SEO क्या है और कैसे करे – What Is SEO In Hindi

3

SEO kya hai in hindi? अगर आप एक Blogger, Website Owner, Digital Marketer हो या फिर कोई online buisness करते हो तो अपने SEO के बारे में तो ज़रूर सुना होगा। और अगर आप एक beginner हो और SEO के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की SEO क्या है? backlink क्या है? seo के प्रकार? कैसे करे? क्यू ज़रूरी है? फ़ायदे & all about seo in hindi?

दोस्तों आज इन्टरनेट लोगों को आपस में जोड़ने का लोकप्रिय जरिया बन चुका है! जिसमें website लाखों लोगों तक अपने विचारों, ज्ञान को पहुचाने का सबसे बेहतर माध्यम बन चुकी है!


इसलिए वर्ष 2019 जनवरी में की गयी रिसर्च के मुताबिक़ इन्टरनेट पर 1 बिलियन website उपलब्ध हैं! और रोजाना लाखों नये blogs इस संख्या में जुड़ते जा रहे हैं! और आपका ब्लॉग/website भी उनमें से एक होगी!

क्योंकि आप seo के बारे में जानना चाहते हैं (SEO क्या है?) तभी आप इस लेख को पढ़ रहे हैं! जी हाँ! आप बिलकुल सही लेख पढ़ रहे हैं क्योंकि आज के इस लेख में हम जानेंगे की seo क्या होता है? seo के कितने प्रकार हैं? आप अपनी साइट के लिए seo कैसे कर सकते हैं!

जिसे जानने के बाद भली-भांति यह भी समझ जायेंगे की आपकी साईट के लिए seo क्यों जरुरी है! अतः चलिए दोस्तों सबसे पहले जानते हैं की SEO क्या है – What Is SEO In Hindi?

यह भी पढ़े: वर्डप्रेस क्या है? – What Is WordPress In Hindi

SEO क्या है – What Is SEO In Hindi

SEO अर्थात search engine optimization SEO एक प्रक्रिया होती है जो किसी वेबसाइट को तथा web pages को सर्च इंजन के first page पर ranking पाने में मदद करती है! seo किसी वेबसाइट में organinc results के जरिये अधिक ट्रैफिक पाने के साथ-साथ क्वालिटी ट्रैफिक को increase (बढ़ाने) करने में मदद करता है।

दोस्तों हमने Seo से संबंधित terms को निम्न चीजों में बांटा है जिसके जरिये नए यूज़र्स seo को बेहतर तरीके से समझ पाएंगे!

Organic Result

बिना ads (विज्ञापन) चलाये बगैर यदि कोई user सर्च इंजन की सहायता से आपकी वेबसाइट पर आता है तो यह organic ट्रैफिक कहलाता है!

उदाहरण के लिए आप की वेबसाइट mobile reviews पर कार्य करती है! अब यदि कोई user गूगल पर सर्च करता है MOBILE REVIEWS तो यदि आपने अपने web page का SEO किया होगा! तो शायद आपकी वेबसाइट गूगल के first page पर आ जाए!

और यदि यूजर को आपकी वेबसाइट पहले page पर दिखाई देती है और वह उस वेबसाइट पर क्लिक करता है तो यह एक organic traffic कहलायेगा इस साइट के लिए।

Quality Traffic

seo क्वालिटी ट्रैफिक पाने में आपकी काफी मदद करता है क्योंकि क्वालिटी ट्रैफिक से मेरा मतलब है कि जिस प्रोडक्ट या सर्विस को आप लोगों को offer कर रहे हैं उस जानकारी को पाने के लिए ही visitor आपकी साइट पर आए।

Quantity Of Traffic

एक बार आपकी साइट में web page सर्च इंजन के फर्स्ट पेज पर show होती है तो आपकी साइट पर visitors की संख्या बढ़ जाती है।

अतः संक्षेप में कहें तो seo आपकी वेबसाइट के लिए quality ट्राफिक, organic ट्रेफिक तथा high ट्रैफिक पाने में सहायता करता है! और आप समझ सकते हैं जिस साइट में यह तीनों चीजें हो तो इंटरनेट की दुनिया में उस वेबसाइट को प्रसिद्ध वेबसाइट भी कहा जाता है। क्योंकि यह वेबसाइट लाखों लोगों तक पहुंचने में सक्षम होती है!

