प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है – What Is Programming Language In Hindi

0

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है – What Is Programming Language In Hindi? दोस्तों अगर आप प्रोग्रामिंग भाषा या Programming Languages के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो की आख़िर Programming Language क्या है? कैसे काम करता है? इसके फ़ायदे? कैसे सीख़े? तो आप बिलकुल सही जगह आए हो क्यूकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे All About Programming Language In Hindi?

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप लोग आशा करूंगा कि आप लोग अच्छे ही होंगे आज की इस आर्टिकल पर मैं आप लोगों को बताऊंगा कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या होता है और साथ ही में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को लेकर और भी बहुत कुछ आज हम लोग इस आर्टिकल पर जानेंगे अगर आप लोगों को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करना है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए।


दोस्तों क्या आप लोग जानते हैं कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है? (“what is programming language in hindi”) नहीं जानते तो कोई बात नहीं मैं आपको बताता हूं कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है। दोस्तों अभी आप लोग जो यह आर्टिकल पर रहे हैं वह भी एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से ही बना हुआ है।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है? – What Is Programming Language In Hindi?

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक कंप्यूटर का भाषा है जिसकी मदद से हम लोग website या फिर कोई एप्लीकेशन बना सकते हैं, सिर्फ यही नहीं computer मैं हम लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से प्रोग्राम भी बना सकते हैं यानी कि कंप्यूटर क्या task करेगा वह हम लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से create कर सकते हैं।

दोस्तों प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करके आप लोग बहुत आसानी से एप्लीकेशन या फिर वेबसाइट बना सकते हैं सिर्फ यही नहीं और भी बहुत कुछ आप लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से कर सकते हैं जैसे कि हो गया एनिमेशन डिजाइनिंग कोई सॉफ्टवेयर बनाना यह सभी आपलोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से कर सकते हैं।

कंप्यूटर मे Binary Language क्या होता है?

दोस्तों आप में से बहुत सारे लोग कंप्यूटर के मचिनेक भाषा के बारे में जानते ही होंगे कंप्यूटर का भाषा को हम लोग बायनरी लैंग्वेज कहते हैं। Computer का बाइनरी भाषा  को समझना बहुत ही मुश्किल है computer का जो भाषा होता है वह कोई प्रकार का भाषा नहीं होता है मतलब यह इंग्लिश या हिंदी भाषा नहीं है।यह भाषा कुछ अलग प्रकार का होता है।

दोस्तों हम लोग साधारण तौर से कंप्यूटर का भाषा को ही बायनरी भाषा कहते हैं कंप्यूटर कोई भी भाषा को नहीं समझता कंप्यूटर सिर्फ समझता है 0 और 1 अंक का  संखा को ही।बायनरी लैंग्वेज मतलब कि मान लीजिए आप लोग लिख रहे हैं कंप्यूटर में A अक्षर यह आपने लिखा A पर कंप्यूटर के भाषा में यह होगा 0100100 इसी कारण के वाजे से कंप्यूटर का भाषा को हम लोगों को समझने में बहुत असुविधा होता है।

पर अगर हम लोग कोई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करते हैं तब हम लोग कंप्यूटर की भाषा को बहुत आसानी से समझ पाएंगे आसान तरीके से कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से कोई website या फिर application बना सकते हैं और साथ ही में कंप्यूटर में आप लोग कोई भी प्रोग्राम Run कर पाएंगे।

कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बहुत से प्रकार का होता है और सभी प्रकार के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अलग-अलग uses होता है। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से हम लोग कंप्यूटर में कोडिंग के मदद से कोई प्रोग्राम बना सकते हैं। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का जो भासा होता है वो कोई सरल भाषा नहीं होता है।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के प्रकार – Types Of Programming Language In Hindi

हम लोगों को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भाषा को सीखने के लिए अलग से प्रशिक्षण लेना पड़ता है। दोस्तों आप लोग जानते ही होंगे कि हमारे पृथ्वी में सभी लोग अलग-अलग प्रकार का भाषा बोलते हैं वैसे ही कंप्यूटर में बहुत सारा प्रोग्रामिंग भाषा होता है आज हम लोग उनमें से ही कुछ भाषा के बारे में जानेंगे।दोस्तों तो चलिए कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के कुछ types के बारे में जानते हैं –

