जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया?


जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया? आज के समय में कई सारे ऐसे माध्यम हमारे पास हैं जिनके कारण हम लोगों के साथ जुड़ सकते हैं और अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से लोग निरंतर रूप से विकास करते नजर आते हैं और ऐसे में काम भी आसानी के साथ जल्द हो सकता है।


जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया?

अतः आज हम आपको ऐसे माध्यम के बारे में बताने जा रहे हैं, जो निश्चित रूप से आप ज्यादा उपयोग करते आए हैं और उसका नाम है जीमेल। अगर आज के समय में आपने जीमेल का इस्तेमाल नहीं किया है, तो ऐसे में आप इसकी सारी सुविधाओं से वंचित रह सकते हैं और अपने काम को आसान बनाने में दिक्कत हो सकती है।


आज हम आपको जीमेल संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं, जो निश्चित रूप से ही आपके लिए कारगर होंगे। तो चलिए देखते है की आख़िर जीमेल क्या है? जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया?

जीमेल क्या है?

जीमेल को मुख्य रूप से एक ऐसी बेहतरीन सर्विस के रूप में जाना जाता है, जो इंटरनेट के माध्यम से उपयोग की जाती है और इसके माध्यम से आप फ्री रहकर कई सारे काम को आसान बना सकते हैं। जीमेल के माध्यम से आसानी के साथ ही मैसेज भेजा जा सकता है। इसके अलावा अगर आप अपनी कोई विशिष्ट फाइल, डॉक्यूमेंट को किसी दूसरे व्यक्ति को  भेजना चाहते हैं तो जीमेल सबसे अच्छा माध्यम माना जाता है।

जीमेल का पूरा नाम क्या है?

सामान्य रूप से हम सभी जीमेल कह कर बुलाते हैं लेकिन इसका पूरा नाम ‘’गूगल मेल’’ है जिसे गूगल द्वारा बनाया गया था। 

जीमेल का आविष्कार किसने किया?

सबसे पहले जीमेल बनाने का आईडिया राजन सेठ को आया था जो कि एक भारतीय हैं। जीमेल सबसे पहले 1 अप्रैल 2004 को एक बीटा वर्जन के अंतर्गत बनवाया गया था। जिसमें ऑनलाइन रहते हुए ईमेल सर्विस को शुरू किया गया था। शुरुआत में जीमेल का उपयोग सिर्फ गूगल के अंतर्गत किया जाता था लेकिन बाद में 7 फरवरी  2007 को जीमेल को सभी के लिए खोल दिया गया और उस समय जीमेल बिल्कुल फ्री था जिसको आज भी लागू किया गया है और आज भी जीमेल फ्री ही होता है।

जीमेल का डोमेन नेम क्या है?

जीमेल का डोमेन नेम www.gmail.com रखा गया था। सामान्य  रूप से ऐसा माना गया कि यह डोमेन नेम पहले किसी और कंपनी के लिए वर्क करता था और उस कंपनी का नाम garfield.com था।  बाद में इस कंपनी को गूगल ने खरीद लिया और उसके बाद से ही इसके डोमेन नेम में परिवर्तन कर दिया गया था। और आज भी जीमेल के लिए www.gmail.com  का ही उपयोग किया जाता है। 

जीमेल का मोबाइल में उपयोग 

आज के समय में हम सभी जीमेल का मोबाइल के माध्यम से उपयोग करते हैं और इसके माध्यम से मिलने वाली सुविधाओं का भी लाभ प्राप्त किया जा सकता है। जीमेल के माध्यम से एक मुख्य सर्विस की शुरुआत की गई थी जिसका नाम ‘’जीमेल मोबाइल’’ रखा गया। 

इसकी मदद से कोई भी मोबाइल यूजर अपने मोबाइल में ही ईमेल का इस्तेमाल आसानी के साथ कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल में ही जीमेल अकाउंट बनाकर उसे डिलीट करना, मेल पढ़ना, मेल को डिलीट करना जैसे विकल्प का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा अगर आपके पास एंड्रॉयड फोन है, तो भी आप आसानी के साथ मोबाइल के माध्यम से जीमेल का इस्तेमाल कर सकते हैं और आसानी से किसी दूसरे व्यक्ति को मेल भेजा जा सकता है।

जीमेल अकाउंट बनाने के बारे में जानकारी –

सामान्य रूप से देखा जाता है कि आज के समय में जीमेल में अकाउंट बनाना आसान बात हो गई है जहां पर कई प्रकार से अपने काम को आसान बनाया जाता है। ऐसे में आप भी इस जीमेल में आसानी के साथ अकाउंट बना सकते हैं।