तो दोस्तों इस प्रकार आप समझ चुके होंगे कि SEO क्या है – What Is SEO In Hindi? और यह आपकी वेबसाइट के लिए किस तरह सहायक हो सकता है! अब हम जानते हैं की SEO कैसे करें?

SEO कैसे करें? 

यदि आप अपनी वेबसाइट में seo करना चाहते हैं तो पहले आपको seo को समझना होगा की कैसे seo को आप अपनी site में कर सकते हैं!

seo मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं;

  • on page seo
  • off page seo

इसके अलावा keyword Research, technical seo और भी बहुत सी चीज़ें होती है, जिनके बारे में हम नीचे जानिंगे;

On Page SEO

इसे on site seo भी कहा जाता है! ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसे वेबसाइट के अंदर किया जाता है! सवाल आता है on page seo कैसे करें? यह जानने से पूर्व seo क्यों जरूरी होता है यह जानना जरूरी है!

  • on page seo सर्च इंजन तथा विजिटर्स को बताता है कि आप का यह web page किस विषय पर है!
  • on page seo page की relevancy (प्रासंगिकता) को जानने में सहायक होता है।
  • तथा on page seo वह जरिया है जिससे सर्च इंजन उस web पेज को उपयोगी तथा सही मानकर search engine result page (serp) में रैंकिंग देता है!

तो दोस्तों इन points को जानने के बाद आप समझ चुके होंगे कि google या किसी भी सर्च engine पर किसी web page की रैंकिंग के लिए on page seo कितना महत्वपूर्ण है!

यह भी पढ़े: Freenom से फ्री में Domain Name कैसे ख़रीदे

On Page SEO कैसे करें?

Quality Content

दोस्तो आपकी साइट का कंटेंट को on page seo का दिल कहा जाता है! यह सर्च इंजन तथा विजिटर्स को बताता है कि यह web page किस विषय पर है और आपको इसे पढ़ने के बाद क्या जानकारी मिलेगी!

आर्टिकल क्वालिटी वाला होना चाहिए। जिसे पढ़कर यूजर को value तथा information दोनों मिले!और content लंबा होना चाहिए जिसमें उस keyword से संबंधित पूरी जानकारी हो!

आमतौर पर 1000 से 1500 से अधिक words का कंटेंट होना चाहिए! क्योंकि वर्तमान समय में सर्च इंजन मानता है कि अधिक words वाले कंटेंट से vistors को उस विषय पर पूरी जानकारी मिलती है! इसलिए यदि आप हाई-क्वालिटी कंटेंट तैयार करते हैं तो आपके पेज के rank होने के अवसर बढ़ जाते हैं!

Page Title

पेज के टाइटल को title tag के नाम से भी जाना जाता है और यह भी seo की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण होता है।

  • टाइटल आकर्षक होना चाहिए जिसे देखने के बाद यूजर उस पर क्लिक करें!
  • टाइटल में कीवर्ड्स होने चाहिए आपने जिस विषय पर आर्टिकल लिखा है, उस विषय से संबंधित keywords टाइटल में मौजूद होने चाहिए। परंतु ऐसा ना हो कि keywords ही keywords आपने उस टाइटल में लिखे हैं उसका title का सही अर्थ निकलना चाहिए।
  • टाइटल के साथ अपनी साइट (ब्रांड) को इस्तेमाल कीजिए जैसे (seo kaise kare – futuretricks)
  • यह टाइटल 70 कैरक्टर्स से कम का होना चाहिए!

Headers

headers को body tags भी कहा जाता है! यह कुल मिलाकर 6 tags होते हैं! आपको अपने आर्टिकल में H1, H2 का इस्तेमाल करना जरूरी है,यह tags आपके कंटेंट को पाठकों के लिए सही तरीके से ऑर्गेनाइज करने तथा सर्च इंजन को बताने में सहायक होता है कि आपके कंटेंट का कौन सा भाग अधिक महत्वपूर्ण है.

