कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है – What Is Hardware In Hindi

0

Computer Hardware kya hai? – What Is Hardware In Hindi? Guys पिछले पोस्ट में मैंने आपको सॉफ्टवेयर के बारे में बताया था, अब अगर आप computer hardware के बारे detail से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है? hardware के प्रकार? hardware का use & all about computer hardware in hindi? 

हेलो! दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में! यदि आप एक विद्यार्थी हैं या एक कंप्यूटर यूजर हैं तो आज का यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में कई बार परीक्षाओं में भी सवाल पूछ लिए जाते हैं!


इसके साथ ही एक कंप्यूटर यूजर को तो hardware के बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है क्योंकि कई बारे सिस्टम में खराबी आ जाती है जिस वजह से कंप्यूटर parts की जानकारी ना होने के कारण हम छोटी से बात पर परेशान हो जाते है!

परन्तु यदि हमें कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में पर्याप्त जानकारी है तो हम सिस्टम में हुई खराबी का पता लगा सकते हैं! तथा थोड़ी सी सूझ-बुझ से अपने सिस्टम की छोटी-मोटी खामियों को दूर करके सिस्टम को ठीक कर सकते हैं!

क्या आप भी कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है? कंप्यूटर हार्डवेयर के कितने प्रकार होते हैं यह जानना जानना चाहते हैं तो आज हम आपको कंप्यूटर हार्डवेयर के सभी parts की जानकारी देने जा रहे हैं! अतः इस लेख को पूरा पढ़े ताकि आपको कंप्यूटर हार्डवेयर से संबंधित कई सारी जानकारी एक जगह पर मिल सके!

दोस्तो इसके साथ ही इस लेख के अंत में हम आपके साथ शेयर करेंगें जिससे आप कंप्यूटर की कई सारी प्रॉब्लम को स्वयं solve कर सकते हैं!

कंप्यूटर क्या है और किसने बनाया – What Is Computer In Hindi और कंप्यूटर मेमोरी क्या है – Cache & Virtual Memory In Hindi इसके बारे में मैंने already detail से बताया हुआ है, लेकिन आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है – What Is Hardware In Hindi?

यह भी पढ़े: मोबाइल क्या है और किसने बनाया – What Is Mobile In Hindi

कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है – What Is Hardware In Hindi

दोस्तों कंप्यूटर हार्डवेयर को सरल शब्दों में समझें तो यह एक कंप्यूटर का फिजिकल भाग होता है अर्थात जिसे हम देख तथा छू सकते हैं! तथा खराब होने पर जिसे रिपेयर किया जा सकता है! दोस्तो कंप्यूटर में बिना हार्डवेयर के कोई भी सॉफ्टवेयर run नहीं हो सकता। अर्थात बिना हार्डवेयर के सॉफ्टवेयर का कोई अस्तित्व नहीं होता! इसलिए सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर दोनों मिलकर कंप्यूटर को रन करने में सहायक होते हैं!

computer मुख्यतः दो तत्वों से मिलकर बना है

पहला hardware यह सभी parts का एक कलेक्शन होता है जिन्हें आप छू सकते हैं! दूसरी ओर सॉफ्टवेयर को आप देख सकते हैं परंतु इसे छू नहीं सकते!

अतः हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर दोनों मिलकर कंप्यूटर को रन करने में सहायक होते हैं!

कंप्यूटर हार्डवेयर में cabinet, hard disk, central processing unit, monitor, keyboard, graphics card, sound card, speakers आदि उपकरण होते हैं!

यदि हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर के बीच मुख्य अंतर को समझें तो hardware शब्द hard से संबंधित है क्योंकि हार्डवेयर में बदलाव करना या modify करना कठोर होता है!

जबकि सॉफ्टवेयर शब्द soft से संबंधित है क्योंकि software को आसानी से बदला या अपडेट किया जा सकता है!

दोस्तों अब हम जानते हैं कम्प्यूटर hardware के विभिन्न parts के बारे में। हार्डवेयर parts के बारे में जानकारी लेने से पूर्व आपको computer के दो विभिन्न types के बारे में जानकारी होनी जरूरी हैं?

यह भी पढ़े: ईमेल (Email) क्या है? – What Is Email In Hindi

Desktop Computer

जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है की इस तरह के कंप्यूटर आमतौर पर किसी desk (टेबल) पर रखे जाते हैं जिन्हें एक जगह से दूसरी जगह ले जाना आसान नही होता !

desktop कंप्यूटर में कंप्यूटर केस (कैबिनेट) , मॉनिटर, कीबोर्ड तथा mouse अलग-अलग होते हैं!

