RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi)

0

पिछले लेख में आपने जाना डेटाबेस क्या है और आज हम डेटाबेस के ही एक टाइप RDBMS के बारे में जानेंगे RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi) RDBMS के प्रकार? RDBMS के उपयोग? All about RDBMS in Hindi और DBMS or RDBMS में क्या अंतर है? इस लेख में समझेंगे।

अतः आपको इस लेख में RDBMS से जुड़ी सभी उपयोगी जानकारियां इस एक लेख में मिलने वाली है। दोस्तों समय के साथ कंप्यूटर का उपयोग हमारे दैनिक जीवन में बढ़ता जा रहा है।


आज बड़ी बड़ी संस्थाएं, कंपनियां बड़ी मात्रा में डाटा को स्टोर करने के लिए डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन 1970 के बाद से आई RDBMS टेक्नोलॉजी को आज सर्वाधिक बिजनेस में उपयोग किया जाता है।

DBMS एक फ्लैट फाइल की database की तुलना में RDBMS multiple tables ko standard के तौर पर उपयोग में लाए जाते है। आरडीबीएमएस डाटा को स्टोर करने के मामले में अधिक कुशल होने के साथ ही अधिक स्पेस मेमोरी प्रदान करता है।

आइए सबसे पहले हम यह समझते हैं कि RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi)

RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi)

आजकल सभी मॉडर्न डेटाबेस जैसे कि MSSQL Server, IBM DB2, Oracle, MySQL, and Microsoft Access में आरडीबीएमएस का ही उपयोग होता है।

RDBMS को DBMS का एडवांस वर्जन भी हम कह सकते हैं क्योंकि यह एक नई टेक्नोलॉजी है यह किसी भी संस्था को डीबीएमएस की तुलना में डाटा को अधिक कुशलता से एक्सेस करने में मदद करती हैं।

RDBMS की फुल फॉर्म क्या है?

RDBMS का पूरा नाम Relational Database Management System होता है।

RDBMS के अंदर डाटा Tables

के फार्म में स्टोर होता है और यह टेबल row और कॉलम 2 भागों में विभाजित होती हैं उसमें Row का अर्थ रिकॉर्ड से और कॉलम का अर्थ fields से होता है।

अतः संक्षेप में कहें तो RDBMS एक सॉफ्टवेयर सिस्टम है जो सिर्फ वही डाटा स्टोर करता है जो टेबल्स के फॉर्म में होता है। आज पूरे विश्व में इस शक्तिशाली डाटा मैनेजमेंट सिस्टम का इस्तेमाल होता है।


RDBMS को और अधिक विस्तार से जानने के लिए इसमें मौजूद कंपोनेंट के बारे में जानते हैं,एक  RDBMS के अंदर के मुख्य कॉम्पोनेंट्स होते हैं।

Components in RDBMS in Hindi

1. Table

Table के अंदर डाटा Rows और columns के माध्यम से Present किया जाता है। Computer user’s text, numbers के साथ विभिन्न प्रकार के डाटा को टेबल्स के माध्यम से प्रेजेंट करते हैं।

2. Record or Tuple

टेबल के अंदर जो Rows होती है उसे टेक्निकली RDBMS में रिकॉर्ड या फिर टप्पल के नाम से जानते हैं। एक टेबल के अंदर लाखों Rows हो सकती हैं।

3. Field, Column Name or Attribute

जब एक टेबल मनाई जाती है तो उसके फील्ड्स के आधार पर नेम सेट किए जाते हैं। जिसे attribute भी कहा जा सकता है इनका एक नाम निर्धारित किया जाता है जिसके आधार पर इस टेबल का डाटा तैयार होता है। एक student Table me मौजूद आईडी, रोल नंबर इत्यादि इसका उदाहरण है।

4. Domain

किसी टेबल में डोमेन नामक कंपोनेंट वह होता है जिसमें किसी field/attribute के लिए परमीटेड वैल्यू सेट की गई हो! जैसे कि यदि किसी अटरीब्यूट में 1:30 सेट की गई है तो वह फील्ड केवल डेट को एक्सेप्ट करता है। एक टेबल बनाने के दौरान attribute के डोमेन को स्पेसिफाई किया जाता है

5. Instance

एक particular moment में एक डेटाबेस के अंदर जो डाटा स्टोर किया गया है उसे DBMS में instance कहा जाता है।


6. Schema

Ek database के डिजाइन को टेक्निकली इसकी स्किमा कहा जाता है यह विभिन्न टाइप्स हो सकते हैं जैसे कि फिजिकल, logical review schema.

