Call Forwarding क्या है? – What is Call Forwarding in Hindi


इस आर्टिकल में हम आपको कॉल फॉरवर्डिंग के बारे में जानकारी देने वाले हैं। कॉल फॉरवर्डिंग कैसे इस्तेमाल करते हैं? Call Forwarding क्या है? कॉल फॉरवर्डिंग कैसे की जाती है, साथ ही कॉल फॉरवर्डिंग को कैसे हटाया जाता है? इससे संबंधित जानकारी आप इस आर्टिकल में प्राप्त करेंगे।

Call Forwarding क्या है? - What is Call Forwarding in Hindi

काफी लोग यह सोचते हैं कि कॉल फॉरवर्डिंग और कॉल डाइवर्ट दोनों अलग-अलग है, तो उन्हें हम बता दें कि यह दोनों एक ही फीचर है, जो तकरीबन हर स्मार्टफोन में आते हैं और हर फीचर फोन में भी आते हैं और यह फीचर आपको मोबाइल की कॉल सेटिंग में प्राप्त हो जाते हैं.


तो चलिए यह जानते हैं कि Call Forwarding क्या है? – What is Call Forwarding in Hindi!

 


Call Forwarding क्या है? – What is Call Forwarding in Hindi

कॉल डाइवर्ट ‌यानी की कॉल फॉरवर्डिंग एक ऐसा फीचर है जो आपको यह सुविधा देता है कि आप अपने नंबर पर आने वाले फोन कॉल को किसी दूसरे नंबर पर ट्रांसफर कर सकें।

मान लीजिए कि आपके फोन पर कोई दूसरा व्यक्ति फोन कर रहा है और आप यह चाहते हैं कि जो व्यक्ति आपको आपके नंबर पर फोन कर रहा है वह फोन तो आपके नंबर पर करें परंतु उसकी कॉल दूसरे नंबर पर लगे, जिसे डाइवर्ट करना कहा जाता है। इस प्रकार आप समझ गए होंगे कि कॉल डाइवर्ट क्या होता है।

अब आपके मन में यह भी सवाल पैदा हो रहा होगा कि क्या हम व्हाट्सएप कॉल को भी फॉरवर्ड कर सकते हैं या फिर फेसबुक अथवा इमो मैसेंजर की कॉल को भी फॉरवर्ड कर सकते हैं तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नहीं आप ऐसा नहीं कर सकते हैं।

जहां तक हमें पता है आप अपने सिम कार्ड पर जो फोन कोल आता है उसे ही फॉरवर्ड कर सकते हैं। व्हाट्सएप, फेसबुक या फिर इमो मैसेंजर की तरफ से ऐसी कोई सुविधा अभी नहीं दी जा रही है। इसलिए सामान्य तौर पर हम लोगों से बातचीत करने के लिए जिस जरिए का इस्तेमाल करते हैं, आप उसमें ही कॉल फॉरवर्ड यानी कि कॉल डाइवर्ट कर सकते हैं।

इसे उदाहरण देकर के समझाए तो मान लीजिए आपने अपने दोस्त सत्यम को फोन लगाया परंतु सत्यम ने कॉल डाइवर्ट करके रखी है, तो आप ने भले ही सत्यम के फोन पर फोन लगाया है परंतु वह कॉल सत्यम ने जिस सिम कार्ड पर डाइवर्ट करके रखी है उसी सिम कार्ड पर जाएगी।

कॉल फॉरवर्डिंग करने से क्या होता है?

इसका सीधा सा मतलब यही है कि आपके सिम कार्ड पर आने वाला कोल आपने जिस नंबर पर कॉल फॉरवर्ड किया है उस सिम कार्ड पर जाता है। अगर आप यह चाहते हैं कि आपके सिम कार्ड पर कोई बंदा फोन करें और वह किसी दूसरे सिम कार्ड पर जाए तो ऐसी सिचुएशन में कॉल फॉरवर्ड करने का तरीका बहुत ही काम का होता है।

यह फीचर आपको जिओ फोन में भी प्राप्त हो जाएगा, साथ ही किसी भी प्रकार के एंड्रॉयड और आईओएस स्मार्टफोन में प्राप्त हो जाएगा। इसके अलावा यह जो सामान्य कीपैड वाले फोन होते हैं उसमें भी मिल जाता है, जिसका मुख्य वर्क होता है फोन कॉल को किसी एक नंबर से दूसरे नंबर पर ट्रांसफर करना।


मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग कैसे यूज़ करें?

अगर आप अपने सिम कार्ड पर आने वाले सभी फोन कॉल को डाइवर्ट करना चाहते हैं अथवा फॉरवर्ड करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बस कॉल सेटिंग में जाना पड़ेगा और थोड़ी सी आवश्यक प्रक्रिया करनी पड़ेगी।

कॉल फॉरवर्ड करने के लिए आपके पास एक दूसरा नंबर होना चाहिए साथ ही वह नंबर एक्टिव होना चाहिए। यह आवश्यक नहीं है कि दूसरा नंबर आपका ही हो। आप किसी भी नंबर पर कॉल फॉरवर्ड कर सकते हैं।

कॉल फॉरवर्ड का फीचर कब काम आता है?