1. Machine Languages

तू दोस्तों कंप्यूटर में मशीन लैंग्वेज सीधा interpret किया जाता है। मशीन लैंग्वेज hardware के साथ interpret करता है।

2. Assembly Languages

दोस्तों कंप्यूटर में यह भाषा प्रोसेसर को प्रोग्राम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है यह एक बहुत ही निम्न मान का प्रोग्रामिंग भाषा है।

3. High-level Languages

दोस्तों यह सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मशीन इंडिपेंडेंट होते हैं। बहुत ही आधुनिक दौर का वेबसाइट या एप्लीकेशन बनाने के लिए इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है। ए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज user- friendly प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है।

4. System Languages

low level का task रन करने के लिए इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है।

दोस्तों वर्तमान समय में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का बहुत सारा भाग है। पर आज मैं आप लोगों को उनमें से ही कुछ महत्वपूर्ण प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में बताऊंगा। आज मैं आप लोगों को जो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में बताऊंगा वह सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ज्यादा इस्तेमाल होता है वर्तमान समय में तो चलिए जानते हैं क्या है वह सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज। दोस्तों अगर आप लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को अच्छे से सीख लेते हैं तब आप लोग बहुत ही कम समय में अच्छे कंपनी पर जॉब कर पाओगे।

दोस्तों अभी हम लोग जो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में जानेंगे वह सभी लैंग्वेज बहुत सारा इस्तेमाल होता है वर्तमान समय पर इन सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करके वेबसाइट एप्लीकेशन बनाया जाता है सिर्फ यही नहीं और भी बहुत सारे सॉफ्टवेयर से कनेक्ट होने वाली मशीन भी तैयार किया जाता है प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करके।

HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है और क्यों इसको इस्तेमाल किया जाता है ?

दोस्त html एक बहुत ही ख्याति मान प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है इस एप्लीकेशन का इस्तेमाल बच्चों से लेकर बड़े सभी करते हैं html का पूरा नाम है “हाइपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज” (hyper text mark up language)।

दोस्तों इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल लोग बहुत ज्यादा करते हैं क्योंकि इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को समझना बहुत ही आसान है इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर जितने भी प्रोग्रामिंग भाषा है वह जटिल ना होने के कारण सब लोग बहुत आसानी से समझ जाता है html भाषा को। दोस्तों आप लोग गूगल पर जब भी कोई वेबसाइट देखते हैं वह सभी वेबसाइट एचटीएमएल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सही बना हुआ रहता है।

html का इस्तेमाल होता है वेबसाइट बनाने के लिए अब आप कहेंगे कि वेबसाइट का किस चीज के लिए यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इस्तेमाल किया जाता है दोस्तों आप लोग देखते ही होंगे कि जब आप लोग कोई वेबसाइट खोलते हैं तब वहां पर बहुत सारा font आप लोगों को देखने को मिलता है उसी font का कलर साइज बड़ा या छोटा करने के लिए html प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल होता है।


अगर हम लोग साधारण भाषा में बोले तो एचटीएमएल को इस्तेमाल करके हम लोग वेबसाइट में “Text Formating” कर सकते। दोस्तों इस टीम की मदद से आप लोग एक वेब पेज को और एक वेब पेज के साथ हाइपरलिंक के माध्यम से जोड़ सकते हैं सिर्फ यही नहीं आप लोग html को इस्तेमाल करके और भी बहुत कुछ कर सकते हैं जैसे कि हो गया आप लोग टेबल बना सकते हैं और साथ में और भी बहुत कुछ कर सकते। इस टेबल पर बहुत सारा एडवांस कोड भी होता है जिनको इस्तेमाल करके आप लोग आपकी वेबसाइट को और भी बेहतर बना सकते हैं।