अपने content के keywords को h1 तथा h2 tag में उपयोग करना बेहद जरूरी होता है! क्योंकि यह सबसे महत्वपूर्ण body tags होते हैं

Meta Description

मेटा डिस्क्रिप्शन short page डिस्क्रिप्शन होते हैं जो search result में टाइटल के नीचे दिखाई देते हैं।

मेटा डिस्क्रिप्शन विजिटर को आपके वेबपेज के बारे में बताता है। यह अधिकतम 160 charcter का होना चाहिए जिसमें topic से रिलेटेड keyword होने चाहिए!

ALT Image

आर्टिकल में image का उपयोग करते हैं तो image में alt text का उपयोग करें! alt text आपकी इमेज के लिए seo का कार्य करता है। alt text में इमेज से संबंधित कीवर्ड जरूर डालें इससे सर्च इंजन को पता लगता है कि आर्टिकल की यह image किस विषय पर है.

Page URL

पेज के url में कीवर्ड होने चाहिए! तथा यह short & simple होना चाहिए! उदाहरण के तौर पर आप इस web page का example ले सकते हैं!

Internel Linking

internel linking seo के लिए बेहद जरूरी होती है! मान लीजिए आप whatsapp tricks से रिलेटेड कोई आर्टिकल लिख रहे हैं, तो आप उस page में अपनी वेबसाइट का whatsapp से संबंधित कोई दूसरा आर्टिकल link के रूप में दे सकते हैं!

Mobile Responsive

आपकी वेबसाइट मोबाइल यूज़र्स के अनुकूल होनी चाहिए! पिछले कुछ सालों से गूगल mobile reaponsive साइट्स को अधिक महत्व दे रहा है!

इसके अलावा site की स्पीड भी on page seo के अंतर्गत महत्वपूर्ण factor होती है! दोस्तों यह है थी on page seo के लिए मुख्य टिप्स अब हम off page seo के बारे में जानते हैं!

Off Page SEO कैसे करें?

off page seo को off site seo भी कहा जाता है! off page seo अन्य वेबसाईट से लिंक प्राप्त कर आपकी साइट की डोमेन अथॉरिटी को बढ़ाने की ओर फोकस करता है अतः off page seo को सरल शब्दों में समझें तो एक तरफ on page seoआपकी साइट किए के अंदर किया जाता है जबकि off page seo आपकी साइट के बाहर किया जाता है।

अधिकतर समय off page seo करने का मुख्य उद्देश्य होता है कि दूसरी बड़ी वेबसाइट से do follow link प्राप्त करना।

उदाहरण के लिए आपकी कोई साइट की डोमेन अथॉरिटी 50 है और amazon की domain authority 90 है। इस स्थिति में अमेजॉन site अधिक शक्तिशाली है। तथा सर्च engine में आपकी साइट से पहले amazon साइट की रैंकिंग के chance अधिक बढ़ जाते हैं ! इसलिए आपकी साईट का भी डोमेन अथॉरिटी score अधिक हो इसलिए दूसरी बड़ी वेबसाइट से do follow बैकलिंक लिया जाता है!

बाहरी दुनिया में इसका उदाहरण समझें तो जिस तरह आप किसी बड़े व्यक्ति के साथ उठते बैठते हैं तो समाज में आपकी अथॉरिटी बढ़ जाती है। उसी तरह यदि आप किसी बड़ी वेबसाइट से do follow लिंक प्राप्त करते हैं तो आपकी साइड site की अथॉरिटी बढ़ जाती है! तथा जितना अधिक डोमेन अथॉरिटी होती है उस साइट की ranking के उतने चांस बढ़ जाते हैं!

backlink दो चीजें आती है do follow तथा No follow backlink।

do follow backlink authority पास करती है जबकि no follow अथॉरिटी पास नहीं करती है। इसका मतलब है कि जब कोई साइट आपकी वेबसाइट को do follow लिंक देती है इसका मतलब है आपके साथ क्वालिटी बैकलिंक्स शेयर करती है। जिससे आपकी साइट की अथॉरिटी बढ़ती है।

जबकि no follow लिंक से आपकी साइट को लिंक तो मिलता है परन्तु यह सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को नहीं बढ़ाता है!

बैकलिंक कैसे बनाये?