  1. इसके लिए सबसे पहले आपको अपने ब्राउज़र में जाते हुए जीमेल  एप्लीकेशन खोलना होगा, जहां पर आपको अकाउंट बनाने के लिए ‘’create gmail account’’ ऑप्शन नजर आएगा।
  2. इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपको खुद का जीमेल अकाउंट बनाना होगा और इसमें दिए गए सारे  जरूरी जानकारियों को भरना होगा।
  3. आगे जाने पर आपको पासवर्ड चुनने के लिए कहा जाएगा जिसे आप अपनी मर्जी के अनुसार भी चुन सकते हैं।
  4. इस तरह से आपका जीमेल अकाउंट बहुत ही आसानी के साथ जल्द ही बन जाता है।
  5. यदि आपके पास पहले से ही ईमेल आईडी है, तो फिर आप डायरेक्ट रहते हुए भी लॉगइन  कर सकते हैं।

जीमेल में कोई भी मेल भेजने का तरीका

अगर आप जीमेल के माध्यम से किसी को भी मेल भेजना चाहते हैं, तो यह आपने बहुत ही आसान प्रक्रिया है।

  1. इसके लिए सबसे पहले आपको जीमेल  में उपस्थित ‘’कंपोज’’ ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  2. जैसे ही आप क्लिक करते हैं, तो आपके सामने एक विंडो खुलती है जिसमें आपको TO का ऑप्शन दिखाई देता है। ऑप्शन में जिसे आप मेल भेजना चाहते हैं उसका मेल आईडी भरना होगा।
  3. उसके बाद आपको ‘’सब्जेक्ट’’ दिखाई देता है, जहां आपको वह सब्जेक्ट भरना होगा जिसके लिए आप मेल भेज रहे हैं।
  4. नीचे जाने पर आप को ‘’टेक्स्ट’’  का विकल्प  दिखाई देता है।  वहां पर क्लिक करते ही आप अपने वह मैसेज लिख सकते हैं जिसे आप भेजना चाहते हैं।
  5. फिर आपको ‘’Send’’ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और उसके बाद वह मेल आप इसे भेजना चाहते हैं,  उस  व्यक्ति के पास पहुंच जाता है।

जीमेल में मुख्य फीचर 

जीमेल में कई सारे ऐसे  फीचर होते हैं, जिनके माध्यम से आप अपने काम को आसान बना सकते हैं और फिर अधिक से अधिक उपयोग करके लाभ लिया जा सकता है।

  • इनबॉक्स [inbox]— जैसे आप जीमेल खोलते हैं, तो आपको ऊपर में तीन लाइन दिखाई देते हैं जिसे क्लिक करने पर आपके सामने इनबॉक्स विकल्प दिखाई देता है। जैसे ही आप इनबॉक्स  पर क्लिक  करते हैं तो आपको सारे ईमेल दिखाई देते हैं,  जो किसी दूसरे व्यक्ति ने आपको भेजा हो।  साथ ही साथ लोगों के द्वारा भेजे गए सारे मेल सुरक्षित रहते हैं जिन्हें आप अपने समय के अनुसार खोल कर देख सकते हैं।
  • आउटबॉक्स [outbox]— इसके बाद आउटबॉक्स का विकल्प दिखाई देता है, जहां पर वह सारे ईमेल दिखाई देंगे जो आपने किसी दूसरे व्यक्ति को भेजे हैं।  उन्हें भी सुरक्षित रखा जा सकता है।
  • सेंट मेल[sent mail] — जीमेल में यह भी एक काम का फीचर है जिसमें अगर आप किसी को मेल भेज कर भूल जाते हैं और बाद में उस मेल को देखना चाहते हैं। ऐसे में आप सेंड मेल के माध्यम से उन मेल को भी देख सकते हैं जिन्हें आप लिख कर भूल चुके हैं। साथ ही साथ भेजे गए मेल को भी देखा जा सकता है।
  •  ड्राफ्ट [draft] — इस विकल्प के माध्यम से आप मुख्य रूप से उन मेल के बारे में जानकारी ले सकते हैं जिन्हें आपने लिख तो लिया है लेकिन उसे आगे नहीं भेज पाए हैं। ऐसे में वे सभी मेल  जिन्हें  भेजा नहीं गया हो, वह ड्राफ्ट में जाकर  सुरक्षित  हो जाते हैं। अगर आप चाहे तो उन मेल को फिर से खोल कर पढ़ा जा सकता है या फिर उन्हें भेजा भी जा सकता है।
  • स्टार [ starred] — इसका उपयोग भी उस समय आवश्यक माना जाता है, जब  आप किसी जरूरी मेल को सेव रखना चाहते हैं। ऐसे में वहां पर एक स्टार का ऑप्शन दिखाई देता है जिसे क्लिक कर देने से वह मेल  सुरक्षित  हो जाता है और फिर उसे आप आसानी के साथ उपयोग कर सकते हैं।
  • सर्चिंग [searching] — कई बार ऐसा भी होता है कि हमारे पास बहुत ज्यादा ईमेल हो जाते हैं और ऐसी स्थिति में  हम किसी एक मेल को ढूंढ पाने में मुश्किल का सामना करते हैं। ऐसी स्थिति में आपको ‘’सर्च’’ के ऑप्शन में जाकर उस ईमेल  का नाम लिखना होगा और उसके बाद आसानी से ही  जानकारी  आपके सामने उपस्थित हो जाती है।
  • ऑल मेल [all mails] — अगर आप इस विकल्प पर क्लिक करते हैं, तो इस में आसानी के साथ बहुत सारे मेल आपको दिखाई दे जाते हैं जो आपको किसी ने किए हो। यह एक लंबी लिस्ट के रूप में आपके सामने उपस्थित होते हैं।
  • ट्रेस [ trash] — इसका उपयोग मुख्य रूप से उस समय होता है, जब आपने किसी मेल को डिलीट कर दिया हो। ऐसे में डिलीट किए हुए सारे मेल इस  ट्रेस के विकल्प में आ जाते हैं, जहां पर आप डिलीट किए हुए मेल को भी आसानी के साथ देख सकते हैं।
  • सेटिंग [ setting] — अगर आप अपनी सेटिंग में कुछ बदलना चाहते हैं, तो आप सेटिंग ऑप्शन में जाकर बदलाव कर सकते हैं और उसे सेव भी किया जा सकता है। 

