टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi

0

दोस्तों क्या आप Telnet के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं और समझना चाहते हैं कि टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi? इसका क्या उपयोग होता है? टेलनेट कैसे काम करता है? और अपने Windows computer में इसका उपयोग कैसे करते हैं? All about telnet in hindi. इत्यादि सभी जानकारियां आपको इस लेख में मिलने वाली है।

कंप्यूटर की शुरुआत गणना करने वाली एक मशीन के तौर पर की गई थी लेकिन शायद ही उस समय किसी ने ऐसा सोचा हो कि एक ही स्थान पर ही बैठ कर दूर स्थित किसी कंप्यूटर को एक्सेस किया का सकता है.


परंतु आज यह सब संभव हो चुका है? टेलनेट की मदद से, जो एक network protocol है जिसके जरिए वर्चुअली Access किया जा सकता है।

कंप्यूटर नेटवर्किंग की पढ़ाई करते समय अक्सर हमें Telnet शब्द सुनने को मिलता है? लेकिन यदि आपने अब तक Telnet को नहीं समझा है? तो आइए सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi?

टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi

टेलनेट का पूरा नाम टेलीकम्युनिकेशन नेटवर्क होता है। यह एक Networking प्रोटोकोल तथा एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है। Telnet का उपयोग करके दूर स्तिथ किसी computer या terminal को इंटरनेट या फिर TCP/IP के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है।

Telnet एक computer user को किसी भी दूसरे कंप्यूटर को एक्सेस करने की अनुमति देता है, बता दें इस प्रक्रिया में आपका कंप्यूटर किसी नेटवर्क से जुड़ा होना चाहिए। अतः Telnet का उपयोग इंटरनेट या फिर लोकल एरिया नेटवर्क के लिए होता है।

वह कंप्यूटर जिससे आप किसी दूसरे कंप्यूटर को रीमोटली एक्सेस करना चाहते हैं! उस कंप्यूटर को लोकल कंप्यूटर कहा जाता हैऔर वह दूसरा कंप्यूटर जो कनेक्शन को Accept करता है उसे रिमोट कंप्यूटर के नाम से जानते हैं। यदि हम किसी कंप्यूटर से remote session करते हैं तो उसके अंत तक यदि हम कुछ भी टाइप करते हैं तो वह दूसरे कंप्यूटर में चला जाता है।

Telnet का उपयोग करके जब दो कंप्यूटर आपस में कनेक्टेड होते हैं तो ध्यान रखें यह एक Text based कम्युनिकेशन होती है इसमें ना तो आपको कोई ग्राफिक्स भेज सकता है और ना ही कोई फाइल भेज सकते हैं। Tenet के जरिए यह कनेक्शन एक कमरे से दूसरे कंप्यूटर कमरे में या फिर एक देश से दूसरे देश तक के बीच का हो सकता है।

टेलनेट प्रोग्राम आपके कंप्यूटर में पहले से ही मौजूद होता है यह आपके कंप्यूटर को नेटवर्क के जरिए Server से कनेक्ट कर देता है और टेलनेट प्रोग्राम के जरिए आप कोई भी कमांड टाइप करते हैं तो वह Execute हो जाती है। इस वजह से एक यूजर के पास दूसरे सर्वर को कंट्रोल करने का एवं उसके साथ communication करने का माध्यम बन जाता है।


टेलनेट की शुरुआत करने के लिए आप अपने windows Computer का भी उपयोग कर सकते है। यह कमांड लाइन इंटरफेस पर कार्य करता है आपको इसे Run करने के लिए CMD की आवश्यकता पड़ती है और टेलनेट के सेशन को शुरू करने के लिए username और valid password type करना होता है।

आज telnet remotely web service को कंट्रोल करने का एक साधारण तरीका बन चुका है।

यह भी पढ़े: ब्लूटूथ (Bluetooth) क्या है – What Is Bluetooth In Hindi

क्या Telnet का इस्तेमाल करना Safe है?

