सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi


सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi? अगर आपको नहीं पता की सर्च इंजन क्या होता है? तो आजका यह पोस्ट आपके लिए काफी हेल्पफुल हो सकता है क्युकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की सर्च इंजन क्या है? सर्च इंजन कैसे काम करता है? इसके फ़ायदे? सर्च इंजन का इतिहास? Top 10 Search Engine In Hindi. and All about Search Engine In Hindi।

जैसा कि हम जानते हैं कि गूगल एक सर्च इंजन है जिसका उपयोग हम अपनी आवश्यकतानुसार विभिन्न कार्यों के लिए करते हैं। आज हम इंटरनेट का इस्तेमाल मनोरंजन, ज्ञान, तथा सूचना के लिये करते हैं तथा गूगल, बिंग, youtube आदि अलग-अलग सर्च इंजन पर अपने सभी सवालों का जवाब प्राप्त कर सकते हैं।


हालाँकि आज गूगल की अत्यधिक लोकप्रियता तथा विश्वसनीयता के कारण दुनिया भर में सबसे अधिक google सर्च इंजन का इस्तेमाल किया जाता है। जिस कारण वर्तमान समय में गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है। इसलिए एक जागरूक इंटरनेट यूज़र होंने के नाते हम सभी के लिए यह जानना उपयोगी साबित हो सकता है कि सर्च इंजन किस तरह कार्य करता है। यदि आप भी सर्च इंजन के बारे में जानना चाहते हैं तो आप सही लिख पढ़ रहे हैं।

क्योंकि आज के इस लेख में आप विस्तारपूर्वक समझेंगे की सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi? सर्च इंजन कैसे काम करता है? तथा किस तरह हम अपने सभी सवालों के जवाब सर्च इंजन पर खोज पाते हैं? All About Search Engine In Hindi.

सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi

सरल शब्दों में कहें तो Search Engine एक web program या web application होता है। जो आपके सर्च किये हुए query (keyword) को अपने server में indexed all websites में से ढून्ढ कर आपको आपके सवाल का जवाब show करता है।

जब भी आप किसी सर्च इंजन पर अपने किसी सवाल (keywords) को टाइप करते हैं, तो सर्च इंजन हमें पहले पेज पर उस सवाल से संबंधित top 10 वेबसाइट या youtube वीडियो के लिंक show करता है। तथा इन वेबसाइट या वीडियो के लिंक पर क्लिक कर हम अपने सवालों का जवाब प्राप्त करते हैं।

उदाहरण के तौर पर यदि आप किसी भी सर्च इंजन पर “What Is Search Engine In Hindi?” सर्च करते हैं, तो यह Keyword को World Wide Web (WWW) में डूडा जाता है और Search Engine के Crawler (Bots) ने जितनी भी वेबसाइट को index किया होता है उन सब websites के content में से उस Keyword को ढूंढा जाता है जो कीवर्ड आपने सर्च किया होता है, और वो keyword जिस भी वेबसाइट के title, article, video, tags और content के साथ match होता है, उसको सर्च इंजन Search Results में Show करता है. 


इसी तरह हम अपने सवाल को किसी भी सर्च इंजन पर टाइप कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। बशर्ते उस search इंजन के डेटाबेस में उस सवाल से जुड़ी जानकारी उपलब्ध हो। जब हम गूगल, बिंग आदि सर्च इंजन पर किसी कीवर्ड को टाइप करते हैं, तो सर्च इंजन हमे वेबसाइट तथा वीडियो के लिंक के रूप में हज़ारो रिजल्ट show करता है। तथा आमतौर पर एक यूज़र पहले पेज के टॉप 3 रिजल्ट को देखकर अपने सवालो के जवाब ढूंढ लेते हैं। जिस वजह से यूजर को दूसरे या तीसरे पेज में visit करने की आवश्यकता नहीं पड़ती।

