FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? फैक्स मशीन की पूरी जानकारी


इंटरनेट से पहले किसी इनफार्मेशन या पेपर को एक जगह से दूसरे जगह पर भेजने के लिए फैक्स का इस्तेमाल किया जाता था, इसलिए FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? और यह कैसे काम करता है जानिए। आज के समय में तो अपने आवश्यक दस्तावेज को एक जगह से दूसरी जगह पर भेजने के लिए विभिन्न प्रकार के जरिए मौजूद हो चुके हैं परंतु एक समय ऐसा था जब यह सब तरीके नहीं थे, तब एक ऐसी मशीन का इस्तेमाल किया जाता था।

FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? फैक्स मशीन की पूरी जानकारी

जिसके द्वारा थोड़ी ही देर में दुनिया के किसी भी कोने में बैठे हुए व्यक्ति को हम अपने दस्तावेज भेज सकते थे। उस मशीन को फैक्स मशीन कहा जाता था, जिसका कहीं ना कहीं आज भी इस्तेमाल किया जा रहा है।


एक समय इस मशीन का मार्केट में काफी जलवा था। फैक्स मशीन के द्वारा हम अपने दस्तावेज को तभी भेज सकते थे जब हमें सामने वाले व्यक्ति के फैक्स मशीन का फैक्स नंबर पता होता था। खैर आइए इस आर्टिकल में जानते हैं कि FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? फैक्स मशीन की पूरी जानकारी अथवा “फैक्स मशीन का फुल फॉर्म क्या होता है।”

FAX Machine क्या है?

फैक्स का फुल फॉर्म Short of Facsimile होता है। इसकी गिनती इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में होती है और अगर आप दुनिया के किसी भी कोने में रहते हैं और आप अपने किसी दस्तावेज को भेजना चाहते हैं, तो आप फैक्स मशीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। बड़े पैमाने पर इसका इस्तेमाल बिजनेस में किया जाता है। इसके अलावा अन्य जगहों पर भी इसका यूज होता है।


फैक्स मशीन में एसटीडी फोन लाइन का इस्तेमाल होता है जो एक प्रकार की मशीन होती है जिसमें दस्तावेज को इंटर किया जाता है और फिर उस दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक फोटो तैयार हो जाती है और फिर उसे इंटरनेट की और टेलीफोन की हेल्प से सामने वाले व्यक्ति के फैक्स मशीन पर सेंड किया जाता है।

जैसे कि अगर आपको अपने किसी दस्तावेज को किसी अन्य व्यक्ति को भेजना है तो आप फैक्स मशीन में दस्तावेज को डालेंगे। ऐसा होने पर आपका दस्तावेज इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट में तैयार हो जाएगा।

अब जिस व्यक्ति को आप अपने दस्तावेज को भेजना चाहते हैं आपको उस व्यक्ति के फैक्स मशीन पर इंटरनेट और टेलीफोन की सहायता से अपने दस्तावेज को भेज देना है। इसी प्रक्रिया को सामने वाला व्यक्ति भी तब फॉलो करेगा जब वह आपके फैक्स मशीन को या फिर किसी भी दूसरे व्यक्ति के फैक्स मशीन पर दस्तावेज सेंड करेगा।

FAX Machine कैसे काम करती है?


अगर आपको किसी दस्तावेज को एक ही स्थान पर बैठे-बैठे किसी दूसरे व्यक्ति के पास भेजना है तो इसके लिए फैक्स मशीन का इस्तेमाल किया जाता है। फैक्स मशीन से फैक्स सेंड करने के लिए सबसे पहले आपको फैक्स मशीन में दस्तावेज को डालना पड़ता है।

दस्तावेज डालने के पश्चात फैक्स मशीन में लगी हुई लाइट आपके द्वारा डाले गए दस्तावेज को स्कैन करती है। स्कैनिंग की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप के दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक छवि बन करके तैयार हो जाती है और फिर तैयार हुई इलेक्ट्रॉनिक छवि को टेलीफोन लाइन के जरिए सेंड किया जाता है।

बता दे की जो छवि होती है वह निश्चित जगह पर एक प्लेन पेपर पर प्रिंट की जाती है। इस प्रकार से फैक्स मशीन के द्वारा दस्तावेज एक जगह से दूसरी जगह पर भेजे जाते हैं और प्राप्त किए जाते हैं।

FAX कैसे करे?