अगर आप कहीं पर घूमने जा रहे हैं तो आप कॉल फॉरवर्ड कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आपके फोन की बैटरी चार्ज नहीं है और चार्जिंग का कोई उपाय भी नहीं मिल पा रहा है तो आप कॉल फॉरवर्ड कर सकते हैं, साथ ही अगर आपके फोन में नेटवर्क की समस्या है तो भी आप इसे कर सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप कहीं पर काफी ज्यादा व्यस्त हैं और कॉल उठा नहीं पा रहे हैं, तो आप कॉल फॉरवर्ड कर सकते हैं, साथ ही अगर आप फ्लाइट में है तो भी आप कॉल फॉरवर्ड का सिस्टम अपने फोन में कर सकते हैं।

कॉल फॉरवर्ड कब किया जाता है?

कभी कबार ऐसी सिचुएशन आ जाती है जब हम अपने सिम कार्ड पर या फिर अपने फोन नंबर पर कॉल एक्सेप्ट नहीं कर पाते हैं यानी कि कॉल रिसीव नहीं कर पाते हैं। ऐसी सिचुएशन में हम अपने सिम कार्ड पर आने वाले सभी कॉल को डाइवर्ट कर देते हैं, जिसे कॉल फॉरवर्ड करना कहा जाता है।

उदाहरण के तौर पर अगर आपके फोन में 2 सिम कार्ड है तो आप अपने किसी एक सिम कार्ड की सभी कॉल को दूसरे सिम कार्ड के नंबर पर फॉरवर्ड कर सकते हैं अथवा किसी दूसरे के सिम कार्ड पर भी अपने सिम कार्ड पर आने वाले कॉल को फॉरवर्ड कर सकते हैं।

सामान्य तौर पर देखा जाए तो कॉल फॉरवर्ड का सिस्टम चालू करने के लिए आपको अपने फोन की कॉल सेटिंग में जाना पड़ता है। वहां पर पहुंचने के बाद आपको ऊपर या फिर नीचे कहीं पर कॉल फॉरवर्ड का ऑप्शन दिखाई देता है, जिस पर आपको क्लिक करना पड़ता है।

उसके बाद आपको उस नंबर का सिलेक्शन करना पड़ता है, जिस नंबर पर आप कॉल फॉरवर्ड करना चाहते हैं। उसके बाद आवश्यक प्रक्रिया पूरी करके कॉल फॉरवर्ड का सिस्टम आपके फोन में चालू हो जाता है। अब कोई भी बंदा आपके सिम कार्ड पर फोन करेगा तो वह कॉल फॉरवर्डिंग किए गए नंबर पर जाएगी।

कॉल फॉरवर्ड कैसे करें?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप एंड्रॉयड स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो एंड्रॉयड स्मार्टफोन में कॉल फॉरवर्ड कैसे की जाती है इसका तरीका हम नीचे बता रहे हैं, क्योंकि आज के समय में अधिकतर लोग एंड्रॉयड स्मार्टफोन ही इस्तेमाल करते हैं। इसीलिए हमने एंड्रॉयड स्मार्टफोन में कॉल फॉरवर्ड अथवा कॉल डाइवर्ट करने का तरीका बताया हुआ है।

1: अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन में कॉल फॉरवर्ड करने के लिए सबसे पहले आपको अपने स्मार्टफोन का लॉक खोलना है और उसके बाद setting को ओपन कर लेना है। उसके बाद आपको कॉल डायलर में चले जाना है और उसके बाद आपको मैंनू बटन को दबाकर के call setting को ओपन कर लेना है।

2: जब कॉल सेटिंग ओपन हो जाए तो उसके बाद आपको call forward का एक ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर आपको क्लिक कर देना है।

3: अब आपको अपना फोन नंबर निर्धारित जगह में डालना है।

  • Always Forward

अगर आप यह चाहते हैं कि आपके सिम कार्ड पर जो भी फोन आए वह हमेशा किसी दूसरे नंबर पर ही लगे तो इसके लिए आपको इस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करना है।

  • When Busy

अगर आपकी यह इच्छा है कि जब आप बिजी हो तब अगर आपके सिम कार्ड पर कोई फोन करें तो वह दूसरे नंबर पर डाइवर्ट हो जाए तो इसके लिए आपको इस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करना है। इस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करने के पश्चात जब आप कहीं पर बिजी रहेंगे तो कॉल डाइवर्ट हो जाएगी।

