RTGS क्या होता है? कैसे काम करता है? फंड ट्रांसफर कैसे करे?


RTGS शब्द का इस्तेमाल बैंक मे सबसे ज्यादा होता है, मगर RTGS Kya Hai? और इसका इस्तेमाल कब किया जाता है इसे भी समझना जरूरी है, जिसके बारे मे नीचे बताया गया है। अगर आपके पास अपने बैंक की नेट बैंकिंग की आईडी और पासवर्ड है तो आप अपने स्मार्टफोन या फिर कंप्यूटर के जरिए ही आसानी से आरटीजीएस कर सकते हैं और कम से कम 2,00000 या फिर उससे अधिक के फंड का ट्रांसफर ऑनलाइन कर सकते हैं। वही आप ऑफलाइन RTGS करने के लिए अपने निकटतम बैंक की ब्रांच को भी विजिट कर सकते हैं। आजके इस पोस्ट में हम जनिंगे की RTGS क्या होता है? कैसे काम करता है? फंड ट्रांसफर कैसे करे?

RTGS क्या होता है? कैसे काम करता है? फंड ट्रांसफर कैसे करे?

आरटीजीएस की खासियत यह है कि इसके द्वारा फंड ट्रांसफर करने पर सामने वाले व्यक्ति को सिर्फ आधे घंटे के अंदर पैसे प्राप्त हो जाते हैं।


इसलिए आरटीजीएस करना कई लोगों ने चालू कर दिया है। आइए इस लेख में “RTGS क्या है” (RTGS Kya Hai) और ” RTGS का फुल फॉर्म क्या होता है” “RTGS कैसे काम करता है” इस विषय पर जानकारी हासिल करते हैं।

RTGS क्या होता है? (What is RTGS in Hindi)

आरटीजीएस एक ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम है जिसके माध्यम से बड़ी अमाउंट को ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन ट्रांसफर किया जा सकता है। आरटीजीएस इंस्टिट्यूट की शुरुवात लोगों को सेवा देने के लिए की गई थी। यह सिस्टम रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की देखरेख में कार्य करता है।

आरटीजीएस की सेवाएं ऐसे लोगों को दी गई है जो एक साथ भारी मात्रा में फंड ट्रांसफर करना चाहते हैं, वह भी काफी कम समय में।

आरटीजीएस के द्वारा कस्टमर अपने बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकता है। आरटीजीएस के द्वारा कम से कम ₹200000 और अधिक से अधिक पैसे भेजने की कोई भी लिमिट नहीं है। इसका संचालन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा किया जाता है। इसलिए आरटीजीएस पर पूर्ण रुप से विश्वास किया जा सकता है। इसके द्वारा भेजे गए पैसे सिर्फ आधे घंटे के अंदर ही सामने वाले व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पहुंच जाते हैं।

RTGS Full Form In Hindi

Rtgs का संक्षिप्त नाम Real Time Gross Settlement होता है। यह भुगतान प्रणाली का वह माध्यम है जिसके द्वारा आप आधे घंटे से भी कम समय में बिना किसी परेशानी का सामना किए हुए अपने बैंक अकाउंट से किसी दूसरे व्यक्ति के बैंक अकाउंट में ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

 RTGS के द्वारा ऑनलाइन पैसे भेजने के साथ ही साथ आप ऑफलाइन भी पैसों का ट्रांसफर कर सकते हैं। आरटीजीएस की वजह से लोगों को पैसे भेजने के लिए ज्यादा प्रॉब्लम का सामना नहीं करना पड़ता है और ना ही उन्हें किसी बैंक में जाकर के लंबी लाइन लगानी पड़ती है, क्योंकि अधिकतर बैंकों द्वारा आरटीजीएस की सेवाएं अपने ग्राहकों को दी जाती है। 


हालांकि इसके बारे में एक रोचक बात यह भी है कि जब अधिक पैसे भेजने होते हैं तभी आरटीजीएस का इस्तेमाल किया जाता है।

आरटीजीएस के द्वारा कम से कम ₹2,00000 या इससे अधिक पैसों का आदान-प्रदान आसानी के साथ किया जा सकता है। इसीलिए बड़े बड़े कारोबारियों के द्वारा जब एक साथ बड़ी पेमेंट की जाती है तो उसके लिए आरटीजीएस का ही इस्तेमाल किया जाता है।


RTGS कैसे करे?

