नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है? (Non Impact Printer in Hindi)

0

प्रिंटर में कौन सी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है, इसके आधार पर प्रिंटर को इंपैक्ट प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर नामक 2 कैटेगरी में बांटा गया है। जिनमें से आज हम आपको नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के बारे में जानकारी देने वाले हैं। इस लेख में आपको “नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है” और “नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के फायदे और नुकसान क्या है विस्तार से जानकारी मिलेगी।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है? (Non Impact Printer in Hindi)


जैसा की आप जानते हैं, जब हमें किसी कंप्यूटर से किसी शब्द को या फिर ऑब्जेक्ट को अथवा इमेज को प्रिंट करने की आवश्यकता होती है, तो हम प्रिंटर का इस्तेमाल करते हैं, परंतु यहां पर यह भी देखा जाता है कि, सब प्रिंटर सब प्रकार की प्रिंटिंग नहीं कर पाते हैं। इसीलिए अलग-अलग प्रकार की प्रिंटिंग करने के लिए अलग-अलग प्रकार के प्रिंटर का इस्तेमाल होता है।

इंटरनेट पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के बारे में बहुत ही कम इंफॉर्मेशन उपलब्ध है। इसलिए यदि आप नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में पाना चाहते हैं, तो आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

अनुक्रम

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है? (What is Non Impact Printer in Hindi)

प्रिंटर का एक ऐसा प्रकार जो प्रिंटिंग करने के लिए रिबन और इंक का इस्तेमाल नहीं बल्कि कार्टेज या फिर टोनर का इस्तेमाल करते हैं उसे नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कहते हैं। आज के समय में बड़े पैमाने पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस प्रकार के प्रिंटर का इस्तेमाल लेजर, केमिकल या इंकजेट टेक्नोलॉजी के द्वारा होता है।


नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की खासियत यह होती है कि, जब आप इसका इस्तेमाल करते हैं अर्थात इसके माध्यम से प्रिंटिंग के काम को अंजाम देते हैं तो यह ज्यादा साउंड नहीं पैदा करता है, जिसकी वजह से ऐसी जगह, जहां पर शांत वातावरण की आवश्यकता होती है वहां पर इसका ज्यादा इस्तेमाल होता है। 

इस प्रकार के प्रिंटर को प्रिंटिंग करने के लिए मेकेनिकल एक्टिविटी की भी आवश्यकता नहीं होती है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में प्रिंटिंग मेकैनिज्म और पेपर के बीच कोई भी डायरेक्ट फिजिकल कांटेक्ट नहीं होता है।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर तेज गति के साथ काम करते हैं और अपनी तेज गति की वजह से ही आप नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के माध्यम से हर मिनट में बहुत सारे पेज को प्रिंट कर पाने में सक्षम होते हैं। यह जब प्रिंटिंग के काम को करते हैं, तो ज्यादा आवाज भी उत्पन्न नहीं करते हैं। 


इसकी आवाज या तो कम होती है या फिर बिल्कुल भी नहीं होती है, क्योंकि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में जो प्रिंटिंग हेड होता है वह एक ऐसी प्रोसेस का इस्तेमाल करता है जिसमें टोनर को पेपर पर रखा जाता है। यहां पर हम आपको बताना चाहेंगे कि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को हिंदी भाषा में गैर प्रभाव प्रिंटर कहा जाता है।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का परिचय

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर स्पेशल इंक के स्प्रे अथवा लेजर या गर्मी और प्रेशर का इस्तेमाल करके शब्दों को और ग्राफिक को एक सफेद पेपर पर प्रिंट कर डालता है। सामान्य प्रिंटर की प्रिंट क्वालिटी और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की प्रिंट क्वालिटी की तुलना की जाए तो यहां पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर बाजी मार ले जाता है। इसके माध्यम से हम अच्छी क्वालिटी में प्रिंटिंग के काम को अंजाम दे सकते हैं। 