दोस्तों जैसा कि अब आप जान चुके हैं कि backlink क्या है और यह क्यों जरूरी होता है ?तथा बैंक लिंक का क्या महत्व है तो अब हम जानते हैं किसी साइट से do follow बैग लिंग कैसे प्राप्त करें!

आप गेस्ट ब्लॉगिंग के जरिए do follow backlink प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा भी कई सारे तरीके हैं do follow या no follow backlink बनाने के! परंतु एक बात आपका यहां ध्यान रखना जरूरी है सोशल मीडिया में जितने भी backlink होते हैं वह सभी no follow बैकलिंक होते हैं!

Create Shared Content

दोस्तों high Quality बैकलिंक प्राप्त करने का एक बेहतरीन मेथड हमेशा से यह रहा है कि आप High Quality कंटेंट पब्लिश करें! ताकि जैसे ही Readers उसे पढ़ें तो उसे शेयर करें!

साथ ही जब भी कोई blog owner आपके आर्टिकल को पढ़े तो वह भी उसे पढ़कर अपनी वेबसाइट, blog में उसका link देने के लिए मजबूर हो जाएं। क्योंकि हमेशा से ही content is king कहा जाता है और हमेशा फ्रेश एवं अपडेटेड आर्टिकल लिखें. इससे आपके ब्लॉग को naturally बैकलिंक मिलेंगे जिससे आपको रैंकिंग में बहुत फायदा मिलेगा!

Social Media Engagement

यदि आप अपने ब्लॉग, बिजनेस को Grow करना चाहते हैं तो सोशल मीडिया पर Active रहना बेहद आवश्यक है! आज के दौर में करोड़ों लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं! तो इन प्लेटफार्म से न सिर्फ लोगों को आपके बिजनेस blog के बारे में जानकारी मिलेगी!

बल्कि यहां से आप backlink भी प्राप्त कर सकते हैं! कुछ पॉपुलर सोशल मीडिया वेबसाइट्स के links नीचे दिए गए हैं!

  • https://www.facebook.com/
  • http://www.linkedin.com/
  • http://www.twitter.com/
  • https://www.pinterest.com/
  • https://www.instagram.com/

Social Bookmarking Sites

Off page seo के लिए पुराना और कारगर तरीका है सोशल बुकमार्किंग साइट का उपयोग करना! आप किसी पॉपुलर Book Marking वेबसाइट पर अपने ब्लॉग वेबसाइट का link Add करते हैं तो इससे ranking के साथ ही रेफरल ट्रैफिक पाने की काफी ज्यादा संभावनाएं बढ़ जाती हैं! कुछ high अथॉरिटी बुकमार्किंग साइट्स की लिस्ट नीचे दी गई है!

  • http://diigo.com
  • https://www.reddit.com
  • http://slashdot.org
  • http://digg.com
  • https://www.tumblr.com/

Blog Directory Submission

क्वालिटी बैकलिंक बनाने के कई सारे तरीके हैं! जिनमें से ब्लॉग डायरेक्टरी सबमिशन भी एक बेहतर तरीका है! आपको इंटरनेट पर कई ऐसी ब्लॉग डायरेक्टरी सबमिशन site मिल जाएंगी! जहां से आप अपनी कैटेगरी के मुताबिक उन साइट्स पर डायरेक्टरी सबमिशन कर सके! आपको इनसे जल्दी तो फायदा नहीं मिलता लेकिन long-term में बेहद उपयोगी साबित होते हैं।

QNA Website

दोस्तों क्वेश्चन एंड आंसर (Q &A) वेबसाइट  पर कोई भी यूजर अपने सवालों को पोस्ट कर सकता है तथा उनका आंसर कोई भी यूजर दे सकता है !एक पॉपुलर क्वेश्चन Answering वेबसाइट का नाम है Quora| यहां से आपको न सिर्फ हाई क्वालिटी बैकलिंक मिलेगा! बल्कि आप अच्छा सोशल ट्रैफिक भी यहां से प्राप्त कर सकते हैं!

आपको करना क्या है? जिस भी-category से रिलेटेड आपका ब्लॉग वेबसाइट है! आपको उस से रिलेटेड लोगों द्वारा पूछे गए क्वेश्चन Answer का correctly जवाब देना है, साथ ही आप अपने Answer में अपनी वेबसाइट का लिंक भी ऐड कर सकते हैं! इससे आपको ट्रैफिक और बैकलिंक  दोनों  मिलेंगे!

