SD Card क्या है? What is Memory Card in Hindi


वर्तमान के समय में स्मार्टफोन अधिकतर लोगों के पास उपलब्ध हो गया है क्योंकि स्मार्टफोन अब लोगों की जरूरत बन चुका है। स्मार्टफोन खरीद लेने के बाद अक्सर लोग स्मार्ट फोन में स्टोरेज कैपेसिटी को बढ़ाने के लिए मेमोरी कार्ड भी खरीदते हैं। ऐसा करके वह स्मार्ट फोन की स्टोरेज कैपेसिटी को इनक्रीस करते हैं। दोस्तों आजके इस पोस्ट में हम जानिंगे की SD Card क्या है? What is Memory Card in Hindi?

SD Card क्या है? What is Memory Card in Hindi

मेमोरी कार्ड के जरिए स्मार्ट फोन की स्टोरेज कैपेसिटी तो बढ़ती ही है, साथ ही हम आसानी से अपने मेमोरी कार्ड में मौजूद ऑडियो, वीडियो, फोटो या फिर किसी भी डॉक्यूमेंट को लैपटॉप या फिर कंप्यूटर में ट्रांसफर भी कर सकते हैं।


आप तो यह जानते ही होंगे कि मार्केट में अलग अलग ब्रांड के मेमोरी कार्ड यानी कि एसडी कार्ड मौजूद है जिसकी वजह से अपने स्मार्टफोन के लिए हमें एसडी कार्ड का सिलेक्शन करने में काफी मुश्किल होती है परंतु फिर भी हम किसी ना किसी प्रकार से अपने स्मार्टफोन के लिए बेस्ट मेमोरी कार्ड का चयन कर ही लेते हैं।

मेमोरी कार्ड इस्तेमाल करने के कुछ फायदे भी हैं तो कुछ नुकसान भी है। इसलिए अधिकतर लोगों को “मेमोरी कार्ड क्या है” इसके बारे में जानकारी हासिल करनी चाहिए। इसलिए आपके समक्ष हमने “SD Card क्या है?” और “मेमोरी कार्ड कैसे काम करता है” साथ ही इसके फायदे और नुकसान क्या है इसकी इंफॉर्मेशन प्रस्तुत की है।

SD Card क्या है?

SD CARD का संक्षिप्त नाम SECURE DIGITAL CARD होता है। इस कार्ड को सामान्य तौर पर अधिकतर लोग मेमोरी कार्ड के नाम से ही जानते हैं जिसमें हम अपने डाटा को स्टोर करके रखते हैं। एसडी कार्ड एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक स्टोरेज डिवाइस होता है और इसका आकार बहुत ही छोटा है।

हालांकि आकार छोटा होने के बावजूद भी इसमें भारी मात्रा में डाटा को स्टोर करके रखा जा सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एसडी कार्ड यानी की मेमोरी कार्ड का मुख्य तौर पर इस्तेमाल पोर्टेबल डिवाइस में होता है और इसे विशेष तौर पर पोर्टेबल डिवाइस के लिए ही तैयार किया गया है।

यह एक नॉन वोलेटाइल मेमोरी कार्ड होता है। एसडी कार्ड के अंदर हम ऑडियो, वीडियो, फोटो, फाइल और डॉक्यूमेंट को स्टोर करके रख सकते हैं और हम जब चाहे अपने स्मार्टफोन से एसडी कार्ड को निकाल कर के किसी भी दूसरे स्मार्टफोन या फिर ऐसे फीचर फोन में इसे डाल सकते हैं जो फीचर फोन एसडी कार्ड को सपोर्ट करता है और उसमें मेमोरी कार्ड में उपलब्ध सभी डाटा को एक्सेस कर सकते हैं।

आप अपने मेमोरी कार्ड में मौजूद डाटा को एक स्मार्टफोन से दूसरे स्मार्टफोन में डाटा शेयरिंग एप्लीकेशन या फिर ब्लूटूथ के जरिए ट्रांसफर भी कर सकते हैं। कभी कबार एसडी कार्ड एरर हो जाता है जिसे आप कंप्यूटर से घर बैठे ही ठीक कर सकते हैं और अगर आपसे मेमोरी कार्ड में आया हुआ एरर ठीक नहीं होता है तो आप मोबाइल रिपेयरिंग दुकान पर जा करके इस एरर को ठीक करवा सकते हैं।

यह भी पढ़े: नेटवर्क क्या है और इसके प्रकार – What Is Network In Hindi

मेमोरी कार्ड का अविष्कार कब हुआ?