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की एक अच्छी बात यह होती है कि, इसमें जो टोनर होता है, वह लंबे समय तक खराब नहीं होता है, क्योंकि वह तरल फॉर्मेट में नहीं होता है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में आधुनिक प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है और सामान्य प्रिंटर की तुलना में इनकी कीमत ज्यादा होती है। एग्जांपल के तौर पर इंकजेट प्रिंटर और लेजर प्रिंटर यह सभी नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में ही शामिल है।


इंपैक्ट प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में अंतर

इंपैक्ट प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में क्या अंतर होता है, इसके बारे में आइए आगे पढ़ते हैं।

  • इंपैक्ट प्रिंटर में अक्षर, ग्राफिक को प्रेशर करके कागज पर प्रिंट किया जाता है, वही जो नॉन इंपैक्ट प्रिंटर होते हैं उसमें ग्राफिक और अक्षर बिना किसी प्रेशर के कागज पर प्रिंट हो जाते हैं।
  • इंपैक्ट प्रिंटर में प्रिंटिंग मेटल की पिन अथवा कैरेक्टर डाई को ठोक कर की जाती है और वही नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में किसी भी फॉर्मेट में कागज पर इंक जमा करके प्रिंटिंग की जाती है।
  • इंपैक्ट प्रिंटर में कौन सा मैकेनिकल काम करता है, अगर इसके बारे में बात किया जाए तो बताना चाहेंगे कि इंपैक्ट प्रिंटर में इलेक्ट्रोमैकेनिकल डिवाइस प्रिंटिंग के लिए इस्तेमाल मे लिए जाते हैं, वहीं नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में प्रिंटिंग के लिए नो इलेक्ट्रोमैकेनिकल डिवाइस का इस्तेमाल होता है।
  • यदि इंपैक्ट प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के काम करने की गति के बारे में बात की जाए तो यहां पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर बाजी मार ले जाता है। जहां एक तरफ अगर इंपैक्ट प्रिंटर के माध्यम से प्रिंटिंग की जाती है तो आप इंपैक्ट प्रिंटर से हर सेकंड में 250 शब्दों को प्रिंट करने की उम्मीद कर सकते हैं, वहीं दूसरी तरफ अगर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के माध्यम से प्रिंटिंग की जाती है तो यह एक पेज सिर्फ 30 सेकेंड के अंदर ही प्रिंट कर डालता है। यानी कि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर 60 सेकंड अर्थात 1 मिनट में 2 पेज को प्रिंट कर सकता है, वही इंपैक्ट प्रिंटर 1 मिनट के अंदर 15000 शब्दों को प्रिंट कर सकता है।
  • जब इंपैक्ट प्रिंटर से काम लिया जाता है तो यह आवाज पैदा करने का काम करते हैं, वहीं जब नॉन इंपैक्ट प्रिंटर से प्रिंटिंग का काम किया जाता है, तो यह या तो बहुत ही कम आवाज करते हैं या फिर बिल्कुल भी आवाज नहीं करते हैं।
  • इंपैक्ट प्रिंटर आपको कम कीमत में मिल जाते हैं परंतु नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की खरीदारी करने के लिए आपको थोड़ा अधिक पैसा खर्च करने की आवश्यकता होती है।
  •  प्रिंटिंग क्वालिटी के मामले में भी इंपैक्ट प्रिंटर से ज्यादा पावरफुल नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को माना जाता है। इसकी प्रमुख वजह यह है कि, इंपैक्ट प्रिंटर लो क्वालिटी प्रिंट प्रदान करता है और वही जब नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल होता है, तो यह हाई क्वालिटी में प्रिंटिंग देता है।
  • आपने डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर, डेजी व्हील प्रिंटर और लाइन प्रिंटर का नाम तो सुना ही होगा। क्या आप जानते हैं कि, यह सभी इंपैक्ट प्रिंटर के प्रमुख उदाहरण माने जाते हैं, वहीं अगर आपने लेजर प्रिंटर और इंकजेट प्रिंटर का नाम सुना हुआ है तो यह सभी नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के टॉप एग्जांपल माने जाते हैं।
  • क्या आप जानते हैं कि इंपैक्ट प्रिंटर के द्वारा प्रिंटिंग करने के लिए जिसका इस्तेमाल किया जाता है उसे इंक रीबन कहा जाता है और वहीं दूसरी तरफ नॉन इंपैक्ट प्रिंटर जिसके माध्यम से प्रिंटिंग का काम करता है उसे टोनर या कारट्रेज कहा जाता है।
  • इंपैक्ट प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर काम करने के लिए कौन सी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं, अगर इसके बारे में चर्चा की जाए तो जहां एक तरफ इंपैक्ट प्रिंटर के द्वारा पुरानी या फिर पारंपरिक प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है वही नॉन इंपैक्ट प्रिंटर आधुनिक प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करता है।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की विशेषताएं 

