Google Ko Hack Kaise Kare? (How to Hack Google)

0

आप लोग गूगल का प्रयोग तो जरूर करते होंगे। आजकल किसी को भी कोई जानकारी पानी होती है, वो सबसे पहले गूगल पर ही आता है क्योंकि गूगल एक सर्च इंजन है। पर मजे की बात यह है की इन दिनों लोग गूगल पर ही सर्च कर रहे हैं की Google Ko Hack Kaise Kare? और गूगल को हैक करने के क्या क्या तरीके होते है?

Google Ko Hack Kaise Kare? (How to Hack Google)


आज के समय में इंटरनेट की मदद से गूगल पर आपको किसी भी तरह की जानकारी मिल जाती हैं, पर वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसका दुरुपयोग भी करते हैं। आज के समय में युवाओं में हैकिंग का क्रेज है वह हैकिंग की मदद से बड़े बड़े गेम और साथ ही बड़े बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भी हैक कर रहे हैं।

वैसे तो हैकिंग इलीगल होती हैं, और अगर आप किसी की बिना परमिशन के हैकिंग करते है तो आपको जेल भी हो सकती है। हैकिंग का प्रयोग बड़ी बड़ी कंपनी अपने डाटा को सिक्योर रखने और देश की सरकार अपनी सुरक्षा के लिए करती हैं। इसलिए आप भी अगर हैकिंग की कुछ जानकारी रखते हैं तो उसका सही प्रयोग करें।

Google Ko Hack Kaise Kare?

गूगल एक सर्च इंजन है, जो की दुनिया का नंबर वन सर्च इंजन है। लोगो को गूगल पर इतना विश्वास है की अगर उनको कुछ भी जानकारी चाहिए होती है तो वह सबसे पहले गूगल का ही इस्तेमाल करते है। आज विश्व में गूगल के सैकड़ों प्रोडक्ट & सर्विस हैं, बता दें गूगल डॉक्स, गूगल फोटो, गूगल एड्स, गूगल ड्यू, गूगल मैप और साथ में क्रोम ब्राउजर आदि जैसे प्लेटफॉर्म गूगल के ही है।


जिसमें यूट्यूब और जीमेल बहुत ही फेमस प्लेटफॉर्म है। हालांकि जो लोग गूगल को हैक करने की तमन्ना रखते हैं उन्हें बता दें गूगल को हैक करना इतना आसान तो नहीं है क्योंकि यह इतनी बड़ी कंपनी है की जो अपनी सिक्योरिटी पर बहुत पैसा खर्च करती है।

पर हां गूगल को हैक किया जा चुका है, क्योंकि इसमें भी कभी कभी कुछ glitch मिल जाते हैं तो हैकर फिर उसको हैक करने का प्रयास करते हैं। जिसमे वह कभी कभी सफल भी हो जाते है, हालांकि वह बस कुछ सेकंड के लिए ही गूगल को हैक कर पाते हैं।

वैसे गूगल ने और बड़ी बड़ी कम्पनी ने अपने ऊपर इनाम भी रखा है कि अगर कोई उनकी कंपनी या उनके प्लेटफार्म को हैक कर देता है तो वह उसको बहुत सारे रुपए देगी।


इसके पीछे मुख्य कारण यह है की कंपनी को अपनी कमियां दिखाई देगी। जिसके बाद कंपनी अपनी उस गलती पर सुधार करेंगे। कंपनी साल में एक बार यह कॉम्पिटिशन भी रखती है और जिसमें अलग अलग देश के बड़े बड़े हैकर भाग लेते है। हैकर गूगल को हैक करने का पूरा प्रयास करते है।

अगर आप हैकिंग की अच्छी खासी जानकारी रखते है तो आप एक बार गूगल को हैक करने के बारे में सोच सकते हैं। मैं आपको नीचे कुछ टिप्स की जानकारी देता हूं जिसकी मदद से आप गूगल को हैक करने का प्रयास कर सकते है।

(नोट: यह जानकारी केवल आपके ज्ञान के लिए है, हम आपको हैकिंग करने की सलाह नहीं देते है। क्योंकि हैकिंग एक इलीगल कार्य है। अगर आप कभी हैकिंग से गलत कार्य करते हैं तो आपको जेल भी जो सकती है। इसलिए अगर आप हैकिंग की जानकारी रखते है तो आपको इसका सही कार्य में ही प्रयोग करना चाहिए।)

गूगल को हैक कैसे किया जाए?