सर्च इंजन के प्रकार – Types Of Search Engine In Hindi

देखा जाए तो मुख्य तौर पर 4 प्रकार की कैटेगरी में सर्च इंजन को बांटा गया है जिनकी जानकारी हम नीचे आपको उपलब्ध करवा रहे हैं।

  • क्रॉलर सर्च इंजन

जो भी सर्च इंजन इस प्रकार के सर्च इंजन होते हैं वह डेटाबेस में जो भी सामग्री अवेलेबल होती है उन्हें इंडेक्स करने के लिए कई तकनीक का सहारा लेते हैं। इस प्रकार के सर्च इंजन डेटाबेस में अवेलेबल सामग्री को इंडेक्स करने के लिए अथवा उन्हें Crawl करने के लिए रोबोट, स्पाइडर, क्रॉलर और बोट प्रोग्राम का सहारा लेते हैं। 

इस प्रकार के सर्च इंजन यूजर के द्वारा सर्च किए गए कीवर्ड के रिजल्ट को दिखाने के लिए क्रॉलिंग, इंडेक्सिंग, कैलकुलेटिंग और रिड्राइविंग रिजल्ट जैसे सभी नियमों का अच्छी तरह से पालन करते हैं। याहू सर्च इंजन, गूगल सर्च इंजन और बिंग सर्च इंजन, इस प्रकार के सर्च इंजन के बहुत ही बढ़िया एग्जांपल है।

  • डायरेक्टरी सर्च इंजन 

वेब डायरेक्टरी को सब्जेक्ट डायरेक्टरी के तहत भी उच्चारित किया जाता है। जितनी भी वेबसाइट होती है उन सभी की लिस्ट डायरेक्टरी सर्च इंजन को कैटेगरी के आधार पर डिवाइड करके दी जाती है, साथ ही कौन सी वेबसाइट कौन से सब्जेक्ट पर आधारित है अथवा वेबसाइट का टॉपिक क्या है इसका एक छोटा डिस्क्रिप्शन भी डायरेक्टरी सर्च इंजन को प्रोवाइड किया जाता है। 

जो भी सर्च इंजन डायरेक्टरी सर्च इंजन होते हैं उन्हें पूरी तरह से इंसानों के द्वारा चलाया और कंट्रोल किया जाता है। इसमें अपनी इच्छा के हिसाब से किसी भी वेबसाइट को ऐड किया जा सकता है अथवा उसे रिमूव किया जा सकता है।

  • हाईब्रिड सर्च इंजन

अगर हम यह कहे कि डायरेक्टरी सर्च इंजन और हाइब्रिड सर्च इंजन, क्रॉलर का मिक्सर है तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं होगी। जो भी सर्च इंजन हाइब्रिड सर्च इंजन की कैटेगरी में आते हैं वह सर्च इंजन डायरेक्टरी सर्च इंजन और हाइब्रिड सर्च इंजन में से यूजर के द्वारा सर्च किए गए कीवर्ड को स्कैन करके रिजल्ट यूजर की स्क्रीन के ऊपर दिखाते हैं। अगर आज के टाइम की बात करें तो जितने भी हाइब्रिड सर्च इंजन है वह क्रॉलर पर पूरी तरह से डिपेंड हो गए हैं।

  • मेटा सर्च इंजन

जब हम इंटरनेट पर कुछ सर्च करते हैं तो अलग-अलग सर्च इंजन अलग-अलग वेबसाइट से डाटा इकट्ठा करके जो सर्च इंजन उस पर अपने अलगोरिदमा को अप्लाई करके हमें रिजल्ट हमारी स्क्रीन पर दिखाता है उसे मेटा सर्च इंजन कहां जाता है। 

मेटा सर्च इंजन दूसरे सर्च इंजन से जानकारियों को लेता है और फिर उस पर अपने सिस्टम को अप्लाई करता है और फिल्टर करके हमें हमारे क्वेश्चन का जवाब देता है।

सर्च इंजन कैसे काम करता है?

