प्रोसेसर क्या है? – What Is Processor In Hindi

0

Processor Kya Hai? – What Is Processor In Hindi? दोस्तों अगर आप एक computer, mobile या smartphone use करते हो तो अपने Processor का नाम तो ज़रूर सुना होगा, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की आख़िर Processor क्या है? इसका इस्तेमाल, उपयोग और फ़ायदे क्या है? किसने बनाया? प्रोसेसर के प्रकार? अगर नही! तो आज इस पोस्ट में हम प्रोसेसर के बारे में डिटेल से जानिंगे। (All About Processor In Hindi)

दोस्तों मोबाइल हो या कंप्यूटर डिवाइस! यदि इनकी ताकत का अंदाजा लगाना हैं तो सबसे पहले हमें प्रोसेसर की जानकारी रखनी होगा! कि कौन सा प्रोसेसर इस डिवाइस में लगा हुआ है! दोस्तों यदि आप टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी रखते हैं तो आपको प्रोसेसर की अहमियत पता होगी! तथा जब भी आप मोबाइल या कंप्यूटर खरीदते होंगे तो उसमें प्रोसेसर के बारे में जरूर जानकारी लेते होंगे!


परंतु यदि आपको नहीं पता है कि प्रोसेसर क्या है? प्रोसेसर कितने प्रकार के होते हैं? और आपके डिवाइस में प्रोसेसर का क्या फायदा होता है! तो कोई बात नहीं क्योंकि आज के इस लेख को अंत तक पढ़ने के बाद आपको प्रोसेसर के बारे में कई सारी जानकारियां मिल जाएगी!

दोस्तों इस प्रोसेसर शब्द का इस्तेमाल अक्सर कंप्यूटर डिवाइस के लिए अधिक किया जाता है! क्योंकि कंप्यूटर में CPU, Ram, प्रोसेसर आदि बेहद महत्वपूर्ण उपकरण होते हैं इसलिए आज तकनीकी के इस युग में हमें इन उपकरणों के बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है!

दोस्तों आज के बाद आप जब भी कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस खरीदेंगे! तो उसमें इस्तेमाल होने वाले प्रोसेसर की की जानकारी जरूर लेंगे! दोस्तों चलिए हम बिना समय नष्ट किये बगैर सबसे पहले जान लेते हैं प्रोसेसर (Processor) क्या है? – What Is Processor In Hindi.

यह भी पढ़े: सॉफ्टवेयर (Software) क्या है? – What Is Software In Hindi

प्रोसेसर क्या है? – What Is Processor In Hindi

प्रोसेसर एक प्रकार की chip होती है यह chip मोबाइल, टैबलेट कंप्यूटर लैपटॉप आदि डिवाइस में लगी रहती है. तथा कंप्यूटर के motherboard में चिप के रूप में लगी होती है. यहाँ आपका जानना जरूरी है कि प्रोसेसर को main प्रोसेसर तथा CPU अर्थात सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के नाम से भी जाना जाता है. यह हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर के बीच होने वाली सभी गतिविधियों को समझता है.

उदाहरण के तौर पर आप इसे कुछ इस तरह समझ सकते हैं एक व्यक्ति आपसे बात करना चाहता है जिसे केवल अंग्रेजी भाषा आती है परंतु आपको हिंदी भाषा आती है इस स्थिति में आपको एक दूसरे से बातें करने में कठिनाई होगी! परन्तु यदि आपको अंग्रेजी भाषा आती है तो आप एक दूसरे से बातचीत कर सकते हैं! इस स्तिथि में अंग्रेजी भाषा एक दूसरे को समझने का माध्यम होगी!

ठीक उसी तरह कंप्यूटर तथा हमारे बीच का माध्यम processor होता है! प्रोसेसर हमारे द्वारा दिए गए कमांड या निर्देशों को कंप्यूटर तक पहुंचाता है जिसके बाद कंप्यूटर उन task को पूरा करता है!

