LED क्या है और कैसे काम करता है – What Is LED In Hindi

0

दोस्तों LED का नाम तो आप सभी ने सुना होगा, पर क्या आपको पता है की आख़िर LED होता क्या है? कैसे काम करता है? कितने प्रकार का होता है? इसके फ़ायदे और नुक़सान क्या है? इसका इस्तेमाल कैसे करे? History of LED in Hindi? अगर नही! तो आज इस पोस्ट में हम एलईडी के बारे में डिटेल से जानिंगे। What Is LED In Hindi? & All about LED In Hindi?

हेलो नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप लोग आशा करो कि आप लोग अच्छे ही होंगे तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल पर हम लोग बात करेंगे LED को लेकर तो आखिरकार LED क्या है? (What is LED in Hindi?)


आप लोगों ने LED के बारे में सुनाएं होंगे और इस्तेमाल भी करते होंगे पर आप लोग जानते हैं कि LED का पूरा नाम क्या है और यह कैसे काम करता है अगर आप लोग इन सभी चीजों के बारे में जानना चाहते हैं तब इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए।

LED का पूरा नाम क्या है? LED Ka Full Form?

दोस्त LED क्या है वह जाने के पहले आप लोग जान लीजिए कि LED का पूरा नाम क्या है? एलइडी का पूरा नाम क्या आप लोग जानते हैं अगर नहीं जानते तो जान लीजिए कि LED का पूरा नाम है “लाइट एमिटिंग डायोड”(Light Emitting Diode) तो दोस्तों आप लोग जान ही गए होंगे कि Light Emitting Diode का पूरा नाम क्या है अब हम लोग Light Emitting Diode किया है वह जानेंगे।

Led एक सेमीकंडक्टर डिवाइस है जो कि लाइट को इमिटेटिंग करता है और जब उसमें इलेक्ट्रिसिटी पास होता है तब एलईडी लाइट को तैयार करता है।

LED क्या है? – What Is LED In Hindi?

दोस्तों क्या आप लोग जानते हैं कि एलइडी क्या है अगर नहीं तो कोई बात नहीं दोस्तों led को हम लोग लाइट एमिटिंग डायोड भी कहते हैं LED एक सेमीकंडक्टर डिवाइसेज जो की लाइट को produce करता है LED के सेमीकंडक्टर के पास जब कोई इलेक्ट्रिक पास से जाता है तब वह light में रूपांतरित होता है या आप लोग कह सकते हैं कि लाइट तैयार करता है।

आप में से बहुत से लोग सोचते हैं कि एलईडी और एलसीडी एक होता है पर मैं आप लोगों को बोलता हूं कि एलईडी और एलसीडी बहुत अलग है एलसीडी डायरेक्ट लाइट दिखाता है क्रिस्टल के माध्यम से और एलइडी मैं जब इलेक्ट्रिक पास से जाता है तब वह लाइट पर रूपांतरित होकर लाइट दिखाता है दोस्तों वैसे में एलईडी और एलसीडी एक ही है पर सिर्फ इस कारण की वजह से यह दोनों अलग-अलग है।

एलईडी में आप लोगों को जो लाइट का ब्राइटनेस देखने को मिलता है वह बहुत ही कम रहता है दोस्तों पर वह दिखाएं अच्छे से देता है जोकि बहुत अच्छा बात है। एलईडी के बैक लाइट के पीछे जो डायवर्ट किया होल रहता है बारोट के पास या फिर होल के पास से जप इलेक्ट्रिक गुजरता है जब वह लाइट में प्रकाश होता है।

LED यानी की लाइट एमिटिंग डायोड में सेमीकंडक्टर मैटेरियल का इस्तेमाल से ही लाइट तैयार होता है इसी वजह से इसको सॉलिड स्टेट डिवाइस (solid state device) भी कहा जाता है। दोस्तों LED का जो मूल्य रहता है वह LCD के मुकाबले अधिक रहता है जो कि बहुत ज्यादा है। LCD के बहुत सारे अच्छे उपयोग के कारण आज बाजार में एलईडी का चाहिदा बहुत ज्यादा है या फिर आप लोग कह सकते हैं कि पॉपुलैरिटी बहुत ज्यादा है।

दोस्तों ज्यादातर सभी लोग कहते हैं कि LCD का एक नया रूप या फिर कह सकते हैं कि एक नया version है led। एलइडी यानी की लाइट एमिटिंग डायोड से जो कलर आउटपुट निकलता है वह है रेड, ग्रीन और ब्लू  यही तीन कलर आउटपुट निकलता है एलईडी से। दोस्त एलईडी की वजह से ही TV का पिक्चर क्वालिटी बेहतर हुआ है। दोस्तों क्या आप लोग जानते हैं कि एलईडी का कलर किसी और डिस्प्ले के मुकाबले बहुत ज्यादा क्लियर होता है।

