साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi

4

साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi. अगर आपको नहीं पता की साइबर क्राइम क्या होता है, और आपके मन में cyber crime से related बहुत से questions है तो आज आपको इस पोस्ट में आपके सारे सवालों के answers मिल जायंगे। क्युकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi & Types of Cyber Crime In Hindi और साइबर क्राइम से कैसे बचे? और भारत (India) में cyber law क्या हैं?

क्या आप जानना चाहते हैं कि cyber crime क्या होता है? इससे हम खुद को कैसे बचा सकते हैं? आज आप टेलीविजन, समाचार पत्रों, रेडियो तथा सोशल मीडिया पर पर साइबर अपराध की घटनाओं के बारे में पढ़ते होंगे। यदि आप भी Internet का उपयोग करते हैं तो एक जागरूक इंटरनेट उपयोगकर्ता होने के नाते आपको cyber crime की जानकारी जरूर होनी चाहिए जिससे आप सुरक्षित रहकर Technology का उपयोग भली-भाँति कर सके।


आज हम Technology के उस युग में जी रहे हैं जहाँ आए दिन नए-नए आविष्कार हो रहे हैं। जिनसे एक तरफ हमारी जिंदगी आसान बनती जा रही है वहीं दूसरी cyber crime भी बढ़ता जा रहा है। आज Computer, Smartphone आदि Devices की सहायता से जहाँ हम अनेक कार्यों को घर बैठे आसानी से कर सकते हैं वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग अपने फायदे के लिए दूसरों की Online Privacy के साथ खिलवाड़ करते हैं।

दोस्तों यह cyber crime क्या है? साइबर क्राइम का शिकार होने से हम स्वयं को कैसे बचा सकते हैं? यदि आप भी जानना चाहते हैं cyber crime क्या है तथा इससे संबंधित अन्य जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको आज का यह लेख अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए।

यह भी पढ़े: बैंक अकाउंट हैक कैसे होता है और कैसे बचाये

क्युकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi & Types of Cyber Crime In Hindi और साइबर क्राइम से कैसे बचे? और भारत (India) में cyber law क्या हैं?

साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi

सरल शब्दों में कहें तो साइबर क्राइम कंप्यूटर की मदद से किसी अपराध अंजाम दिया जाता है। तथा इन अपराध करने वाले लोगों को हैकर्स, क्रैकर्स आदि नाम से जाना जाता है। यह एक ऐसा अपराध है जिसे करने पर कड़ा जुर्माना अथवा जेल की सजा भी दी जा सकती है।

हैकर्स कंप्यूटर से Hacking, Spamming की मदद से ऑनलाइन घोटाले, लोगों की निजी जानकारी चुराने अश्लील तत्वों को बढ़ावा देना,निजी दस्तावेजों को सार्वजनिक करना, Spam Email करना आदि अन्य अवैध तरीकों का इस्तेमाल अपने लाभ के लिए करते हैं।

यह अपराध अनेक प्रकार से हो सकते हैं जैसे कि किसी जानकारी को चुराना, Delete करना तथा उस जानकारी में परिवर्तन कर नष्ट करना हो सकते हैं। तथा इन सभी अपराधों को करने के लिए email spam, हैकिंग, तथा virus आदि तरीकों का इस्तेमाल कर लोगों की गतिविधियों मैं नजर रखा जा सकता है

यह भी पढ़े: Email पर आने वाले Unwanted Spam Mails कैसे बंद करें?

मुख्यतः साइबर क्राइम करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है इसलिए साइबर क्राइम को कंप्यूटर अपराध भी कहा जाता है। आज हैकर्स इंटरनेट की जटिल सुरक्षा को तोड़कर अपराध कर रहे हैं। जिस कारण यह लोगों के लिए गंभीर विषय बन चुका है।

साइबर क्राइम के प्रकार – Types Of Cyber Crime In Hindi

साइबर क्राइम के अधिकतर मामलों में लोगों की निजी जानकारी को चुराकर गलत इस्तेमाल किया जाता है। हैकर्स सोशल मीडिया तथा वेबसाइट के माध्यम से username तथा passwords को चुराने का प्रयास करते हैं।

हैकर्स phishing का इस्तेमाल कर किसी यूज़र को आकर्षक संदेश लिंक के माध्यम ई भेजते हैं जिससे यदि यूज़र उस लिंक पर क्लिक करने के बाद उस पेज पर माँगी गयी जानकारी fill करता है। तो हैकर अपने इरादों में कामयाब हो जाते हैं तथा यह सारी डिटेल्स अपने पास जमा कर लेते हैं और इस तरह आपकी निजी जानकारी हैकर्स चुरा सकते हैं।

अगर आपको नहीं पता की फ़िशिंग क्या होता है? तो Phishing Attack क्या है? और इससे कैसे बचे? उस बारे में मैंने पहले से ही डिटेल से बताया हुआ है.