सबसे पहली बात अगर आपको गूगल को हैक करना है तो पहले आपको गूगल को उसकी परमिशन लेनी होगी और उसको बताना होगा की मुझे आपके सॉफ्टवेयर में कुछ प्रोब्लम शो हो रही है तो फिर आप गूगल को हैक कर सकते है।


गूगल को हैक करने के लिए आपको एथिकल हैकिंग का कोर्स सीखना होगा। जो आप किसी अच्छे यूट्यूब हैकिंग चैनल और किसी अच्छे हैकिंग इंस्टीट्यूट से सीख सकते है। हैकिंग का आपके पास एक सर्टिफिकेट भी होना चाहिए।

जब आप एक अच्छे इंस्टीट्यूट में एथिकल हैकिंग का कोर्स करते है तो आपको उनकी तरफ से सर्टिफिकेट भी दिया जाता है। उसके बाद आप एक सर्टिफाइड हैकर बन जाते है। अगर आपको हैकिंग की सही नॉलेज होती है तो बड़ी बड़ी कम्पनी आपको हायर कर लेती है और आपको एक अच्छा पैकेज देती है।

बता दें गूगल जैसी बड़ी बड़ी कम्पनियों को एक अच्छे सर्टिफाइड हैकर की तलाश होती है। जिसके बाद वह उनको हायर कर लेते हैं और फिर अपनी कंपनी में जॉब दे देते हैं उनका मुख्य काम उनकी कंपनी को हैक करना होता है ताकि वह अपनी कंपनी को और मजबूत बना सके।


हैकर के कितने प्रकार होते है और कोनसे हैकर गूगल को हैक करते है?

हैकर भी अलग अलग तरह के होते हैं, इनमे कुछ अच्छे होते है जो की हैकिंग का प्रयोग अच्छे कार्य के लिए करते हैं, वहीं दूसरी तरफ बुरे हैकर होते हैं जो की किसी दूसरे का नुकसान करने के लिए हैकिंग का प्रयोग करते है।

इसलिए हैकर को तीन कैटेगरी में विभाजित किया गया है जिसमे व्हाइट हैट हैकर, ब्राउन हैट हैकर और ब्लैक हैट हैकर शामिल हैं तो चलिए जानते हैं की यह हैकर कौन कौन से होते हैं और कौन से हैकर गूगल को हैक करते हैं।

1. व्हाइट हैट हैकर:

व्हाइट हैट हैकर को एथिकल हैकर भी कहते है क्योंकि यह अपनी हैकिंग से किसी का नुकसान नहीं करते हैं। यह एक अच्छे इंस्टीट्यूट से हैकिंग सीखते हैं और सर्टिफाइड हैकर होते है।

यह अपने देश की सुरक्षा के लिए हैकिंग का कार्य करते हैं ताकि कोई बाहर का जासूस हैकर हमारे देश की किसी वेबसाइट को हैक करके हमारे सीक्रेट जान न पाए। व्हाइट हैट हैकर एक प्रोफेशनल हैकर होते है, यह अपनी हैकिंग स्किल से अच्छे खासे पैसे कमाते है और बड़ी बड़ी कम्पनी भी इनको हायर करती हैं।

