भेजते हैं तो आपका ईमेल सर्वर सामने वाले व्यक्ति के ईमेल सर्वर के लिए जांच का काम करता है।

और जब वह उसे प्राप्त हो जाता है तो उसके पश्चात सामने वाले व्यक्ति के ईमेल एड्रेस को चेक किया जाता है और इस प्रकार से आपका ईमेल सामने वाले व्यक्ति तक पहुंच जाता है। इस प्रकार से ईमेल एड्रेस काम करता है।

उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं कि आपने किसी व्यक्ति के ईमेल एड्रेस पर कोई ईमेल अपनी ईमेल आईडी के द्वारा सेंड किया, तो ऐसी अवस्था में होता यह है कि आपके ईमेल एड्रेस का सर्वर सामने वाले व्यक्ति के ईमेल एड्रेस के सरवर के साथ कनेक्शन स्थापित करता है और जब कनेक्शन पूरी तरह से वेरीफाई हो जाता है तो ईमेल डिलीवर हो जाता है। ईमेल एड्रेस क्या होता है? और कैसे काम करता है यह जानने के बाद चलिए अब ईमेल एड्रेस से जुड़ी अन्य जानकारिया देख लेते हैं।

ईमेल एड्रेस का फॉर्मेट 

जितने भी लोगों के द्वारा ईमेल आईडी किसी भी प्लेटफार्म पर बनाई जाती है, उन्हें अलग-अलग ईमेल आईडी प्राप्त होती है। दो लोगों की ईमेल आईडी एक समान नहीं हो सकती है।

इंटरनेट पर जितने भी ईमेल एड्रेस मौजूद है, उन सभी का प्रारूप एक ही होता है, जो कि टोटल 2 हिस्से में बांटा गया होता है। इसमें पहला हिस्सा यूजरनेम होता है और दूसरा हिस्सा डोमेन नेम होता है और यही दोनों मिलकर के ईमेल एड्रेस का निर्माण करते है। उदाहरण के तौर पर- [email protected].

ईमेल एड्रेस में क्या लिखा जाता है?

नीचे हमने आपको बहुत ही आसान भाषा में यह बताया हुआ है कि आखिर ईमेल एड्रेस में क्या लिखा जाता है अथवा एक ईमेल कैसे लिख सकते हैं अथवा ईमेल एड्रेस में कौन-कौन सी बातों को शामिल किया जाता है।

  • Subject Line

सब्जेक्ट को हिंदी भाषा में विषय कहा जाता है। ईमेल टाइप करने के दरमियान आपको यह अवश्य लिखना होता है कि आप किस सब्जेक्ट पर अर्थात किस मुद्दे पर ईमेल लिख रहे हैं, ताकि जब आप सामने वाले व्यक्ति को ईमेल भेजें तब ईमेल ओपन करते ही उसे यह पता चल जाए कि उसे कौन से मैटर से संबंधित इमेल प्राप्त हुआ है।

  • Sender

सैंडर को हिंदी भाषा में भेजने वाला कहा जाता है। जिस व्यक्ति की ईमेल आईडी पर आप ईमेल भेजते हैं और जब वह व्यक्ति आपके ईमेल को ओपन करता है तो सेंडर के सामने आपकी ईमेल आईडी का एड्रेस लिखा हुआ दिखाई देता है।

इस प्रकार से सामने वाले व्यक्ति को यह पता चल जाता है कि उसे किस व्यक्ति के द्वारा ईमेल भेजा गया है। आपको आए हुए ईमेल के नीचे रिप्लाई की बटन भी दिखाई देती है। इस पर जब आप क्लिक कर के किसी भी चीज को भेजते हैं तो वह उसी ईमेल आईडी पर जाता है जिस ईमेल आईडी से आपको अभी ईमेल प्राप्त हुआ है।

  • Recipient

हिंदी में इसे प्राप्त करने वाला कहते हैं। यानी जिस व्यक्ति को आप मेल करना चाहते हैं, उसकी मेल आईडी को आपको एक रेसिपिंट के तौर पर एड करनी होती है।

  • Salutation

इसका मतलब अभिवादन होता है। सब्जेक्ट के पश्चात Salutation वह भाग होता है जिसे ईमेल प्राप्त करने वाला व्यक्ति देखता है।