EXAMPLE HTML CODE

दोस्तो अभी मैं आप लोगों को जो कोर्ट बताऊंगा वह है html का स्ट्रक्चर कोड।

<!DOCTYPE html>

<html>

<body>

<h1>फ्यूचरट्रिक्स</h1>

<p>welcome to futuretricks.org</p>

</body>

</html>

दोस्तों मैंने ऊपर आप लोगों को जो HTML का कोड बताया उस HTML का वहां पर आप लोगों को <h1> करके एक पैक TAG देखने को मिलेगा। दोस्तों एचटीएमएल में उस एक का मतलब है HEADING एचटीएमएल पर हेडिंग छह प्रकार का होता है सबसे बड़ा जो हेडिंग होता है वह होता है यह <H1> और सबसे छोटा हेडिंग टैग होता है <h6> और बाकी टाइप होता है <h1><h2><h3><h4><h5><h6>।

CSS क्या है – What Is CSS Programming Language In Hindi

दोस्तों आप लोगों ने इस html के बारे में तो जान भी लिया होंगे अब हम लोग बात करते हैं CSS क्या है प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को लेकर तो दोस्तों यह भी एक बहुत ही इंपॉर्टेंट और ख्याति मान प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को भी लोग बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं

इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से आप लोग आपकी वेबसाइट को बहुत बेहतरीन दिखा सकते हैं एचटीएमएल के मदद से आप का वेबसाइट का स्ट्रक्चर तैयार कर सकते हैं और सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करके आप लोग आपकी वेबसाइट को डिजाइन कर सकते हैं और आपकी वेबसाइट को बहुत ही सुंदर दिखा सकते हैं।

दोस्तों सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप लोग बहुत ही आसानी से आपके कंप्यूटर में इस्तेमाल कर सकते हैं सीएसएस कोड को आप लोग आपके कंप्यूटर के application software notepad से edit कर सकते हैं।

सीएसएस कोडिंग के मदद से आप लोग आपके टेक्स्ट का या फिर कोई इमेज का साइज को बड़ा छोटा कर सकते हैं और उसके साथ कुछ एनिमेशन भी आपको सीएसएस के मदद से दे सकते हैं। दोस्तों सीएसएस की मदद से आप लोग आपकी वेबसाइट का कलर को भी चेंज कर सकते हैं और साथ में और भी बहुत कुछ कर पाएंगे आप लोग सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से।

दोस्तों सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एचटीएमएल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मुकाबले थोड़ा आसान है ।अगर आप लोग वेबसाइट बनाना चाहते हैं और आप ने वेबसाइट को देखने में सुंदर बनाना चाहते हैं तब आप लोगों को सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल जरूर करना होगा।

दोस्तों सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बहुत ही सरल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है अगर आप लोग कभी भी कोई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इस्तेमाल नहीं किया फिर भी आप लोग इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत ही कम समय में सीख सकते हैं।

दोस्तों सी एस एस का पूरा नाम है- CSS Full Form In Hindi – CASCADING STYLE SHEETS। अगर आप लोग सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत अच्छे से सीखते हैं तब आप लोगों को बहुत जल्दी काम मिलेगा क्योंकि सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का डिमांड बहुत ज्यादा है बाजार में।

CSS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से आपको आपका ब्लॉग या वेबसाइट का डिजाइन को बहुत अच्छा बना सकते हैं और साथ ही साथ आपके वेबसाइट को ऑप्टिमाइज भी कर सकते हैं। दोस्तों सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को तीन प्रकार से भाग किया जाता है जैसे कि हो गया।

  • 1. in-line style
  • 2. intenal/embed style
  • 3. external style

सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से आप लोग आप की वेबसाइट पर कलर को चेंज कर सकते हैं और साक्षी में आप लोगों के टेक्स्ट का जो डिजाइन है उसको भी आपलोग चेंज कर सकते हैं आपके मन मुताबिक ।

सीएसएस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का बहुत सारा वेरिएशन होता है जैसे कि हो गया :

  • 1. CSS 1
  • 2. CSS 2
  • 3. CSS 2.1
  • 4. CSS 3
  • 5. CSS 4

JavaScript प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है?