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की कुछ शानदार विशेषताएं निम्नानुसार है।

1: बिना आवाज के और आसानी से प्रिंटिंग

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर जब प्रिंटिंग के काम को चालू करता है, तो यह आवाज उत्पन्न हीं नहीं करता है। अगर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर थोड़ी बहुत आवाज उत्पन्न भी करता है, तो उससे वातावरण का माहौल खराब नहीं होता है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर इंक को पेपर पर नहीं डालते हैं। 


यही वजह है की इसमें बहुत ही कम साउंड पैदा होता है। इसलिए शांति वाले इलाके में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। आप घर में या फिर ऑफिस में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इसकी इसी विशेषता के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

2: फास्ट प्रिंटिंग

अक्सर जब कभी ऐसा मौका आता है कि, कम समय में ज्यादा मात्रा में प्रिंटिंग करने की आवश्यकता होती है, तो इसमें लोगों के द्वारा या फिर कंपनियों के द्वारा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल किया जाता है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर इमरजेंसी की अवस्था में प्रिंटिंग करने के लिए इस्तेमाल किए जा सकते हैं। 

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर फास्ट प्रिंटिंग इसलिए कर पाता है, क्योंकि इसमें इंक को पेपर पर डायरेक्ट प्रिंट करने के लिए थर्मल अथवा लेजर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है और बताना चाहेंगे कि थर्मल तथा लेजर टेक्नोलॉजी बहुत ही फास्ट काम करती है।

3: कम लागत

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की विशेषताएं यह होती है कि, यह आपको बहुत ही कम कीमत मे प्राप्त हो जाते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि, मार्केट में ऐसे कई ब्रांड हैं, जिनके द्वारा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का निर्माण किया जाता है, जो अपने अपने हिसाब से इस प्रकार के प्रिंटर की कीमत को तय करते हैं। 

हालांकि कुछ ऐसे भी ब्रांड है जो अच्छी क्वालिटी का नॉन इंपैक्ट प्रिंटर बहुत ही कम कीमत में यूजर के लिए उपलब्ध करवाते हैं जिसकी वजह से आपके बजट पर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के इस्तेमाल के लिए जो इंक खरीदी जाती है, वह भी बहुत ही सस्ती आती है। इसलिए इंटरनेट पर हमेशा लो बजट प्रिंटर में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का नाम शामिल रहता है।

4: कम देखभाल की आवश्यकता

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में प्रिंटिंग के लिए कम अथवा कोई एक्सटर्नल भाग नहीं होता है, जिसकी वजह से नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को बहुत ही कम मेंटेनेंस की आवश्यकता होती है। इसके अलावा इस प्रकार के प्रिंटर में जल्दी पेपर जाम भी नहीं होता है, जिसकी वजह से लगातार प्रिंटिंग की प्रक्रिया चलती रहती है।