प्रोसेसर हमारे कंप्यूटर में सभी इनपुट, आउटपुट आपरेशन को पूरा करता है! दोस्तों इस प्रक्रिया को हम विस्तारपूर्वक समझें तो जब आप कंप्यूटर को कोई कमांड/निर्देश देते हैं वह input कहलाता है! और आपके दिए गए कमांड को कंप्यूटर process करता है तो यह प्रक्रिया processing कहलाती है और उसके बाद कंप्यूटर जो result show करता है! उसे output कहा जाता है!

दोस्तों उदाहरण के लिए आप माइक्रोसॉफ्ट excel को अपने कंप्यूटर में ओपन करना चाहते हैं! तो जब आप excel पर क्लिक करते हैं तो यह इनपुट कहलाता है! मतलब आपने सॉफ्टवेयर को ओपन करने का निर्देश दिया है। अब आपके कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल कितने समय में ओपन होता है! यह समय processing time होता है! और अंत में जब excel software ओपन होता है तो वह output कहलाता है!

अतः जितना अधिक शक्तिशाली आपका प्रोसेसर होगा! आपके कंप्यूटर की परफॉर्मेंस बेहतरीन होने के अवसर बढ़ जाते हैं! इसलिए हमेशा एक बेहतरीन ब्रांड का प्रोसेसर इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

प्रोसेसर के प्रकार? – Types of Processor in Hindi

दोस्तों मार्केट में कहीं सारे प्रोसेसर उपलब्ध हैं! अब ऐसे में यदि आप नया कंप्यूटर, लैपटॉप या अपने मदरबोर्ड को अपग्रेड करवाने के बारे में सोच रहे हैं! तो एक बार कौन-सा प्रोसेसर लेना है इस विषय में थोड़ा सोच लीजिए!!

क्योंकि आप एक बार जिस प्रोसेसर को select कर मदरबोर्ड में इंस्टॉल कर लेंगे! वह प्रोसेसर भविष्य में आपके कंप्यूटर की परफॉर्मेंस, स्पीड को निर्धारित करेगा आमतौर पर दो कंपनियां मुख्यतः माइक्रोप्रोसेसर को मैन्युफैक्चर करती हैं! intel और AMD (Advanced Micro Devices) यह दोनों कंपनियां आज भी क्वालिटी तथा परफॉर्मेंस के आधार पर मार्केट में छाई हुई हैं!

तथा यूज़र्स द्वारा सबसे अधिक इस्तेमाल की जाती हैं! इंटेल के डेस्कटॉप CPU अर्थात प्रोसेसर के नाम celeron, pentium तथा core हैं जबकि Amd के डेस्कटॉप प्रोसेसर Sempron, Athlon & Phenom हैं! intel ने Celeron M, Pentium M and Core मोबाइल प्रोसेसर को notebooks के लिये बनाया हैं!! जबकि AMD के मोबाइल प्रोसेसर Sempron and Athlon तथा turian मोबाइल version में इस्तेमाल होते हैं!

इन दोनों में समानता यह है कि दोनों ही कंपनियां single-core तथा multi- core प्रोसेसर की मैनुफैक्चरिंग करती हैं! दोस्तों अब हम जानते हैं कि Amd या intel प्रोसेसर दोनों के बीच क्या फर्क होता है? उस फर्क को जानने के बाद आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आपके लिए कौन सा CPU अर्थात प्रोसेसर आपके लिए बेस्ट रहेगा!

यह भी पढ़े: मल्टीमीडिया (Multimedia) क्या है? – What Is Multimedia In Hindi

Difference Between AMD & Intel Processor In Hindi

Price

दोस्तों! हम जब भी कोई चीज खरीदते तो पैसा बेहद आवश्यक होता है इसलिए जब भी आप मार्केट में प्रोसेसर खरीदने जाते हैं तो दाम बेहद मायने रखता है! तो दोस्तों intel के प्रोसेसर Amd की तुलना में काफी महंगे होते हैं!

इसको एक उदाहरण की सहायता से समझे तो यदि आप intel i3 प्रोसेसर खरीदते हैं तो आपको काफी अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे! दूसरी ओर Amd fx300 प्रोसेसर सस्ता होता है! दोस्तों जब बात आती है दाम की तो intel प्रोसेसर की कीमत Amd प्रोसेसर की तुलना में काफी ज्यादा होती है!