दोस्तों आप लोगों ने javascript के बारे में सुनाएं होंगे javascript एक बहुत ही अच्छा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है।इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करके आप लोग आपके वेबसाइट के स्पीड को बढ़ा सकते हैं और साथ ही में आप लोग आपके वेबसाइट पर बहुत फंक्शन ऐड कर सकते हैं।

सिर्फ यही नहीं और भी बहुत कुछ आप लोग कर सकते हैं javascript के मदद से जैसे कि हो गया एप्लीकेशन बनाने में भी इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल होता है आप लोग जब भी कोई वेबसाइट को खोलते हैं तब आप लोग वहां पर बहुत सारे फंक्शन देख पाते हैं वह सभी फंक्शन जावा स्क्रिप्ट प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के मदद से ही बनाया गया होता है।

javascript प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को कोई भी इस्तेमाल कर सकता है। दोस्तों अगर आप लोगों को लगता है कि javascript और java एक है तब आप लोग गलत है दोनों ही अलग-अलग प्रोग्रामिंग भाषा है। पर जावास्क्रिप्ट और जावा का काम लगभग एक ही है।

JavaScript के फ़ायदे और नुक़सान?

दोस्तों सभी चीज का एक सुविधा और असुविधा होता है वैसे ही जावास्क्रिप्ट का असुविधा और सुविधा है तो क्या है यह सुविधा और असुविधा वही जानेंगे हम लोग।

Advantages Of JavaScript In Hindi

1. Easy to Learn

दोस्तों javascript प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का भाषा बहुत ही सरल होता है आप लोग इस भाषा को किसी अन्य प्रोग्रामिंग भाषा के मुकाबले बहुत तेजी से याद रॉक सकते हैं।

2. Popularity

इस javascript प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से हम लोग बहुत कुछ कर सकते हैं इसी वजह से इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का चाहिता बहुत ज्यादा है और यह सब का पसंदीदा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी है अभी यह समय पर ज्यादातर लोग जावा स्क्रिप्ट प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करते है इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का demand भी बहुत ज्यादा है।

3. Speed

दोस्तों इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में क्लाइंट साइड जावास्क्रिप्ट बहुत तेजी से प्रोग्राम run करता है जो कि सही में बहुत अच्छा बात है।


Disadvantages Of Javascript In Hindi

दोस्तों javascript पर आप लोगों को ज्यादा असुविधा देखने को नहीं मिलता पर कुछ ऐसा असुविधा है जो कि आप लोगों को javascript पर देखने को मिलता है जैसे कि हो गया

1. Browser

दोस्तों सभी वेबसाइट पर जावास्क्रिप्ट सपोर्ट नहीं करता सिर्फ यही नहीं दोस्तों बहुत सारे ब्राउज़र पर जावास्क्रिप्ट सपोर्ट करता है फिर भी जावास्क्रिप्ट वहां पर enable नहीं रहता।

2. Security

दोस्तों javascript की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर आप लोगों को ज्यादा सिक्योरिटी देखने को नहीं मिलता है।

PYTHON PROGRAMMING LANGUAGE IN HINDI?

दोस्तों आप लोगों ने आज के बारे में सुनाएं होंगे एक बहुत ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है अभी के समय पर ज्यादातर लोग इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीख रहे हैं। दोस्तों यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करके आप लोग सिर्फ वेबसाइट या फिर एप्लीकेशन ही नहीं बना सकते हैं और भी बहुत कुछ आप लोग इस भीम लैंग्वेज से कर सकते हैं जैसे कि हो गया आप लोग रोबोट बना सकते हैं इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करके।

दोस्तों पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का एक बहुत ही अच्छा खासियत है कि अगर मान लीजिए आप लोगों कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं सीखें फिर भी आप लोग पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत ही आसानी से और कम समय में सीख सकते हैं क्योंकि पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का भाषण एकदम ही जटिल नहीं है।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल ज़्यादातर कौन करता है?

क्या आप लोग जानना चाहते हैं कि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सालासर कौन इस्तेमाल करते हैं तो दोस्तों ज्यादा कर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करते हैं game developer, web developer, programmers, software engineer, animation department, blogger, app developer.