आपने अभी तक इस बात की जानकारी हासिल करी कि आखिर सर्च इंजन क्या होता है और सर्च इंजन का उदाहरण क्या है तथा सर्च इंजन के प्रकार कितने हैं। अब हमें यह अंदाजा है कि आपके मन में यह क्वेश्चन भी अवश्य उत्पन्न हो रहा होगा कि आखिर सर्च इंजन के काम करने की प्रक्रिया क्या है या फिर सर्च इंजन किस प्रकार से काम करता है। 

हम यहां पर आपको बता दें कि जब भी हम कोई भी कीवर्ड सर्च बॉक्स में लिखकर सर्च करते हैं तो उसका रिजल्ट हमें तीन प्रक्रिया से होकर के प्राप्त होता है जिसमें सबसे पहले Crawling होती है फिर इंडेक्सिंग होती है और फिर रिट्रायबल होता है। चलिए आपको इन तीनों प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्रोवाइड करवाते हैं।

  • Search Engine Crawling

जब हम सर्च बॉक्स में कोई कीवर्ड डालकर सर्च करते हैं तो सबसे पहले सर्च इंजन के द्वारा Crawling की प्रक्रिया को स्टार्ट किया जाता है। इस प्रक्रिया में सर्च इंजन के द्वारा पुरानी या फिर नई वेबसाइट को स्कैन किया जाता है। Crawling की प्रक्रिया को करने के लिए सर्च इंजन स्पाइडर अथवा क्रॉलर का सपोर्ट प्राप्त करता है और इस प्रोसेस को करता है। 

इसमें से जो स्पाइडर होता है वह किसी भी वेबसाइट के ऊपर जो आर्टिकल मौजूद होता है उसके लिंक के जरिए ही उस वेबसाइट के ऊपर अवेलेबल आर्टिकल को ढूंढता है। किसी भी वेबसाइट पर जो आर्टिकल मौजूद होता है और उसमें जो भी टाइटल, फोटो, Url होते हैं उन सभी को स्पाइडर के द्वारा स्कैन किया जाता है ताकि इस बात की जानकारी हासिल की जा सके कि वह वेबपेज किस सब्जेक्ट के ऊपर आधारित है। 

अगर Spider को उस आर्टिकल में किसी दूसरे वेब पेज का लिंक प्राप्त होता है, तो वह अगले वेबपेज पर चला जाता है और उसे भी Scan कर लेता है।

  • Search Engine Indexing

Crawling की प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद बारी आती है इंडेक्सिंग के प्रोसेस के स्टार्ट होने की। हमने आपको ऊपर ही यह बताया है कि जो भी डाटा क्रॉल हो जाता है उसे स्टोर करने के लिए डेटाबेस का इस्तेमाल किया जाता है जिसके अंदर एफिशिएंट मात्रा में सर्वर अवेलेबल होते हैं जिनका काम यह होता है कि क्रॉलर ने जो वेब पेज को स्कैन करके कॉपी क्रिएट की है उसे Store करके रखें। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यही वह डाटा होता है जब आप सर्च इंजन में कुछ भी इंफॉर्मेशन को जानने के लिए सर्च करते हैं तो आपको अपनी स्क्रीन पर रिजल्ट के तौर पर दिखाई देता है।

  • Search Engine Ranking And Retrieval

सर्च इंजन के द्वारा Crawling और Indexing हो जाने के बाद सबसे आखिरी चरण में रैंकिंग की प्रोसेस चालू होती है। इस प्रोसेस के अंतर्गत हमने जो भी सवाल या फिर क्वेश्चन गूगल पर सर्च किया होता है उसकी प्रोसेसिंग की प्रक्रिया स्टार्ट होती है और उससे मिलता जुलता रिजल्ट हमें हमारी स्क्रीन पर दिखाई देता है। 

