कंप्यूटर का इतिहास – History Of Computer In Hindi

0

दोस्तों कंप्यूटर तो हम सभी इस्तेमाल करते हैं, और कंप्यूटर क्या है और किसने बनाया – What Is Computer In Hindi उसके बारे में मैंने पहेले से ही बताया हुआ है। लेकिन अगर आप कंप्यूटर के बारे में और ज़्यादा डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम कंप्यूटर का इतिहास और विकास के बारे में जानिंगे। की सबसे पहेला कंप्यूटर कब बना और बनाया? All History Of Computer In Hindi?

दोस्तों शायद ही आप में से कोई ऐसा इंटरनेट यूजर हो जो computer मशीन के इस्तेमाल के बारे में जानता हो! और उसने इस मशीन का इस्तेमाल किया हो! ऐसा इसलिए क्योंकि पहला इस मशीन के लाभ (benefit) तथा दूसरा computer का इतिहास काफी पुराना है! वैसे क्या आप computer के इतिहास (History Of Computer In Hindi) के बारे में जानते हैं?


दोस्तों आज का यह लेख कंप्यूटर के इतिहास के विषय पर है जिसमें हम विस्तारपूर्वक computer के इतिहास के बारे में ही जानेंगे! कि की दुनिया का पहला कंप्यूटर कब और किसने बनाया था! सबसे पहले कंप्यूटर से लेकर आज के कंप्यूटर में अब तक क्याक्या बदलाव आए हैं!

computer की विभिन्न generation कौनकौन सी हैं! तो दोस्तों कंप्यूटर के इतिहास से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को आपको इस लेख में देने की कोशिश करेंगे!

अतः आज का यह लेख उन सभी उपयोगकर्ताओं के लिए बेहद  रोचक होने वाला है जो कंप्यूटर का इस्तेमाल अक्सर करते हैं! तो दोस्तों देरी किस बात की आइए जानते हैं की कंप्यूटर का इतिहास क्या है? What is the History Of Computer In Hindi?

यह भी पढ़े: कंप्यूटर चलाना कैसे सीखे – कंप्यूटर कैसे चलाये?

कंप्यूटर का इतिहास – History Of Computer In Hindi

पहला कंप्यूटर कब और किसने बनाया?

दोस्तों आज हम जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे हैं! इस मशीन को विकसित करने की शुरुआत सबसे पहले ब्रिटिश गणितज्ञ (Mathematics) प्रोफेसर charles babbage द्वारा की गई थी!

चार्ल्स बैबेज ने analytical इंजन को डिजाइन किया था यह वह डिजाइन था जो आज के कंप्यूटरों के basic framework पर आधारित है!

Generations Of Computer In Hindi

दोस्तों यहां आपका जानना जरूरी है कि कंप्यूटर को 5 generation (पीढ़ी) में विभाजित किया जा सकता है! तथा प्रत्येक जनरेशन का एक समय काल है! दोस्तों आपका यहाँ यह समझना जरूरी है कि प्रत्येक जनरेशन के साथ कंप्यूटर की कार्यक्षमता में अधिक सुधार देखने को मिलते थे! अतः हमेशा एक कंप्यूटर यूजर को नई जनरेशन के कंप्यूटर लेने की सलाह दी जाती थी!

क्योंकि नई generation के कंप्यूटर में पुराने जनरेशन के तुलना में अधिक improve होता था! अतः यदि आपको कंप्यूटर का इतिहास समझना है तो कंप्यूटर की इन 5 generation के बारे में आपको जरूर जानकारी होनी चाहिए!

First Generation Of Computer In Hindi

पहली जनरेसन (पीढ़ी) के कंप्यूटर vacume tube का इस्तेमाल करते थे! vacume tubes का इस्तेमाल 1940 से लेकर 1956 के बीच चलता रहा! दोस्तों vacume ट्यूब्स काफी बड़े componemt होते थे!

जिसके परिणाम स्वरूप पहली पीढ़ी के कंप्यूटर का साइज काफी बड़ा होता था अर्थात यह किसी room का काफी बड़ा आकार cover कर लेते थे! यहाँ तक कि पहली पीढ़ी (generation) के कुछ कंप्यूटर कमरे का पूरे स्थान घेर लेते थे!