इन सभी प्रोफेशन के लोगों ही सादा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करते हैं। सिर्फ यही नहीं जो लोग स्टूडेंट हैं वह लोग भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते हैं और इस्तेमाल भी करते हैं।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखेंं? – How to Learn Programming Language In Hindi

दोस्तों क्या आप लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते हैं तो दोस्तों आप लोग सीख सकते हैं। आज मैं आप लोगों को बताऊंगा कि आप लोग कैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीख सकते हैं तो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप लोग बहुत सारे तरीकों से सीख सकते हैं पर आज मैं इनमें से कुछ ऐसा तरीका के बारे में बताऊंगा कि जो तरीका आप लोगों को सच में प्रोग्रामिंग सीखने में बहुत मदद करेगा और कम समय में आप लोग प्रोग्रामिंग सीख पाएंगे।

दोस्तों अगर आप लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को अच्छे से सीख कर किसी कंपनी में काम करना चाहते हैं तब मैं आप लोगों को suggest करूंगा कि आप लोग कोई बेहतर इंस्टीट्यूट से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखिए अब आप कहेंगे कि कौन सा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहिए जिससे किसी कंपनी में अच्छा काम मिले तो मैं आप लोगों को कहूंगा कि आप लोग सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने का try करिए अगर आप लोग सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को अच्छे से सीख जाते हैं तब आप लोग बहुत बड़े-बड़े कंपनी में काम कर पाएंगे।

दोस्तों क्या आपके पास पैसा नहीं है और आप चाहते हैं प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखना तो दोस्तों आप लोग आपके मोबाइल को इस्तेमाल करके भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत आसान तरीकों से सीख सकते हैं प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए आप लोगों को एक एप्लीकेशन डाउनलोड करना होगा उस एप्लीकेशन का नाम है सोलो लाइनर। solo learner एप्लीकेशन पर आप लोगों को फ्री में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखाया जाता है अगर आप लोग इस एप्लीकेशन को रोजाना इस्तेमाल करते हैं और अच्छे से सीखते हैं तब आप लोग बहुत ही कम समय में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीख पाएंगे।

दोस्त और एक एप्लीकेशन आप लोग आपके मोबाइल पर रख सकते हैं। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए उस एप्लीकेशन का नाम है udemy आप लोग पहले भी इस एप्लीकेशन का नाम सुने होंगे यह एप्लीकेशन e learning एप्लीकेशन है इससे एप्लीकेशन से आप लोग सिर्फ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ही नहीं और भी बहुत कुछ सीख सकते हैं।

यहां पर आप लोगों को हाईली क्वालिफाइड प्रोग्रामस ही आप लोगों को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखाता है। udemy पर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के लिए आप लोगों को थोड़ा पैसा देना होता है पर आप लोगों को इस एप्लीकेशन की मदद से सर्टिफिकेट मिलता है और सर्टिफिकेट आप लोगों को जॉब पाने में मदद करता है।

YouTube Se Programming Language Kaise Sikhe?

दोस्तों और एक तरीका है प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को फ्री में सीखने का यूट्यूब का नाम तो आप लोग सुना ही होगा और यूट्यूब पर आप लोग रोजाना वीडियो देखते ही होंगे। दोस्तों आप लोग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को यूट्यूब से भी फ्री में सीख सकते हैं।

यूट्यूब पर आप लोगों को हजारों से लेकर करोड़ों तक वीडियो देखने को मिलेगा अगर आप लोग यूट्यूब पर रोजाना एक वीडियो देखते हो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को लेकर और उस वीडियो को अगर आपको अच्छे से देखकर प्रैक्टिस करते हो तब आप लोग बहुत ही कम समय में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिख सकोगे।

यूट्यूब से आप लोग कोई भी भाषा में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीख पाएंगे अगर आप लोगों को इंग्लिश भाषा अच्छे से नहीं आता तब आप लोग हिंदी में भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का वीडियो देखकर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीख सकते हो।

उम्मीद है की अब आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की आख़िर Programming Language क्या है? कैसे काम करता है? इसके फ़ायदे? कैसे सीख़े? All About Programming Language In Hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है – What Is Programming Language In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here