  • Email Body

इस जगह पर ईमेल का मैसेज होता है। जो इफेक्टिव ईमेल होते हैं वहां पर सामान्य तौर पर ईमेल बॉडी अर्थात संदेश छोटा ही होता है, वही ई-मेल के साथ अगर अटैचमेंट जोड़ी जाती है तो उसमें अधिक जानकारी होती है।

  • Closing

इसका मतलब समापन होता है। जब आप अपना पूरा ईमेल संदेश लिख डालते हैं तो उसके पश्चात आपको अपने मैसेज को समाप्त करने के लिए एक सही क्लोजिंग ‌देना भी आवश्यक होता है।

सामान्य तौर पर सही क्लोजिंग देने के लिए आपको सबसे आखरी में थैंक्यू अथवा आपका आभारी जैसे शब्दों का इस्तेमाल करना होता है। इसके अलावा आप चाहे तो टॉक टू यू सून या फिर सी यू लेटर शब्द का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • Signature

सिग्नेचर को हिंदी भाषा में हस्ताक्षर कहा जाता है। फ्रेंडली लेटर में आप सेंडर के नाम के साथ हस्ताक्षर भी कर सकते है।

  • Attachments

ई-मेल के साथ जो फाइल जोड़ी जाती है, उसे ही अटैचमेंट कहा जाता है। इसके अंतर्गत आप पीडीएफ, डॉक्यूमेंट या फिर मीडिया इत्यादि फाइल को जोड़ सकते हैं।

अधिकतर ईमेल अकाउंट में अटैचमेंट फाइल को अटैच करने की एक लिमिट तय होती है। आप उस लिमिट से अधिक साइज की फाइल को ईमेल के साथ अटैच नहीं कर सकते हैं।

अपना ईमेल एड्रेस कैसे पता करें?

आजकल सभी लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं और उसमें वह जीमेल एप्लीकेशन को भी अवश्य इंस्टॉल करके रखते हैं और उसमें ईमेल आईडी का इस्तेमाल करते हैं।

आप इसी जीमेल एप्लीकेशन के द्वारा ईमेल एड्रेस आसानी से पता कर सकते हैं क्योंकि ईमेल एड्रेस पता करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। अगर आप अपना ईमेल एड्रेस पता लगाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन स्टेप बाय स्टेप करना है

1: ईमेल एड्रेस का पता लगाने के लिए सबसे पहले आपको अपना स्मार्टफोन अपने हाथों में लेना है और उसके पश्चात स्मार्टफोन में मौजूद सेटिंग एप्लीकेशन को ओपन कर देना है।

2: अब आपकी स्क्रीन पर अलग-अलग प्रकार के ऑप्शन आएंगे, जिनमें से आपको नीचे आने के बाद जो गूगल वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उसी ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

3: गूगल वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको नीले रंग के बॉक्स में मैनेज‌ योर गूगल अकाउंट वाला जो ऑप्शन दिखाई दे रहा है, अब इस पर क्लिक करने की आवश्यकता है।

4: अब आपको जो पर्सनल इंफॉर्मेशन वाला सेक्शन दिखाई दे रहा है, उसी सेक्शन पर क्लिक कर देना है।

5: अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज आ जाता है, जिसमें कई ऑप्शन होते हैं। आपको थोड़ा सा स्क्रोल डाउन कर के नीचे आना है।

6: नीचे आने पर आपको कांटेक्ट इनफार्मेशन सेक्शन के नीचे जो ईमेल लिखा हुआ दिखाई दे रहा है, वही आपका ईमेल एड्रेस है।

इस प्रकार से उपरोक्त प्रक्रिया का पालन करके आप ईमेल एड्रेस पता कर सकते हैं।

ईमेल एड्रेस कैसे बनाये?