Power

intel के प्रोसेसर amd के प्रोसेसर की तुलना में कम पावर खर्च करते हैं! दूसरी ओर Amd प्रोसेसर काफी पावर लेते हैं इसलिए सलाह दी जाती कि जब भी आप नया लैपटॉप खरीदें तो उसमें intel प्रोसेसर होना चाहिए!

क्योंकि यह बिजली कम खाता है जिससे आपके लैपटॉप की बैटरी लाइफ अधिक बनी रहती है दोस्तों इस तरह आप समझ सकते हैं कि amd प्रोसेसर इंटेल की तुलना में अधिक पावर consume (उपभोग) करते हैं! और मुझे नहीं लगता कि आप ज्यादा बिजली कंज्यूम लेने वाला प्रोसेसर लेंगे है ना!��

Speed

कंप्यूटर की स्पीड बेहद मायने रखती है! इसलिए प्रत्येक कंप्यूटर यूजर चाहता है कि उसके कंप्यूटर की परफॉर्मेंस अच्छी हो! और जब हम बात करते हैं amd तथा इंटेल प्रोसेसर के बीच स्पीड की तो यहां intel प्रोसेसर की स्पीड Amd की तुलना में काफी अधिक होती है!

जब आप मार्केट से Amd या इंटेल प्रोसेसर को खरीदेंगे! तो आप पाएंगे कि इंटेल की स्पीड amd की तुलना में अच्छी होती है! इसलिए वर्तमान समय में विज्ञापनों में इंटेल प्रोसेसर की गुणवत्ता को बेहतर बताया जाता है!

Heating Problem

हीट यदि आप Amd प्रोसेसर का इस्तेमाल करते हैं तो आप पाएंगे कि आपका कंप्यूटर heat तेजी से हो रहा है, दूसरी ओरइंटेल प्रोसेसर heat कम होते हैं!

और आप जानते ही होंगे कि मोबाइल हो या कंप्यूटर उस डिवाइस का heat होना अच्छे संकेत नहीं हैं! अतः यदि हीटिंग के आधार पर तुलना करें तो intel का प्रोसेसर amd प्रोसेसर की तुलना में अधिक बेहतर है!!, दोस्तों यहाँ थे कुछ मुख्य फीचर्स जिनके आधार पर हमने दोनों प्रोसेसर की तुलना कि अब आप समझ सकते हैं कि कंप्यूटर का प्रोसेसर में होना कितना मायने रखता है? तथा आपके लिए कौन सा बेस्ट प्रोसेसर होगा!

प्रोसेसर का इतिहास – History Of Processor In Hindi

कंप्यूटर आने के बाद कहीं सालों तक कंप्यूटर में single core प्रोसेसर होता था! तथा 2000 तक आते-आते cpu मैन्युफैक्चर कंपनीयों को प्रोसेसिंग परफॉर्मेंस को बढ़ाने के लिए अन्य तरीकों का इस्तेमाल करना पड़ा! शुरुआत में high-end कंप्यूटर्स में ही मल्टी-कोर प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता था! single चिप पर प्रोसेसर का संयोजन (combine) कर CPU मैन्यूफैक्चर कंपनियां कम लागत पर user को बेहतर परफॉर्मेंस देने में सक्षम थी! !

2000 के मध्य में dual-core तथा quad core ने मल्टिप्रोसेसर कंफीग्रेशन को बदलने का कार्य किया! तथा जैसा की अभी हमने जाना कि पहले केवल हाई एंड कंप्यूटर में मल्टिकोर प्रोसेसर होते थे! परंतु आज लगभग सभी कंप्यूटर में मल्टी-कोर प्रोसेसर देखे जा सकते हैं!

दोस्तों इस तरह अपने core प्रोसेसर के इतिहास के बारे में जाना तथा जाना core प्रोसेसर क्या होता है! लेकिन यहां ध्यान रखने योग्य बात यह है कि इंटेल के प्रोसेसर्स को भी core नाम दिया गया है जैसे कि इंटेल Core Duo, Core 2, Core i3, Core i5, and Core i7. आदि शामिल हैं!

यदि आप जानना चाहते हैं कि mobile प्रोसेसर क्या होता है? उसके कितने प्रकार होते हैं तो मोबाइल प्रोसेसर की पूरी जानकारी पाना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं हम जल्द ही mobile प्रोसेसर की जानकारी आपके लिए लेकर आएंगे!