अगर आप भी व्हाइट हैट हैकर बनना चाहते है तो आपको इसके लिए पहले तो एथिकल हैकिंग का कोर्स करना होगा और साथ ही आपको बहुत सारी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी सीखनी होगी जो की हैकिंग के लिए बहुत जरूरी हैं। आज कल की टेक्नोलॉजी भरी दुनिया में हैकिंग का भविष्य उजागर है।

2. ब्राउन हैट हैकर:

यह हैकर बीच की कैटेगरी के हैकर होते है। इन हैकर्स को आजादी पसंद होती है, इसलिए यह हैकर अपनी इच्छा अनुसार ही कार्य करते है। ब्राउन हैट हैकर न तो अच्छे हैकर होते है और न ही बुरे हैकर होते है।

यह अपनी मर्जी के मालिक होते है, इसलिए जब इनका मन करता है यह तब कार्य करते है। इनको किसी कंपनी या सरकार के अंदर काम करना पसंद नहीं होता है। यह कोई सर्टिफाइड हैकर नहीं होते है क्योंकि इन्होंने सेल्फ एक्सपेरिमेंट करके हैकिंग को सीखा होता है।

यह हैकर आपका नुकसान भी कर सकते है और या चाहें तो आपको नुकसान से बचा भी सकते है। यह कभी कभी इलीगल एक्टिविटी भी करते है।

3. ब्लैक हैट हैकर:

ब्लैक हैट हैकर इलीगल कार्य करते हैं। यह बहुत ही ज्यादा खतरनाक होते है, अगर यह आपके डाटा को हैक कर लेते हैं तो फिर आपके डाटा को कोई भी रिकवर नहीं कर सकता है। यह अपने फायदे और गलत एक्टिविटी के लिए अपनी हैकिंग स्किल का प्रयोग करते हैं।

ब्लैक हैट हैकर ही गूगल को हैक करने का प्रयास करते हैं और गूगल के साथ साथ बड़ी बड़ी कम्पनी फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और एप्पल जैसे कम्पनी को भी हैक करने का प्रयास करते रहते हैं।

जिसमें यह कभी कभी सफल भी हो जाते है। ऐसे हैकर्स को पकड़ना बहुत ही मुश्किल होता है क्योंकि यह इतने शातिर तरीके से अपना कार्य करते हैं की किसी दूसरे को पता भी नहीं लग पाता है।

यह लोगो का और कम्पनी का डाटा चुराकर उस डाटा को बेच देते है और साथ ही ब्लैकमेल भी करते है। यह हैकिंग में एथिकल हैकर से भी ज्यादा तेज होते है लेकिन यह अपनी इस स्किल का गलत प्रयोग करते है।

इनको हैकिंग में महारथ हासिल होती है और इनका दिमाग भी बहुत शार्प होता है। यह नॉर्मल हैकर से भी आगे की सोचते है। इनको सभी कोडिंग लैंग्वेज की जानकारी होती हैं। इसलिए इन्हें हैकिंग का गुरु कहते है।

गूगल को हैक करने के कुछ टिप्स?

हमने आपको हैकिंग के बारे में सब बता दिया है और साथ ही यह भी बता दिया की गूगल को हैक करना इतना आसान कार्य नहीं होता हैं। अगर गूगल को कोई हैक कर सकता है तो वह केवल ब्लैक हैट हैकर ही कर सकते है।

इसलिए अगर आपको हैकिंग की थोड़ी बहुत नॉलेज है तो आप गूगल को हैक करने के बारे में सोच भी नहीं सकते हैं। क्योंकि आपकी मेहनत और प्रयास दोनों विफल हो जाएंगे। लेकिन फिर भी मैंआपको नीचे कुछ टिप्स बताता हूं, जिसकी मदद से ब्लैक हैट हैकर गूगल को हैक करने का प्रयास करते है।

  • कीलोगर मैथड की मदद से गूगल को हैक करें।
  • फिशिंग मैथड की मदद से गूगल को हैक करें।
  • स्पाइवेयर मैथड की मदद से हैकिंग करें।

google

कीलोगर मैथड क्या है?