6. Keys

अंत में यह को कॉम्पोनेंट होता है कि यह डेटाबेस में अहम भूमिका अदा करता है। unique rows और tables ko identify करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है साथ ही यह किस टेबल के बीच रिलेशनशिप को भी डिवेलप करता है।

दोस्तों RDBMS के बारे में पढ़ने के बाद यदि हम relational database management system को संक्षेप में समझे तो यह एक प्रोग्राम है जो relational database को create, update, and administration की अनुमति देता है।

ज्यादातर लोग RDBMS database को एक्सेस करने के लिए SQL भाषा का इस्तेमाल करते हैं SQLएक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं। आइए अब हम relational database के बारे में और अधिक विस्तार से जानते हैं!

Popular RDBMS In Hindi

MySQL

आरडीबीएमएस के अंतर्गत MYSql सबसे अधिक लोकप्रिय स्क्वायर डेटाबेस है यह एक प्रोग्रामिंग भाषा भी है जिसका उपयोग अधिकतर वेब डेवलपमेंट के उद्देश्य से किया जाता है।

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह developers के बीच एक लोकप्रिय भाषा है। जिसका इस्तेमाल करना आसान, सस्ता होने के साथ-साथ भरोसेमंद भी है इसलिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखाते समय MySQL को भी सिखाया जाता है।

यदि MySQL के नकारात्मक पहलुओं को देखें तो इसका सबसे बड़ा नुकसान यह है कि कई बार MySQL खराब परफॉर्मेंस देता है। साथ ही oracle के आने के बाद से MySQL का कंट्रोल इसने ले लिया है और इसके अंदर अब वह एडवांस फीचर्स नहीं मिलते बता दें Oracle भी एक डेटाबेस ही है।

PostgreSQL

Poster Grayscale भी एक सबसे लोकप्रिय आरडीबीएमएस में से एक है यह भी एक ओपन सोर्स SQL database है जिसका उपयोग वेब एप्लीकेशन को डेवलप करने हेतु अधिक किया जाता है हालांकि यह प्रोग्रामिंग भाषा किसी भी कॉरपोरेशन के अंतर्गत नहीं आती।

यदि इसके फायदे देखें तो MYSql की तरह ही यह इजी टू यूज, सस्ता होने के साथ-साथ विश्वसनीय भी है और डेवलपर्स बड़ी संख्या में इसका इस्तेमाल करते हैं यह आपको कुछ और भी एडवांस फीचर्स भी प्रदान करती है।

दूसरी तरफ बात करें इसके नेगेटिव पॉइंट की तो आपने इसका नाम शायद पहली बार सुना हो यह MySQL जितनी पॉपुलर नहीं है। इसलिए आमतौर पर इसके Hosts और सर्विस प्रोवाइडर कम मिलते हैं जो कि इसका एक नेगेटिव प्वाइंट हम कह सकते हैं।

Oracle Database

ओरेकल कॉरपोरेशन के पास Oracle का स्वामित्व है और बाकी अन्य डेटाबेस की तरह Oracle एक ओपन सोर्स डाटा बेस नहीं है।

Oracle Database का इस्तेमाल अधिकतर लार्ज अमाउंट के डाटा जैसे banking industry में सबसे अधिक होता है आप की जानकारी है। तो बता दें विश्व के बड़े बड़े बैंक Oracle डेटाबेस का उपयोग करते हैं। यह कई सारी बैंकिंग फैसिलिटी भी प्रदान करता है जिस वजह से इसे बैंकिंग इंडस्ट्री में सबसे अधिक पॉपुलर डेटाबेस के तौर पर भी जाना जाता है