फैक्स मशीन के द्वारा फैक्स मशीन करने का तरीका नीचे दर्शाया गया है।

1: आपको सबसे पहले अपनी फैक्स मशीन को लैंडलाइन के साथ जोड़ लेना है और उसके पश्चात आपको फैक्स मशीन को कनफिगर भी कर लेना है।
2: अब आपको दस्तावेज को मशीन के अंदर डालना है। हालांकि ऐसा करने के दरमियान आपको इस बात का ध्यान रखना है कि जो दस्तावेज आप मशीन के अंदर डाल रहे हैं उसकी जानकारी मशीन के नीचे की साइड होनी चाहिए।
3: अब आपको उस व्यक्ति के फैक्स नंबर को इंटर करना है जिस व्यक्ति की फैक्स मशीन पर आप दस्तावेज को सेंड करना चाहते हैं साथ ही साथ आपको एरिया कोड को भी निश्चित जगह में दर्ज करना है।
4: अब आपको सेंड वाली बटन पर क्लिक कर देना है।

इतनी प्रक्रिया जब आपके द्वारा पूरी कर ली जाएगी तो आपको एक मैसेज मिलेगा जिसमें यह लिखा होगा कि आपका जो फैक्स आपने भेजा है वह सफलतापूर्वक सेंड हो गया है।

FAX नंबर क्या होता है?

जिस प्रकार से फोन नंबर होता है उसी प्रकार से फैक्स नंबर भी होता है। फैक्स मशीन के द्वारा आप सामने वाले व्यक्ति को तभी फैक्स भेज सकेंगे। जब आपको सामने वाले व्यक्ति के फैक्स मशीन का फैक्स नंबर पता होगा।

FAX Machine का आविष्कार किसने किया?

साल 1845 में Alexander Bain नाम के व्यक्ति के द्वारा फैक्स मशीन का आविष्कार किया गया था। इस मशीन का आविष्कार होने के तकरीबन 11 सालों के पश्चात टेलीफोन का भी आविष्कार हो गया था।

आज भी विभिन्न जगह पर फैक्स मशीन का इस्तेमाल किया जा रहा है परंतु बढ़ती हुई टेक्नोलॉजी की वजह से फैक्स मशीन के इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है।

FAX Machine का उपयोग?

कम्युनिकेशन को सेटल करने के उद्देश्य के लिए फैक्स मशीन का इस्तेमाल किया जाता है और जैसा कि हमने आपको ऊपर ही इस बात की जानकारी दे दी है कि इसके द्वारा सरलता के साथ एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के फैक्स मशीन पर अपने दस्तावेज को भेज सकता है।

हालांकि इसके लिए व्यक्ति के पास सामने वाले व्यक्ति की फैक्स मशीन का फैक्स नंबर होना चाहिए तभी वह दस्तावेज भेज सकेगा अन्यथा नहीं। देखा जाए तो अधिकतर गवर्नमेंट ऑफिस में डॉक्यूमेंट को एक ऑफिस से दूसरे ऑफिस में ट्रांसफर करने के लिए यानी की सेंड करने के लिए फैक्स मशीन का इस्तेमाल होता है।

यही नहीं फोटोकॉपिर के तौर पर भी फैक्स मशीन का इस्तेमाल होता है क्योंकि कुछ ऐसी भी फैक्स मशीन मौजूद है जिसमें डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने का ऑप्शन हासिल होता है।

FAX Machine की विशेषताएं?

फैक्स मशीन की विशेषताएं निम्नानुसार हैं।

  • इसके द्वारा डॉक्यूमेंट एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजे जाते हैं, जिसमें फैक्स मशीन के द्वारा टेलीफोन लाइन का उपयोग होता है।
  • इसकी ट्रांसफरिंग की स्पीड बहुत ही तेज होती है यानी कि आप सिर्फ 1 से 2 मिनट के अंदर ही अपने दस्तावेज को दुनिया के किसी भी कोने में मौजूद फैक्स मशीन के फैक्स नंबर पर सेंड कर सकते हैं और हासिल भी कर सकते हैं।
  • कुछ ब्रांड की ऐसी फैक्स मशीन मौजूद है जिसमें प्रिंट करने का ऑप्शन मिलता है। इस ऑप्शन के द्वारा बिना किसी प्रिंटर की सहायता से भी डॉक्यूमेंट को प्रिंट कर सकते हैं।
  • फैक्स मशीन का इस्तेमाल करने के लिए लैंडलाइन की आवश्यकता होती है। यही वजह है कि इनकी गिनती पोर्टेबल डिवाइस में नहीं होती है, साथ ही इनकी साइज भी अधिक होती है। इसलिए आप इसे ज्यादा एक जगह से दूसरी जगह पर ले करके नहीं जा अथवा आ सकते हैं।
  • सामने वाले व्यक्ति की फैक्स मशीन पर आप तभी फैक्स भेज सकेंगे जब आपको उस मशीन का फैक्स नंबर पता होगा। यही जानकारी सामने वाले व्यक्ति को भी आपकी फैक्स मशीन पर फैक्स भेजने के लिए पता होनी चाहिए।

तार और फैक्स में अंतर?