ईमेल एड्रेस बनाने के लिए आप गूगल की जीमेल सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप चाहे तो वेबसाइट से भी जीमेल सर्विस को एक्सेस कर सकते हैं या फिर गूगल प्ले स्टोर से जीमेल एप्लीकेशन को इंस्टॉल करके इसके द्वारा भी सरलता से ईमेल एड्रेस बना सकते हैं।

हम यहां पर आपको मोबाइल से ईमेल एड्रेस बनाने का तरीका बताने वाले हैं, क्योंकि देश में स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या अधिक है।

1: ईमेल एड्रेस बनाने के लिए सबसे पहले आपको अपने मोबाइल में डाटा कनेक्शन ऑन कर लेना है और उसके पश्चात जीमेल एप्लीकेशन को ओपन करना है। अगर जीमेल एप्लीकेशन इंस्टॉल नहीं है तो उसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर ले।

2: जीमेल एप्लीकेशन ओपन करने के बाद आपको ऊपर की तरफ जो आइकन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक कर देना है। ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर अलग-अलग प्रकार के ऑप्शन आएंगे जिनमें से आप को सबसे नीचे की साइड जो एड अनदर अकाउंट वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना है।

3: अब आपकी स्क्रीन पर अलग-अलग प्रकार के ईमेल आईडी बनाने वाले प्लेटफार्म आएंगे, जिनमें से आप किसी भी प्लेटफार्म पर ईमेल एड्रेस बना सकते हैं। हालांकि हम गूगल वाले ऑप्शन पर क्लिक कर रहे हैं, क्योंकि गूगल आपको भरोसेमंद ईमेल एड्रेस प्रोवाइड करता है।

4: अब आपको अपने मोबाइल की स्क्रीन पर नीले रंग की लाइन में जो क्रिएट अकाउंट वाली बटन दिखाई दे रही है, इस पर क्लिक करना है।

5: क्रिएट अकाउंट वाली बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर दो प्रकार के ऑप्शन आएंगे, जो कि निम्नानुसार होंगे।

To Myself: अगर आपको अपने पर्सनल काम के लिए ईमेल एड्रेस बनाना है तो आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।
To Manage my business: अगर आपको अपने व्यापारिक कामों के लिए ईमेल आईडी चाहिए तो आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करना चाहिए।

6: हम अपने पर्सनल काम के लिए ईमेल आईडी बनाना चाहते हैं। इसलिए हम टू माय सेल्फ वाले ऑप्शन पर क्लिक कर रहे हैं।

7: अब आपकी स्क्रीन पर दो खाली बॉक्स आते हैं जो कि नियमानुसार होते हैं।

First Name: यहां पर आपको अपने नाम का पहला अक्षर दर्ज करना है।
Last Name: यहां पर आपको अपने सरनेम को दर्ज करना है। आप चाहे तो इसे खाली भी छोड़ सकते है, क्योंकि यह ऑप्शनल है अर्थात वैकल्पिक है।

8: अब आपकी स्क्रीन पर बेसिक इनफार्मेशन वाला पेज आ जाता है, जिसके तहत आपको नीचे दी गई जानकारियों को दर्ज करना होता है।

Month: यहां पर आपको अपने पैदा होने के महीने को सिलेक्ट करना है।
Day: आप जिस दिन पैदा हुए थे, उसका सिलेक्शन यहां पर करें।
Year: आपका जन्म किस साल में हुआ था उसका सिलेक्शन यहां पर करें।
gender: आप महिला है अथवा पुरुष उसका सिलेक्शन यहां पर करें। अगर महिला है तो फीमेल और पुरुष है तो मेल वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

9: सभी जानकारियों को दर्ज करने के बाद आपको नीचे दिखाई दे रही नेक्स्ट बटन पर क्लिक करना है।

10: अब आपकी स्क्रीन पर जो पेज आता है, उसमें आपसे अपना ईमेल एड्रेस सिलेक्ट करने के लिए कहा जाता है जिसके तहत पहले और दूसरे वाले ऑप्शन का सिलेक्शन आप कर सकते हैं। इसके अलावा तीसरे वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करके आप अपना खुद का ईमेल एड्रेस बना सकते हैं वही जो यूज़ मोबाइल वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उसका इस्तेमाल करके आप अपने फोन नंबर को ही ईमेल एड्रेस में कन्वर्ट कर सकते हैं।

11: हम यहां पर पहले वाले ऑप्शन पर चेक मार्क कर रहे हैं और उसके बाद नीचे दिखाई दे रही Next बटन पर क्लिक कर दे रहे हैं।