जीमेल को मिलने वाले सम्मान 

समय के साथ साथ ऐसा देखा गया कि जीमेल ने लोगों के बीच में अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल कर ली और लोगों ने भी इसके माध्यम से उपयोग करना सीख लिया। ऐसे में जीमेल को विशेष सम्मान प्राप्त हुआ है।


2005 के 100 सर्वश्रेष्ठ उत्पादों में जीमेल दूसरे नंबर पर रहा जहां लोगों ने भी इसका भरपूर उपयोग किया था। और इसके बाद ही धीरे-धीरे जीमेल का विकास होता चला गया और आज भी ज्यादातर लोग अपने किसी भी जरूरी काम के लिए जीमेल का ही उपयोग करते हैं।

जीमेल की विशेषताएं 

जब भी हम जीमेल का इस्तेमाल करते हैं, तो उसके माध्यम से हमें कई सारी विशेषताओं के बारे में भी पता चलता है। आज हम आपको कुछ मुख्य विशेषताओं के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

1] स्टोरेज क्षमता — जब भी हम अपने जीमेल के इनबॉक्स को खोलते हैं, तो उसमें कई सारी फाइल और मैसेजेस देखते हैं जो हमें लोगों के द्वारा भेजे गए होते हैं। ऐसे में हम आपको बताना चाहते हैं कि जीमेल की स्टोरेज क्षमता बहुत ही लाजवाब होती है जो लगभग 7250 mb से अधिक होती है।  इसके अलावा अगर  यूजर  चाहे तो  400 GB का अतिरिक्त भंडारण भी लिया जा सकता है और उसका उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा अभी कुछ दिनों से ही इसकी क्षमता को और बढ़ा दिया गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा उपयोग किया जा सके।

2] जीमेल की प्रयोगशाला — जीमेल की प्रयोगशाला में मुख्य रूप से कई सारे ऐसे परिवर्तन किए जाते हैं जिसके माध्यम से उपयोग करने वालों को कोई भी असुविधा ना हो। अगर आप चाहे तो इस प्रयोगशाला की सुविधाओं को उपयोग नहीं भी कर सकते हैं और इस बारे में प्रतिक्रिया भी दी जा सकती है। इसके अलावा नियमित रूप से चल रहे जीमेल की सुविधाओं में विकास किया जा रहा है ताकि निश्चित रूप से ही सही आकलन किया जा सके। 

3] गोपनीयता — अगर आप किसी को भी ईमेल के माध्यम से कोई भी मैसेज भेजते हैं, तो यह बहुत ही गोपनीय रूप से सुरक्षित रखा जाता है और इसके बारे में किसी दूसरे को जानकारी नहीं होती है।  अगर जीमेल का उपयोग करना है ऐसे में आपको किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होती है और आप आसानी के साथ ही अपनी फाइल, डॉक्यूमेंट को शेयर कर सकते हैं। ऐसे में हमेशा गोपनीय रहने के तरीकों के बारे में बताया जाता है कि आप अपने किसी भी  मेल को गोपनीय तरीके से सुरक्षित रख सकें।

ऐसे तो हम सभी इसका बहुत उपयोग करते हैं लेकिन कई बार हम इसके बारे में सही जानकारी हासिल नहीं कर पाते और निश्चित रूप से हमसे कोई गलती हो जाती है। अगर आप जीमेल का उपयोग करते हैं, तो बिल्कुल निश्चिंत होकर इसका उपयोग कर सकते हैं क्योंकि इसमें आप की सुरक्षा में किसी भी प्रकार की हानि नहीं होती और आप अपना काम सही तरीके से कर सकते हैं। 

तो साथियों इस प्रकार से आज हमने आपको महत्वपूर्ण जीमेल के बारे में जानकारी दी है। जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया? हमने पूरी कोशिश की है कि आपको इसके बारे में जानकारी दिया जाए ताकि आप भी सही तरीके से कार्य को करते हुए आगे बढ़ सके।

उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। इसे अंत तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Hope की आपको जीमेल का आविष्कार किसने किया और कब किया? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here