प्रोसेसर की Speed क्या होती है? What is Clock Speed in CPU in Hindi

जिस तरह हर स्पीड का एक पैरामीटर होता है उसी प्रकार प्रोसेसर की स्पीड को हम Ghz में मापते हैं इसे हम clock
speed भी कहते हैं! दोस्तों एक प्रोसेसर की speed का कंप्यूटर की overall फंक्शनैलिटी पर प्रभाव पड़ता है! किसी कंप्यूटर का प्रोसेसर ही यह डिसाइड करता है कि वह एक बारी में कितने instruction या commands को Handle कर सकता है!

यदि प्रोसेसर की स्पीड low होगी तो इसका मतलब है कि वह Commands को तेजी से Accept नहीं कर पाएग। जबकि यदि किसी प्रोसेसर में clock स्पीड अधिक होगी तो इसका अर्थ है प्रोसेसर इतना फास्ट होगा और सभी कमांड्स को अच्छे से execute कर पाएगा।

तो जब भी आप अपने लिए नया कंप्यूटर, मोबाइल खरीदें उसकी प्रोसेसर स्पीड को जरुर चेक करें! आमतौर पर मार्केट पर dual core, Quad core, octa core इत्यादि प्रोसेसर मौजूद होते हैं। quad core प्रोसेसर dual core प्रोसेसर से अधिक फास्ट होगा. इसलिए जितना अधिक core अधिक processor core होता है वह उतना fast माना जाता है इसे कई बार clock स्पीड भी कहा जाता है।

क्या प्रोसेसर की स्पीड बढ़ाई जा सकती है?

प्रोसेसर की स्पीड किसी CPU की क्षमता को निर्धारित करती है! अर्थात यदि आप प्रोसेसर की स्पीड बढ़ाते हैं तो आप अपने कंप्यूटर की क्षमता को बढ़ा रहे हैं जी हां क्योंकि इससे प्रोसेसर की फंक्शनैलिटी भी बढ़ेगी. अतः यदि आप अपने प्रोसेसर की स्पीड को बढ़ाना चाहते है तो आप उसे overclock कर सकते हैं! और हाई frequency में इसे set कर सकते हैं!

लेकिन ध्यान रखें प्रोसेसर को overclock करने के जहां कुछ फायदे होते हैं वही नुकसान भी हैं! यदि आप अपने CPU की speed से संतुष्ट नहीं है तो आप overclock कर अपने डिवाइस की overall परफॉर्मेंस को पहले से बेहतर बना सकते हैं, ऐसा करके आप multitasking कर पाएंगे और सभी ऐप्स को पहले से बेहतर तरीके से चला पाएंगे!

यदि आप अक्सर गेम खेलते हैं! तो overclock कर आप अपने गेमिंग अनुभव को पहले से काफी बेहतर बना सकते हैं! लेकिन दूसरी तरफ इसके कुछ नुकसान भी हैं पहला नुकसान तो यही है कि जब आप अपने processor को overclock करते हैं और उसकी फ्रीक्वेंसी को बढ़ाते हैं तो इससे भले ही आपको परफॉर्मेंस अच्छी मिले लेकिन इससे प्रोसेसर की life expectancy कम हो जाती है!

Overclocking का दूसरा नुकसान यह है कि आपका कंप्यूटर पहले से ज्यादा Heat होने लगता है! तथा आपको एक
अलग से कूलिंग फैन की आवश्यकता पड़ती है, अन्यथा इसके काफी नुकसानदायक परिणाम हो सकते हैं। और तीसरी बात यह है कि overclocking सबके लिए नहीं है जिसे ओवर clock के बारे में पूरी जानकारी है कि इसे किस तरह करते हैं इसके क्या फायदे, नुकसान है! उसी व्यक्ति को overclocking करनी चाहिए।

साथियों मुझे आशा है अब आपको इस प्रश्न का उत्तर मिल चुका होगा। हम अपने पाठकों को कभी भी overclocking
के recommend नहीं करते हैं! बल्कि बजाय ओवरक्लॉकिंग के आपको पैसा खर्च कर मार्केट से बढ़िया हार्डवेयर
कंपोनेंट्स लेना चाहिए। ओवरक्लॉकिंग से आपके PC पर यदि कोई नुकसान होता है! तो इसकी जिम्मेदारी आपकी होगी अब हम आगे बढ़ते हैं और जानते हैं.