ENIC पहली पीढ़ी के कंप्यूटर का बेहतरीन उदाहरण है! दोस्तो आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यह कंप्यूटर 20000 वैक्युम tube 10000 कैपिस्टर्स एवं 70000 रजिस्टर का इस्तेमाल करते थे! दोस्तों इतने सारे कंपोनेंट्स होने की वजह से इस कंप्यूटर का वजन लगभग 30 टन से अधिक होता था! तथा इन कंप्यूटर को स्टोर करने के लिए काफी जगह की आवश्यकता होती थी!

यह भी पढ़े: रोम (ROM) क्या है? – What Is ROM In Hindi

Second Generation Of Computer In Hindi

दोस्तों दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में एक विशेष अंतर यह था कि इन कंप्यूटर में vecume ट्यूब्स के स्थान पर transistors का इस्तेमाल होने लगा! और 1956 से लेकर 1963 के बीच कंप्यूटरों में ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल काफी अधिक होता था!

ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल करने का मुख्य फायदा यह था कि यह आकार में छोटे होते थे तथा vecume ट्यूब्स की तुलना में इनकी स्पीड भी अधिक होती थी! तथा इन्हें बनाने में कम खर्चा आता था!

दोस्तों इस तरह आप समझ सकते हैं कि क्यों दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में वैक्यूम के स्थान पर ट्रांसिस्टर्स का इस्तेमाल होने लगा!

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर है जिसमें पहली बार ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया उसका नाम tx-0 था जिसे 1956 में introduce किया गया!

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी के दौरान 100 से अधिक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को विकसित किया गया! इस समय कंप्यूटर में मेमोरी, ऑपरेटिंग सिस्टम storage मीडिया tap तथा disk भी होते थे!

Third Generation Of Computer In Hindi

अब बात करते हैं third जेनरेशन computers की!  दोस्तों कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी में ट्रांजिस्टर के स्थान पर IC (इंटीग्रेटेड सर्किट) का इस्तेमाल होने लगा! कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी वर्ष 1964 से 1971 समय तक चली!

तथा इस पीढ़ी के कंप्यूटर का साइज दूसरी जनरेशन के कंप्यूटर से काफी छोटा होने के साथसाथ फास्ट भी हो गया! दोस्तों 1960 के बाद से लगभग सभी कंप्यूटर्स में IC का इस्तेमाल होने लगा और आज भी कंप्यूटर्स में IC का इस्तेमाल होता है!

4th Generation Of Computer In Hindi

दोस्तों आज हम कंप्यूटर्स के लिए अक्सर CPU की बात करते हैं उस सीपीयू की देन 4th generation है! कंप्यूटर में CPU या माइक्रोप्रोसेसर को fourth जनरेशन में इस्तेमाल करना शुरू किया!

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में माइक्रो प्रोसेसर के साथ IC इंटीग्रेटेड सर्किट होने की वजह से कंप्यूटर का आकार काफी कम हो गया! तथा डेस्क/टेबल में इसका इस्तेमाल करना संभव हो गया जिसने लोगों तक लैपटॉप डिवाइस को भी  पहुंचा दिया!

दोस्तों चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरुआत 1972 से लेकर 2010 के बीच हुई! परंतु आज भी माइक्रोप्रोसेसर का इस्तेमाल नए कंप्यूटर में देखा जा सकता है!

दोस्तों इस समय काल के दौरान कंप्यूटर के इतिहास में माइक्रोसॉफ्ट डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम (Ms-dos) का जन्म वर्ष 1981 में हुआ! तथा उसके कुछ समय बाद ही अर्थात वर्ष 1981 में IBM नामक कंपनी ने पर्सनल कंप्यूटर को बाजार में पेश किया इस कंप्यूटर का इस्तेमाल घरों तथा ऑफिस में किया जाने लगा!

तथा 3 वर्ष बाद Apple द्वारा मैकिनटोश कंप्यूटर अपने ग्राहकों के लिए बाजार में पेश किया तथा! 90 के दशक में windows  ऑपरेटिंग सिस्टम को लांच किया गया जिसका इस्तेमाल आज भी computers में किया जाता है!

यह भी पढ़े: RAM क्या है? और इसके प्रकार – What Is RAM In Hindi

5th Generation Of Computer In Hindi

दोस्तों पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर की शुरुआत वर्ष 2010 से हुई है तथा अब तक इस पीढ़ी के कंप्यूटर का इस्तेमाल हो रहा है!  5th जनरेशन के कंप्यूटर AI (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी) का उपयोग करते हैं। AI कंप्यूटर विज्ञान का एक क्षेत्र है जो बुद्धिमान (इंटेलीजेंट) मशीनों के निर्माण पर कार्य करता है तथा यह मशीनें मनुष्यों की तरह कार्य करने एवं reaction देती है!