12: अब आपकी स्क्रीन पर पासवर्ड डालने वाला एक खाली बॉक्स आता है। आपको उस खाली बॉक्स में वह पासवर्ड डालना है जो आप अपने ईमेल एड्रेस को एक्सेस करने के लिए इस्तेमाल करेंगे। याद रखें कि पासवर्ड मजबूत होना चाहिए और उसमें शब्द और कैपिटल लेटर का इस्तेमाल होना चाहिए।

13: पासवर्ड दर्ज करने के बाद आपको नीचे जो नीले रंग के बॉक्स में नेक्स्ट बटन दिखाई दे रही है, उस पर क्लिक करना है।

14: अब आपकी स्क्रीन पर एक पेज आता है, जिसमें आपसे फोन नंबर को शामिल करने के लिए कहा जाता है। आप चाहे तो फोन नंबर शामिल कर सकते हैं या फिर इसे बाद में भी कर सकते हैं। हम इस प्रक्रिया को बाद में करेंगे। इसलिए हम स्क्रोल डाउन करके नीचे आ रहे हैं और उसके बाद नीचे दिखाई दे रहे skip बटन पर क्लिक कर रहे हैं।

15: अब आपसे अकाउंट इनफार्मेशन को रिव्यू करने के लिए कहा जाएगा। अगर सब कुछ सही है तो नीचे दिखाई दे रहे नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें।

16: अब आपके मोबाइल की स्क्रीन पर प्राइवेसी एंड टर्म वाला पेज आएगा। आपको इसे पढ़ लेना है या फिर इसे ऐसे ही छोड़ देना है और थोड़ा सा नीचे आना है। नीचे आने पर आपको आई एग्री वाली बटन दिखाई देगी, इस पर क्लिक करें।

इस प्रकार से उपरोक्त प्रक्रिया का पालन करके आप अपने मोबाइल से ही ईमेल एड्रेस बना सकते हैं।

ईमेल एड्रेस कहां बना सकते हैं?

हमें पता है कि आपने अपने मोबाइल में गूगल की जीमेल एप्लीकेशन के द्वारा ईमेल एड्रेस बनाया होगा परंतु क्या आप जानते हैं कि गूगल के अलावा भी ऐसे कई प्लेटफॉर्म है जो अपने प्लेटफार्म पर फ्री में ईमेल अकाउंट बनाने की सुविधा देते हैं, जिनके बारे में शायद ही लोगों को पता हो।

नीचे हम आपको लोकप्रिय ईमेल सर्विस प्रोवाइडर वेबसाइट की लिस्ट प्रदान कर रहे हैं। आप नीचे दी गई किसी भी वेबसाइट पर जाकर के मुफ्त में अपना ईमेल अकाउंट घर बैठे ही सिर्फ 1 से 2 मिनट के अंदर क्रिएट कर सकते हैं।

  • Gmail
  • Yahoo Mail
  • Outlook
  • Zoho Mail
  • Protonmail
  • com
  • iCloud Mail
  • Yandex Mail

ईमेल कैसे भेजे?

ईमेल भेजने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। अधिकतर लोग ईमेल का इस्तेमाल करने के लिए अपने मोबाइल में गूगल की जीमेल एप्लीकेशन का यूज करते हैं। इसीलिए हम आपको नीचे गूगल की जीमेल एप्लीकेशन के द्वारा किस प्रकार से ईमेल सेंड किया जाता है, कि प्रक्रिया विस्तार से दर्शा रहे हैं।

1: ईमेल भेजने के लिए सर्वप्रथम अपने मोबाइल में डाटा कनेक्शन ऑन करें और उसके पश्चात मोबाइल में मौजूद गूगल की जीमेल एप्लीकेशन को ओपन कर दे।

2: अब आपको एप्लीकेशन के अंदर नीचे की साइड जो कंपोज वाली बटन दिखाई दे रही है, उसी बटन पर क्लिक कर देना है।

3: कंपोज वाले बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज आता है, जिसमें नीचे दिए गए ऑप्शन होते हैं। इनका इस्तेमाल किस प्रकार से करना है, इसकी जानकारी आपको विस्तार से बताई जा रही है।

