डिजिटल मार्केटिंग क्या है? – What Is Digital Marketing In Hindi


डिजिटल मार्केटिंग क्या है [What Is Digital Marketing In Hindi] अगर आपको नहीं पता की डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है? और आप डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानना चाहते हो तो आप बिलकुल सही जगह आये हो क्युकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की डिजिटल मार्केटिंग क्या है? डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरुरी है? डिजिटल मार्केटिंग के फायदे क्या हैं? डिजिटल मार्केटिंग कैसे और कहा से सीखे? All About Digital Marketing In Hindi?

वर्तमान समय में भारत डिजिटल बनता जा रहा है तथा हम भी दैनिक जीवन में अनेक digital device का उपयोग करते हैं। लेकिन वर्तमान समय में आपने digital Marketing के बारे में जरूर सुना होगा! अक्सर आपके मन में विचार आया होगा की आखिर यह डिजिटल मार्केटिंग क्या है?


दोस्तो आज का यह लेख इसी विषय पर है जिसमें हम जानेंगे की डिजिटल मार्केटिंग क्या है? डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरुरी है? डिजिटल मार्केटिंग के फायदे क्या हैं? डिजिटल मार्केटिंग कैसे और कहा से सीखे? All About Digital Marketing In Hindi?

डिजिटल मार्केटिंग को जानने से पूर्व पारम्परिक (traditional) मार्केटिंग के बारे में जानना जरूरी है। Marketing का विज्ञापन या “प्रचार करने” से है। दोस्तों पहले एक कंपनी अपने वस्तुओं को promote करने के लिए रेडियो, टेलीविजन समाचार पत्र आदि में विज्ञापन के जरिए प्रचार करती थी।

जिससे अधिक से अधिक लोगों तक अपने प्रोडक्ट या सेवाओं को पहुँचाया जा सके। परंतु समय के साथ कई चीजें बदल गई है उसी तरह वर्तमान समय में मार्केटिंग का तरीका भी बदल चुका है। आज धीरे-धीरे लगभग सभी छोटी तथा बड़ी कंपनियां सोशल मीडिया का सहारा ले रही हैं।

क्योंकि वर्तमान समय में लोग समाचार पत्र,रेडियो टीवी के स्थान पर स्मार्ट फोन में अपना अधिक समय व्यतीत करते हैं। अतः वर्तमान समय मे विज्ञापन के लिए डिजिटल मार्केटिंग महत्वपूर्ण माध्यम बन चुका है। डिजिटल मार्केटिंग तथा परंपरागत मार्केटिंग में अंतर जानने के बाद अब सवाल आता है कि आखिर डिजिटल मार्केटिंग क्या है?

एनीमेशन क्या है और कैसे बनाये – What Is Animation In Hindi उसकी पूरी जानकारी यहां है….

डिजिटल मार्केटिंग क्या है [What Is Digital Marketing In Hindi]

डिजिटल मार्केटिंग अर्थात इलेक्ट्रॉनिक रूप में की जाने वाली मार्केटिंग इसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कहा जाता है। सरल शब्दों में कहें तो अपने उत्पादों तथा सेवाओं को डिजिटल साधनों से मार्केटिंग करने के की इस प्रक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग के नाम से जाना जाता है।

आज हम facebook, instagram आदि सोशल apps तथा youtube, Web ब्राउजिंग करते समय वेबसाइट में Ads show होते हैं। जिस वजह से बड़ी- बड़ी कंपनियां डिजिटल मार्केटिंग के जरिये अपने उत्पादों तथा सेवाओं का प्रचार कर रही हैं। जिस तरह वर्तमान समय में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ने हमारी जिंदगी बदल दी है,उसी तरह डिजिटल मार्केटिंग ने मार्केटिंग अर्थात व्यापर करने का तरीका बदल दिया है।