माइक्रोसॉफ्ट windows कंप्यूटर में AI का उदाहरण Microsoft “cortana”  है! जबकि Mac computers “Siri” है!

संक्षेप में कहें तो कंप्यूटर मशीन में आए विभिन्न सुधारों के परिणाम स्वरूप आज जो हम कंप्यूटर देखते हैं वह हमारी जिंदगी के प्रत्येक क्षेत्र में देखे जा सकते है! तथा जैसेजैसे टेक्नोलॉजी बढ़ रही है उम्मीद है आने वाले समय में कंप्यूटर तकनीक में सुधार तथा इसकी उपयोगिता दोनों बढ़ जाएगी!

तो दोस्तों इस प्रकार हमने कंप्यूटर की पाँच generations के बारे में जाना! हम आगे बढ़ते हैं तथा कंप्यूटर के इतिहास से संबंधित अन्य जानकारियां प्राप्त करते हैं।

दोस्तों वास्तविक रूप में कंप्यूटर के इतिहास को स्पष्ट रूप से समझें तो 1935 से पहले airthmatic को एक व्यक्ति  कहा जाता था! वह व्यक्ति जो अर्थमैटिक कैलकुलेशन perform कर सकता था!

परंतु 1935 से लेकर 1945 के बीच के समय में कंप्यूटर शब्द को मशीन के रूप में उल्लेख किया गया! परंतु यदि आप आज के कंप्यूटर की परिभाषा को समझे तो कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो डाटा को store एवं प्रोसेसिंग का कार्य करता है!

पहला डिजिटल कंप्यूटर कब और किसने बनाया था?

Atanasoff-Berry Computerअर्थात Abc नामक पहले डिजिटल कंप्यूटर का विकास प्रोफेसर John Vincent Atanasoff तथा Cliff Berry द्वारा वर्ष 1937 में शुरू किया गया!

यह एक इलेक्ट्रिक कंप्यूटर था! यह डिजिटल computation के  लिए 300 से अधिक वैक्युम tubes का इस्तेमाल करता था! तथा खास बात यह थी कि इस कंप्यूटर में कोई CPU शामिल नही था!

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं! माउस कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण अंग होता है अतः कंप्यूटर के इतिहास को जानते समय mouse के इतिहास बारे में भी जानना जरूरी हो जाता है!

माउस को किसने और कब बनाया?

वर्ष 1964 में Douglas Engelbart नामक व्यक्ति ने माउस का पहली बार आविष्कार किया! माउस का निर्माण करते समय douglas Stanford research इंस्टीट्यूट, कैलिफोर्निया के लिए काम कर रहे थे! दोस्तों उस समय mouse को display system के लिए x y पोजीशन indicator के रूप में refer किया गया था!

दोस्तों इस mouse को पहली बार xerox alto कंप्यूटर के लिए वर्ष 1973 में इस्तेमाल किया गया!

यह भी पढ़े: विंडोज क्या है? – What Is Microsoft Windows In Hindi

कंप्यूटर का Father (पितामह) किसे कहा जाता है?

कंप्यूटर के विकास में सैकड़ों लोगों का योगदान है! परंतु 40 charles Babbage को कंप्यूटर के पितामह के रूप में माना जाता है क्योंकि उन्होंने वर्ष 1837 में analytical इंजन की खोज की!


हालांकि वर्ष 1910 Henry Babbage जो कि चार्ल्स बेबीज के युवा बेटे थे उन्होंने वह इस मशीन के पूरे हिस्से को बनाने में सक्षम हो गए थे! तथा यह मशीन basic कैलकुलेशन perform कर सकती थी!


कंप्यूटर शब्द का पहली बार इस्तेमाल कब किया गया?

दोस्तों कंप्यूटर शब्द का नाम 1613 ई० में पहली बार सुना गया! तथा वास्तविक रूप से इस शब्द को उन इंसानों का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जो कैलकुलेशन एवं computation कर सकते थे!

दोस्तों आज के इस लेख में इतना ही उम्मीद है कंप्यूटर के इतिहास से संबंधित इस लेख में दी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी! और आपको कंप्यूटर का इतिहास और विकास (History Of Computer In Hindi) से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी।

यह भी पढ़े:

Hope की आपको कंप्यूटर का इतिहास – History Of Computer In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here