एक प्रकार से हम यह भी कह सकते हैं कि इस प्रोसेस को पूरी होने के बाद हमने जो सर्च किया होता है उससे रिलेटेड बहुत सारी वेबसाइट हमारी Screen पर ओपन हो करके आ जाती है जिसमें से हम अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी वेबसाइट पर क्लिक करके हमने जो जानकारी सर्च की है उसे प्राप्त करने की कोशिश कर सकते हैं। 

अगर आपको किसी वेबसाइट पर आपने जो जानकारी Search की है वह नहीं मिल रही है तो आप उस वेबसाइट से बाहर आकर के किसी दूसरी वेबसाइट पर क्लिक करके जा सकते हैं और वहां पर अपनी जानकारी को प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हैं। 

कुछ भी सर्च करने पर गूगल के द्वारा हमें जो वेबसाइट सबसे ऊपर दिखाई जाती है उसमें अधिकतर हमने जो जानकारी सर्च की होती है वह होती है। इसके अलावा नीचे जो वेबसाइट आती है उसमें भी कुछ ना कुछ जानकारी आपके द्वारा सर्च किए गए Query के ऊपर ही होती है। 

कई लोगों के मन में यह क्वेश्चन आता है कि आखिर गूगल कैसे इस बात को तय करता है कि कौन सी वेबसाइट को पहले दिखाना है और कौन सी वेबसाइट को नीचे दिखाना है क्योंकि अधिकतर वेबसाइट पर किसी मुद्दे पर अधिकतम जानकारी होती है।

ऐसे में हम आपको बता दें कि गूगल इसके लिए रैंकिंग अलगोरिदम का इस्तेमाल करता है और इसके द्वारा ही वह यह तय करता है कि कौन सी वेबसाइट को उसे पहले पेज पर कौन से नंबर पर दिखाना है और कौन सी वेबसाइट को उसे किसी दूसरे पेज पर कौन से नंबर पर दिखाना है। 

वेबसाइट को पहले पेज पर लाने के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सबसे बढ़िया तरीका माना जाता है और इसी के जरिए अधिकतर लोग अपनी वेबसाइट को रैंकिंग में लाते हैं, जिसके द्वारा उनकी वेबसाइट पर अधिक से अधिक विजिटर आते हैं।

सर्च इंजन का उपयोग – Use Of Search Engine In Hindi

1. Using Search Engine For Research

अधिकांशत वे लोग जो इंटरनेट को नॉलेज का Resource मानते हैं। वे सर्च इंजन का उपयोग विभिन्न जानकारियों को प्राप्त करने के लिए करते हैं। वह सर्च इंजन के जरिए किसी विषय पर जानकारी पाने हेतु डाटा को कलेक्ट करने के लिए इसका उपयोग करते हैं। और वे इसके लिए किसी ऐसी वेबसाइट को access करते हैं जो उन्हें विश्वसनीय एवं सटीक जानकारी दे सके।

2. Using Search Engine For Shopping

इस समय कई सारे ई-कॉमर्स वेबसाइट इंडिया में कार्य कर रही हैं, और इन शॉपिंग Sites की मदद से घर बैठे Products की शॉपिंग करना बेहद आसान हो गया है। इसलिए अधिकतर लोग शहरों में आज ऑनलाइन शॉपिंग के लिए सर्च इंजन का इस्तेमाल करते हैं एवं Products को खरीदने से पूर्व उसके प्राइस को Compare करते हैं, क्वालिटी जानते हैं एवं Reviews पढ़ते हैं। और आप भी ऐसा ही करते होंगे..

3. Using Search Engine For Entertainment

इंटरनेट को मनोरंजन का साधन कहना अनुचित नहीं होगा। क्योंकि अधिकांश लोग आज भी इंटरनेट को सिर्फ Videos देखने, मूवीस देखने गेम्स खेलने इत्यादि का जरिया मानते हैं। इसलिए सोशल नेटवर्किंग साइट जैसे फेसबुक एवं Whatsapp पर लोग घंटों समय बिताते हैं। अतः मनोरंजन के उद्देश्य से Search Engine का सबसे अधिक इस्तेमाल होता है।

तो दोस्तों विश्व भर में लोगों द्वारा सर्च इंजन का इस्तेमाल करने के यह मुख्य तीन कारण हैं। लेकिन अधिकतर लोगों को लगता है कि गूगल ही एक सर्च इंजन है परंतु कहीं ऐसे सर्च इंजन है जिनकी अपनी विशेषताएं हैं, आइए दुनिया के इन Top 10 सर्च इंजन की बात करते हैं.