1990 में पहली बार मेमोरी कार्ड को बनाया गया था। इस साल एसडी कार्ड के अलग-अलग साइज के मेमोरी कार्ड मार्केट में आए थे जिसमें कांटेक्ट फ्लैश, स्मार्ट मीडिया और MINI-CARD शामिल थे और साल 1990 से लेकर के 2000 के बीच में विभिन्न प्रकार के नए-नए मेमोरी कार्ड भी अस्तित्व में आए जिसमें मेमोरी स्टिक,XD PICTURE जैसे कार्ड मुख्य थे।

आज के समय में अगर कंप्यूटर और लैपटॉप या फिर स्मार्टफोन के बारे में बात करें तो उसमें मेमोरी कार्ड को डालने के लिए एक SLOT बनाया गया होता है जिसमें आप मेमोरी कार्ड डाल कर के उसे एक्सेस कर सकते हैं। कुछ ऐसे भी डिवाइस होते हैं जिसमें एक नहीं बल्कि दो-दो मेमोरी कार्ड डालने के स्लॉट बने हुए होते हैं। खासतौर पर 2 SLOT चाइना स्मार्टफोन या फिर चाइना के फीचर फोन में अधिक आते हैं।

बता दे कि अगर आपका कंप्यूटर मेमोरी कार्ड से लैस है तो आप कंप्यूटर में मेमोरी कार्ड को डाल सकते हैं और फिर डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं परंतु अगर आपके कंप्यूटर में मेमोरी कार्ड डालने का SLOT नहीं है तो आपको डाटा ट्रांसफर करने के लिए यूएसबी रीडर या फिर कंप्यूटर के एडाप्टर का यूज करना पड़ेगा। उम्मीद है की अब आप जान गये होगे की आख़िर SD Card क्या है? चलिए अब देखते हैं की आख़िर SD Card or Memory Card कैसे काम करता है?

मेमोरी कार्ड कैसे काम करता है?

जैसा कि हमने आपको ऊपर इस बात की जानकारी दी कि एसडी कार्ड के अंदर जो डाटा होता है, वह डिजिटल फॉर्मेट के तौर पर स्टोर होता है और एसडी कार्ड के अंदर SOLID-STATE चिप में विभिन्न टाइप के छोटे-छोटे इलेक्ट्रिकल सर्किट लगे हुए होते हैं।

जब एसडी कार्ड का इस्तेमाल हम नहीं करते हैं तो सर्किट बिना किसी एक्स्ट्रा पावर के अपने चार्ज को मेंटेन करके रखता है और जब हम मेमोरी कार्ड को किसी एक्टिव डिवाइस जैसे कि कैमरा/स्मार्टफोन में लगाते हैं तो डिवाइस के जरिए एक छोटा सा इलेक्ट्रॉनिक करंट फ्लैश मेमोरी में इलेक्ट्रॉन के पास पहुंच जाता है। इस प्रकार से हमारे मेमोरी कार्ड काम करता है।

मेमोरी कार्ड के प्रकार क्या है?

आपको हम बता दें कि मेमोरी कार्ड को उनके फिजिकल साइज, स्टोरेज कैपेसिटी और स्पीड के आधार पर अलग-अलग पार्ट में डिवाइड किया गया है। इसकी जानकारी हम आपको नीचे प्रोवाइड करवा रहे हैं।

फिजिकल साइज

फिजिकल साइज के अंतर्गत मेमोरी कार्ड टोटल 3 टाइप के होते हैं जो नीचे बताए अनुसार हैं।

1: STANDARD

फिजिकल साइज की बात की जाए तो स्टैंडर्ड मेमोरी कार्ड बड़े हैं परंतु यह दूसरे मेमोरी कार्ड से थोड़े से छोटे हैं। इनका माप 32×24×2.1 मिमी होता है और इनका टोटल वजन तकरीबन 2 ग्राम के आसपास होता है और अधिकतर ऐसे मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल डिजिटल कैमरे में होता है। इनके स्टोरेज कैपेसिटी की बात करें तो इनकी स्टोरेज कैपेसिटी 128MB से लेकर के 4GB तक की होती है।

2: MINI

साल 2003 में स्टैंडर्ड मेमोरी कार्ड से छोटे मिनी एसडी कार्ड को लॉन्च किया गया था जिसका माप 21.5×20×1.4‌ मिमी है और इसका टोटल वजन 0.8 ग्राम ग्राम है। मिनी मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल वीडियो, म्यूजिक, डिफरेंट टाइप की फाइल और सॉफ्टवेयर को स्टोर करने के लिए होता है।