5: सपोर्टेड मीडिया

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की सबसे शानदार विशेषता हमें जो लगी वह यह है कि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर अलग अलग टाइप के मीडिया पर प्रिंट करने के लिए इस्तेमाल में लिया जा सकता है। आप इसके माध्यम से कागज पर प्रिंटिंग के काम को अंजाम दे सकते हैं या फिर लेबल प्रिंट कर सकते हैं।

अथवा ट्रांसपेरेंट फिल्म को प्रिंट करने के लिए भी आप नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा बताना चाहेंगे कि, अलग अलग टाइप के प्रिंटिंग के काम जैसे कि डॉक्यूमेंट प्रिंटिंग, इन्वेंटरी लिस्ट प्रिंटिंग और दूसरे दस्तावेज की प्रिंटिंग के लिए भी नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को यूज में ले सकते हैं।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के फायदे 

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के लाभ क्या होते हैं अथवा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के एडवांटेज क्या होते हैं, इसके बारे में अगर आप जानना चाहते हैं, तो आपको आगे पढ़ना चाहिए।

1: आवाज नहीं करता है

क्या आप जानते हैं कि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का सबसे बड़ा फायदा यह है कि, जब आप इसका इस्तेमाल करते हैं तो यह आवाज पैदा नहीं करता है और अगर आवाज पैदा भी करता है तो वह सिर्फ नाम मात्र का होता है। यही वजह है कि, बड़े-बड़े ऑफिस में प्रिंटिंग के काम को करने के लिए ऑफिस मालिकों के द्वारा प्रिंटर के तौर पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का ही इस्तेमाल किया जाता है। 

इसके अलावा लोग अपने घरों में भी अगर प्रिंटिंग के काम को करना है तो इसके लिए नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की ही खरीदारी करना पसंद करते हैं और शायद आपको भी ऐसा ही प्रिंटर अच्छा लगे जो अच्छी क्वालिटी का प्रिंटिंग देता है और ज्यादा आवाज भी ना करता हो अथवा बिल्कुल भी साउंड उत्पन्न ना करता हो।

2: क्वालिटी प्रिंटिंग करता है।

प्रिंटिंग क्वालिटी के मामले में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर दूसरे प्रिंटर या फिर प्रिंटर के प्रकार से जरा सा भी पीछे नहीं है। यदि आप एक अच्छी क्वालिटी में छपाई करने वाला प्रिंटर लेना चाहते हैं तो आपको निश्चित ही नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की खरीदारी करनी चाहिए। 

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर आंकड़ों को अच्छी क्वालिटी में प्रिंट करता है। इसके अलावा यदि आप ग्राफिक की प्रिंटिंग करना चाहते हैं या फिर आप छोटे छोटे शब्दों की प्रिंटिंग करना चाहते हैं, तो इसमें भी नॉन इंपैक्ट प्रिंटर एक अच्छा प्रिंटर माना जा सकता है। इसके माध्यम से जो प्रिंटिंग होती है, वह बिल्कुल साफ होती है तथा परमानेंट होती है।

3: तेजी से प्रिंटिंग करता है

यदि आप कम समय में ज्यादा प्रिंटिंग करना चाहते हैं तो ऐसे में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का एडवांटेज आपको प्राप्त हो सकता है। अब आप इसे नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की विशेषता समझ लीजिए या फिर इसका फायदा समझ लीजिए कि यह प्रिंटिंग बहुत ही फास्ट करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में प्रिंटिंग के लिए कोई भी ऐसा डिवाइस नहीं है जिसकी वजह से इसे Slow काम करना पड़े।

इसीलिए नॉन इंपैक्ट प्रिंटर बड़े प्रिंटिंग के कामों को तेजी से पूरा करने में सक्षम होता है, जिसकी वजह से आपके समय की भी काफी बचत होती है और आपके प्रिंटिंग का काम भी जल्दी पूरा हो जाता है तथा आप अपने बचे हुए एक्स्ट्रा समय का इस्तेमाल अपने दूसरे आवश्यक कामों को निपटाने के लिए कर पाते हैं।