डिजिटल मार्केटिंग में एक कंपनी अपने उत्पादों को google, youtube आदि सर्च इंजन पर अपने प्रोडक्ट का प्रचार करने के लिए इन सर्च इंजन को पैसा देती है। तथा गूगल या यूट्यूब सर्च इंजन का इस्तेमाल करते समय यूजर को यह Ads show किए जाते हैं। तथा इस प्रक्रिया में डिजिटल मार्केटर्स कंपनी के प्रोडक्ट को बेचने के लिए डाटा का विश्लेषण करते हैं। जिससे कंपनी के प्रोडक्ट Target कर उन लोगों तक पहुंच सके! जिन लोगों को इन प्रोडक्ट तथा सर्विस की आवश्यकता होती है।

डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरुरी है? तथा इसके फायदे क्या हैं? (Benefits Of Digital Marketing In Hindi)

अब सवाल आता है कि डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है, तथा कैसे फायदेमंद है?

वर्तमान समय में जहां चीजें हैं डिजिटल हो रही हैं,अर्थात हम अपने स्मार्टफोन तथा कंप्यूटर के जरिए विश्व से कनेक्टेड हैं। जिससे लोगों तक पहुंच आसान हो रही है लेकिन पारंपरिक मार्केटिंग में इस प्रकार एक समय मे कई लोगों तक पहुँचना काफी मुश्किल होता है। वर्तमान समय में ऑनलाइन मार्केटिंग ने ऑफलाइन मार्केटिंग का स्थान ले लिया है क्योंकि लोग अपने पसंदीदा प्रोडक्ट की किसी भी स्थान से जानकरी चेक कर सकते हैं तथा उन्हें ऑर्डर कर सकते हैं। जिससे समय तथा ऊर्जा दोनों की बचत होती है।

वर्तमान समय में डिजिटल मार्केटिंग बड़े व्यापारियों के साथ ही छोटे व्यापारियों के लिए भी महत्वपूर्ण हो चुकी है। जिससे वह लोगों तक पहुंच को बढ़ाने के साथ ही इंटरनेट पर अपने ब्रांड को विकसित कर सकते हैं. इंटरनेट के जरिए हम किसी प्रोडक्ट की वास्तविकता उसके वर्तमान प्राइस तथा फीचर्स को जानने के साथ ही उस प्रोडक्ट का तुलना भी कर सकते हैं। जिस वजह से एक ग्राहक अपने लिए सर्वोत्तम उत्पाद खरीद सकता है।

डिजिटल मॉर्केटिंग के जरिए कंपनी द्वारा किसी प्रोडक्ट की गयी sale, लोकेशन, लोगों की उम्र तथा अन्य महत्वपूर्ण data को आसानी से analyze कर सकती है। जिससे कंपनी लोगों की आवश्यकतानुसार बेहतर प्रोडक्ट को लॉन्च करती है तथा कंपनी की सेल में बढ़ोतरी होती है। डिजिटल मार्केटिंग के जरिए कंपनी खास वर्ग के लोगों को तथा उनकी लोकेशन के आधार पर अपने प्रोडक्ट या सेवाओं को लोगों तक पहुचाँ सकती है।

उदाहरण के लिए यदि कंपनी अपने किसी प्रोडक्ट को युवा वर्ग के लिए बनाती है तो डिजिटल मॉर्केटिंग के जरिए उस प्रोडक्ट को ads के जरिये केवल युवा वर्ग को ही show किया जा सकता है। तथा इसके अलावा कंपनी किसी विशेष स्थान को टारगेट भी कर सकती है। मान लीजिये कंपनी द्वारा दिल्ली राजधानी की लोकेशन को टारगेट करने पर वह ad केवल दिल्ली के युवा वर्ग ही देख सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार – Types Of Digital Marketing In Hindi

Search Engine Optimization

SEO डिजिटल मार्केटिंग का एक मुख्य प्रकार है, जो आपकी ऑनलाइन Visibility को Organically अर्थात बिना Ads के grow करने में मदद करता है। आप SEO कर  organic search Result मैं अपनी कंपनी की वेबसाइट/खुद के ब्लॉग को Top पर ला सकते हैं? यदि आप SEO के विषय पर Details Guide चाहते हैं, तो हम Already  SEO क्या है? on page seo इस विषय पर लेख लिख चुके हैं।