यदि हम इस relational database management system का मुख्य नुकसान देखें तो यह फ्री नहीं है ओपन सोर्स न होने के कारण यह काफी एक्सपेंसिव होता है इसलिए इसका इस्तेमाल आमतौर पर लिमिटेड ही देखने को मिलता है।

Sql Server

प्रोग्रामिंग का ज्ञान लेते समय आपने SQL सर्वर के बारे में हो सकता है सुना हो यह माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का सर्वर है और ओराकोल डेटाबेस की तरह ही एसक्यूएल सर्वर भी non-ओपन सोर्स है।

बड़ी-बड़ी इंटरप्राइजेज में एसक्यूएल सर्वर का उपयोग किया जाता है शुरुआत में नए उपयोगकर्ताओं को माइक्रोसॉफ्ट SQL सर्वर free entry version प्रदान करता है। लेकिन जैसे-जैसे आपको एप्लीकेशंस को स्केल करना पड़ता है यह उतना अधिक है महंगा होता जाता।

SQLite

उसके बाद अंत में एक पॉपुलर रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम का नाम है एसक्य लाइट इसकी खास बात यह है कि यह एक सिंगल फाइल पूरे के पूरे डेटाबेस को स्टोर कर सकता है।

इसका एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह डाटा को वर्चुअली स्टोर करने में सक्षम है जिसमें किसी सरवर की आवश्यकता भी नहीं पड़ती।

आपको जानकर हैरानी होगी Sq लाइट नामक इस सर्वर का इस्तेमाल हमारे दैनिक जीवन के अनेक इलेक्ट्रॉनिक गैजेट जैसे सेलफोन सेट टॉप बॉक्स website इत्यादि में होता है। अतः यह भी काफी लोकप्रिय डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम है।

RDBMS के क्या-क्या फायदे हैं?

यदि कोई कंपनी किसी ऐसे data storage system को डिजाइन करना चाहती है जिसके माध्यम से आसानी से बड़ी मात्रा में जानकारियों को स्टोर किया जा सके, साथ ही जिसमें data storage flexible or scalable तो ऐसे में वह आरडीबीएमएस का उपयोग कर सकती।

आइए RDBMS से होने वाले लाभ के बारे में जानते है।

Manageability

शुरुवात में डेटाबेस का इस्तेमाल करने जा रहे है, उनके लिए आरडीबीएमएस का उपयोग करना अधिक सुविधाजनक होता है। क्योंकि Rdbms के अंदर प्रत्येक टेबल के डाटा को आसानी से Manipulate किया जा सकता है बिना किसी दूसरे टेबल में बदलाव किए।

आप इसके अंदर कुछ खास set के डाटा का एक ग्रुप बना सकते हैं और अन्य लोगों के एक्सेस के लिए उसको लिमिट कर सकते हैं।  उदाहरण के तौर पर कंपनी के अंदर यदि कर्मचारियों का कोई निजी डेटा है उसके लिए यह इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

Flexibility

यह इसका एक विशेष गुण हैं कि यदि आपको स्टोर किए डाटा में से कोई डाटा अपडेट करना है तो ऐसा सिर्फ आपको एक बार करने की जरूरत पड़ती है साथ ही data update के अलावा आप स्टोरेज को बढ़ा भी सकते हैं। यदि समय के साथ आपका डाटा बढ़ रहा है तो इसकी Flexibility की क्षमता की वजह से आरडीबीएमएस आपके बड़े से बड़े डाटा को स्टोर करने में सक्षम होता है।

Less Chance of Error

RDBMS में errors की काफी कम गुंजाइश होती है क्योंकि इसमें आप आसानी से अपने डाटा के रिकार्ड्स में हुई अपनी मिस्टेक्स को चेक कर सकते हैं। इसके साथ ही यहां पर प्रत्येक जानकारी एक सिंगल प्वाइंट पर स्टोर होती है।

Access

जहां डीबीएमएस में केवल एक यूजर ही डाटा को एक समय में एक्सेस कर सकता है जिसे इसकी परमिशन दी गई हो वही RDBMS में multiple users स्टोर किए गए डाटा को एक्सेस करने में सक्षम होते हैं।

इसके अलावा RDBMS data backup and recovery की सुविधा भी उपलब्ध कराता है जो कि इसका एक मुख्य गुण है।

यह एक सिक्योर database Management system software होता है जिस वजह से आज विश्व की बड़ी-बड़ी कंपनियों संस्थाओं में आरडीबीएमएस का उपयोग होता है।

अब हम इसकी कमियों पर भी नजर डालते हैं जिससे आप को इसे समझने में और आसानी होगी।

RDBMS की कमियां?