साइबर अपराधी सोशल मीडिया या अन्य प्रकार से आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर भेजते हैं जिन्हें इनस्टॉल करने पर आपके कंप्यूटर में वायरस फैल सकता है। तथा यह वायरस आपका पूरे कंप्यूटर की सारी फाइल्स को डैमेज कर सकता है।

यह भी पढ़े: किसी भी वेबसाइट का फिशिंग पेज कैसे बनाये?

hackers फोन कॉल की मदद से आपकी निजी जानकारी को चुरा सकते हैं। कई मामलों में देखा गया है कि साइबर अपराधी फर्जी कॉल के माध्यम से आपके बैंक अकाउंट तथा बैंक से संबंधित अन्य जानकारी पूछते हैं तथा आपके द्वारा माँगी गयी जानकारी देने पर आपके बैंक अकाउंट से सारे पैसे चुरा लिए जाते हैं। औऱ आप ठगी का शिकार हो जाते हैं।

इसके अलावा वर्तमान समय पर facebook, whatsapp जैसे सोशल नेटवर्किंग साइट पर साइबर अपराधी गलत अफवाहों को फैलाते हैं। इसके लिए वे अनेक प्रकार के मुद्दों को उठाते हैं अधिकतर जिससे लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होती हैं। आमतौर पर हैकर्स का मुख्य उद्देश्य उनके द्वारा बनाए गए लिंक पर यूज़र्स क्लिक करना होता है तथा वहां अपना नाम तथा अन्य जानकारी भरने पर डाटा साइबर अपराधी के पास चला जाता है

साइबर क्राइम से कैसे बचे?

यदि आप एक इंटरनेट यूजर हैं! तो संभव है कि आप भी छोटी-सी चूक के कारण साइबर क्राइम का शिकार हो सकते हैं, इसलिए यहां कुछ टिप्स बताई जा रहे हैं जिनका ध्यान पूर्वक इस्तेमाल कर आप स्वयं को साइबर क्राइम के शिकार होने से बचा सकते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आज social media facebook, whatsapp पर कई सारे अनचाहे लिंक आते हैं आपको किसी भी अनचाहे लिंक पर क्लिक कर अपनी किसी प्रकार की कोई जानकारी enter नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़े: फेसबुक अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाये? और  जीमेल अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाये?

इसके अलावा आपको सोशल मीडिया के सभी अकाउंट के पासवर्ड को बदलने के साथ ही क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड आदि का भी पासवर्ड हमें समय-समय पर बदलना चाहिए। तथा ऐसा पासवर्ड सेट करने की कोशिश करें जिसमें आपका नाम तथा जन्मतिथि आदि सम्मिलित ना हो जिससे हैकर को आपके जानकारी प्राप्त करने में आसानी न हो।

हैकिंग की मदद से हैकर्स द्वारा कंप्यूटर में वायरस अटैक करना उद्देश्य हो सकता है। तथा वायरस आने से आपका सभी files तथा अन्य data गुम हो सकता है। इसलिए हमेशा updated antivirus कंप्यूटर में इंटस्टाल करें इसके साथ ही संभव हो तो एक बेहतर antivirus खरीदना आपके लिए उपयोगी हो सकता है।

बैंकिंग लेनदेन संबंधी कार्य करने के लिए हमेशा अपने पर्सनल कंप्यूटर यबस्मार्टफोन का ही उपयोग करें। अधिक भीड़-भाड़ वाले स्थान जैसे साइबर कैफे तथा किसी अन्य व्यक्ति के डिवाइस में बैंकिंग लेनदेन संबंधी अकाउंट का उपयोग ना करें।

नकली वेबसाइट से सावधान रहें! इन वेबसाइट का यूजर इंटरफ़ेस बैंकिंग वेबसाइट शॉपिंग वेबसाइट जैसा ही होता है। परंतु हैकर्स द्वारा इस्तेमाल कि जाने वाली इन वेबसाइट में अपने बैंक अकाउंट की id login करने या अपनी निजी जानकारी fill करने पर cyber crime का शिकार हो सकते हैं। और हमेशा किसी साइट पर बैंकिंग लेनदेन या अन्य जरूरी जानकारियां टाइप करने से पहले उस वेबसाइट के सही URL को जानना अति आवश्यक है।

What Is Cyber Law in India in Hindi

दोस्तों भारत में ‘Information Technology Act, 2000’ के सेक्‍शन 65, 66, 66B, 66C, 66D, 66E, 66F, 67, 67A, 67B, 67C, 68, 69, 70 और सेक्‍शन 71 तक अलग अलग क्राइम के लिए ₹20,000 से ₹1,000,000 तक का जुर्माना और तीन से पांच साल तक कैद का प्रावधान हैं।

उम्मीद है आपको साइबर क्राइम (Cyber Crime) से related पूरी जानकारी मिल चुकी होगी। और अब आपको पता चल गया होगा की साइबर क्राइम क्या है – What Is Cyber Crime In Hindi & Types of Cyber Crime In Hindi और साइबर क्राइम से कैसे बचे? और भारत (India) में cyber law क्या हैं?

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.


Rate this post

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here