एलईडी का इतिहास – History of LED in Hindi?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल को पढ़कर आप लोग समझ ही गए होंगे कि एलइडी क्या है एलईडी कैसे काम करता है और एलईडी के पूरे नाम क्या है अब हम लोग एलईडी के कुछ अनजानी और अनसुनी इतिहास के बारे में बात करेंगे। तो अगर आप लोग एलईडी के कुछ अनसुनी इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं तो जानिए।

सबसे पहले एलईडी लाइट को बनाया था ब्रिटिश साइंटिस्ट HJ ROUND ने। साइंटिस्ट HJ ROUND ने 1907 साल में  मारकोनी के बहुत बड़े नामी लेबोरेटरी में एलईडी के ऊपर पहली बार रिसर्च किया था और एलईडी के ऊपर इंफॉर्मेशन घटा करना स्टार्ट किया था। इसके बाद अमेरिका में 1962 साल में पहली बार इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के रूप में एलईडी का प्रयोग किया गया था साइंटिस्ट nick holo noyok की वजह से।

nick holo noyok पृथ्वी में एलईडी यानी कि लाइट एमिटिंग डायोड का godfather भी कहा जाता है यह एक बहुत बड़ा सम्मान का बात है। HJ ROUND के रिसर्च करने की 55 साल बाद nick holo noyok ने एलईडी के ऊपर प्रयोग किया। हमारे आजकल के साइंटिस्ट ने एलईडी को पहले से भी ज्यादा अच्छा बनाया है और बहुत सारी सुधार भी लाया है।

पहले जब एलईडी बना था तब उनमें कुछ कमियां था पर अभी के साइंटिस्ट ने उन सभी कमियों को दूर कर दिया है। आज हम लोग सिर्फ इन सभी महान साइंटिस्ट के वजह से ही एलईडी को देख पा रहे हैं यह एक बहुत बढ़िया आविष्कार है।

LED के फ़ायदे और नुक़सान?

दोस्तों आप लोग एक चीज तो जानते ही होंगे कि अगर कोई चीज अच्छा होता है तो उसका कुछ बुरा असर भी होता है तो दोस्तों आज हम लोग जानेंगे एलईडी के सुविधा और असुविधा के बारे में।


Advantages of LED in Hindi?

दोस्तों अभी के समय पर हम लोग एलईडी लाइट को बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं अब बात करते हैं इसके सुविधा के बारे में तो आखिरकार हम लोग क्यों एलईडी को ज्यादा इस्तेमाल करते हैं।


1. Smaller Size

जो पहला reason है LED को सबसे ज्यादा इस्तेमाल करने का वह है इसका साइज LED बहुत ही छोटा होता है। छोटा होने के बाद भी इस पर आप लोगों को जो लाइट का power देखने को मिलता है वह बहुत ज्यादा देखने को मिलता है यह एक बहुत अच्छा सुविधा है LED का। एलइडी का साइज छोटा है फिर भी जब एलईडी का लाइट ऑन होता है तब वह बहुत दूर तक जाता है।

2. Longer Life Time

दोस्तों LED बहुत ही कम ही खराब होता है। बहुत साल तक अच्छे से काम करता है और खराब नहीं होता यही एक इकलौता कारण है एलइडी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने का। यही एक बहुत अच्छा बात है LED का।

3. Lower Energy Consume

किसी अन्य light के मुकाबले LED बहुत ही कम power खाता है। दोस्तों यह इतना कम power खाता है कि आप लोग सोच भी नहीं सकते इसके कारण आपका इलेक्ट्रिसिटी बिल भी बहुत कम आता है।

दोस्तों अब आप लोग जान ही गए होंगे कि LED को  ज्यादातर सभी लोग क्यों इस्तेमाल करते हैं। अब हम लोग LED के कुछ नुकसान या फिर DISADVANTAGE के बारे में बात करते हैं।

Disadvantages Of LED In Hindi?

दोस्तों मैं आप लोगों को led के सुविधा के बारे में तो बताया ही होगा अब हम लोग led के कुछ disadvantages के बारे में बात करते हैं तो आखिरकार क्या disadvantages आप लोगों को एलईडी में देखने को मिलता है-

दोस्तों आप लोग जानते ही होंगे कि led लाइट बहुत कम ही खराब होता है पर एक कारण की वजह से led लाइट बहुत ही जल्दी खराब हो जाता है वह है over current जब भी led में over current जाता है तब वह इंसटैंटली खराब हो जाता है यही एक मैन और या फिर आप लोग कह सकते हैं मैं जो प्रॉब्लम है led का।दोस्तों आप लोग देखे  लिए होंगे कि के led का ज्यादा कोई असुविधा नहीं है।

एलईडी में कौन सा मैटेरियल इस्तेमाल किया जाता है?

