इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया?


इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया? आज के युग में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला माध्यम इंटरनेट ही है जिसका  हम सभी  ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं और कई सारी मुश्किलों का आसानी से ही सामना कर लेते हैं। ऐसे में आपने गौर किया होगा कि जब भी किसी प्रकार की दिक्कत होती है, तो हम आसानी के साथ ही इंटरनेट का उपयोग करके उन दिक्कतों को दूर करते हैं फिर दिक्कत किसी भी क्षेत्र की क्यों ना हो? 

इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया?

लेकिन आज भी अगर परीक्षाओं में या सामान्य रूप से किस से पूछा जाए कि आखिर इंटरनेट क्या है। तो प्रायः वह अटक जाते हैं। अतः ऐसे में आज हम आपको इंटरनेट के बारे में वह सभी जरूरी जानकारी देंगे जिसके माध्यम से आप भी इनके बारे में सही जानकारी ले पाएंगे।


तो दोस्तों चलिए देखते हैं की आख़िर इंटरनेट क्या है? इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया?


इंटरनेट क्या है?

दरअसल इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है, जिसके मद्देनजर दुनिया के कंप्यूटरों को आपस में जोड़ कर एक दूसरे के साथ संपर्क स्थापित किया जा सकता है। सामान्य रूप से इसे ग्लोबल नेटवर्क के रूप से भी जाना जाता है, जिसका किसी भी देश, शहर में रहते हुए आप आसानी के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा इंटरनेट के माध्यम से आप  अपनी एक अलग पहचान बना सकते हैं और इसका उपयोग कई प्रकार से किया जाता है।

इंटरनेट के माध्यम से कंप्यूटर की एक अलग पहचान जाहिर की जाती है, जिसे आईपी ऐड्रेस कहा जाता है इस एड्रेस के माध्यम से ही कंप्यूटर के लोकेशन के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। इसके साथ ही इंटरनेट पर किसी वेबसाइट को संचालित करने तथा access करने के लिए  एक डोमेन  नेम लिया जाता है, जिसके माध्यम से कंप्यूटर और इंटरनेट को चलाना आसान हो जाता है।

इंटरनेट का आविष्कार किसने किया?

सबसे पहले इंटरनेट का आविष्कार 1969 मेन डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस द्वारा किया गया था। जिसे अमेरिकी रक्षा विभाग द्वारा विशेष सुविधाओं के अंतर्गत बनाया गया था। धीरे-धीरे इंटरनेट का इस्तेमाल होने लगा। और फिर 1989 में tim ब्रनर्स ली ने इंटरनेट को सरल बनाने के लिए कई प्रकार के लिंक का उपयोग करते हुए वर्ल्ड वाइड वेब यानी WWW का आविष्कार किया।

और उसके बाद वर्ष 1998 में गूगल नामक search engine के आ जाने के बाद से इंटरनेट का स्वरूप पूर्ण रूप से बदल गया और जिसका हम सभी ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करते आए हैं।

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है?

इंटरनेट का फुल फॉर्म “ Interconnected Network’’  है। आज तक हमने और आपने कई बार इंटरनेट का उपयोग किया है लेकिन हमने कभी इसके फुल फॉर्म के बारे में जानकारी हासिल नहीं की है। ऐसे में ऊपर बताई गई इंटरनेट की फुल फॉर्म आपके बेहद काम आ सकती है।   

इंटरनेट का प्रकार 

अगर हम विस्तृत अध्ययन करेंगे तो पाएंगे इंटरनेट मुख्यतया तीन प्रकार का होता है—

  1. LAN [ Local area network]
  2. WAN [ Wide area network]
  3. MAN [ Metropolitan area network]

इंटरनेट का इतिहास

भले ही इंटरनेट का बहुतायत से इस्तेमाल किया जाता रहा हो लेकिन इसका प्रारंभ 1969 अमेरिका के रक्षा विभाग द्वारा किया गया था। धीरे-धीरे इंटरनेट के इतिहास में विकास होता चला गया और उसके बाद 1990 में ARPANET की जगह पर इंटरनेट का विकास किया गया था और ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लोगों ने इसका इस्तेमाल किया और अपनी कम्युनिकेशन स्किल को बढ़ाया था। धीरे-धीरे इंटरनेट के प्रक्रम को अन्य लोगों ने समझा और इससे होने वाली सुविधाओं के बारे में जाना। 

इंटरनेट का उपयोग

आज हम इंटरनेट का उपयोग विभिन्न स्तरों में करते हैं, जहां हम कई प्रकार से इसका उपयोग करते हुए अपने काम को आसान बनाते हैं।