दोस्तों टेलनेट के बारे में पढ़ते समय आपका यह जानना जरूरी हो जाता है। की telnet एक secure protocol नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप Telnet का इस्तेमाल कर रिमोट होस्ट में लॉगिन करते हैं तो आपका यूजर नेम और पासवर्ड भी Send हो सकता है।

इसका साफ मतलब है कि text के रूप में आपका username & password इंक्रिप्टेड बिल्कुल भी नहीं है। और username और password की जानकारी किसी दूसरे यूजर के पास आसानी से जा सकती है। एक unsecure Protocol होने की वजह से आज टेलनेट नामक प्रोटोकॉल का स्थान SSD ले चुका है। अतः संक्षेप में कहें तो हम इससे एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में कम्युनिकेशन का एक सिक्योर तरीका नहीं कह सकते।

टेलनेट का उपयोग?

हम आपको फिर से बता दें telnet एक सिक्योर प्रोटोकॉल नहीं है लेकिन इसका अर्थ कदापि यह नहीं है कि यह कोई काम का नहीं है? आज भी टेलनेट का उपयोग किया जाता है अतः टेलनेट के मुख्य उपयोग निम्नलिखित हैं।

नेटवर्क डिवाइसेज को Configure करने में

कई सारे मॉडर्न राउटर आज भी Telnet को एक्सेप्ट करते हैं। अगर आप अपने LAN से किसी टेलनेट के कनेक्शन कोकनेक्ट करते हैं तो आप पाएंगे टेलनेट इनकमिंग कनेक्शन को एक्सेप्ट करता है।

जिसका सीधा अर्थ यह है कि अगर कभी किसी नेटवर्किंग डिवाइस को कनफिगर करने की आवश्यकता पड़ती है तो टेलनेट का उपयोग किया जा सकता है।

ऑनलाइन कम्युनिटी के साथ संबंध

कई सारी ऑनलाइन कम्युनिटी के साथ आज भी टेलनेट काम करता है। यदि आप telnet के text-based नेचर को देखें तो आप पाएंगे यह 70 के दशक के जैसा दिखाई देता है। जिसमें ना तो किसी तरह के ग्राफिक्स हैं और ना ही वह यूज़र इंटरफ़ेस। लेकिन ऑनलाइन कम्युनिटीज के साथ Telnet काम करता है जिसके लिए आज भी यह उपयोग होता है।

डेटाबेस को ऐक्सेस करने में

कई साल पहले Telnet इंस्टीट्यूट के लिए काफी महत्वपूर्ण था जो Large data का उपयोग करते थे telnet database को access करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है  उदाहरण के लिए 80 के दशक में इसका इस्तेमाल library के डाटाबेस के लिए होता था लेकिन जैसे जैसे इंटरनेट का विस्तार होता गया तो इन डेटाबेस को वेब के जरिए भी एक्सेस किया जाने लगा। कई सारे प्रोटोकॉल कम्युनिकेशन को telnet सपोर्ट करता है।

टेलनेट के फायदे – Advantages Of Telnet In Hindi

  • टेलनेट का सबसे साधारण उपयोग यह है कि इसका इस्तेमाल हम दूरस्थ कंप्यूटर को रीमोटली एक्सेस करने के लिए करते हैं।
  • Telnet के widely उपयोग होने का एक मुख्य कारण है कि यह अधिकतर ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है।
  • Universal use इसका इस्तेमाल किसी भी कंप्यूटर में किया जा सकता है। यहां तक कि 2 computers जिनके ऑपरेटिंग सिस्टम अलग-अलग हैं उनके बीच कम्युनिकेशन स्थापित करने के लिए किया जा सकता है।
  • टेलनेट के उपयोग से समय की बचत होती है क्योंकि इसी के जरिए connectivity instantly हो जाती है जिससे किसी भी Task को जल्दी से पूरा किया जा सकता है।
  • राउटर कंफीग्रेशन| क्योंकि राउटर text का इस्तेमाल करके details ट्रांसमिशन करता है अतः किसी प्रॉब्लम को Telnet के माध्यम से आसानी से सुलझाया जा सकता है।

टेलनेट के नुकसान?

