वेबसाइट हैक कैसे करे? – How To Hack Website In Hindi

2

Website Hack Kaise Kare? – How To Hack Website In Hindi. अगर आप website hacking के बारे में जानना चाहते हो की WordPress blog या कोई website hack कैसे होती है? तो आज इस पोस्ट में मैं आपको website hacking के बारे में बताऊँगा, ओर हम जानिंगे की वेबसाइट हैक कैसे करे? – How To Hack Website In Hindi?

अगर आप कोई Blogger, Web Developer हो या फिर कोई website run करते हो तो यह पोस्ट आपके लिए काफ़ी हेल्पफ़ुल हो सकती है, क्यूँकि आज इस पोस्ट में मैं आपको एसे Top 5 Methods बताऊँगा, जिनको website hacking mostly use किया जाता है।


दोस्तों आज के समय में website बनाना बहुत आम हो गया है, ओर आप blogger, wordpress, wix जैसे platform का use करके दो मिनट में अपनी website ready कर सकते हो।

ब्लॉग (Blog) कैसे बनाये? ओर वेबसाइट (Website) कैसे बनाये? उसकी पूरी जानकारी यहाँ है।

लेकिन अगर आप अपनी कोई selfhosted website create करते हो तो उसकी security की ज़िम्मेदारी भी आपकी होती है। तो एसे में आपको यह जानना बहुत ज़रूरी है की website hack कैसे होती है, ओर website hacking में mostly किन किन techniques का use किया जाता है।

वेबसाइट और ब्लॉग को हैक होने से कैसे बचाये? उसके बारे में डिटेल से मैंने पहेले से ही बताया हुआ है, लेकिन आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की वेबसाइट हैक कैसे करे? – How To Hack Website In Hindi?

अगर आपका interest ethical hacking में है, तो Ethical Hacking क्या है? – What Is Hacking In Hindi ओर हैकर (Hacker) कैसे बने और हैकिंग कैसे सीखें? उसकी पूरी जानकारी यहाँ है।

Alert: यह पोस्ट  सिर्फ  Educational Purpose के लिए है , इसका  कोई भी गलत उपयोग ना करे. 😉 

वेबसाइट हैक कैसे करे? – How To Hack Website In Hindi [Top 5 Techniques]

यहाँ में आपको एसे Top 5 Techniques & Methods बता रहा हु, जिसको mostly website hacking, server hacking, ओर database hacking में use किया जाता है।

#1 SQL Injection:

SQL Injection एक एसी technique है जिसको website hacking में सबसे ज़्यादा use किया जाता है। hackers SQL Injection Technique का उपयोग करके site admin panel और उसके server पर अपना full control बना लेता है.

According to Wikipedia: “SQL injection is a code injection technique, used to attack data-driven applications, in which malicious SQL statements are inserted into an entry field for execution.”

इस technique में hackers vulnerable website को धूँडते हैं ओर फिर site के database sql, database libraries से अपना सम्बंध बना लेते हैं और आपके site को आसानी hack कर लेते हैं।

SQL Injection एक एसी technique है जिसका उपयोग data-driven applications को हैक करने के लिए किया जाता है। SQL इंजेक्शन attack में input fields या address bar में website URL के last में malicious कोड को डाला जाता है। 

यह भी पढ़े: कंप्यूटर हैक है कैसे पता करे – हैक हो जाये तो क्या करे?

#2 Clickjacking:

Clickjacking शब्द का उपयोग पहली बार जेरेमियाह ग्रॉसमैन तथा रोवर हेन्सन द्वारा पहली बार 2008 में किया गया था।

Clickjacking में HTML elements को invisible किया जाता है और invisible HTML elements में हैकर अपना malicious कोड डाल देता है और फिर जब user पेज पर क्लिक करता है तो वह हैकर के जाल में फंस जाता है।

इस technique में user को सिर्फ़ normal page ही दिखता है ओर वह invisible elements को नही देख पाता है, लेकिन जब वह पेज पर किसी और element पर क्लिक करता है तो हैकर के बनाए हुए link पर क्लिक हो जाता है।


आमतौर पर हैकर iFrames का उपयोग करके, उसमें अपने फेसबुक पेज plugin का कोड डालता है और जब आप किसी और visible element पर क्लिक करते हैं तो आप उसके फेसबुक पेज को अनजाने में Like कर देते हैं। 

यह भी पढ़े: 5+ Best हैकिंग कमांड की जानकारी (Hacking Commands In Hindi)

#3 Cross Site Scripting:

यह एक third party web application है, जिसके इस्तेमाल हैकर किसी भी साइट पर अटैक करने के लिए करते है। “cross site script” को microsoft ने आज से 19 साल पहले (2000) में इसे introduce करवाया था. 

Cross Site Scripting में Website vulnerability का फायदा उठाकर हैकर उन websites पर attack करता है जो users से unsanitized डाटा प्राप्त करती हैं।

ओर ज़्यादातर hackers इस तरह के attacks discussion groups पर करते हैं, क्यूँकि यहाँ पर users अपनी opinion किसी विषय पर रखते हैं। hackers comment box में एक लिंक डाल देते है ओर जिसके अंदर वो अपनी malicious script embed कर देते है। फिर जब forum का यूज़र उनके लिंक पर क्लिक करता है तो उनकी script execute हो जाती है।

यह भी पढ़े: बैंक अकाउंट हैक कैसे होता है और कैसे बचाये

#4 Cookies Poisoning:

Cookies Poisoning बहुत अधिक इस्तेमाल की जाने वाली technique है। guys cookies data का एक छोटा सा packet होता है जिसको website द्वारा user के कंप्यूटर में सेव किया जाता है।

Normally Cookies मेँ username और passwords save किए जाते हैं। example के लिए जब भी आप facebook पर अपनी id login करते है ओर remember me पर click कर देते है, तो next time आपको अपना username ओर password डालना नही पड़ता है, क्यूँकि वो आपके browser cookies में save हो जाता है।

Cookies Poisoning Attack में cookie के content से छेड़छाड़ की जाती है, ताकि security mechanism को bypass किया जा सके । 

यह भी पढ़े: Cookies Stealing से किसी का भी कंप्यूटर कैसे हैक करें?

#5 Denial of Service (DoS):

Denial of Service (DoS) or DDOS Attack का इस्तेमाल किसी भी website को crash या web server को down करने के लिए किया जाता है।

Denial of Service (DoS) एक effective hacking technique है जो Hacking Groups द्वारा बड़े स्तर पर use की जाती है। आमतौर पर हैकर इस technique का इस्तेमाल किसी server पर अत्याधिक मात्रा में traffic भेजने के लिए करते हैं।

जिसकी वजह से server इतने load को handle नहीं कर पाता, ओर Server Down हो जाता है, जिसकी वजह से users उस website को open नही कर पाते है।

Denial of Service (DoS) में Ping of Death, SYM Flood, Teardrop Attacks, Peer-to-Peer जैसे attacks किए जाते है।

DDOS Attack Se Website Ka Server Down Kaise Kare? उसकी complete guide यहाँ है।

यह भी पढ़े: 

उम्मीद है की अब आपको website hacking से related काफ़ी information मिल चुकी होगी, ओर अब आप जान गए होगे की वेबसाइट हैक कैसे करे? – How To Hack Website In Hindi?

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here