1] शिक्षा के क्षेत्र में — इंटरनेट का ज्यादा से ज्यादा उपयोग शिक्षा के क्षेत्र में किया जाता है। आज के समय में हम  ऑनलाइन क्लास भी इंटरनेट के माध्यम से ही पूरी कर रहे हैं और उसी प्रकार की परीक्षाओं की तैयारियां भी इंटरनेट के माध्यम से ही की जाती है। इसके अलावा इंटरनेट के माध्यम से कई प्रकार की  सॉफ्टवेयर, नेटवर्किंग, वेब टेक्नोलॉजी, कंपनी सेक्रेट्री कोर्स भी आसानी के साथ कर सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न प्रकार के विश्वविद्यालयों से भी शिक्षा ग्रहण की जा सकती है जिसे  आसानी के साथ किया जाता है और कम समय में भी संभव हो पाता है।

2] सूचना के अधिकार के क्षेत्र में — इसके अलावा इंटरनेट का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कई प्रकार की खबरों और सूचनाओं के लिए भी किया जाता है। इसके अलावा संसार के किसी भी समाचार पत्र, जनरल को आसानी से ही समय में पढ़ा जा सकता है और  कई  प्रकार की जानकारियां भी ली जा सकती है।

3] नेट बैंकिंग — आज के समय में बैंक का काम भी निपटाना बहुत ही आसान हो गया है जिसमें कई बार आप घर बैठे भी कामों को निपटा सकते हैं। जब से इंटरनेट का उपयोग ज्यादा से ज्यादा होने लगा है,  तब से  बैंकिंग कार्यों में भी निश्चित रूप से निरंतरता आने लगी है। इंटरनेट के माध्यम से आसानी से घर बैठे पैसे जमा करना, ट्रांसफर करना, रिचार्ज करना, बिल जमा करना जैसी सुविधाएं आसानी से मिल जाती हैं।  इसके अलावा बैंकों में होने वाला काम भी इंटरनेट के माध्यम से कहीं ज्यादा सुव्यवस्थित और सही तरीके से हो पाता है।

4] ऑनलाइन बुकिंग — हमेशा जब भी हमें कहीं जाना होता है, तो हम इंटरनेट का उपयोग करते हुए ऑनलाइन बुकिंग कर लेते हैं। यह बुकिंग सामान्य रूप से ट्रेन की टिकट, बस की टिकट, फिल्मों की टिकट के रूप में होती है साथ ही साथ होटल बुकिंग  भी ऑनलाइन माध्यम से किया जा सकता है जिसे करना कहीं आसान होता है और इसे भी  घर बैठे ही कर सकते हैं।

5] ऑनलाइन फ्रीलांसर— अगर आप एक अच्छे रोजगार की तलाश में हैं, तो ऐसे में इंटरनेट के माध्यम से आप एक अच्छे ऑनलाइन फ्रीलांसर  बन सकते हैं, जहां आप अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकते हैं और इस प्रदर्शन को लोग बड़ी आसानी के साथ देख सकते हैं।  ऐसे में इंटरनेट बहुत ही मददगार साबित होता है और  आसानी के साथ काम पूरा होता है, जिसमें  ऑनलाइन रहते हुए भी पैसे कमा सकते हैं।


6] शॉपिंग — आज के समय में इंटरनेट के माध्यम से हम शॉपिंग ही बहुत बढ़-चढ़कर करते हैं जहां हम आसानी से अपने प्रोडक्ट को  रिटर्न  और  रिफंड भी कर सकते हैं साथ ही साथ इसके लिए ज्यादा परेशान होने की आवश्यकता  होती है क्योंकि इसके माध्यम से आसानी से शॉपिंग की जा सकती है और वह भी अपने पसंद के अनुसार।  इसमें सबसे अच्छी बात  यह  होती है कि इसके माध्यम से हम किसी भी प्रोडक्ट की शॉपिंग कर सकते हैं और वह सीधे ही हमारे घर तक आ जाता है। 

7] बिल का भुगतान — इसके अलावा हम देखते हैं कि इंटरनेट के माध्यम से हम अपने बिल का भुगतान करते हैं जिसमें मुख्य रुप से  फोन, बिजली  होता  हैं जिनका हम  दैनिक  रूप से इस्तेमाल करते हैं। 

इंटरनेट की विशेषता 

आज के समय में कोई भी इंसान इंटरनेट से अछूता नहीं है और अपने काम को इसके माध्यम से ही करना बेहतर मानते हैं और इंटरनेट की विशेषता यही होती है कि इसके माध्यम से किया जाने वाले  कार्य  में बहुत ही कम समय लगता है और होने वाले काम में किसी प्रकार की गड़बड़ी नजर नहीं आती है।  ऐसे में जब भी किसी प्रकार की असुविधा महसूस होती है, तो लोग घर बैठे ही इंटरनेट का उपयोग करके अपने दिक्कत को दूर करते हैं और किसी भी प्रकार से परेशानी ना हो इसका पूरा ध्यान रखा जाता है। 

इंटरनेट से होने वाली हानि 

सामान्य रूप से ऐसा माना जाता है इंटरनेट के माध्यम से हमें कई सारी सुविधाएं प्राप्त होती हैं, इसके अलावा कुछ  ऐसी बातें भी होती हैं जिनका हमें विशेष ख्याल रखना होता है। अगर हम गौर करते हैं, तो पता चलता है कि इंटरनेट के माध्यम से कई प्रकार की हानि होती है जिसमें कई लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और इसके माध्यम से कुछ ऐसी बातें भी नजर आती हैं जिसे जानना बच्चों और हमारे लिए जरूरी नहीं होता है। ऐसे में  इंटरनेट के  नुकसान को भी हम अपना सकते हैं और दिक्कत में आ सकते हैं।