सामान्यतया एक संदेश तकरीबन 24 घंटे के अंदर तार के द्वारा पहुंचता है। परंतु फैक्स के द्वारा हमारे दस्तावेज कुछ ही सेकंड में सामने वाले व्यक्ति को प्राप्त हो जाते हैं। इसके अलावा तार भेजने के लिए हमें कागज का इस्तेमाल करना पड़ता था। और सामने वाले व्यक्ति को पोस्ट के द्वारा भेजना पड़ता था।

परंतु फैक्स मशीन के द्वारा हम अपने दस्तावेज को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट में भेजते हैं और यह चीजें उसे कुछ ही देर में फोटोकॉपी के तौर पर हासिल भी हो जाती है।

वर्तमान समय में तार सर्विस काफी कम ही काम कर रही है परंतु अभी भी कुछ जगह पर फैक्स मशीन का इस्तेमाल फैक्स भेजने के लिए अथवा पाने के लिए किया जा रहा है।

फैक्स मशीन के लाभ?

फैक्स मशीन के एडवांटेज अथवा फैक्स मशीन के लाभ निम्नानुसार हैं।

  • फैक्स मशीन के द्वारा दस्तावेज को भेजने की वजह से हमारी काफी पैसे बच जाते हैं क्योंकि जब हम पोस्ट के द्वारा दस्तावेज भेजते हैं तो उसमें काफी पैसे लगते हैं।
  • फैक्स मशीन में ना तो वायरस आता है ना ही इसमें malware आता है। यही वजह है कि यह फैक्स कम्युनिकेशन को और भी सुरक्षित बनाता है।
  • इस मशीन के द्वारा आसानी से दस्तावेज को सेंड कर सकते हैं और दस्तावेज को प्राप्त भी कर सकते हैं।
  • अगर आप बड़ी फाइल को ईमेल के द्वारा भेजेंगे तो इसमें समय लग जाता है परंतु बड़ी सी बड़ी फाइल को भी आसानी से कुछ ही सेकंड में भेजने के लिए फैक्स बहुत ही कारगर साबित होता है।
  • फैक्स मशीन को इंस्टॉल करना बहुत ही सरल होता है और इसे इंस्टॉल करने के लिए किसी भी प्रकार की स्पेशल ट्रेनिंग की भी जरूरत नहीं होती है।
  • फैक्स मशीन को हैक करना थोड़ा सा मुश्किल काम होता है।
  • इसके द्वारा कम्युनिकेशन करना बहुत ही सस्ता पड़ता है।

फैक्स मशीन की हानि?

फैक्स मशीन के डिसएडवांटेज अथवा फैक्स मशीन के नुकसान निम्नानुसार है।

  • फैक्स मशीन मल्टीटास्किंग नहीं होती है। इसलिए यह एक टाइम पर एक ही काम करती है।
  • इसे चलाने के लिए टेलीफोन लाइन की आवश्यकता होती है और अगर कभी कबार टेलीफोन लाइन डाउन हो जाती है तो इसे चलाने में विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
  • इसकी साइज बड़ी होती है। इसीलिए इसे एक ही जगह पर इंस्टॉल करके रखना पड़ता है, क्योंकि इसे चलाने के लिए लैंडलाइन कनेक्शन की भी आवश्यकता पड़ती है।
  • फैक्स मशीन में कुछ अन्य चीजें भी लगती है जैसे कि कागज, इंक, टोनर और यह सभी चीजें कभी भी खत्म हो सकती है। इसलिए व्यक्ति को इन सभी चीजों का समय समय पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है, वरना इमरजेंसी में अगर कभी उसे काम पड़ गया तो वह फैक्स मशीन का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा।
  • कभी कबार फैक्स मशीन के द्वारा जो दस्तावेज भेजे जाते हैं उसकी क्वालिटी ठीक नहीं होती है।
  • कभी कबार फैक्स मशीन में अनचाही खराबी आ जाती है।

FAX Machine मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के नाम!

नीचे कुछ लोकप्रिय फैक्स मशीन मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के नाम दिए गए हैं।

  • एनटीटी
  • सैमसंग
  • कैनोन
  • पैनासोनिक
  • ब्रदर
  • एचपी
  • सार्प

FAQ:

फैक्स मशीन क्या होता है?

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस

फैक्स मशीन कैसे काम करती है?

आर्टिकल में बताया गया है।

फैक्स की विशेषताएँ क्या है?

आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

फैक्स का पूरा नाम क्या है?

Short of Facsimile

फैक्स मशीन का आविष्कार कब हुआ?

1845

इस लेख मे हमने आपको बताया की FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? और इस मशीन के इतिहास और काम करने के तरीके को भी अच्छे से समझने का प्रयास किया है।

यह भी पढे

Hope अब आपको FAX Machine Kya Hai? समझ आ गया होगा, और आप जान गये होगे की FAX Machine क्या है? FAX कैसे करे? फैक्स मशीन की पूरी जानकारी!


अगर आपके पास कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हो. और अगर आपको यह पोस्ट हेल्पफुल लगा हो तो इसको सोशल मीडिया पर अपने अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here