4: कम कीमत में मिलता है।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के इतने सारे फायदे के बारे में जानने के बाद इसका एक और बड़ा फायदा यह है कि, आपको नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के एडवांटेज को उठाने का मौका बहुत ही कम कीमत में मिलता है। 

अगर दूसरे प्रिंटर और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की कीमत की आपस में तुलना की जाए, तो यहां पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कीमत आपके बजट में बिल्कुल ही फिट बैठ सकती है। यही नहीं नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के साथ जो अन्य चीजें आती है उसकी भी कीमत कम होती है। इसलिए नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को प्रिंटिंग के काम के लिए बजट फिट प्रिंटर माना जाता है।

5: सही ढंग से प्रिंट करता है।

कई बार जब हम दूसरे प्रिंटर का इस्तेमाल करते हैं तो हमारा प्रिंटिंग का काम तो हो जाता है, परंतु कुछ समय बाद यह देखने में आता है की, पेपर पर जो प्रिंट हुआ है वह धीरे-धीरे खोने लगता है या फिर प्रिंटर सही प्रकार से प्रिंटिंग नहीं कर पाता है।

और प्रिंटिंग धुंधली हो जाती है, परंतु जब आप नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के माध्यम से प्रिंटिंग करते हैं तो इसके द्वारा पेपर पर जो आर्टिकल या फिर चित्र छापे जाते हैं, वह लंबे समय तक वैसे ही रहते हैं, जैसा कि प्रिंटिंग होने के पश्चात होते थे। 

इसका मतलब यह निकल करके आता है की, नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के माध्यम से प्रिंट किए गए डॉक्यूमेंट लंबे समय तक सुरक्षित रहते हैं, ताकि भविष्य में भी उनका इस्तेमाल आवश्यकता पड़ने पर सरलता से किया जा सके।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के नुकसान 

जिस प्रकार से आप को नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के फायदे के बारे में जानने की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार से आपको नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के डिसएडवांटेज के बारे में भी जानना चाहिए।अथवा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की हानि के बारे में या फिर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की कमी के बारे में भी इंफॉर्मेशन प्राप्त करनी चाहिए, ताकि आपको नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के बारे में कंप्लीट जानकारी रहे।

1: धीमी प्रिंटिंग स्पीड

आप सोच रहे होंगे, अभी तो हमने आपको ऊपर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के फायदे के बारे में यह बताया कि यह बहुत ही तेजी से प्रिंटिंग कर लेता है और अब हम कह रहे हैं कि, यह स्लो प्रिंटिंग करता है, तो यहां पर हम आपको बताना चाहते हैं कि, जी हां ऐसा होता है, परंतु इसमें भी कुछ कंडीशन है।

 जैसे कि अगर आपने नॉन इंपैक्ट प्रिंटर को खरीद कर इसका इस्तेमाल करना चालू किया और आप इसका सही प्रकार से मेंटेनेंस नहीं करते हैं या फिर इसके इस्तेमाल को 1 से 2 साल बीत चुके हैं तो ऐसे में मेंटेनेंस के अभाव में नॉन इंपैक्ट प्रिंटर स्लो प्रिंटिंग करना चालू कर देता है।

जो इसका एक डिसएडवांटेज हो सकता है। अगर आप इस डिसएडवांटेज से बचना चाहते हैं, तो आपको समय-समय पर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के मेंटेनेंस पर ध्यान देना चाहिए और अगर इसके अंदर कोई कमी उत्पन्न हो रही है, तो उसे किसी प्रिंटर एक्सपर्ट के माध्यम से सही करवाना चाहिए। ऐसा करने पर आपको इसकी स्लो स्पीड का सामना नहीं करना पड़ेगा।

2: कम प्रिंट क्वालिटी

उपरोक्त बात सुनकर के भी आपको आश्चर्य हो रहा होगा कि, हमने ऊपर तो आपको यह बताया कि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की प्रिंट क्वालिटी अच्छी होती है और अब हम आपसे यह कह रहे हैं कि इसकी प्रिंट क्वालिटी ज्यादा नहीं अच्छी होती है, तो ऐसा इसलिए होता है।