Keylogger एक टूल होता है जो हैकर के लिए हैकिंग करने का एक तरीका है। इसमें हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों की मदद से हैकिंग की जा सकती है।

कीलोगर का छोटे से लेकर बड़े हैकर दोनों इसका प्रयोग करते है। अगर आप एक सर्टिफाइड हैकर haij तो ही आप इसको यूज कर सकते हैं, नहीं तो आपके लिए खतरा हो सकता है।

कीलोगर से आपके सिस्टम और मोबाइल को पूरी तरीके से हैक किया जा सकता है और बड़ी ही आसानी से पता लगाया जा सकता है की आप क्या टाइपिंग कर रहे है।

  • कीलोगर के दो प्रकार होते है। हार्डवेयर कीलोगर or सॉफ्टवेयर कीलोगर.

#1. हार्डवेयर कीलोगर: 

यह एक हार्डवेयर डिवाइस होता है, इसलिए इसका नाम हार्डवेयर कीलोगर है। यह पेन ड्राइव या डोंगल की तरह होते है। अगर किसी को भी आपकी हैकिंग करनी होती है तो वह आपके सिस्टम या फोन में इसको फिट कर देता हैं।

इसके बाद हम अपने सिस्टम या मोबाइल में कुछ भी एक्टिविटी करते हैं वह सब इसमें सेव हो जाती है। जिसके बाद हैकर आसानी से आपके सिस्टम को हैक कर लेता है।

#2. सॉफ्टवेयर कीलोगर: 

सॉफ्टवेयर कीलोगर तो हार्डवेयर सॉफ्टवेयर से भी काफी खतरनाक होता है। इसमें हैकर किसी वायरस की मदद से आपके सिस्टम या फोन में कीलोगर सॉफ्टवेयर इंस्टाल कर देता है और आपको इसकी कोई जानकारी भी नहीं होती हैं।

यह धीरे धीरे आपके सिस्टम की सभी जानकारी अपने अंदर स्टोर करता रहता है और सभी जानकारी को हैकर तक भेजता रहता है। यह हमेशा बैकग्राउड में चलता रहता हैं।

कीलोगर मैथड से हैकर गूगल को कैसे हैक करते हैं?

कीलोगर मैथड में सबसे पहले हैकर एक सॉफ्टवेयर डिजाइन करते है, उसके बाद वह इस सॉफ्टवेयर को आपके सिस्टम, मोबाइल और लैपटॉप आदि किसी में भी इंस्टाल करवा देते है।

यह किसी वायरस की मदद से भी सॉफ्टवेयर को इंस्टाल करवा देते है। इसके बाद आपके सिस्टम और फोन का पूरा एक्सेस हैकर के पास चला जाता है।

फिशिंग मैथड क्या है?

फिशिंग मैथड हैकरों के लिए बहुत ही अच्छा मैथड होता है। बहुत से हैकर फिशिंग मैथड का प्रयोग करके हैकिंग करते है। इसमें हैकर 95 पर्सेंट तो सफल ही हो जाते हैं।

यह एक ऑनलाइन अपराध की श्रेणी में आता हैं। इसमें बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड और पासवर्ड की इलीगल तरीके से जानकारी ली जाती है। इसको सोशल अटैक भी कहा जाता है। अगर आप भी फिशिंग मैथड का प्रयोग करके हैकिंग करने के बारे में सोच रहे है तो इसके लिए भी आपको हैकिंग की अच्छी खासी जानकारी होनी चाहिए और आप एक सर्टिफाइड हैकर होने चाहिए तभी आप इसका प्रयोग कर सकते हैं।

Phishing Se Google Ko Hack Kaise Kare?