Core Processor क्या है?

सीपीयू core को हम सीपीयू का ब्रेन भी कहते हैं! इसलिए जब बात होती है प्रोसेसर की तो Core शब्द आता है। एक
CPU में विभिन्न core हो सकते हैं यह dual core, quad core, OCTA core हो सकता है! एक प्रोसेसर जिसमें 2 कोर होते हैं उसे dual-core प्रोसेसर कहा जाता है! जबकि quad core का अर्थ है इसमें चार core मौजूद हों!

और Hexa core को six core को कहा जाता है octa core कोर जिसमें आठ core हो! दोस्तों जिस प्रोसेसर में जितने अधिक core मौजूद होते हैं उतना बेहतर कंप्यूटर प्रदर्शन के लिए उत्तरदाई होता है! वर्तमान समय में मार्केट में 2 से लेकर 12 core तक के कंप्यूटर उपलब्ध हैं! हालांकि आप यदि अपने कंप्यूटर को असेंबल करवाते हैं तो आप अधिक core के प्रोसेसर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं!

बता दे work स्टेशन कंप्यूटर तथा server कंप्यूटर्स में 48 तक के core प्रोसेसर को इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए इनकी स्पीड, परफॉर्मेंस, कैपेबिलिटी नॉर्मल कंप्यूटर्स की तुलना में काफी ज्यादा होती है। प्रोसेसर के प्रत्येक core की विभिन्न फंक्शनैलिटी होती है अर्थात 2 core का कार्य अलग होता है जबकि quad कोर का कार्य अलग होता है! कई बार parallel ऑपरेशन के लिए विभिन्न core आपस में मिलकर एक साथ काम कर सकते हैं.

कैसे जानें? अपने कंप्यूटर का प्रोसेसर और उसकी स्पीड को यदि आप एक कंप्यूटर यूजर है और आपने अब तक इस लेख को पढ़ा है तो आपके लिए यह भी पता करना जरूरी है कि मेरा कंप्यूटर dual-core, quad कोर है या फिर octa core? कैसे मैं खुद के कंप्यूटर का प्रोसेसर चेक कर सकता हूं तो बहुत ही आसान है आपको बस कुछ सिंपल से steps फॉलो करने होंगे! और आप अपने कंप्यूटर के प्रोसेसर को आसानी से चेक कर सकते है!!

अपने Windows कंप्यूटर में Windows + R Key दबाकर कंट्रोल पैनल ओपन करें! कंट्रोल पैनल में आपको कई सारे ऑप्शन मिलेंगे इनमें से आपको system पर क्लिक करना है!


सिस्टम पर क्लिक करते ही आपके कंप्यूटर सिस्टम से रिलेटेड इंफॉर्मेशन आपके सामने आ जाएगी! इसमें आप अपने प्रोसेसर को भी चेक कर सकते हैं जैसा कि स्क्रीनशॉट में दिया गया है!

दोस्तों इस तरीके से आप अपने windows 7, Windows 10 में आसानी से यह पता कर सकते हैं कि कौन सा प्रोसेसर है? और आपके प्रोसेसर की स्पीड क्या है!

दोस्तों इस तरह आज आप ने जाना कि प्रोसेसर क्या होता है? प्रोसेसर कितने टाइप होते हैं! और आपके लिए कौन सा प्रोसेसर बेस्ट रहेगा! इसके साथ ही अपने जाना की core प्रोसेसर क्या होता है!

उम्मीद है की अब आप जान गये होगे की प्रोसेसर क्या है? – What Is Processor In Hindi? इसका इस्तेमाल, उपयोग और फ़ायदे क्या है? किसने बनाया? प्रोसेसर के प्रकार? (All About Processor In Hindi)


यह भी पढ़े:

उम्मीद है की अब आपको प्रोसेसर से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की प्रोसेसर (Processor) क्या है? – What Is Processor In Hindi? 


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here