वेब होस्टिंग क्या है? – What Is Web Hosting In Hindi

2

Web Hosting Kya Hai? – What Is Web Hosting In Hindi? दोस्तों अगर आप एक Blogger, Website Owner, Web Developer हो तो आपको web hosting के बारे तो ज़रूर पता होगा, लेकिन अगर आप एक Beginner हो और वेब होस्टिंग के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की वेब होस्टिंग क्या है? Web Server क्या होता है? उपयोग, फ़ायदे, प्रकार क्या है? क्यू ज़रूरी है? कैसे काम करता है? कैसे ख़रीदे? & All About Web Hosting In Hindi?

दोस्तों क्या आप भी अपना ब्लॉग या वेबसाइट बनाने के बारे में सोच रहे हैं! तो यहां पर वेबसाइट बनाने से पूर्व मैं आपको बता दूँ की एक शब्द जो कि वेब होस्टिंग है आपको blog बनाते समय जरूर सुनाई देगा! खासकर यदि आप एक प्रोफेसनल ब्लॉग अर्थात wordpress पर अपना ब्लॉग बनाने जा रहे हैं तो!


इसलिए आपको web hosting के बारे में पूर्ण एवं महत्वपूर्ण जानकारी होना बेहद आवश्यक है! इसलिए मैंने सोचा क्यों न आज का यह लेख उन सभी भावी bloggers के लिए बनाया जाए जो अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहते हैं!

दोस्तों यदि आप आज या भविष्य में अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहते हैं! तो आपको आज के इस लेख में बताया जाएगा कि वेब होस्टिंग क्या होती है? यह क्यों जरूरी होती है,वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते हैं? windows तथा linux होस्टिंग क्या होती है? और आप की साइट के लिए कौन सी hosting best रहेगी!

वेब होस्टिंग से संबंधित पूर्ण एवं सटीक जानकारी प्राप्त करने के लिए आज की इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े! चलिये दोस्तों बिना समय गवाएं हम जानते हैं कि वेब होस्टिंग क्या है? – What Is Web Hosting In Hindi

यह भी पढ़े: Domain Name क्या है? – What Is Domain Name System In Hindi

वेब होस्टिंग क्या है? – What Is Web Hosting In Hindi

Web Hosting एक सेवा है जो किसी संस्था या व्यक्ति को इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट प्रकाशित करने की अनुमति देती है! यदि आप इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो यहां पर आपको दो चीजें जरूरी होती है पहला domain Name दूसरा web hosting और आपको डोमेन नेम तथा वह hosting दोनों चीज़े खरीदनी पड़ती है! जिसके बाद आपकी वेबसाइट इंटरनेट पर live होती है!

दोस्तों इसके साथ ही आपका जानना जरूरी है की आप फ्री में भी डोमेन नेम तथा वेब होस्टिंग खरीद सकते हैं! डोमेन नेम तथा वेब होस्टिंग खरीदने के बाद DNS सर्वर अपडेट करने पड़ते हैं जिसके बाद आपकी साइट इंटरनेट पर live हो जाती है!अब कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को देख सकता है!

दोस्तों अगर यदि हम वेब होस्टिंग को सरल शब्दों में समझें तो web hosting एक संस्था (ऑर्गेनाइजेशन) होती है जो मेमोरी स्पेस को बेचती है या किराए पर देती है! इसे उदाहरण के तौर पर समझे तो जैसे हम किसी साइबर कैफे पर 1 घंटे कंप्यूटर एक्सेस करने के लिए के कुछ पैसे देते हैं उसी तरह आप की वेबसाइट में जो डाटा जैसे कि आर्टिकल, forms आदि कई चीज़े होती है! उसे स्टोर करने के लिए एक hosting की जरूरत पड़ती है अर्थात कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है।

दोस्तों इसे एक उदाहरण के तौर पर समझते हैं जिस तरह की आपके स्मार्टफोन में रैम, रोम, मेमोरी, प्रोसेसर आदि फीचर उपलब्ध होते हैं! ठीक उसी तरह वेबसाइट के लिए भी एक कंप्यूटर सर्वर होता है जिसमें वेबसाइट के लिए प्रोसेसर, Ram, storage स्टोरेज मिलती है जिसे होस्टिंग कहाँ जाता है! होस्टिंग में देखा जाता है कि आपको कितनी Ram, प्रोसेसर बैंडविथ मिलती है

इसलिए आपको अपनी वेबसाइट का डाटा स्टोर करने के लिए एक कंप्यूटर किराए पर लेना पड़ता है जिसमें आपका डाटा स्टोर रहता है तथा यह कंप्यूटर 24 घण्टे on रहता है! जिससे कभी भी कोई यूजर आपकी वेबसाइट पर visir कर सके!