3: MICRO

साल 2005 में लांच हुए माइक्रो एसडी कार्ड को सबसे छोटा मेमोरी कार्ड कहां जाता है, जिसका माप 11×15×1 मिमी होता है और इसका वजन टोटल आधे ग्राम के आसपास में होता है। इंसानों के 1 नाखून का जितना आकार होता है, उतना ही साइज माइक्रो एसडी कार्ड का होता है, जिसका इस्तेमाल डाटा को स्टोर करने के लिए होता है और इसे स्पेशल तौर पर स्मार्टफोन के लिए डिजाइन किया गया है।

स्टोरेज कैपेसिटी

बता दें कि मेमोरी कार्ड के स्टोरेज कैपेसिटी के आधार पर कई प्रकार होते हैं जिसकी डीटेल्स नीचे मेंशन की गई है।

1: SDSC MEMORY CARD

इसका पूरा नाम सिक्योर डिजिटल स्टैंडर्ड कैपेसिटी होता है जोकि एसडी कार्ड का बेसिक फॉर्मेट होता है और इसका माप 32×24×2.1 मिमी होता है तथा इसका वजन टोटल 2 ग्राम के आसपास होता है और इसकी स्टोरेज कैपेसिटी 128MB से लेकर के 4GB तक होती है।

2: SDHC MEMORY CARD

इस का फुल फॉर्म सिक्योर डिजिटल हाई कैपेसिटी होता है जिसकी स्टोरेज कैपेसिटी 4GB से लेकर के 32GB के आसपास में होती है और इस प्रकार के मेमोरी कार्ड में उन मेमोरी कार्ड से स्टोरेज करने की कैपेसिटी ज्यादा होती है जिन मेमोरी कार्ड की गिनती नॉर्मल मेमोरी कार्ड में होती है।

3: SDXC MEMORY CARD

इसकी स्टोरेज कैपेसिटी 64GB से चालू होती है और अधिकतम स्टोरेज कैपेसिटी दो टीवी तक जाती है। इसका पूरा नाम सिक्योर डिजिटल एक्सटेंडेड कैपेसिटी होता है जिसकी स्टोरेज कैपेसिटी ऊपर बताए गए दो मेमोरी कार्ड से अधिक होती है।

4: SDUC MEMORY CARD

इसकी स्टोरेज कैपेसिटी दो टीबी से चालू होती है और अधिकतम 128 टीबी तक जाती है। इसका पूरा नाम सिक्योर डिजिटल अल्ट्रा कैपेसिटी है जो कि एक नए प्रकार का मेमोरी कार्ड है जिसे साल 2018 में लांच किया गया है।

मेमोरी कार्ड के लाभ क्या है?

मेमोरी कार्ड यानी कि एसडी कार्ड के कई एडवांटेज हमें प्राप्त होते हैं जिनके बारे में हर व्यक्ति को जानना अति आवश्यक है। इसलिए नीचे हमने आपके समक्ष मेमोरी कार्ड इस्तेमाल करने के फायदे अथवा एसडी कार्ड के एडवांटेज की जानकारी प्रदान की हुई है।

1: स्टोरेज में वृद्धि

जब हम कोई नया अथवा पुराना स्मार्टफोन खरीदते हैं, तब हमें उसमें एक लिमिटेड स्टोरेज कैपेसिटी ही प्राप्त होती है जिसकी वजह से जब हम उसमें डाटा को स्टोर करते हैं और जब स्मार्ट फोन की स्टोरेज कैपेसिटी फुल हो जाती है, तो हमें मजबूरन दूसरे डाटा को स्टोर करने के लिए पहले से ही मौजूद डाटा को मिटाना पड़ता है।

अथवा डाटा स्टोरेज फुल हो जाने के कारण हम दूसरे डाटा को स्मार्ट फोन में स्टोर नहीं कर पाते हैं। इसलिए मेमोरी कार्ड लगा के हम एक्स्ट्रा डाटा को स्मार्टफोन में सेव कर सकते हैं और इसके जरिए अपने स्मार्टफोन की स्टोरेज कैपेसिटी को इनक्रीस कर सकते हैं और जब चाहे मेमोरी कार्ड की फाइल को अपने स्मार्टफोन में एक्सेस कर सकते हैं।