Some Popular Question and Answer Sites

  • https://www.quora.com/
  • http://www.ehow.com/
  • https://answers.yahoo.com/
  • http://answerbag.com/
  • http://www.blurtit.com/

Web 2.0 Submission

हमारी इस लिस्ट में वेब 2.0 भी है दोस्तों जैसा कि आप जानते होंगे कहीं सारे blogging प्लेटफॉर्म जैसे blogger.com , medium.com इत्यादि यहां पर कोई भी यूजर अपना फ्री में blog कुछ ही मिनटों में ready कर सकता है.

तो इन प्लेटफार्म पर blog बनाने के लिए आपको भी अपने ब्लॉग से रिलेटेड कुछ आर्टिकल्स को यहां शेयर करना है! आप यहां की गई पोस्ट में अपनी main site के url को भी add करें! जिससे आपको एक बैंकलिंक मिल जाएगा दोस्तों यह वर्किंग तरीका है जिससे अच्छे बैकलिंक्स बनाए जा सकते हैं! और साथ ही अपनी ओरिजिनल साइट में ट्रैफिक भी प्राप्त किया जा सकता है।

तो इस प्रकार देखें तो कई सारे और भी तरीके हैं जिनसे हम off page seo से बैकलिंक बना सकते हैं। उम्मीद है की अब आप जान गये होगे की SEO क्या है और कैसे करे – What Is SEO In Hindi? चलिए अब देखते है की What Is Keyword Research & Technical SEO In Hindi?

यह भी पढ़े: फ्री में Web Hosting कैसे ख़रीदे [Top 5 Websites]

Keyword Research क्या है?

दोस्तों keyword रिसर्च करना बेहद जरूरी है! कीवर्ड रिसर्च आप की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। आप इसकी महत्वता को आप इस तरह समझ सकते हैं

मान लीजिए gaming portal india पर आप आर्टिकल लिखना चाहते हैं। क्योंकि यह नाम सुनने में बेहद अच्छा है और इससे जाहिर होता है कि यह gaming प्लेटफॉर्म होगा! तो आप gaming portal india के विषय पर आर्टिकल लिख देते हैं।

परंतु यदि आप बाद में कीवर्ड रिसर्च करते हैं तो आप पाएंगे कि gaming portal india में तो ट्रैफिक ही नहीं आता! मतलब कोई भी user games डाउनलोड करने या games की जानकारी के लिए google पर यह keyword सर्च नहीं करता!

इसलिए किसी भी आर्टिकल या कंटेंट को तैयार करने से पूर्व उस विषय पर उस keyword से संबंधित कीवर्ड्स रिसर्च करना बेहद जरूरी है! यहां कुछ टूल्स हैं जिनसे आप keyword रीसर्च कर सकते हैं!

  • google keywords planner
  • Kw finder
  • keyword tool
  • ubersuggest
  • semrush

चलिए अब देखते है what is technical seo in hindi?


Technical SEO क्या है?

दोस्तों अब हम बात कर लेते हैं Technical SEO की, जो की search engine optimization में काफ़ी मायने रखता है।

दोस्तों Technical SEO एक Process है, जिसमें आप अपने website को crawling and indexing के लिए optimize करते है। ताकी search engine bots आपके website को बिना किसी परेशानी के crawl कर सके और index कर सके।

अगर में आपको Simple शब्दों में बताऊँ तो Technical SEO में आपके website और blog की loading speed, theme design, mobile responsive, redirection & other error, robots txt & sitemap etc/ आते है।

Technical SEO कैसे करें?