Laptop Computer

डेस्कटॉप कंप्यूटर की तरह ही लैपटॉप में भी वे सभी कॉम्पोनेन्ट पाए जाते हैं! परन्तु लैपटॉप डिवाइस में यह सभी कॉम्पोनेन्ट एक यूनिट में एकीकृत (integrated) होते हैं! जिस वजह से लैपटॉप का वजन कम होता है तथा इसे कहीं भी आसानी से ले जाया जा सकता है!!

कंप्यूटर को बनाने में hardware मुख्य होता है! अतः चलिये हम जानते हैं कि किन-किन हार्डवेयर उपकरणों को मिलाकर एक कंप्यूटर बनता है!

सबसे पहले हम यहाँ कंप्यूटर के बाहरी उपकरणों जैसे input डिवाइस के बारे में जान लेते हैं जिनमें हमारी नजर सबसे पहले पडती है!

Input Device 

1. Mouse

यदि आप डेस्कटॉप यूजर्स हैं तो आपको अपने कंप्यूटर में माउस देखने को मिलेगा परंतु दूसरी ओर यदि आप लैपटॉप यूजर्स हैं तो आपको उसमें टचपैड देखने को मिलता है

माउस के जरिये यूजर pointer को नियंत्रित करते है जिससे आप स्क्रीन में files या किसी भी ऑब्जेक्ट पर क्लिक कर सकते हैं!

2. Keyboard

दोस्तो दूसरे नंबर पर आता है keyboard आपको कोई डाटा टाइप करना है या अपना नाम लिखना है तो आपको कीबोर्ड की आवश्यकता पड़ती है! तथा आप शॉर्टकट keys को याद रख कर अनेक task कीबोर्ड की मदद से कर सकते हैं!!


Output Device

1. Monitor

दोस्तो सबसे पहले बात आती है Monitor की! मॉनिटर में यूजर इंटरफेस show होता है आपके द्वारा की गई कंप्यूटर पर कोई भी गतिविधि मॉनिटर पर show होती है! उदाहरण के लिए आपके द्वारा इंस्टॉल किए गए प्रोग्राम/सॉफ्टवेयर या फिर ऑपरेटिंग सिस्टम मॉनिटर में दिखाई देते हैं!

2. Printer

प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है इसका कार्य कंप्यूटर पर text, इमेज आदि अन्य प्रकार के डाटा को प्रिंट करना होता है! परंतु यह आवश्यक नहीं है कि कंप्यूटर चलाने के लिए आपके पास प्रिंटर उपलब्ध हो।

यह भी पढ़े: मैक एड्रेस क्या है? – What Is MAC Address In Hindi

CPU

अब हम दोस्तों कंप्यूटर के मुख्य पार्ट्स की जानकारी लेते हैं जिसके अंतर्गत हम CPU (central processing unit) के विभिन्न पार्ट्स की जानकारी प्राप्त करेंगे!

cpu कंप्यूटर के सभी हार्डवेयर कॉम्पोनेंट्स को एक ही स्थान पर जोड़ने का कार्य करता है! आपके कंप्यूटर में लगी मदरबोर्ड, हार्ड डिस्क, कीबोर्ड, माउस आदि सभी कॉम्पोनेंट cpu से जुड़े होते हैं तथा एक user अपनी आवश्यकता के मुताबिक किसी उपकरण को सीपीयू में जोड़ (integrate) सकता है उदाहरण के लिए साउंड कार्ड, ग्राफिक कार्ड इत्यादि!

1. SMPS

अर्थात switch mode power supply इसका कार्य कंप्यूटर में के सभी कॉम्पोनेंट को उचित मात्रा में पावर सप्लाई करना होता है! smps सीपीयू में लगे कॉम्पोनेन्ट जैसे मदरबोर्ड, हार्ड डिस्क आदि को उचित मात्रा में पावर सप्लाई करता है, अतः आप इसे पावर कंट्रोलर भी कह सकते हैं जो बिजली को नियंत्रित करने का कार्य करता है!

2. Processor

जब भी आप कंप्यूटर में कोई निर्देश देते हैं या जब आप कोई सॉफ्टवेयर/एप्लीकेशन टास्क को पूरा करने के लिए ओपन करते हैं तब यह प्रोसेसर से गुजरता है! तथा प्रोसेसर के जरिए ही उस टास्क को पूरा किया जाता है अतः एक पावरफुल प्रोसेसर किसी टास्क को पूरा करने में अत्यंत तेजी प्रदान करता है! इसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है!

3. RAM

रैम (random access memory) यह बेहद जरूरी कॉम्पोनेन्ट होता है! क्योंकि जब भी आप किसी सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम्स को run करते हैं तो सबसे पहले डेटा hard drive में होता है! परंतु जैसे ही यूजर एप्लीकेशन ओपन करते हैं तो ram अपना कार्य शुरू कर सकती है! रैम के बाद वह मेमोरी प्रोसेसर के पास जाती है जहां प्रोसेसर निर्णय करता है कि उस task को कितनी जल्दी से पूरा किया जाए!