क्योंकि यदि आपके द्वारा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में जो टोनर या फिर ड्रम का इस्तेमाल होता है उसकी क्वालिटी पर ध्यान नहीं दिया जाता है तो इसकी वजह से ही नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की प्रिंट क्वालिटी में कमी दिखाई पड़ती है और ऐसा होने पर प्रिंट लाइफ भी कम हो जाती है। इसलिए इस प्रिंटर में इस्तेमाल होने वाले टोनर अथवा ड्रम की क्वालिटी पर आपको लगातार फोकस करके रखना है, ताकि आपको अच्छी प्रिंटिंग सर्विस मिलती रहे।

3: महंगे ड्रायवर और कॉरट्रीज

अलग-अलग कंपनियों के द्वारा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के लिए ड्राइवर और कार्टेज का निर्माण किया जाता है। अब इसमें से जो कंपनी टॉप लेवल की कंपनी होती है, वह अपने द्वारा निर्मित ड्राइवर और कार्टेज की कीमत को सामान्य से ज्यादा रखती हैं और जो लो लेवल की कंपनी होती है वह इन सभी की कीमत को कम रखती हैं। 

ऐसे में अगर आपके द्वारा टॉप लेवल के ड्राइवर और कार्टेज की खरीदारी करने का मन बना लिया गया है, तो इसके लिए आपको लो लेवल की कंपनी के द्वारा बनाए गए प्रोडक्ट की कीमत की तुलना में ज्यादा पैसा देने की आवश्यकता होती है। हालांकि जो लोग लंबे समय तक अच्छी सर्विस चाहते हैं वो लोग अधिक पैसा देकर के भी टॉप लेवल की कंपनी के द्वारा बनाए गए कॉरट्रीज और ड्राइवर की खरीदारी कर लेते हैं।

ताकि वह बार-बार इसे खरीदने के झंझट से बच सकें, तो अगर आप भी थोड़े ज्यादा पैसे देने के लिए तैयार है तो आप अच्छी क्वालिटी के ड्राइवर और कॉरट्रीज की खरीदारी कर सकते हैं। वहीं अगर आप आर्थिक तौर पर ठीक-ठाक है, तो आपको यह चीजें अगर टॉप लेवल कंपनी के द्वारा बनाई गई है तो थोड़ी महंगी लग सकती हैं।

4: साउंड

शुरू शुरू में तो जब नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के द्वारा प्रिंटिंग की जाती है, तो यह या तो कम आवाज पैदा करता है या फिर बिल्कुल भी आवाज पैदा नहीं करता है, परंतु लंबे समय तक अगर आप इसके मेंटेनेंस पर ध्यान नहीं देते हैं।

तो इसकी वजह से किसी ना किसी वजह से नॉन इंपैक्ट प्रिंटर सामान्य से अधिक आवाज पैदा करना चालू कर देता है, जिसकी वजह से काम की जगह पर थोड़ी सी अशांति पैदा हो सकती है। हालांकि इसकी आवाज इतनी भी ज्यादा तेज नहीं होती है कि, इससे आपके कान दुखने लगे। इसकी आवाज सहने लायक होती है।

5: प्रिंट हेड की खराबी

आपको बता देना चाहेंगे कि इस प्रिंटर में प्रिंटहेड लगा हुआ होता है जो समय-समय पर खराब होता रहता है। हालांकि यह समय समय पर खराब हो, ऐसा आवश्यक नहीं है, परंतु सामान्य तौर पर यह समस्या देखी जाती है। इसलिए हम आपको इसके बारे में बता रहे हैं। अगर यह खराब होता है, तो आपको इसे या तो रिपेयर करवाने की आवश्यकता होती है या फिर इसे चेंज करवाने की आवश्यकता होती है, जिसकी वजह से आपके एक्स्ट्रा पैसे खर्च होते हैं।

6: पेपर जाम

कई बार ऐसा भी होता है कि, नॉन इंपैक्ट प्रिंटर का इस्तेमाल करने के दरमियान कागज जाम हो जाता है या फिर पेपर को आपको पेपर ट्रे से निकालने में समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि नॉन इंपैक्ट प्रिंटर अपने आप से ही पेपर को फीड करता है।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कैसे खरीदें?