2: कम कीमत 

जो लोग कम स्टोरेज वाले स्मार्टफोन को खरीदते हैं उन्हें अक्सर अपने स्टोरेज को बढ़ाने की आवश्यकता पड़ती है। ऐसे में वह चाहे तो कोई भी मेमोरी कार्ड खरीद सकते हैं। कम स्टोरेज वाले स्मार्टफोन में 2 जीबी का मेमोरी कार्ड भी आप लगा सकते हैं जिसकी कीमत मार्केट में इस समय ₹150 से लेकर के ₹180 के आसपास में है जो कि काफी कम ही है।

3: फोन मेमोरी की खपत कम करें

अपने स्मार्टफोन में मेमोरी कार्ड लगा देने के बाद आप फोन के इंटरनल स्टोरेज में जो डॉक्यूमेंट होते हैं जैसे की ऑडियो, मूवी, म्यूजिक, फोटो इत्यादि उन्हें इंटरनल मेमोरी से एसडी कार्ड में ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ फोन ऐसे भी हैं जो एप्लीकेशन को भी मेमोरी कार्ड में ट्रांसफर करने की सर्विस देते हैं। इस प्रकार आप यह सभी चीजें करके अपने स्मार्टफोन की इंटरनल मेमोरी की खपत को घटा सकते हैं।

4: पोर्टेबल

ऊपर ही हमने आपको यह बताया कि मेमोरी कार्ड का आकार छोटा होता है। इसलिए यह एक पोर्टेबल चीज है जिसे आप अपने साथ लेकर के कहीं भी जा सकते हैं। यह आपकी पॉकेट में भी आ सकती है या फिर आप इसे स्मार्ट फोन के बैक कवर के पीछे भी लगा सकते हैं।

5: कम इलेक्ट्रिसिटी की खपत 

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए हम यह भी बता दें कि एसडी कार्ड को इलेक्ट्रिसिटी की जरूरत बहुत ही कम होती है। इसीलिए इसका इस्तेमाल अगर आप करते हैं तो आपका स्मार्टफोन अधिक बिजली की बर्बादी नहीं करेगा।

6: पर्सनल कंप्यूटर में भी कार्य करता है।

मेमोरी कार्ड को पर्सनल कंप्यूटर में भी चलाना बहुत ही आसान है। इसके लिए आपको सबसे पहले एक कार्ड रीडर खरीद के लाना है और उसमें मेमोरी कार्ड को लगा करके आपको कार्ड रीडर को अपने पर्सनल कंप्यूटर के यूएसबी पोर्ट में लगा देना है। कुछ कंप्यूटर या फिर लैपटॉप ऐसे भी होते है, जिसमें एसडी कार्ड लगाने के लिए SLOT दिया जाता है। ऐसे में आप बिना कार्ड रीडर के डायरेक्ट मेमोरी कार्ड लगा सकते हैं।


मेमोरी कार्ड के नुकसान क्या है?

अगर मेमोरी कार्ड इस्तेमाल करने के कुछ फायदे हैं तो इसके कुछ साइड इफेक्ट ‌यानी की डिसएडवांटेज भी देखे जाते हैं, जिसकी जानकारी नीचे प्रस्तुत की गई है।

मेमोरी कार्ड की साइज काफी पतली होती है। इसलिए यह आसानी से टूट जाता है।

दुनियाभर में मेमोरी कार्ड के अलग-अलग ब्रांड है। इसलिए अगर आप सस्ते मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल खरीद करके करते हैं तो हो सकता है कि आपके स्मार्टफोन में कुछ दिक्कत आ जाए अथवा आपका मेमोरी कार्ड एरर हो जाए।

मेमोरी कार्ड को लगाते समय आपको मेमोरी कार्ड स्लॉट का विशेष ध्यान रखना है। अगर उसकी एक भी टीली टूट गई तो मेमोरी कार्ड स्लॉट खराब हो जाएगा।

“मेमोरी कार्ड क्या है” और “मेमोरी कार्ड कैसे काम करता है” इस आर्टिकल के जरिए आपने इस बात की इंफॉर्मेशन प्राप्त की, साथ ही आपने आर्टिकल में यह भी पढ़ा की “मेमोरी कार्ड के फायदे क्या हैं” और “मेमोरी कार्ड के नुकसान क्या है”। अगर आपको आर्टिकल से संबंधित कोई भी सवाल पूछना है तो आप अपना सवाल कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं। हम जल्द से जल्द आपको रिप्लाई देने का प्रयास करेंगे।

उम्मीद है की अब आप जान गये होगे की SD Card क्या है? What is Memory Card in Hindi? और इसके प्रकार? उपयोग, फ़ायदे? Memory Card किसे कहेते हैं?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको SD Card क्या है? What is Memory Card in Hindi! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।



अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here