यह भी पढ़े: कंप्यूटर और लैपटॉप की रेम (RAM) कैसे बढ़ाये

4. Hard Disk

यदि आप किसी वीडियो, इमेज या फाइल्स आदि को सेव करते हैं तो यह डेटा हार्ड डिस्क में store होता है! जब भी आप वेब ब्राउजिंग करते समय किसी वीडियो को इंटरनेट से डाउनलोड करते हैं तो वह डाटा कंप्यूटर की हार्ड डिस्क ड्राइव में सेव हो जाता है!

इसे आप कुछ इस तरह समझ सकते हैं जिस प्रकार मोबाइल में sd कार्ड/memory कार्ड होता है उसी प्रकार कंप्यूटर में हार्ड डिस्क होता है परंतु इसकी storage क्षमता मेमोरी कार्ड की तुलना में सैकड़ो गुना अधिक होती है! अतः कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम भी हार्ड ड्राइव में ही store होता है!

5. Opticle Device

ऑप्टिकल ड्राइव ऑप्टिकल disk को read करने का कार्य करती है जैसे कि cd, dvd आदि रीड करने में ऑप्टिकल ड्राइव सहायक होती है!

6. External Card

एक्सटर्नल कार्ड मतलब दोस्तो आप कंप्यूटर में बाहरी उपकरणों को भी जोड़ सकते हैं जैसे कि ग्राफिक कार्ड, साउंड कार्ड! ग्राफिक कार्ड का इस्तेमाल heavy सॉफ्टवेयर्स को रन करने में किया जाता है जैसे कि हाई-ग्राफिक्स गेम खेलते समय या हाई-क्वालिटी वीडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर को run करने के लिए कर सकते हैं.

यह भी पढ़े: एंड्राइड (Android) क्या है? – What Is Android In Hindi

Computer Hardware Upgrade कैसे करें?

दोस्तों यदि आप अपने कंप्यूटर को अपग्रेड करने के बारे में सोच रहे हैं तो इसका मतलब है आप अपने कंप्यूटर की परफॉर्मेंस में सुधार लाना चाहते हैं तोएक बात का यहां आपको विशेष ध्यान रखना है यदि आप स्वयं कंप्यूटर को अपग्रेड करने जा रहे हैं! तो पहले उस विषय पर पूरी जानकारी लें!

जैसे कि आप को अपने कंप्यूटर डिवाइस में कौन से कॉम्पोनेंट अपग्रेड करने हैं? तथा क्यों अपग्रेड करवाने हैं? जिससे आपको अपने कंप्यूटर को अपग्रेड करने के बाद वे सभी फीचर्स मिल सके जिस वजह से आप अपने सिस्टम को अपग्रेड कराना चाहते थे !

वर्तमान समय में यूट्यूब पर कई सारे वीडियो ट्यूटोरियल्स हिंदी भाषा में उपलब्ध हैं जिनकी मदद से घर बैठे कंप्यूटर हार्डवेयर को अपग्रेड कर सकते हैं!

इसलिए जब आपके पास सभी हार्डवेयर कंपोनेंट मौजूद हो तब आप इन वीडियो ट्यूटोरियल के माध्यम से स्टेप बाय स्टेप कंप्यूटर को assemble (जोड़ना) कर सकते हैं!

यह भी पढ़े: Top 10 Best Hidden Computer Tips & Tricks In Hindi

कंप्यूटर समस्या कैसे ठीक करें?

दोस्तो जैसा की आप जानते होंगे इण्टरनेट मनोरंजन ,सूचनाओं का भंडार है! इसलिए यदि आपके सिस्टम में किसी प्रकार की कोई समस्या आ जाती है तो आप youtube पर ऑनलाइन अपनी समस्याओं का समाधान वीडियो tutorial के जरिये कर सकते हैं!

मान लीजिये यदि आपका कंप्यूटर on नही हो रहा है तो आप youtube या गूगल पर अपने सवाल टाइप कीजिये और आपको अपने सवालो के सामाधान तथा उसके कारण भी पता लग जाएंगे! आज कई सारे इंटरनेट यूज़र्स घर बैठे अपने सिस्टम की कमियों का पता लगाकर उसे solve करते हैं!!

तो दोस्तों आज के इस लेख में आप ने जाना कि कंप्यूटर हार्डवेयर क्या होता है? तथा अपने सीखा कंप्यूटर हार्डवेयर के components के बारे में उम्मीद है! आज के इस लेख में दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी!

यह भी पढ़े:

Hope की अब आप Computer Hardware के बारे में डिटेल से जान गये होगे की कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है? hardware के प्रकार? hardware का use & all about computer hardware in hindi? 

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here