यदि प्रिंटिंग के काम के लिए आपको नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की आवश्यकता हो चुकी है, तो आप इसे आसानी से खरीद सकते हैं, क्योंकि यह एक ऐसा प्रिंटर है, जो लगभग हर जगह पर मिल जाता है। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की खरीदारी करने के लिए सबसे पहले इंटरनेट से यह चेक कर लें कि, आपके लिए कौन सा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर बेहतर रहेगा और उसकी कीमत क्या हो सकती है।

इसके बाद पैसे का प्रबंध करके अपने नजदीकी लैपटॉप अथवा कंप्यूटर बिक्री दुकान पर चले जाएं, क्योंकि जिन दुकानदारों के द्वारा लैपटॉप या फिर कंप्यूटर की बिक्री की जाती है, उनके द्वारा प्रिंटर की भी बिक्री की जाती है। दुकान में जाने के बाद आपको संबंधित मॉडल और कंपनी का नाम बताना है जिसके बाद दुकान का कर्मचारी आपको प्रिंटर दिखाएगा और उसकी विशेषताओं के बारे में आपको बताएगा।

साथ ही कीमत की जानकारी भी देगा। इस प्रकार से आप विशेषताओं को देखते हुए और कीमत को चेक करते हुए अपने लिए प्रिंटर की खरीदारी ऑफलाइन कर सकते हैं। अगर आप नॉन इंपैक्ट प्रिंटर खरीदने के लिए घर से बाहर नहीं जाना चाहते हैं।

तो ऐसे में आप ऑनलाइन शॉप क्लूज, ऐमेजोन, फ्लिपकार्ट वेबसाइट पर प्रिंटर के ब्रांड के मॉडल को सर्च कर सकते हैं और उसकी जानकारियों को पढ़कर तथा कीमतों की तुलना करके ऑनलाइन प्रिंटर की खरीदारी कर सकते हैं, जो कि आपके घर पर डिलीवर कर दिया जाएगा।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की कीमत

हमारे देश में ऐसी कई देशी और विदेशी कंपनियां काम कर रही है, जिनके द्वारा नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की मैन्युफैक्चरिंग की जाती है और जैसा कि आप जानते हैं कि, अलग-अलग कंपनी के द्वारा अपने प्रिंटर की कीमत को अलग-अलग रखा जाता है।

 यही वजह है की, नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की कीमतों में भिन्नता हो सकती है। हम आपको नीचे कुछ ऐसी कंपनियों के द्वारा निर्मित नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के नाम और उनकी कीमत बता रहे हैं जो प्रिंट करने के लिए अच्छे नॉन इंपैक्ट प्रिंटर माने जाते हैं।

  • Epson Inkjet Printer: ₹11899
  • HP Inkjet Printer: ₹1779
  • Brother Inkjet Printer: ₹13599
  • Function Type – Single Function Inkjet Printer: ₹1779
  • HP Deskjet 2332 All-in-One Colour Inkjet Printer: 3999
  • Canon Pixma MG 3070S All-in-One Wi-Fi Colour Inkjet Printer: 4599
  • HP Deskjet Ink Advantage 2338 All-in-One Colour:  45999

कौन सा एक नॉन इंपैक्ट प्रिंटर है?