From: आप अपने मोबाइल में पहले से ही जो ईमेल आईडी इस्तेमाल करते हैं वह यहां पर होती है। यहां पर वैसे तो आपको कोई बदलाव नहीं करना होता है परंतु आप अगर अपने मोबाइल में एक से अधिक ईमेल आईडी का इस्तेमाल करते हैं तो यहां पर क्लिक करके आप ईमेल आईडी को चेंज कर सकते हैं।
To: जिस व्यक्ति को आप ईमेल सेंड करना चाहते हैं, आपको उस व्यक्ति के ईमेल एड्रेस को यहां पर डालना होता है।
Subject: आप जो ईमेल भेज रहे हैं वह किस सब्जेक्ट पर आधारित है अर्थात उसका मुद्दा क्या है उसे आपको यहां पर दर्ज करना होता है।
Compose email: इस वाले बॉक्स पर क्लिक करने के बाद आप जो ईमेल सेंड करना चाहते हैं उसे यहां पर लिख सकते हैं। यहां पर शब्द की कोई भी सीमा नहीं है। आप जितना चाहे उतना बड़ा ईमेल लिख सकते हैं।

4: अब आपको ऊपर स्क्रीनशॉट में जो पहला वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना है। ऐसा करने से आपको अटैच फाइल वाला ऑप्शन मिलता है, उसके ऊपर क्लिक करके आप जो फाइल ईमेल के साथ भेजना चाहते हैं उसका सिलेक्शन कर सकते हैं।

5: जब आप अपना ईमेल कंपोज कर लेते हैं और फाइल भी अटैच कर लेते हैं तो उसके पश्चात ईमेल सेंड करने के लिए आपको ऊपर की तरफ जो तीर वाला आइकन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक करना होता है।

6: अब आपकी स्क्रीन पर Send This Message का मैसेज आता है। इसके अंतर्गत आपसे यह कहा जा रहा है कि क्या आप इस मैसेज को भेजना चाहते हैं। ऐसा होने पर आपको जो ओके बटन दिखाई दे रही है उस पर क्लिक कर देना है।

इस प्रकार से उपरोक्त प्रक्रिया का पालन करके आप किसी भी व्यक्ति को उसकी ईमेल आईडी पर ईमेल सेंड कर सकते हैं।

ईमेल एड्रेस क्यों आवश्यक है?

ऐसी बहुत सारी वजह है, जिसकी वजह से वर्तमान के समय में किसी भी व्यक्ति के पास ईमेल एड्रेस होना आवश्यक है। आप चाहे अपने पर्सनल काम के लिए ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल करते हो या फिर अपने बिजनेस के काम के लिए ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल करते हो, ईमेल एड्रेस होना वर्तमान के समय में जरूरी है, ऐसा क्यों है आइए जानते हैं।

Easy Communication

ई-मेल की सहायता से कस्टमर से कम्युनिकेशन स्थापित करना बहुत ही आसान हो जाता है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आप अपनी बात को कस्टमर तक बिना उसके सामने गए हुए भी पहुंचा सकते हैं और अच्छे तरीके से ईमेल पर ही आप अपनी बात कस्टमर के सामने व्यक्त कर सकते हैं।

ईमेल होना कस्टमर के लिए भी अच्छा है क्योंकि वह भी आपको आपके बिजनेस के बारे में डायरेक्ट तौर पर फीडबैक दे सकते हैं। इससे कस्टमर और कंपनी के बीच का रिश्ता मजबूत बनता है।

Professionalism

आपके द्वारा अगर अपनी कंपनी के लिए अथवा अपने ब्रांड के लिए या फिर अपनी वेबसाइट के लिए ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल किया जाता है तो इसकी वजह से आपका ब्रांड या फिर आपकी वेबसाइट प्रोफेशनल लगती है और लोग आपके वेबसाइट या फिर आप के ब्रांड पर अधिक भरोसा करते हैं।

Branding

अपनी कंपनी के लिए अगर आप ईमेल इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी कंपनी की ब्रांडिंग में भी काफी सहायता आपको प्राप्त होती है, क्योंकि जब आप ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल करते हैं तो क्लाइंट को आपका इमेल एड्रेस याद हो जाता है।