Unencrypted Data Exchange

टेलनेट के जरिए कम्युनिकेशन के कई लाभ हैं वहीं इसका सबसे बड़ा नुकसान यह है कि telnet जो डाटा एक device से दूसरे डिवाइस में पहुंचता है वह अनइंक्रिप्टेड होता है जिस वजह से इसे 100% सिक्योर नहीं कहा जा सकता।

Easier for Hackers to Access

टेलनेट की उपरोक्त खामी इसे हैकर्स के लिए भी accessible बना देती है। इसकी सिक्योरिटी वीक होती है इसलिए किसी भी हैकर के लिए Telnet द्वारा हो रही कम्युनिकेशन को रोककर उसे कंट्रोल करना अधिक मुश्किल नहीं होता।

इसलिए जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी में विस्तार होता गया सुरक्षा की वजह से समय के साथ टेलनेट का उपयोग भी काफी कम होता चला गया।

Few Servers Connect

इसका एक और मुख्य नुकसान यह है कि आजकल के अधिकतर Servers में Telnet कनेक्शन सक्सेसफुली स्थापित नहीं हो पाता है यही कारण है कि इनका यूज समय के साथ कम होता गया है।

टेलनेट का इस्तेमाल कैसे करे? How to Use Telnet in Hindi?

हालांकि communication के लिए यह एक सुरक्षित प्रोटोकॉल नहीं है परंतु आवश्यकता पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। बस आपको टेलनेट इस्तेमाल करने की जानकारी होनी चाहिए। आप Windows 7, 10 किसी में भी Telnet का यूज कर सकते हैं। हालांकि यदि आपके वर्जन अलग है तो आपको पहले इसको Enable करना होगा।

आइए स्टेप बाय स्टेप जानते हैं कैसे आप अपने विंडोस कंप्यूटर में Telnet को Enable कर सकते है।

  1. अपने Windows computer से start key दबाए और Control Panel Search करें।
  2. अब यहां Programme & Features के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  3. अब यहां आपको Turn Windows features on or off ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करें।
  4. उसके बाद telnet client के checkbox पर tick करें।
  5. और अब अपने Windows computer में telnet को Enable करने के लिए Ok बटन पर क्लिक कर दें।

इतना करते ही आपके windows Computer में Telnet Enable हो जाएगा अब आपको स्क्रीन पर यदि किसी तरीके का Windows completed the requested changes ऑप्शन आएगा। तो आप उस dialogue box को Close कर सकते है।


Telnet Commands को Windows Computer में कैसे Execute करें?

अगर अपने telnet को अपने Windows Computer में Enable कर लिया है तो आप अब आगे आसानी से Telnet को अपने विंडोस कंप्यूटर में एक्सेस कर सकते हैं।

  • इसके लिए आपको CMD prompt ओपन करना है।
  • अब यहां Telnet टाइप करें।
  • अब आपकी स्क्रीन में एक line show
  • होगी जिसमें jismein Microsoft telnet लिखा होगा।

यहीं पर आपको टेलनेट की कमांड्स को टाइप करना है। Telnet की कई सारी कमांड है और माइक्रोसॉफ्ट यूजर्स को वह Commands provide करता है, जिससे यह पता किया जा सके कैसे telnet connection को Open, क्लोज किया जाता है या फिर Telnet डिस्प्ले सेटिंग में कैसे बदलाव किए जाते हैं?