कौन सा एक नॉन इंपैक्ट प्रिंटर है? अगर इसका जवाब दिया जाए, तो इंकजेट प्रिंटर एक नॉन इंपैक्ट प्रिंटर है। बताना चाहेंगे कि, नॉन इंपैक्ट प्रिंटर रिबन का इस्तेमाल नहीं करते हैं और बिना इसके ही शब्दों को प्रिंट करते हैं। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर सामान्य तौर पर एक टाइम पर पूरे पेज को प्रिंट करने की क्षमता रखते हैं। 

इसलिए इस प्रकार के प्रिंटर को पेज प्रिंटर भी कहा जाता है। लेजर प्रिंटर और इंकजेट प्रिंटर यह सभी नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में ही गिने जाते हैं। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर की खरीदारी करना बहुत ही आसान है। आप इसे लोकल स्टोर या फिर ऑनलाइन स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं।

FAQ:

इंकजेट प्रिंटर क्या होता है?

इंकजेट प्रिंटर नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में गिना जाता है। इसमें जितने भी प्रिंटहेड होते हैं उसमें बहुत सारे छोटे छोटे छेद होते हैं। इन्हीं छेद के द्वारा प्रिंटर में पेपर पर इंक की छोटी बूंद को एक निश्चित स्पीड से गिराया जाता है। इंकजेट प्रिंटर में एक लिक्विड इंक का इस्तेमाल होता है, जो या तो कलर डाई या एक लिक्विड के द्वारा बनाया होता है।

लेजर प्रिंटर क्या होता है?

लेजर प्रिंटर का इस्तेमाल प्रिंटिंग के कामों को करने के लिए किया जाता है। लेजर प्रिंटर में कार्टेज का इस्तेमाल होता है जिसके अंदर सूखा पाउडर रखा होता है। लेजर प्रिंटर 300 से लेकर के 600 डीपीआई तक या फिर इससे भी अधिक रेजोल्यूशन की प्रिंटिंग करने में सक्षम होता है।

थर्मल प्रिंटर क्या होता है?

थर्मल प्रिंटर डिजिटल प्रिंटिंग करने वाला एक इलेक्ट्रॉनिक प्रिंटर होता है, जिसके द्वारा थर्मोक्रोमिक कोटिंग के साथ पेपर पास करके एक प्रिंटिंग फोटो को बना करके रेडी किया जाता है, जिसे सामान्य तौर पर थर्मल पेपर के तौर पर जानते हैं। इसमें छोटे इलेक्ट्रिकल रूप से गर्म एलिमेंट से युक्त प्रिंट हेड होता है।

प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं?

प्रिंटर 11 से भी अधिक प्रकार के होते हैं, जिनके बारे में जानकारी पाने के लिए आप इंटरनेट पर उपरोक्त कीवर्ड को सर्च कर सकते हैं और सभी प्रिंटर के नाम और उनकी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

लेजर प्रिंटर क्या है?

कंप्यूटर के आउटपुट डिवाइस में गिने जाने वाले लेजर प्रिंटर को चलाने के लिए बिजली की आवश्यकता होती है। इसमें एक लेजरबीम होती है जिसके माध्यम से अच्छी क्वालिटी के प्रिंटिंग के काम को किया जा सकता है। आजकल ज्यादातर लेजर प्रिंटर का इस्तेमाल हो रहा है।

Hope की आपको “नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है” और “नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के फायदे और नुकसान क्या है?, का यह पोस्ट पसंद आया होगा तथा आपके लिए हेल्पफुल भी रहा होगा।

यदि इस पोस्ट से सम्बंधित आपके मन में कोई सुझाव या विचार है तो निचे कमेन्ट में बताये तःथा पोस्ट पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ साझा अवश्य करे।

Previous articleगूगल का अंत कब होगा? Google Ka Ant Kab Hoga?
Next articleप्रिंटर क्या है? प्रकार, कार्य एवं उपयोग? (Printer in Hindi)
Ankur Singh
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकुर सिंह है और में New Delhi से हूँ। मैंने B.Tech (Computer Science) से ग्रेजुएशन किया है। और में इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, मोबाइल और इंटरनेट से जुड़े लेख लिखता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here