  1. इंटरनेट के माध्यम से अश्लील फिल्मों को बढ़ावा मिल जाता है जिसके माध्यम से बच्चों और समाज पर विपरीत असर होता है।
  2.  इंटरनेट के आ जाने के बाद लोग एक दूसरे के पास बैठ कर बात करना पसंद नहीं करते बल्कि वह सोशल मीडिया में मैसेज करते हैं और कहीं ना कहीं  उन पलों को खो देते हैं जिनके माध्यम से हम एक अच्छा दिन व्यतीत कर सकते हैं।
  3.  इंटरनेट  के माध्यम से कई बार  सामाजिक और मानसिक दृष्टिकोण के लिए भी सही नहीं माना जाता है क्योंकि इससे कहीं ना कहीं हमारी दिमागी विकास पर असर पड़ता है। 
  4. आज के समय में काफी लोग इंटरनेट के माध्यम से लूट के शिकार हो जाते हैं और ऐसे में जाने अनजाने हमारा बैंक बैलेंस खत्म होने लगता है।
  5. इंटरनेट की वजह से  लोगों को किसी से मिलना जुलना पसंद नहीं आता बल्कि वे एक आभासी दुनिया में खोए रहते हैं और अकेलेपन में जीवन व्यतीत करना चाहते हैं। 
  6. एक बार इंटरनेट का इस्तेमाल करने पर उसकी  लत  हो जाती है और फिर  उसका ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है, जो स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से सही नहीं है। 

इंटरनेट के माध्यम से हिंदी का भविष्य

आज के समय में  हिंदी  भाषा का ज्यादा से ज्यादा प्रचार और प्रसार हो चुका है जहां पर इंटरनेट के माध्यम से कई देशों में हिंदी को पसंद किया जाता रहा है जिसे आम आदमी तक पहुंचाना इंटरनेट की जिम्मेदारी हो गई है। जब भी हम इंटरनेट के माध्यम से किसी कार्य को करते हैं, तो वहां पर सबसे पहले हमें इंग्लिश के बाद हिंदी भाषा नजर आती है और आज के समय में इंटरनेट में भी हिंदी भाषा को लोग पसंद करते हैं और इसमें कई तरह के लेख, आर्टिकल को पढ़कर नई-नई जानकारियां हासिल करते हैं।  

वर्ष 2000 में सबसे पहले हिंदी  पोर्टल आया था और इसके बाद से ही हिंदी  ने अपनी छाप इंटरनेट की दुनिया में भी छोड़ना शुरू कर दिया था जहां विभिन्न प्रकार के प्रकाशकों और लेखकों के लेखनी कला को भी हमें देखने को मिलती है और जिसका उपयोग ज्यादा से ज्यादा किया जाता रहा है।

इंटरनेट एक वरदान 

जैसा कि हम सभी को पता है कि इंटरनेट के माध्यम से हम कई सारी नई जानकारियां हासिल कर सकते हैं और उन सभी समस्याओं का समाधान खोज सकते हैं जिनकी वजह से हम कभी परेशान थे। इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है, जो आभासी दुनिया को वास्तविक दुनिया में परिवर्तित कर देता है और जिसके माध्यम से हमें हर चीज बड़ी ही आसान नजर आती है।  ऐसे में हम इंटरनेट के माध्यम से कई प्रकार के साधन प्राप्त कर सकते हैं जो आने वाले समय में भी हमारे लिए लाभदायक साबित हो सकते हैं और इसके माध्यम से इंसान एक नई दिशा की ओर बढ़ सकता है इस वजह से हम इंटरनेट को एक वरदान कह सकते हैं।

इस प्रकार से आज हमें इंटरनेट ने कई सारी सुविधाएं प्रदान की हैं, और आज यह हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है।  सामान्य रूप से देखा जाता है कि आज के समय में बिना इंटरनेट के रहना हमें अच्छा नहीं लगता और ऐसे में हमें अपना समय व्यतीत करना मुश्किल जान पड़ता है। यहां आपको इंटरनेट उपयोग करने से रोक नहीं रहे हैं बल्कि इंटरनेट का सही इस्तेमाल करने के बारे में सलाह दे रहे हैं। इंटरनेट के माध्यम से आप खुद के अंदर व्यक्तित्व का विकास कर सकते हैं साथ ही साथ सकारात्मक उर्जा भी ला सकते हैं और आप खुद को अच्छा महसूस करवा सकते हैं। 

आज हमने आपको इंटरनेट संबंधी सारी जानकारियां दी हैं। जैसे इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया? उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी और इसे अंत  तक पढ़ने के लिए धन्यवाद। 

Hope की आपको इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब किया? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here