Search Engine Marketing

इसे शॉर्ट में SEM भी कहते हैं। आज के इस Competitive Marketplace में अपने बिजनेस को ऑनलाइन grow करने के लिए यह सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है। दोस्तों SEO के जरिए organic Reach पाने में थोड़ा समय, धैर्य चाहिए! परंतु वहीं दूसरी तरफ SEM के माध्यम से हम investment कर बिजनेस को Paid एडवर्टाइजमेंट के जरिए Grow कर सकते हैं।

सर्च इंजन मार्केटिंग की खूबी तथा विशेषता है कि यह उनके प्रोडक्ट एवं सर्विस को Sell करने के लिए Advertisers को उन ग्राहकों से जोड़ती है! जो पहले से ही उन उत्पादों एवं सेवाओं की खरीदारी के लिए तैयार रहते हैं।

Social Media Marketing

आप यह तो जानते ही होंगे कि इस समय सोशल मीडिया Marketing Strategy का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। SMM किसी कंपनी को उनकी product & services को अधिक से अधिक यूजर्स तक पहुंचाने के साथ ही valuable फीडबैक प्राप्त करने में मदद करता है जिससे उसमें और अधिक सुधार लाया जा सकता है।

यदि आप Quality कंटेंट पर फोकस करते हैं, तो सोशल मीडिया के जरिए आप Organic &Advertisement दोनों तरीकों से अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सकते हैं। Facebook, Twitter, instagram, Linkdin इत्यादि social प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल इस समय सबसे अधिक होता है।

Content Marketing

कंटेंट मार्केटिंग से तात्पर्य यूजर्स तक क्वालिटी कंटेंट डिलीवर करने से है! जिससे अधिक Sales एवं Leads Generated हो। यह कॉन्टेंट किसी भी तरह का हो सकता है, चाहे कोई ब्लॉग पोस्ट, वीडियो या फिर टि्वटर पर किया गया कोई ट्वीट!

इसलिए एक बेहतर Content डिलीवर करने के लिए हमेशा interesting कॉन्टेंट बनाएं। जिससे आपके द्वारा Targeted  Audience Engage हो सके! यह Content Informational, Educational या फिर Entertaining हो सकता है। तथा अंत में ध्यान दें सर्वाधिक Feedback एवं Reach पाने के लिए Content को अधिक से अधिक सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करें।

Affiliate Marketing

इस समय कई सारे bloggers,  वेबसाइट में Affiliate मार्केटिंग Module का इस्तेमाल कर अच्छी Earning के साथ-साथ एक ब्रांड विकसित कर रहे हैं। पर शायद आप भी जरूर Affiliate मार्केटिंग से परिचित होंगे!

सरल शब्दों में Affiliate मार्केटिंग को समझें तो Affiliate मार्केटिंग एक प्रक्रिया है जिसमें एक Affiliate मार्केटर किसी कंपनी के प्रोडक्ट्स एवं सर्विस को प्रमोट कर की गई कुल बिक्री का Fix कमीशन पाता है। यह कंपनी तथा एक seller दोनों के लिए फायदेमंद बिज़नेस है, इसीलिए अनेक लोगों के लिए वर्तमान समय में Affiliate Marketing पैसिव इनकम का मुख्य स्रोत बन चुका है।

Influencer Marketing

इसे हम डिजिटल मार्केटिंग का एक नया प्रकार भी कह सकते हैं इसका इस्तेमाल Companies अपने ब्रांड को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने के लिए करती है, ज्यादातर Influencer मार्केटिंग के लिए सोशल मीडिया चैनल्स का इस्तेमाल करते हैं।

उदाहरण के तौर पर आज कई ऐसी Companies हैं जो इंस्टाग्राम पर मार्केटिंग के लिए कुछ ऐसे Instagrammers से Contact करती हैं, जिनके पास बड़ी संख्या में Followers हो! ताकि इनफ्लुएंसर उनके ब्रांड या प्रोडक्ट्स को उनके followers तक पहुंचा सके! जिसके बदले में कंपनी अच्छा खासा influencers को pay भी करती है।।