तो अगर आपको वह सारी कमांड पता लग जाए तो आप फिर आसानी से Telnet का उपयोग करना सीख पाएंगे। इंटरनेट पर आपको telnet की उन सारी कमांड्स के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

Some Useful Telnet Commands In Hindi

अब हम यहां आपके साथ टेलनेट की कुछ कमांड शेयर कर रहे हैं अगर आप टेलनेट का उपयोग कर इसकी शुरुआत कर रहे हैं। तो नीचे दी गई कुछ कमांड आपके लिए हेल्पफुल साबित होगी।

Close

इस कमांड से टेलनेट की सभी Sessions को End किया जाता है।

Display Argument

Telnet कि यह कमांड Vartman connection के विभिन्न पैरामीटर्स को डिस्प्ले करने का कार्य करता है जैसे port, terminal type, etc.)

Logout

Current telnet session को खत्म करने के लिए लॉगआउट का इस्तेमाल किया जाता है। अगर remote host logout को सपोर्ट करता है तो

Mode Type

यह कमांड ट्रांसमिशन के टाइप को स्पेसिफाई करता है जैसे text file, binary file)

Quit

यह कमांड सभी active telnet session के साथ telnet client connection को बंद करता है।

Set Argument

इस कमांड जो टाइप करके connection parameter को चेंज किया जा सकता है

Unset

पहले से ही डिफाइन किए गए connection के पैरामीटर को लोड करता है? जैसे ही आप यह कमांड टाइप करते हैं आपके सामने हेल्प menu ओपन हो जाती है।

Open Hostname

वर्तमान connection के ऊपर से ही यह कमांड सिलेक्ट किए गए host पर एडिशनल कनेक्शन स्थापित करती है।

टेलनेट का इतिहास – History Of Telnet In Hindi

टेलनेट की शुरुआत असल में आज के मॉडल TCP/IP से काफी पहले ही हो गई थी। दोस्तों telnet के इतिहास को जानने के लिए हमें यह समझना आवश्यक हो जाता है कि आखिर टेलनेट की जरूरत क्यों पड़ी थी?

1960 के दशक में जब कंप्यूटर की शुरुआत हुई तो उस समय इस टाइप के प्रोटोकॉल को विकसित किया गया गया, उसी के आधार पर टेलनेट की शुरुआत हुई। पर्सनल कंप्यूटर्स के पहले कंप्यूटर का आकार काफी बड़ा होता था कंप्यूटर को चलाने के लिए पहले physical terminal को एक्सेस करना पड़ता था। जो उस कंप्यूटर मशीन से कनेक्टेड है जिसे आमतौर पर Host की रिक्वायरमेंट्स के आधार पर बनाया गया था।

लेकिन इस कार्य में दो समस्याओं का सामना करना पड़ा पहला तो यह अगर कोई संस्था है वहां पर कहीं सारे कंप्यूटर हैं तो जो भी यूजर computer access करना चाहता है उसे अलग से टर्मिनल की आवश्यकता पड़ती थी। जो एक्सपेंसिव होता था दूसरा उस समय यूजर के टर्मिनल को रिमोट मशीन से कनेक्ट करने के लिए कंप्यूटर में साइट की माध्यम से अलग से deta circuit install किया जाता है जिसमें एक सर्किट में केवल एक ही मशीन का यूज हो सकती था।

तो इस चुनौती से निपटने के लिए एक ऐसा टर्मिनल तैयार करना था जिससे किसी भी कंप्यूटर को host किया जा सके, इसी सोच के साथ विकसित किया गया एक नेटवर्किंग प्रोटोकॉल वर्ष 1969 में, आने वाले वर्षों में इसी networking protocol का इस्तेमाल आगे किया गया

तो दोस्तों उम्मीद है की अब आपको टेलनेट से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi? इसका क्या उपयोग होता है? टेलनेट कैसे काम करता है? और अपने Windows computer में इसका उपयोग कैसे करते हैं? All about telnet in hindi.

यह भी पढ़े:

Hope की आपको टेलनेट क्या है? – What is Telnet in Hindi का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here