दोस्तों यदि हम अपनी futuretricks वेबसाइट की web hosting की बात करें तो हमने होस्टिंग खरीद रखी है तभी आप हमारी वेबसाइट को 24 घंटे कभी भी एक्सेस कर तकनीकी जानकारियां पढ़ सकते हैं!

दोस्तों web होस्टिंग खरीदने के लिए कुछ प्रसिद्ध वेबसाइट के नाम निम्नलिखित हैं!

  1. Digital Ocean
  2. InMotion
  3. Bluehost
  4. HostGator 
  5. Hostinger
  6. GoDaddy 
  7. Tsohost 
  8. Wix 
  9. SiteGround.

इसके अलावा कुछ site हैं जहां से आप वेब होस्टिंग मुफ्त में खरीद सकते हैं! लेकिन यदि आपको इंटरनेट पर अपना प्रोफेशनल ब्लॉग या वेबसाइट बनानी है तो सलाह दी जाती है कि आप paid होस्टिंग खरीदें! क्योंकि paid होस्टिंग खरीदने के बाद आप hosting पर पूरा एक्सेस होता है आप कभी भी अपने होस्टिंग प्रोवाइडर से कांटेक्ट कर सकते हैं, और अपने होस्टिंग को अपग्रेड कर सकते हैं!

और सामान्य सी बात है जिस होस्टिंग पर पैसे खर्च किये हैं वहाँ आपको अधिक वैल्यू मिलेगी!

वेब होस्टिंग क्यों ज़रूरी है?

दोस्तों आइए जानते हैं कि web hosting क्यों जरूरी होती है?

दोस्तो आपका जानना जरूरी है कि यह जो होस्टिंग के लिए हमें storage, मेमोरी आदि फीचर्स मिलते हैं! उसका क्या काम होता है? मान लीजिए आपके स्मार्टफोन में केवल 1GB रैम है तो यहां पर आप अधिक एप्लीकेशन नहीं चला सकते और आपका मोबाइल हैंग हो जाएगा!

दूसरी ओर यदि आपके पास 4GB स्मार्टफोन है तो आप यहां पर कई सारी एप्लीकेशन चला सकते हैं!

ठीक उसी प्रकार यदि हम वेबसाइट की बात करें तो यदि आपकी वेबसाइट shared होस्टिंग अर्थात सस्ती होस्टिंग है तो जब आप की वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आता है! मतलब कई सारे visitors आपकी साइट पर आते हैं तो shared होस्टिंग उसको संभाल नहीं पाती है!


जिससे आपकी वेबसाइट कभी-कभी बंद हो जाती है! 404 error आ जाता है अब ऐसी स्थिति किसी भी वेबसाइट मालिक के लिए सही नहीं है! इसलिए आपकी वेबसाइट 24 घंटे लगातार इंटरनेट पर लाइव बनी रहे इसलिए सही web होस्टिंग का चुनाव करना बेहद जरूरी है!

वेब होस्टिंग कैसे काम करती है? 

wev hosting कंपनियां अपने यूजर्स को अपनी सेवाएं किराए पर देती हैं! ताकि वे अपनी वेबसाइट को इंटरनेट पर लाइव कर सके!

hosting कंपनी आपकी वेबसाइट को host करती है अर्थात आप के वेबसाइट डाटा को स्टोर करने का कार्य करती है! अतः जब आपकी साइट इंटरनेट पर लाइव हो जाती है तो जब कोई यूज़र आपकी वेबसाइट का address search bar पर टाइप करता है! तो वह डिवाइस उस सर्वर से कनेक्ट हो जाता है! जहां आपकी वेबसाइट होस्ट की जाती है!

और आपकी वेबसाइट पर जो डाटा उपलब्ध है उसको यूजर को show किया जाता है! futuretricks ब्लॉग की बात करें तो इसमें कहीं सारा डाटा है जिसमें हमने इंटरनेट ट्रिक्स की जानकारियों को save किया हुआ है! तथा जवाब आप futuretricks search करते हैं तो आपका यह सभी डाटा वेब होस्टिंग कंपनी द्वारा show कर दिया जाता है!

दोस्तों अब हम जान लेते हैं कि वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है? इसे जानने के बाद आप समझ सकते हैं कि आपकी वेबसाइट के लिए कौन सी web होस्टिंग बेहतर रहेगी!