टेक्निकल SEO के अंतर्गत आपको overall अपनी वेबसाइट को इंप्रूव करना होता है! ताकि कभी भी सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट की visibility प्रभावित न हो सके।  इसके अंतर्गत निम्नलिखित चीजें आपको ध्यान में रखनी चाहिए

Use HTTPS

जी हां, आप इंटरनेट पर ज्यादातर वेबसाइट पर विजिट करते हैं तो आपको ज्यादातर sites में HTTPS enable दिखेगा! जो न सिर्फ सिक्योरिटी के नजरिए से बेहतर है बल्कि रैंकिंग में भी यह फायदेमंद है।

क्या आप कभी ऐसी वेबसाइट पर विजिट करते हैं जिस पर Not secure लिखा हुआ आता है?  नहीं! दोस्तों पहले के समय में ecommerce वेबसाइट पर HTTPS लागू होना अनिवार्य था लेकिन आज सभी साइट्स में यह होना जरूरी है! तो आप भी अपनी site में ssl सर्टिफिकेट का यूज कर HTTPS enable  जरूर करें!

Website Speed

tech Seo की बात हो तो साइट की speed एक महत्वपूर्ण फैक्टर है! यदि आप चाहते हैं गूगल में आपकी साइट को बेहतर रैंकिंग मिले तो वेबसाइट की स्पीड को जरूर ऑप्टिमाइज करें!

आमतौर पर google slow वेबसाइट पसंद नहीं करता और ना ही विजिटर्स। साइट की लोडिंग स्पीड 3 से 5 seconds के बीच होना जरूरी है! अन्यथा बाउंस रेट बढ़ने के चांसेस होते हैं!

Mobile Friendness

ज्यादातर यूजर्स मोबाइल पर ही किसी वेबसाइट को विजिट करते हैं अतः गूगल हो या bing या कोई भी सर्च इंजन mobile friendly वेबसाइट को रैंकिंग प्रदान करते हैं! जो साइट mobile रेस्पोंसिव होती है!

आपकी website मोबाइल फ्रेंड्लीनेस है या नहीं?? यह चेक करने के लिए सबसे पहले आप गूगल के किसी भी tool (mobile friendlt test? का इस्तेमाल करे! और इस्तेमाल करने के बाद यदि आपकी साइट मोबाइल devices के लिए फ्रेंडली नहीं है तो फिर आपको मोबाइल फ्रेंडली बनाने के लिए steps उठाने चाहिए!

Use AMP

Accelerated Mobile Pages (AMP) एक गूगल द्वारा नई पहल है जिससे यूजर्स को मोबाइल पर वेबसाइट को लोड करने में तेजी मिल सके इसलिए कहीं सारी यूजर चार्ज एम्प भी अपनी साइड में इस्तेमाल कर लेकिन amp का इस्तेमाल करना तभी फायदेमंद है जब साइट पर काफी ज्यादा ट्रैफिक जो।

Note: गूगल के अनुसार Amp का use करने से वेबसाइट तेजी से लोड होती है! इसके अलावा हालांकि अभी AMP एक रैंकिंग फैक्टर नहीं है।

दोस्तों यह कुछ बातें आपकोटेक्निकल SEO के अंतर्गत जरूर ध्यान में रखनी चाहिए! इसके अलावा भी टेक्निकल SEO में कई सारी चीजें सीखनी होती हैं ताकि  आपकी वेबसाइट इंटरनेट पर एक प्रोफेशनल वेबसाइट, यूजर फ्रेंडली और सर्च इंजन फ्रेंडली हो सके! अतः आप इन पॉइंट्स पर भी जरूर गौर करें!


  • Specify a Preferred Domain
  • Optimize Robots.txt
  • Canonical URLs
  • Optimize 404 Page
  • XML Sitemap Optimization
  • SSL and HTTPS
  • Pages (AMP)
  • Pagination and Multilingual Websites
  • Register your site with webmaster tools
  • Optimize Your URL Structure
  • Navigation and Site Structure
  • Breadcrumb Menus
  • Implement Structured Data Markup

तो दोस्तों आज के इस लेख में बस इतना ही उम्मीद है की अब आपको search engine optimization SEO के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और अब आप जान गये होगे की SEO क्या है? backlink क्या है? seo के प्रकार? कैसे करे? क्यू ज़रूरी है? फ़ायदे & all about seo in hindi?

Hope की आपको SEO क्या है और कैसे करे – What Is SEO In Hindi का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

3 COMMENTS

  1. सर जी में आपके हर ब्लॉग को पढ़ता हु और आप से ही सीख लेकर मैंने भी ब्लॉगिंग की शुरुवात की आप मेरे वेबसाइट को backlinks प्रदानं करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here