List Of Top 10 Best Search Engines In The World

1. Google

गूगल जिसे दुनिया का सबसे लोकप्रिय एवं बेस्ट सर्च इंजन माना जाता है। क्योंकि गूगल का उद्देश्य यूजर्स को उपयोगी एवं Most Relevant search result प्रदान करना है। और गूगल काफी हद तक अपने इस उद्देश्य में कामयाब भी हुआ है इसलिए विश्व भर में मोबाइल हो या डेस्कटॉप सर्च इंजन दोनों मार्केट में गूगल का बोलबाला है।

तथा एक रिसर्च के मुताबिक google.com इंटरनेट पर सबसे अधिक visit की गई साइट है।

2. Bing

जी हां गूगल का यदि कोई बेस्ट अल्टरनेटिव है तो वह Bing है। क्योंकि इस सर्च इंजन में वह काबिलियत है, इसी वजह से यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन वर्तमान समय में है। वर्ष 2009 में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा Bing को लांच किया गया

माइक्रोसॉफ्ट का यह सर्च इंजन गूगल की तरह कार्य करता है, जिसमें रिजल्ट्स में images, maps, Wab तथा वीडियोस शो होते हैं। इसके अलावा यह सर्च इंजन यूजर्स को फाइनेंस स्पोर्ट्स, Math, कैलकुलेशन, फ्लाइट ट्रैकिंग इत्यादि के लिए instant Answer प्रोवाइड करता है।

3. Yahoo

90 के दशक में याहू सर्च इंजन का इंटरनेट पर एक कब्जा था परंतु 1998 में गूगल के आने के बाद गूगल ने समय के साथ Yahoo को काफी पीछे छोड़ दिया। इसलिए आज याहू गूगल को तो नहीं परंतु Bing को जरूर टक्कर दे रहा है, तथा यह यूनाइटेड स्टेट्स में तीसरा सबसे पॉपुलर सर्च इंजन है।

कई सारे यूजेस आज भी याहू सर्च करते हैं। याहू सर्च 38 अंतर्राष्ट्रीय मार्केट तथा विभिन्न भाषाओं में सर्च इंटरफ़ेस उपलब्ध करता है। तथा Bing की तरह ही आप इसमें Results को images, Video, local shopping इत्यादि की सूचना पा सकते हैं.

4. Baidu

शायद आप में से कई यूजर्स ने सर्च इंजन का नाम ना सुना हो। परंतु Baidu एक चाइनीस वेब सर्च इंजन है जिसकी शुरुआत वर्ष 2000 में की गई थी। हालांकि अन्य सर्च इंजंस की तुलना में यह अधिक लोकप्रिय नहीं हुआ परंतु चाइना में आज भी Baidu सर्च इंजन का सबसे अधिक उपयोग होता है।

यह वेब सर्च यूजर्स को रिजल्ट्स में Website, Audio, फाइल्स, images इत्यादि प्रस्तुत करता ह

5. Ask.com

इस सर्च इंजन को पहले ask Ask jeeves भी कहा जाता था। यह सर्च इंजन थोड़ा सा Different है। क्योंकि इसमें रिजल्ट्स आपको Question Answer के फॉर्मेट में  दिखाई देते है। इसलिए इसे Question Answer कम्युनिटी भी कहा जाता है इसकी शुरुआत वर्ष 1995 में की गई थी।

इसलिए गूगल इत्यादि में आपको किसी क्वेश्चन का आंसर नहीं मिलता है तो आप इस सर्च इंजन का उपयोग भी कर सकते हैं