ऊपर हमने आपको बताया कि आरटीजीएस आप ऑफलाइन भी कर सकते हैं और ऑनलाइन भी कर सकते हैं। आइए नीचे आरटीजीएस करने का ऑफलाइन और ऑनलाइन तरीका आपको बताते हैं।

1: ऑनलाइन RTGS से भुगतान करने का तरीका

इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा आप आसानी से घर बैठे ऑनलाइन अपने डिवाइस की सहायता से आरटीजीएस कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने बैंक की इंटरनेट बैंकिंग में लॉगइन करना है और उसके पश्चात आपको आरटीजीएस का ऑप्शन ढूंढ कर के उसके ऊपर क्लिक करना है। 

इसके बाद आपको पैसे की पेमेंट करने के लिए बेनेफिसियारी (खाता धारक) की डिटेल्स को भरना है, जिसमें उसका अकाउंट नंबर, कस्टमर का नाम,आईएफएससी कोड यह सभी जानकारियां आएंगी।

सभी जानकारियों को भरने के बाद आपको बेनेफिशरी कस्टमर को ऐड कर देना है। उसके पश्चात आपको निर्धारित जगह में जितने पैसे भरने हैं उतने पैसे डाल करके सबमिट वाली बटन पर क्लिक कर देना है और पासवर्ड को डाल देना है। ऐसा करने पर आरटीजीएस ऑनलाइन हो जाएगा।

2: ऑफलाइन Offline करने का तरीका

अगर आप ऑफलाइन आरटीजीएस करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको उस बैंक में जाना है जिस बैंक में आपका अकाउंट है। बैंक में जाने के बाद आपको बैंक के कर्मचारियों से आरटीजीएस फॉर्म हासिल करना है। 

आरटीजीएस फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उस फार्म के अंदर मांगी गई सभी जानकारियों को भरना है अर्थात जिस व्यक्ति को आप पैसे भेजना चाहते हैं उसकी जानकारियों को डालना है, साथ ही आपको यह भी डालना है कि आप कितने पैसे सामने वाले व्यक्ति को ट्रांसफर करना चाहते हैं।

इसके बाद आपको फॉर्म को बैंक के अधिकारी को जमा कर देना है। फॉर्म जमा करने के बाद बैंक वर्कर के द्वारा फार्म के अंदर भरी गई जानकारियों को सेंट्रल प्रोसेसिंग सिस्टम में शामिल कर दिया जाएगा। इसके बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को वह जानकारी भेज दी जाएगी और उसके बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ट्रांजैक्शन की प्रोसेस को कंपलीट करेगा और सामने वाले व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए जाएंगे।

RTGS करने का सही समय?

आरटीजीएस करने का सबसे बढ़िया समय सोमवार से लेकर के शुक्रवार तक सुबह 10:00 बजे से लेकर के दोपहर 4:30 बजे तक का माना जाता है, वहीं शनिवार को सुबह 10:00 बजे से लेकर के दोपहर 2:00 बजे तक आप आरटीजीएस की प्रोसेस को पूरा कर सकते हैं। सामान्य तौर पर आरटीजीएस सार्वजनिक और बैंक हॉलिडे पर पूरा नहीं होता है। इसके लिए इसके अगले दिन जब बैंक ओपन हो तो आप आरटीजीएस कर सकते हैं या फिर इन दिनों के पहले भी आप आरटीजीएस कर सकते हैं।

RTGS करने की फीस?

जब किसी व्यक्ति के द्वारा आरटीजीएस के जरिए पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं तो बैंक इसके पीछे कुछ चार्ज भी काटती है, जो इस प्रकार है।

  • ₹200000 से लेकर ₹500000 तक अगर आरटीजीएस के द्वारा भेजे जाते हैं तो बैंक इसके पीछे हर ट्रांजैक्शन पर ₹30 काटता है।
  • ₹500000 या उससे अधिक पैसे ट्रांसफर करने पर बैंक ₹55 हर ट्रांजैक्शन के लिए काटता है।

RTGS करने के फायदे?

नीचे जानिए आरटीजीएस करने के कौन-कौन से फायदे है।

  • आरटीजीएस के द्वारा आप रियल टाइम में फंड ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • आरटीजीएस स्ट्रांग सिक्योरिटी व्यवस्था प्रदान करता है। अतः इसके जरिए पैसे भेजने पर आपको धोखाधड़ी का शिकार नहीं होना पड़ता है।
  • रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा आरटीजीएस के सिस्टम को संचालित किया जाता है। इसलिए इस पर पूर्ण रुप से विश्वास किया जा सकता है।
  • आरटीजीएस के द्वारा जो पैसे भेजे जाते हैं, वह सिर्फ आधे घंटे के अंदर ही सामने वाले व्यक्ति तक पहुंच जाते हैं।
  • आरटीजीएस की सुविधा ऑफलाइन भी उपलब्ध करवाई गई है, साथ ही ऑनलाइन भी उपलब्ध करवाई गई है।
  • अपने इंटरनेट बैंकिंग आईडी की सहायता से आप ऑनलाइन अपने डिवाइस से आरटीजीएस कर सकते हैं।

RTGS से पैसे ट्रांसफर करने की लिमीट?