और वह आसानी से आपके साथ संपर्क स्थापित कर सकता है, जिससे आप अपनी सर्विस क्लाइंट को प्रदान कर सकते हैं, साथ ही कस्टमर को अट्रैक्ट करने के लिए भी ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Impression

अगर आप किसी ऑफिस में बैठते हैं या फिर आप कोई कंपनी चलाते हैं तो आपके पास एक प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस होना चाहिए, क्योंकि जब आप अपने प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस के द्वारा किसी व्यक्ति को ईमेल सेंड करते हैं।

तो उसे लगता है कि वाकई में आपकी कंपनी भरोसेमंद कंपनी है और मार्केट में आपकी कंपनी का अच्छा प्रभाव है। ऐसा होने से आपके कस्टमर पर पॉजिटिव इफेक्ट पड़ता है।

ईमेल एड्रेस के फायदे?

ईमेल एड्रेस के फायदे निम्नानुसार है।

  • किसी भी प्लेटफार्म पर ईमेल एड्रेस बनाने के लिए आपको ₹1 देने की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि इसका निर्माण करना बिल्कुल मुफ्त है।
  • ईमेल एड्रेस बनाने के लिए बस आपके पास इंटरनेट कनेक्शन और एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होना चाहिए। इसके पश्चात आप आसानी से ईमेल एड्रेस बना सकते हैं।
  • ईमेल एड्रेस तेज गति के साथ काम करता है। आप सिर्फ एक क्लिक में ही सामने वाले व्यक्ति तक अपना मैसेज पहुंचा सकते हैं, फिर चाहे वह दुनिया के किसी भी देश में या फिर किसी भी राज्य में क्यों न रहता हो।
  • एक बार अपना खुद का ईमेल एड्रेस बनाने के बाद आप जिंदगी भर बिल्कुल मुफ्त में उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • ई-मेल को ढूंढ निकालना बहुत ही आसान है। आप लाखों ईमेल में से किसी भी एक ईमेल को आसानी से सर्च कर सकते हैं, क्योंकि ईमेल सर्विस देने वाली वेबसाइट या फिर एप्लीकेशन में सर्च वाला ऑप्शन मौजूद होता है।
  • अगर आपको अपनी ईमेल आईडी और अपनी ईमेल आईडी का पासवर्ड पता है तो आप किसी भी दूसरे डिवाइस में जब चाहे तब 24 घंटे में कभी भी अपनी ईमेल आईडी में लॉगिन कर सकते हैं और अपना ईमेल चेक कर सकते हैं।
  • ईमेल एड्रेस की सहायता से आप घर बैठे ही दूसरे व्यक्ति के ईमेल एड्रेस पर ऑडियो, फोटो, वीडियो, पीडीएफ या फिर अन्य प्रकार के दस्तावेज को 1 सेकेंड के अंदर ही पहुंचा सकते हैं।
  • ईमेल एड्रेस का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसका निर्माण करने से लेकर के इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको कुछ भी खर्च करने की आवश्यकता नहीं है। आप जिंदगी भर मुफ्त में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • किसी एक ही ईमेल प्लेटफार्म पर आप एक ही फोन नंबर पर 3-4 ईमेल अकाउंट बना सकते हैं। इससे अधिक ईमेल अकाउंट बनाने के लिए आपके पास अन्य फोन नंबर उपलब्ध होने चाहिए।

ईमेल एड्रेस के नुकसान?

ईमेल एड्रेस के नुकसान क्या है अथवा ईमेल एड्रेस के डिसएडवांटेज क्या है, आईए इसकी जानकारी प्राप्त करते हैं।

  • अगर आपके द्वारा दैनिक तौर पर अपने ईमेल एड्रेस को चेक नहीं किया जाता है तो उसमें बहुत सारे ईमेल एक साथ इकट्ठा हो सकते हैं जिसकी वजह से आपको काम के ईमेल को ढूंढ पाना थोड़ा सा मुश्किल हो सकता है।
  • कुछ ईमेल ऐसे भी होते है, जिसमें वायरस भी होता है। ऐसे ईमेल पर क्लिक करने पर आपका पर्सनल डाटा हैक होने की संभावना काफी ज्यादा हो जाती है।
  • अधिक ईमेल इकट्ठा हो जाने पर उन्हें डिलीट करना थोड़ी जटिल प्रक्रिया हो जाती है।

ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल कहां होता है?