  • When Unanswered

आपने गौर किया होगा कि जब आप कभी कबार किसी फोन नंबर पर कॉल करते हैं, तो सामने से कोई भी जवाब नहीं मिलता है और कुछ देर के बाद फोन ऑटोमेटिक कट जाता है। ऐसी सिचुएशन में आप भी यह सिस्टम अपने फोन पर लागू कर सकते हैं। इसके लिए आपको इस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करना है। इस वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करने के पश्चात जब कोई बंदा आपके फोन पर कॉल लगाएगा, तो उसे भी कोई जवाब नहीं मिलेगा और ऑटोमेटिक कॉल कट जाएगी।

  • When Unreachable

इस वाले ऑप्शन का अगर आप सिलेक्शन करते हैं तो जब बंदा आपको फोन करेगा तो अगर आपके सिम कार्ड का नेटवर्क नहीं है तो वह दूसरे सिम कार्ड पर फॉरवर्ड हो जाएगा।

4: ऊपर दिए गए ऑप्शन में से अपनी पसंद के ऑप्शन का सिलेक्शन करने के बाद आपको जिस फोन नंबर पर कॉल फॉरवर्ड करनी है उस नंबर को निर्धारित जगह में डालना है और उसके बाद आप को turn on बटन पर क्लिक कर देना है।

कॉल फॉरवर्ड डिएक्टिवेट कैसे करें?

अगर आपने कॉल फॉरवर्ड कर दिया है और बाद में आप उसे हटाना चाहते हैं यानी कि कॉल फॉरवर्ड डिएक्टिवेट करना चाहते हैं तो इसे भी आप नीचे दी गई आसान सी प्रक्रिया का पालन करके कर सकते हैं।

1: कॉल फॉरवर्ड को हटाने के लिए आपको अपने स्मार्टफोन को ओपन करना है और उसके बाद call setting में चले जाना है।

2: कॉल सेटिंग में पहुंचने के बाद आपको calling account का ऑप्शन प्राप्त होगा, उसके ऊपर आपको क्लिक करना है।

3: अब आपको carrier call setting का एक ऑप्शन दिखाई देगा, इसके ऊपर आपको क्लिक करना है।

4: अब आपको अपनी स्क्रीन पर Call Forwarding का ऑप्शन प्राप्त होगा। इस पर आपको क्लिक करना है।

5: अब आपको अपनी स्क्रीन पर कॉल फॉरवर्डिंग के सभी ऑप्शन दिखाई देंगे, जिसमें अगर कोई भी ऑप्शन इनेबल होगा तो इसका यह अर्थ होता है कि आपके सिम कार्ड पर कॉल फॉरवर्ड एक्टिवेट हुआ है। 

6: इस प्रकार कॉल फॉरवर्ड को डीएक्टिवेट करने के लिए आपको enable ऑप्शन को disable कर देना है। इस प्रकार कॉल फॉरवर्डिंग हट जाएगी।

कॉल फॉरवर्डिंग चेक कैसे करें?

कॉल फॉरवर्डिंग क्या है, इसके बारे में आपने जान लिया है। अब आपको बता देते हैं कि अगर आपको यह चेक करना है कि कॉल फॉरवर्डिंग आपके स्मार्टफोन में हुई है या नहीं, तो इसे आप कैसे चेक करेंगे। 

1: कॉल फॉरवर्डिंग चेक करने के लिए आपको अपने स्मार्टफोन की call setting में चले जाना है और वहां पर जाने के बाद आपको calling account वाले ऑप्शन के ऊपर क्लिक करना है।

2: अब आपको जो carrier call setting का ऑप्शन दिखाई दे रहा है, आपको उसके उपर क्लिक करना है।

3: अब आपको अपनी स्क्रीन पर call forwarding का ऑप्शन दिखाई देगा, आपको इसके ऊपर भी क्लिक करना है।

4: अब आपको अपनी स्क्रीन पर कॉल फॉरवर्ड के तमाम प्रकार के ऑप्शन दिखाई देंगे, जिसमें यह आप चेक कर सकते हैं कि कोई ऑप्शन इनेबल है अथवा नहीं। अगर कोई ऑप्शन इनेबल है तो इसका मतलब यह है कि कॉल फॉरवर्डिंग चालू है और अगर स्क्रीन पर दिखाई दे रहे सभी ऑप्शन डिसएबल है, तो इसका मतलब यह है कि कॉल फॉरवर्डिंग का सिस्टम चालू नहीं है।

इस आर्टिकल में आपने जाना कि “Call Forwarding क्या है” अथवा “कॉल डाइवर्ट क्या होता है” साथ ही मोबाइल में कॉल फॉरवर्ड हुआ है या नहीं इसे चेक करने का तरीका भी आपने आर्टिकल में जाना। 

उमीद है अब आपको call forwarding से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी। ओर अब आप जान गये होगे की Call Forwarding क्या है? – What is Call Forwarding in Hindi


अगर आपके पास कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हो. और अगर आपको यह पोस्ट helpfulलगी हो तो इसको सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here