किसी व्यक्ति के द्वारा अगर रोजाना बड़ी पेमेंट की ट्रांसफरिंग की जा रही है तो उसे आरटीजीएस की आवश्यकता होती है और देखा जाए तो जो बिजनेसमैन होते हैं उनके द्वारा सबसे ज्यादा आरटीजीएस का इस्तेमाल किया जाता है।

क्योंकि बिजनेस से संबंधित ट्रांजैक्शन के लिए उन्हें दिन में कई बार बड़ी पेमेंट करनी होती है और ऐसी बड़ी पेमेंट को करने के लिए आरटीजीएस का इस्तेमाल किया जाता है परंतु यह सिर्फ बिजनेसमैन तक ही लिमिटेड नहीं है बल्कि सामान्य इन्वेस्टर और लोग भी आरटीजीएस का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर कभी किसी व्यक्ति को अपने अकाउंट से दूसरे अकाउंट में या फिर अपने अकाउंट से दूसरे किसी व्यक्ति के अकाउंट में ₹200000 या फिर उससे अधिक भेजने हैं तो इसके लिए आरटीजीएस का इस्तेमाल करना पड़ेगा। आप चाहे तो आरटीजीएस का इस्तेमाल म्युचुअल फंड में पैसे लगाने के लिए भी कर सकते हैं।

RTGS से ऑनलाइन लेनदेन कैसे करते हैं?

आरटीजीएस करने के लिए आपके बैंक अकाउंट में इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा चालू होनी चाहिए। उसके पश्चात आप इंटरनेट बैंकिंग में लॉगिन करें और नीचे दिए हुए स्टेप्स को फॉलो करें।

1: इंटरनेट बैंकिंग में लॉगिन हो जाने के पश्चात आपको फंड ट्रांसफर वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

RTGS Banking

2. अब आपको आरटीजीएस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करना है।
3: अब आपको ऐड बेनेफिशरी वाले ऑप्शन का इस्तेमाल करना है और आप जिस व्यक्ति को पैसे भेजना चाहते हैं उस व्यक्ति के बैंक अकाउंट की जानकारियों को भरना है। जैसे कि अकाउंट नंबर, होल्डर नेम, आईएफएससी कोड। जानकारियों को भरने के बाद एड बेनिफिशियरी ऑप्शन को दबाए।
4: अब आपको तकरीबन आधे घंटे तक इंतजार करना है क्योंकि आधे घंटे में आपने जिस बेनेफिशरी को ऐड किया है वह ऐड हो जाएगा।
5: जब बेनेफिशरी का अकाउंट आपके अकाउंट में ऐड हो जाए तो उसके पश्चात आपको फंड ट्रांसफर पर जाकर के आरटीजीएस का सिलेक्शन करना है और शामिल किए गए बेनिफिशियरी के नाम के ऊपर क्लिक करना है।
6: अब आप जितने पैसे भेजना चाहते हैं उतने पैसे आपको निर्धारित जगह में डालना है और उसके पश्चात आपको सेंड वाली बटन पर क्लिक कर देना है।

RTGS ट्रांजेक्शन के लिए आवश्यकताएं

आरटीजीएस के द्वारा पैसे भेजने के लिए आपको कुछ आवश्यकताओं को भी पूरा करना पड़ता है तभी आप पैसे भेज सकेंगे। नीचे उन जानकारियों के बारे में बताया गया है जिसकी आवश्यकता आपको पड़ेगी।

  • भेजे जाने वाले पैसे
  • लाभार्थी के बैंक का नाम और शाखा का नाम
  • IFSC कोड
  • लाभार्थी ग्राहक का नाम
  • लाभार्थी ग्राहक का अकाउंट नंबर

बता दें कि अगर आपको आरटीजीएस की सेवाओं से संबंधित किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम का सामना करना पड़ रहा है तो आप अपनी बैंक की ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं।

FAQ: 

आरटीजीएस का मतलब क्या होता है?

रियल टाइम ग्रॉस सेटेलमेंट

आरटीजीएस द्वारा कितना पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं?

कम से कम दो लाख, अधिक की कोई लिमिट नहीं है

आरटीजीएस ट्रांसफर में कितना समय लगता है?

30 मिनट

क्या आरटीजीएस पेमेंट को कैंसिल कर सकते हैं?

नहीं

क्या आरटीजीएस के द्वारा हम अपने एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे भेज सकते हैं?

जी हां

इस लेख मे हमने आपको RTGS क्या होता है? कैसे काम करता है? फंड ट्रांसफर कैसे करे? के बारे मे विस्तार से बताया है। जिससे आप इसका बैंक मे इस्तेमाल और इसके कुछ बेहतरीन features के बारे मे भी समझ पाए होंगे।

Hope अब आपको RTGS Kya Hai समझ आ गया होगा, और आप जान गये होगे की RTGS क्या होता है? कैसे काम करता है? फंड ट्रांसफर कैसे करे?


अगर आपके पास कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हो. और अगर आपको यह पोस्ट हेल्पफुल लगा हो तो इसको सोशल मीडिया पर अपने अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here