Email Marketing

Email मार्केटिंग सबसे पुरानी मार्केटिंग होने के साथ-साथ आज भी ऑनलाइन मार्केटिंग की दुनिया में प्रभावी है। आसान शब्दों में ईमेल मार्केटिंग को समझे तो ई-मेल का इस्तेमाल कर जब उत्पादों एवं सेवाओं का प्रचार किया जाता है तो वह ईमेल मार्केटिंग कहलाती है।

आज भी कई सारे ब्लॉगर्स एवं बड़े-बड़े brands ईमेल मार्केटिंग करते हैं, और न सिर्फ ईमेल मार्केटिंग प्रोडक्ट्स एवं सर्विस को बेचने का एक माध्यम है बल्कि यह Potential Customers एवं Clients के बीच अच्छे संबंध को विकसित करने का जरिया है।


Viral Marketing

इसे हम मार्केटिंग का नया प्रकार भी कह सकते हैं। क्योंकि वायरल मार्केटिंग से तात्पर्य है ऐसी short post जो कि trendy, funny या अजीबोगरीब हो जिसे लोग बेहद पसंद करें और कम समय में ही बड़ी संख्या में शेयर्स करें। वायरल मार्केटिंग कम समय में किसी वेबसाइट में ढेर सारा ट्रैफिक पाने में सक्षम होती है।

आप इस समय सोशल मीडिया पर वायरल मार्केटिंग के कई उदाहरण देख सकते हैं। जिसका इस्तेमाल अधिकतर B2c (Business To Customers) कंपनियां करती हैं।

तो इस प्रकार हमने बात की डिजिटल मार्केटिंग के कुछ मुख्य प्रकारों की इसके अलावा mobile phone advertisement भी इसका एक मुख्य प्रकार है, जिसके अंतर्गत s.m.s. Advertisement सबसे अधिक लोकप्रिय है! जिससे कस्टमर तक Sms के माध्यम से स्पेशल ऑफर्स, Coupons भेजे जा सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए? – How to Make Money from Digital Marketing in Hindi

बतौर डिजिटल मार्केटर आपके पास पैसे कमाने के सैकड़ों तरीके हैं लेकिन यहां हम कुछ मुख्य तरीकों की चर्चा करने जा रहे हैं जो आपको डिजिटल मार्केटिंग के फील्ड में पैसा कमाने में मदद करते हैं।

Freelancer

web डिजाइनिंग से लेकर Content Writer तक आपकी जिस भी फील्ड में कार्य करने की विशेषता है। आप अपनी इस खूबी से अच्छे पैसे कमा सकते हैं एक Freelancer बनकर!

आज Fiverr, Freelancer, upwork ऐसी कई वेबसाइट्स हैं, जहां पर आप अपनी Skills के मुताबिक Clients के लिए विभिन्न प्रोजेक्ट्स को Complete कर एक Freelancer के तौर पर अपनी डिजिटल मार्केटिंग सेवाएं दे सकते हैं। तथा घर बैठे कार्य कर अच्छे पैसे कमा सकते हैं।

इसके अलावा डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत विभिन्न प्रकार की सेवाएं हैं, आप अपनी Skills के मुताबिक अपनी सेवाएं किसी कंपनी को दे सकते हैं! अर्थात जॉब करके भी पैसे कमा सकते हैं! डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमाने के कुछ मुख्य कारगर तरीके निम्नलिखित हैं!

  • Website designing
  • Social media marketing
  • Content marketing
  • Blogging
  • SEO
  • Mobile marketing
  • Affiliate marketing
  • Email marketing

तो इस तरह और भी अनेक कई तरीके हैं जिससे आप Digital मार्केटिंग फील्ड में पैसा कमा सकते हैं! अब आपको अपने Skill से एवं passion को देखना है कि आप डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत किस फील्ड में अपना इंटरेस्ट रखते हैं, और उसे अपना केरियर भी बना सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखें?

डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है! यह समझने के बाद अब सवाल आता है कि डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीख सकते हैं. किसी भी डिजिटल मार्केटर के लिए यह कुछ महत्वपूर्ण tool सीखने जरूरी होते हैं। Seo, sem, कंटेंट मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, डिसप्ले एडवरटाइजिंग मार्केटिंग आदि अन्य चीजों का डिजिटल मार्केटिंग में इस्तेमाल किया जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग को प्रोफेशनल रूप में सीखने के लिए हमेशा एक प्रसिद्ध institute (गूगल पार्टनर)जैसे डिजिटल मार्केटिंग शिक्षण संस्थान जॉइन करना फायदेमंद होता हज। अतः जहाँ से आप इन इंस्टिट्यूट में 3 से 6 माह का यह कोर्स कर सकते हैं।

  • AIMA
  • DSIM
  • EDUKART
  • DIGITAL VIDYA

जैसे कुछ अनुभवी तथा प्रसिद्ध डिजिटल मार्केटिंग institute है। तथा आप अपनी इच्छानुसार किसी भी डिजिटल मार्केटिंग institute से डिजिटल मार्केटिंग सीख सकते हैं। इसके अलावा यदि आप डिजिटल मार्केगिंग को basic लेवल पर सीखना चाहते हैं तो आसानी से आप घर बैठे यह कर सकते हैं।

वर्तमान समय मे कई youtube चैनल में हिंदी भाषा मे डिजिटल मार्केटिंग सिखाई जाती है तथा इसके साथ ही इंटरनेट पर कई वेबसाइट हैं जहाँ से आप मुफ्त में डिजिटल मार्केटिंग सीख सकते हैं। तथा facebook तथा गूगल की तरफ से भी आप डिजिटल मार्केटिंग सीख के सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग में मूलभूत ज्ञान प्राप्त करने के बाद आप किसी अच्छे डिजिटल मार्केटिंग इंस्टिट्यूट से कोर्स कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग से जुड़े कुछ FAQs

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स क्या है?

Digital marketing कोर्स में विशेषज्ञों द्वारा डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के तहत डिजिटल मार्केटिंग के विभिन्न पहलुओं जैसे SEO, content writing, content marketing, ईमेल मार्केटिंग, सोशल मीडिया, PPC इत्यादि का प्रशिक्षण( training) दिया जाता है, ताकि आप अपने व्यवसाय या किसी कंपनी से जुड़कर उनके बिजनेस को ग्रो करने में उनकी मदद कर सके।

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए?

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमाने के लिए पहले आपको डिजिटल मार्केटिंग क्या है? और यह कैसे काम करती है, समझना होगा फिर आपको डिजिटल मार्केटिंग के किसी भी एक फील्ड चाहे वह SEO हो या कंटेंट राइटिंग आपको उसमें पकड़ मजबूत बनानी होंगी। जैसा कि हमने जाना डिजिटल मार्केटिंग कोई Single term नहीं है यह एक वृक्ष की तरह है जिसमें कई शाखाएं होती है, उसी तरह डिजिटल मार्केटिंग में भी कई सारे Aspect (पहलू) होते हैं, आप जिस एरिया में एक्सपोर्ट होंगे उतना बेहतर आप काम कर पैसे कमा पाएंगे।

अगर आपकी डिजिटल मार्केटिंग में अच्छी स्किल्स हैं, मान लीजिए आपको अच्छी कंटेंट राइटिंग आती है तब आपके पास पैसे कमाने के कई तरीके होते है. आप फ्रीलांसिंग कर सकते हैं, किसी ब्लॉग, बिजनेस के लिए आर्टिकल लिख सकते हैं या affiliate मार्केटिंग कर सकते हैं और अच्छी कमाई कर सकते हैं। मान लीजिए आपको SEO करना आता है, तो आप बतौर seo एक्सपोर्ट किसी छोटे बिजनेस की वेबसाइट को गूगल सर्च इंजन में Rank करवाने में उनकी मदद करके काफी Earning कर सकते हैं। अतः डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमाना है तो कोई भी Skill सीखें, और फिर अपनी सेवाएं देकर कमाना शुरू करें।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखे?