यह भी पढ़े: फ्री में Web Hosting कैसे ख़रीदे [Top 5 Websites]

वेब होस्टिंग के प्रकार – Types Of Web Hosting In Hindi

दोस्तों यदि आप एक beginner हैं मतलब आप अपनी वेबसाइट बनाने की शुरुवात कर रहे हैं तो यहां पर आपको shared होस्टिंग लेनी चाहिए!

shared होस्टिंग में आपकी वेबसाइट अन्य दूसरी वेबसाइट की तरह share server में स्टोर की जाती है! मतलब उस सर्वर पर सैकड़ों या हजारों वेबसाइट पहले से store हो सकती हैं!

तथा shared hosting में इन सभी वेबसाइट को same फीचर्स दिए जाते हैं! जैसे कि Ram, cpu को सभी domains के बीच समान रूप से वितरित किया जाता है! अतः shared hosting का दाम आमतौर पर सबसे कम होता है!

Linux vs Windows Hosting

Linux Hosting

  • लिनक्स होस्टिंग फ्लैक्सिबल होती है!
  • इसके अलावा यह फ्री ओपन सोर्स होती है!
  • लिनक्स होस्टिंग पर्सनल वेबसाइट ब्लॉग बनाने तथा छोटे बिजनेसे में इस्तेमाल के लिए सबसे बेस्ट मानी जाती है!

Windows Hosting

  • यदि हम windows hosting की बात करें तो ना तो विंडोज होस्टिंग फ्लैक्सिबल होती है और इसकी कीमत भी अधिक होती है!
  • इसका इस्तेमाल करने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती है!
  • इसका इस्तेमाल अधिकतर My SQL net आदि windows की specific टेक्नोलॉजी के लिए किया जाता है

तो दोस्तों निष्कर्ष यह निकलता है कि यदि आप अपना पर्सनल ब्लॉग या वेबसाइट बनाना जा रहे हैं तो आपको linux होस्टिंग का इस्तेमाल करना चाहिए!

VPS Hosting

vps की full फॉर्म वर्चुअल प्राइवेट सर्वर है! shared होस्टिंग के मुक़ाबले vps होस्टिंग बेहतर होती है! तथा shared होस्टिंग की तुलना में vps होस्टिंग में अधिक फ़ीचर्स तथा इसका दाम भी अधिक होता है! यह अत्यंत secure होस्टिंग होती है! जिसे आपको किसी दूसरी वेबसाइट के साथ share करने की आवश्यकता नही पड़ती जिस वजह से आपकी साइट की लोडिंग speed काफी फ़ास्ट होती है!

अतः यदि आपको कम दाम में अपनी वेबसाइट के लिए dedicated सर्वर जैसी स्पीड चाहिए तो आप vps होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं!

Dedicated Hosting

डेडीकेटेड होस्टिंग की कीमत अन्य hostings के मुकाबले सबसे अधिक होती है! क्योंकि डेडीकेटेड होस्टिंग में आपके server का पूरा कंट्रोल केवल आपके पास होता है!

डेडीकेटेड hosting में जो सर्वर होता है! वह केवल एक अर्थात single वेबसाइट का डाटा स्टोर करके रखता है! जिस वजह से इसकी स्पीड अत्यंत फास्ट होती है! इस तरह की होस्टिंग का इस्तेमाल ज्यादातर बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी जैसे कि Flipkart, Amazon आदि करती है!

क्योंकि इन sites पर ढेर सारे visitors आते हैं! और उस ट्रैफिक को संभालने के लिए बढ़िया सर्विस की आवश्यकता होती है जो कि डेडीकेटेड सर्वर उपलब्ध करता है!

Cloud Web Hosting

cloud वेब होस्टिंग में समूहबद्ध (इक्कट्ठे ) servers का इस्तेमाल होता है! इसका मतलब है कि आप की वेबसाइट विभिन्न servers के वर्चुअल रिसोर्सेज( संसाधनों ) का उपयोग करती है! तथा इस server में store वेबसाइट की लोडिंग स्पीड काफी होती है!

fast होने की साथ ही वेबसाइट के high-ट्रेफिक को क्लाउड होस्टिंग सरलतापूर्वक संभाल सकती है! तथा cloud वेब होस्टिंग में सर्वर के down होने के भी अवसर कम होते हैं! क्योंकि यह cloud पर आधारित hosting होती है!

तो दोस्तों उम्मीद है की अब आपको वेब होस्टिंग से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और अब आप जान गये होगे की वेब होस्टिंग क्या है? Web Server क्या होता है? उपयोग, फ़ायदे, प्रकार क्या है? क्यू ज़रूरी है? कैसे काम करता है? कैसे ख़रीदे? & All About Web Hosting In Hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको वेब होस्टिंग क्या है? – What Is Web Hosting In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा!

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here