6. Yandex

दोस्तों इंडेक्स सर्च इंजन Russia में सबसे अधिक इस्तेमाल किया ज्यादा है, इसकी शुरुआत रूस से ही की गई थी जिसे हालांकि विश्व के अन्य देशों में भी इस्तेमाल किया जाता है।

दोस्तों अन्य सर्च इंजंस की तरह ही Yandex भी कार्य करता है। आपको इसके search Bar में जिस भी कीवर्ड को टाइप कर इंटर करते हैं आपको रिजल्ट में blue links, URL, Meta डिस्क्रिप्शन देखने को मिलता है। तथा आप सर्च Query के हिसाब से images वीडियोस तथा अन्य प्रकार के सर्च रिजल्ट्स भी देख सकते हैं।

7. Duckduckgo

जिन यूजर्स को इंटरनेट चलाते हुए प्राइवेसी की बहुत फिक्र होती है उनके लिए Duck Duck Go एक स्पेशल सर्च इंजन है जो आपकी प्राइवेसी को सिक्योर रखने के लिए ही बनाया गया है।

विश्व के अनेक देशों से रोजाना 30 मिलियन से भी अधिक लोग प्राइवेट ब्राउजिंग के लिए Duck Duck Go search  इंजन का इस्तेमाल करते हैं। जिसका मुख्य कारण है कि यह सर्च इंजन यूजर को ट्रैक नहीं करता।


8. Qwant

दोस्तों डक डक गो सर्च इंजन की तरह ही Qwant सर्च इंजन भी एक प्राइवेट सर्च इंजन है जिसकी सबसे बड़ी खासियत है कि यह यूजर की आइडेंटिटी को तथा यूजर्स द्वारा वहां की जाने वाली एक्टिविटी को Track नहीं करता।

इसलिए इस सर्च इंजन को Duck duck Go का अल्टरनेटिव भी माना जाता है। आप नॉर्मल सर्च इंजिन की तरह ही इस सर्च इंजन का उपयोग कर प्राइवेसी सिक्योर रख सकते हैं।

9. Dogpile

Dogpile एक Meta सर्च इंजन है, जब भी Dogpile के सर्च बार में Keyword टाइप करते हैं। तो यह सर्च इंजन आपके सामने रिजल्ट में डाटा शो करने से पहले विभिन्न वेब सर्च टूल्स का उपयोग करता है।

Dogpile सर्च इंजन एक सिंपल इंटरफेस है, कोई भी यूजर आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकता है। यह सर्च इंजन गूगल एवं याहू से outcomes प्राप्त करता है.

10. Lycos

वर्ष 1994 में lycos नामक इस सर्च इंजन की शुरुआत की गई थी। इस सर्च इंजन में सोशल नेटवर्किंग, इंटरटेनमेंट, ईमेल वेबसाइट इत्यादि की रेंज है। पहले इस सर्च इंजन का इस्तेमाल सभी कंट्रीज में किया जा सकता था परंतु अब अनेक कंट्री में इसकी इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है।

सर्च इंजन का इतिहास – History Of Search Engine In Hindi

वर्तमान के टाइम में तो बहुत सारे सर्च इंजन इंटरनेट पर अवेलेबल हो गए हैं और उनमें से हर सर्च इंजन को कोई ना कोई व्यक्ति इस्तेमाल करता ही है परंतु इस बारे में अगर बात करे कि सर्च इंजन की स्टार्टिंग कब हुई तो 90 के दशक के आसपास तक कोई भी व्यक्ति ना तो इंटरनेट के बारे में जानता था ना ही सर्च इंजन के बारे में जानता था क्योंकि तब ऐसी कोई भी सर्विस पूरे वर्ल्ड में कहीं पर भी अवेलेबल नहीं थी।