Digital marketing सीखने के मुख्यतया दो तरीके हैं पहला आप अपने क्षेत्र या शहर में कोई डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट ज्वाइन करें जहां पर आपको डिजिटल मार्केटिंग सिखाई जाए. या फिर घर बैठे अगर आप सीखना चाहते है, तो ऑनलाइन अच्छे डिजिटल मार्केटिंग कोर्स को ज्वाइन कर सकते हैं हालांकि यूट्यूब तथा अन्य फ्री प्लेटफार्म पर भी आपको डिजिटल मार्केटिंग सिखाई जाती है तो आप उसकी भी हेल्प ले सकते हैं।

मैं सजेस्ट करूंगा अगर आप डिजिटल मार्केटिंग में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको अच्छे डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट से डिजिटल मार्केटिंग सीखने की शुरुआत करनी चाहिए। और कोर्स के दौरान आप जिन चीजों को सीखते हैं, उनको Apply जरूर करें, गलतियां करें, सीखने के बाद फिर आप अच्छी कमाई करेंगे।

ऑनलाइन मार्केटिंग कैसे की जाती है?

जब इंटरनेट के जरिए अपने व्यवसाय में उत्पादों और सेवाओं का प्रचार प्रसार किया जाता है तो उसे ऑनलाइन मार्केटिंग कहा जाता है ऑनलाइन मार्केटिंग करने के लिए आप सोशल मीडिया, ईमेल, website/ blog, YouTube channel इत्यादि किसी भी इंटरनेट से जुड़े प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कितने महीने का होता है?

प्रायः digital marketing संस्थान में इस कोर्स की अवधि 6 महीने की होती है। वहीं कई संस्थान इस कोर्स को 3 महीने या फिर 1 साल के लिए भी लॉन्च करते हैं। बात की जाए इस कोर्स की फीस की तो यह अलग-अलग इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है।

डिजिटल मार्केटिंग और टेली मार्केटिंग क्या है समझाइए?

डिजिटल मार्केटिंग में जहां इंटरनेट का प्रयोग कर लाखों लोगों तक अपने उत्पादों और सेवाओं को पहुंचाकर मार्केटिंग कर सकते हैं। वहीं टेलीमार्केटिंग में मार्केटिंग के लिए टेलीफोन का इस्तेमाल किया जाता है। टेलीमार्केटिंग के तहत कंपनी फोन कॉल्स के जरिए अपने उत्पादों सेवाओं के बारे में ग्राहकों को जानकारी देने और प्रायः लोगों को ग्राहकों में तब्दील करने का प्रयास करती है। 

Telemarketing को direct marketing भी कहा जाता है, और टेलीफोन के माध्यम से की जाने वाली मार्केटिंग की इस प्रक्रिया को telesales” or “inside sales” के नाम से भी जाना जाता है। देखा जाए तो Tele मार्केटिंग और डिजिटल मार्केटिंग बिल्कुल ही अलग है टेलीमार्केटिंग में आपके पास कस्टमर तक की Reach बहुत कम होती है, वही डिजिटल मार्केटिंग आपको देश दुनिया के पोटेंशियल ग्राहकों तक पहुंचने में मदद करती हैं

दोस्तों उम्मीद है! अब आपको डिजिटल मार्केटिंग से जुडी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और अब आप जान गए होंगे की डिजिटल मार्केटिंग क्या है [What Is Digital Marketing In Hindi] डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरुरी है? डिजिटल मार्केटिंग के फायदे क्या हैं? डिजिटल मार्केटिंग कैसे और कहा से सीखे? All About Digital Marketing In Hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको डिजिटल मार्केटिंग क्या है? – What Is Digital Marketing In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here