Costly

सरवर में निर्मित होने की वजह से इन्हें Scale करने में एक बड़ी परेशानी यह आती है की जितनी बार आपको इसे इनक्रीस करना होता है उतनी बार अधिक मेमोरी, पावर स्टोरेज के लिए एक्सपेंसिव हार्डवेयर खरीदना पड़ता है।

Managing Huge Volumes of Data

जानकारी में कठिनाई आना यह दूसरी बड़ी कमी है रिलेशनल डेटाबेस की क्योंकि relational database में जो डाटा स्टोर होता है वह एक कॉमन कैरेक्टरस्टिक्स पर होता है।

Recover Lost Data

आरडीबीएमएस का इस्तेमाल करते हुए यदि डाटा गलती से अचानक गायब हो जाता है तो फिर ऐसे में उस डाटा को स्टोर करना काफी चुनौतीपूर्ण कार्य हो जाता है, अतः डाटा को वापस ना पाने की कमी इसकी एक मुख्य कमी है।

इसके अलावा माना जाता है कि RDBMS का इंप्लीमेंट करने के लिए एक स्किल्ड ह्यूमन की आवश्यकता पड़ती है जिसे ऑडीबीएमएस को ऑपरेट करने इसको यूज़ करने की जानकारी हो।

RDBMS or DBMS में अंतर? Difference Between DBMS and RDBMS in Hindi

क्योंकि DBMS का ही एक टाइप है RDBMS4 और दोनों का इस्तेमाल ही डाटा को स्टोर और मैनेज करने में होता है, फर्क इतना है कि आरडीबीएमएस एक लेटेस्ट टेक्नोलॉजी है लेकिन इन दोनों के बीच के फीचर्स में काफी अंतर है आइए हम दोनों के बीच मुख्य अंतर को जानते हैं।

• डीबीएमएस में जहां डाटा फाइल के फॉर्मेट में स्टोर होता है वही RDBMS में यह डाटा टेबल्स के फॉर्म में स्टोर होता है जो इनके बीच मुख्य अंतर पाया जाता है.
• DBMS सिर्फ सिंगल यूजर को सपोर्ट करता है वही डीबीएमएस मल्टीप्ल यूजर्स को सपोर्ट करता है।
• डीबीएमएस को चलाने हेतु low hardware तथा सॉफ्टवेर कि requirement होती है, वही आरडीबीएमएस में high सॉफ्टवेयर हार्डवेयर की आवश्यकता पड़ती है।
• डीबीएमएस क्लाइंट सर्वर Architecture को सपोर्ट नहीं कर पाता वहीं आरडीबीएमएस क्लाइंट सर्वर आर्किटेक्चर को आसानी से सपोर्ट कर लेता है।
• डीबीएमएस यूजर्स को जहां डाटा redundancy का सामना करना पड़ता है वहीं आरडीबीएमएस डाटा redundancy  की संभावना निम्न होती है।

इसके अलावा इन दोनों के बीच मुख्य अंतर यह है कि DBMS छोटी मात्रा के डाटा के लिए उपयोगी होता है वही RDBMS के अंदर बड़ी मात्रा में डाटा हैंडल करने की क्षमता होती है। यही वजह है कि इनका उपयोग आज के समय में काफी बढ़ चुका है।

उम्मीद है की अब आपको RDBMS से जुड़ी पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, और आप जान गये होगे की RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi) RDBMS के प्रकार? RDBMS के उपयोग? All about RDBMS in Hindi और DBMS or RDBMS में क्या अंतर है?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको RDBMS क्या है? (What is RDBMS in Hindi) का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here