ईमेल एड्रेस का इस्तेमाल निम्न जगहों पर किया जाता है।

  • किसी भी प्रकार की गवर्नमेंट या फिर प्राइवेट जॉब का फॉर्म भरने के दरमियान ईमेल की आवश्यकता पड़ती है।
  • अपना रिज्यूम अथवा बायोडाटा बनवाने के दरमियान इसकी आवश्यकता पड़ती है।
  • अपने नए स्मार्ट फोन में ईमेल आईडी के द्वारा ही लोग इन हुआ जाता है।
  • क्लाउड स्टोरेज का इस्तेमाल करने के लिए ईमेल एड्रेस की आवश्यकता पड़ती है।
  • इंटरनेट पर अवेलेबल किसी भी वेबसाइट में अकाउंट क्रिएट करने के लिए इसकी जरूरत पड़ती है।
  • सोशल मीडिया अकाउंट बनाने के लिए इसकी आवश्यकता पड़ती है।
  • पेपल में अकाउंट बनाने के लिए ईमेल एड्रेस होना जरूरी है।
  • दूसरे व्यक्ति को ईमेल सेंड करने के लिए ईमेल एड्रेस होना आवश्यक है।
  • खुद की वेबसाइट बनाने के लिए ईमेल एड्रेस होना जरूरी है।
  • डोमेन की खरीदारी करने के लिए ईमेल एड्रेस आवश्यक है।

तो दोस्तों आशा करते हैं की अब आपको ईमेल एड्रेस से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की आख़िर ईमेल एड्रेस क्या होता है? कैसे बनाये एवं इसके प्रकार और फ़ायदे के बारे में।

FAQ:

Q: ईमेल एड्रेस में क्या लिखा जाता है?

ANS: ईमेल एड्रेस में आप जिस व्यक्ति को ईमेल भेजना चाहते हैं उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस अर्थात ईमेल आईडी लिखी जाती है, ताकि सामने वाले व्यक्ति तक आप अपनी बात अथवा अपनी फाइल पहुंचा सके।

Q: ईमेल एड्रेस कैसे बनाया जाता है?

ANS: जिस प्लेटफार्म के द्वारा आपको ईमेल बनाना है आप उस प्लेटफार्म के द्वारा ईमेल एड्रेस बना सकते हैं। अगर आप जीमेल के द्वारा ईमेल एड्रेस बनाना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया आर्टिकल में दी गई है।

Q: ई मेल एड्रेस मतलब क्या होता है?

ANS: यह एक प्रकार का ऑनलाइन एड्रेस अर्थात ऑनलाइन पता होता है जिस पर ईमेल सेंड किया जाता है।

Q: ईमेल एड्रेस कैसे लिखते हैं

ANS: ईमेल एड्रेस में पहले यूजरनेम होता है और उसके पश्चात संबंधित प्लेटफार्म का डोमेन नेम होता है।

Q: मेरा ईमेल एड्रेस क्या है?

ANS: अगर आप अपना ईमेल एड्रेस पता करना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया भी हमने आर्टिकल में बताई हुई है, जिसका पालन करके सरलता से अपना ईमेल एड्रेस पता किया जा सकता है।

आज के इस आर्टिकल में आपने जाना है की ईमेल एड्रेस क्या होता है? उम्मीद करते है को आपको आर्टिकल से कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जरूर प्राप्त हुई होगी।

यह भी पढ़े:

यदि आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।

हम अपने ब्लॉग पर ऐसे विषयो पर पोस्ट डालते रहते है। अतः हमारे ब्लॉग से जुड़े रहे।

Previous articleकंप्यूटर की पीढियां (Generation of Computer in Hindi)
Next articleGoogle Mera Naam Kya Hai? गूगल मेरा नाम क्या है?
Ankur Singh
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकुर सिंह है और में New Delhi से हूँ। मैंने B.Tech (Computer Science) से ग्रेजुएशन किया है। और में इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, मोबाइल और इंटरनेट से जुड़े लेख लिखता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here