  1. सबसे पहले इंडियम गलियम नाइट्राइट का ब्लू ग्रीन और ultraviolet हाई  ब्राइटनेस एलईडी इस्तेमाल किया जाता है ।
  2. Aluminum gallium indium phosphide का यह yellow,orange और red हाई ब्राइटनेस एलईडीज ।
  3. Aluminum gallium arsenide रेड और इनफॉर्मेट एलईडी में इस्तेमाल होता है।
  4. Gallium phosphide yellow और green led में इस्तेमाल होता है।

LED कहां कहां काम करता है?

दोस्त LED यानी कि “लाइट एमिटिंग डायोड” को हम लोग अभी के समय पर बहुत सारे काम के लिए इस्तेमाल करते हैं। led लाइट का इस्तेमाल बहुत सारे काम को संपूर्ण करने के लिए किया जाता है जैसे कि होगया display boards, advertising boards और information boards पर होता है साथ ही में led tv में भी हम लोगों को led देखने को मिलता है। एलईडी लाइट का बहुत सारा प्रकार है जैसे कि हो गया

  • Through-hole LEDs.
  • SMD LEDs (Surface Mount Light Emitting Diodes)
  • Bi-color LEDs.
  • RGB LED (Red – Blue – Green LED)
  • High – Power LEDs

सिर्फ यही नहीं दोस्तों आप लोग ट्रैफिक सिग्नल पर जो लाइट देखते हैं वह भी एलईडी से ही बना हुआ रहता है और ऑटोमोबाइल पर आप लोगों को गाड़ी में चूहे प्लाट देखने को मिलता है वह भी एलईडी लाइट ही होता है। तो दोस्तों आप लोग देख सकते  हैं कि पृथ्वी में कितना सादा LED का उपयोग किया जाता है।

LED या फिर LCD कौन सा अच्छा है? Difference Between LED or LCD in Hindi?

दोस्तों अभी हम लोगों को बाजार में बहुत सारा डिस्प्ले देखने को मिल जाता है इतना डिस्प्ले बाजार में है जो कि आप लोग गिनती भी नहीं कर सकते हैं जैसे कि हो गया एलईडी डिस्प्ले एलसीडी डिस्प्ले डिस्प्ले क्यूएचडी डिस्पले और कितना ना जाने डिस्प्ले पर जो डिस्प्ले यानी की एलईडी और एलसीडी में बहुत ही कम है तो दोस्तों ईद में से कौन सा हम लोगों को इस्तेमाल करना चाहिए वही हम लोग आज के इस आर्टिकल पर जानेंगे।

एलईडी और एलसीडी दोनों ही लगभग एक ही बार एक कारण की वजह से यह दोनों डिस्प्ले अलग अलग हो जाता है वह कारण है बैकलाइट हां दोस्तों सिर्फ बैकलाइट के कारण ही यह दोनों अलग हो जाता है एलसीडी का पूरा नाम है लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले यानी की एलसीडी डिस्प्ले के पीछे जो बैक लाइट है वहां पर लिक्विड क्रिस्टल है जो कि rgb के साथ संजोग होकर हम लोगों को डिस्प्ले पर कुछ दिखाता है। दोस्त एलईडी के मुकाबले एलसीडी में बहुत ही खराब क्वालिटी आप लोगों को देखने को मिलता है।

दोस्तों एलइडी का पूरा नाम है लाइट एमिटिंग डायोड यानी कि एलइडी डिस्प्ले के पीछे बैक लाइट में डायोड या फिर होल रहता है वहां से जब इलेक्ट्रिसिटी गुजरता है तब वहां पर लाइट उत्पन्न होता है फिर वहां से ही हम लोगों को डिस्प्ले पर कुछ देखने को मिलता है एलईडी पर आप लोगों को बहुत ही क्लियर पिक्चर क्वालिटी देखने को मिलता है।

उम्मीद है की अब आपको एलईडी से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और अब आप जान गये होगे की की आख़िर LED होता क्या है? कैसे काम करता है? कितने प्रकार का होता है? इसके फ़ायदे और नुक़सान क्या है? इसका इस्तेमाल कैसे करे? History of LED in Hindi? and everything about led in hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको LED क्या है और कैसे काम करता है – What Is LED In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here