परंतु उस टाइम कॉलेज के दरमियान बहुत सारे प्रोजेक्ट विद्यार्थियों को करने के लिए दिए जा रहे थे और कुछ विद्यार्थियों को इसी प्रकार से संबंधित प्रोजेक्ट को दिया गया था और उन विद्यार्थियों ने सर्च इंजन की खोज इसी प्रोजेक्ट के नाम पर ही कर डाली। 

उन विद्यार्थी में एक विद्यार्थी का नाम था अलेन एमटगे, जिन्होंने कॉलेज प्रोजेक्ट को कंप्लीट करने के दरमियान ही सर्च इंजन के ऊपर एक्सपेरिमेंट किया और इसकी खोज कर डाली।

F.A.Qs

सर्च इंजन कितने हैं?

गूगल ही नहीं, अपितु अनेक प्रकार के सर्च इंजन है लेकिन दुनिया के अनेकों सर्च इंजन में से यदि टॉप टेन सर्च इंजन की लिस्ट निकाली जाए तो वह कुछ इस प्रकार है।

•Google.
•Microsoft Bing.
•Yahoo.
•Baidu.
•Yandex.
•DuckDuckGo.
•Ask.com.
•Ecosia.
•Aol.com
•Internet Archive

बता दें, प्रत्येक सर्च इंजन अलग-अलग खूबियों के साथ बना होता है। एक तरफ गूगल में बड़े Database के साथ हर तरह की जानकारी इस सर्च इंजन में मौजूद है। वहीं दूसरी तरफ Duck Duck Go एक ऐसा ब्राउज़र है जो प्राइवेसी Focused है और यूजर्स को Safe ब्राउज़िंग करने की सुविधा देता है।

इसके साथ ही प्रत्येक सर्च इंजन के बोट के काम करने का तरीका images, video, news, product इत्यादि रिजल्ट में Show करने का फॉर्मेट और प्रोसेस भी अलग अलग होता है।

सर्च इंजन क्या है? उदाहरण बताइए?

एक सर्च इंजन वेब पर आधारित एक Tool होता है, जिसका प्रयोग इंटरनेट यानी वेब पर उपलब्ध जानकारी को खोजने के लिए किया जाता है।
बता दें, प्रत्येक सर्च इंजन का एक Web Crawler या Boat (स्पाइडर) होता है। जो इंटरनेट पर मौजूद करोड़ों पेजेस को क्रॉल (घूमता है) करता है फिर प्राप्त डाटा को search Engine इंडेक्स करता है।

जितना अधिक डाटा सर्च इंजन के पास होगा। उतना डाटा वह किसी यूज़र को रिजल्ट में प्रदर्शित करता है। Search engine के अनेक उदाहरण हैं जैसे गूगल याहू, बिग इत्यादि।।

पहला इंटरनेट सर्च इंजन कौन सा है?

इंटरनेट के इतिहास का पहला तथा सबसे पुराना सर्च इंजन WebCrawler है। जिसे वर्ष 1994 में लांच किया गया था हालांकि यदि देखा जाए जो वर्ष 1998 में गूगल के आने से पहले जिन सर्च इंजन का इस्तेमाल होता था उनमें Yahoo, Lycos, or AltaVista इत्यादि के नाम शामिल हैं। साथ ही गूगल के लॉन्च होने के बाद भी कई सालों तक Yahoo मार्केट में यूजर्स की पहली पसंद रहा! लेकिन समय के साथ याहू रेस में काफी पीछे रह गया और गूगल पॉपुलर सर्च इंजन बन गया।

सर्च इंजन कैसे बनाएं?

एक सर्च इंजन बनाना कदापि आसान नहीं है, यह एक लंबी प्रोसेस है सर्च इंजन बनाने से लेकर उसे मैनेज करने तक का कार्य आसान नहीं होता। लेकिन फिर भी अगर आप चाहते हैं तो नीचे दिए कुछ टिप्स खुद का search engine बनाने में मदद करेंगे।

•सबसे पहले आपको कुछ servers की आवश्यकता पड़ेगी।
•एक Firewall जो आपके डाटा को protect रहेगा।
•इसके साथ ही वेब सर्च एप्लीकेशन।
•Application crawl list
•Crowl and processing
•Result application
•Ads सरवर इत्यादि की जरूरत पड़ेगी।

दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन कौन सा है?