इस मैथड में हैकर एक फेक पेज बनाते है जो कि एचटीएमएल लैंग्वेज में बनता है। यह पेज बिल्कुल अलसी पेज की तरह शो होता है। इससे हैकर गूगल के जीमेल अकाउंट को हैक करता है। वह लोगों से इस फेक पेज में जीमेल आईडी और पासवर्ड ही डालने का ऑप्शन देते है, जैसे ही लोग इसमें डिटेल भरते है उसके बाद उनका जीमेल अकाउंट हैक हो जाता है।

फिशिंग मैथड में लोगों को लालच देकर भी गुमराह किया जाता है, जिसके बाद उनसे पैसे लिए जाते है। फिशिंग मैथड के पांच प्रकार होते है।

  • स्पीयर फिशिंग
  • व्हालिंग
  • स्मिशिंग
  • विशिंग
  • ईमेल फिसिंग

इसमें सबसे पॉपुलर ईमेल फिसिंग होता है।

स्पाइवेयर मैथड क्या है इससे गूगल कैसे हैक करे?

स्पाइवेयर भी एक तरह का कंप्यूटर प्रोग्राम होता हैं, जो की एक सॉफ्टवेयर होता है। जिसका प्रयोग किसी कंप्यूटर या फोन में हैकिंग के लिए किया जाता हैं। इसको भी आपके सिस्टम या फोन में वायरस की मदद से इंस्टाल किया जाता है और फिर सभी जानकारी को खोजा जाता है।

एक बार यह आपके सिस्टम में इंस्टाल हो जाता है तो यह आपकी सभी जानकारी को इक्ट्ठा कर लेता है। फिर आपको ब्लैकमेल और गूगल के अन्य सभी टूल्स को जानकर एक्सेस करके हैक कर सकता हैं।

Disclaimer: हमने आपको जो यह जानकारी दी है, आप इसका गलत प्रयोग न करें, अगर आप हैकिंग का गलत प्रयोग करते है तो आपको जेल भी हो सकती हैं।

(FAQ): Google Ko Hack Kaise Kare जुड़े कुछ सवाल और उसके जवाब

क्या हम गूगल को हैक कर सकते है?

नहीं हम गूगल को हैक नहीं कर सकते है। इसके लिए हमे हैकिंग की अच्छी खासी जानकारी होनी चाहिए और उसके बाद भी गुगल को हैक करना इतना आसान नहीं है क्योंकि गूगल gws सर्वर का प्रयोग करता है। जो की गूगल का खुद का बनाया हुआ सर्वर है इसलिए इसे हैक करना ना के बराबर हैं।

गूगल का सीईओ कोन है?

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई हैं। इनके माता पिता भारतीय मूल के थे। बाद में वह यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका जाकर शिफ्ट हो गए।

क्या हम गूगल पर कुछ भी सर्च कर सकते है?

जी हां, आप गूगल पर कुछ भी सर्च कर सकते है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप गूगल पर गलत चीजे सर्च करो।

क्या यूट्यूब को हैक किया जा सकता हैं?

हां, वैसे तो यूट्यूब के बहुत से चैनल को हैक किया जा चुका है। लेकिन फिर भी यूट्यूब को हैक करना इतना आसान नहीं होता हैं।

यह भी पढ़े:

आज हम आपको Google Ko Hack Kaise Kare। इस विषय पर जानकारी दी। हमने यह जानकारी आपको नॉलेज के लिए दी है।

अगर आपका कोई भी सवाल हो तो आप हमसे कॉमेंट सेक्शन में पूछ सकते है, हम आपके सभी सवाल के जवाब जरूर देंगे।

Previous articleBluetooth से कोई भी मोबाइल हैक कैसे करे?
Next articlePaytm Hack Kaise Kare? (How to Hack Paytm Account)
Tanishq
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम तनिष्क है और मैंने B.Sc (Computer Science) से Graduation किया है और में एक Certified Ethical Hacker हूँ। मुझे टेक्नोलॉजी और हैकिंग में काफ़ी रुचि है और में इस ब्लॉग पर Ethical Hacking, Cyber Security और Kali Linux से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here