विश्व का सबसे इस्तेमाल किए जाने वाले सर्च इंजन का नाम गूगल है। आलम यह की आज सर्च करने का मतलब ही गूगल हो चुका है। हालांकि अगर हम वीडियो सर्च इंजन के तौर पर देखें! तो यूट्यूब गूगल के बाद दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है।

जिसमें सबसे ज्यादा सवाल/जवाब और हर तरह का कांटेक्ट सर्च किया जाता है। फिर उसके बाद इस लिस्ट में baidu फेसबुक याहू जैसे सर्च इंजन का काम आता है।

भारत का सर्च इंजन कौन सा है?

भारतीय इंटरनेट उपयोगकर्ता होने के नाते यदि आपके मन में यह प्रश्न आता है तो बता दें भारत के पास भी गूगल याहू की तरह खुद के सर्च इंजन है। लेकिन क्योंकि उन्हें उस स्तर पर डेवलप नहीं किया गया है, जिस तरह गूगल और yahoo जैसे बड़े सर्च इंजन को किया गया है ।

अतः इनका इस्तेमाल ना के बराबर या फिर काफी कम होता है आइए भारत के इन सर्च इंजन के नाम जानते हैं.

भारत की सर्च इंजन

Guruji.com
Epic
खोज सर्च इंजन

उपरोक्त सर्च इंजन का ना तो कभी आपने इस्तेमाल किया होगा और ना ही इनका नाम सुना होगा। इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं आखिर क्यों इन सर्च इंजन का नाम इंटरनेट पर सुनने को नहीं मिलता।

गूगल ने अपने search engine में हिंदी की सुविधा कब शुरू की?

गूगल ने साल 2014 में वॉइस सर्च हिंदी में लांच किया था हालांकि उससे पहले सर्च इंजन पर लोग जब हिंदी में कोई सवाल टाइप करते तो काफी कम कंटेंट show होता था।

इसलिए नॉर्मली लोग इंग्लिश में ही गूगल सर्च करते थे। लेकिन जैसे-जैसे उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ी तो हिंदी में भी कंटेंट पब्लिश किया जाने लगा। आज बड़ी मात्रा में हिंदी में जानकारियां पब्लिश और पढ़ी जाती है।

चीन का search engine कौन सा है?

चीन का पहला सर्च इंजन Baidu है, यह चाइना के सबसे बड़े सर्च इंजन में से एक है जिसके पास चाइना के 76 परसेंट shares हैं। इस सर्च इंजन की शुरुआत साल 2000 में की गई थी और यह वर्तमान में चाइना में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सर्च इंजन है।

इसके अलावा चीन में अन्य सर्च इंजन का इस्तेमाल किया जाता है, जिनके नाम निम्नलिखित है

Sogou
Haosou
Shenma इत्यादि।

Meta सर्च इंजन क्या है?

Meta search engine को aggregator भी कहा जाता है यह एक सर्च इंजन है जो दूसरे कई अन्य सर्च इंजन जैसे गूगल, याहू, बिंग को यूजर्स की queries भेजता है, फिर यह सर्च इंजन से मिले सभी Results को एक मास्टर लिस्ट में या फिर केटेगरी में बांट देता है।

मेटा सर्च इंजन को किसी भी सर्च इंजन का एक विशेष रूप माना जाता है। मेटा सर्च इंजन और सर्च इंजन के बीच बड़ा अंतर यह है कि मेटा सर्च इंजन सीधे यूजर को क्वेरी सर्च करने की सुविधा नहीं देते! इनकी खुद की आधारिक संरचना नहीं होती। और यह Web को सीधे सर्च नहीं करते! बल्कि विभिन्न सर्च इंजन से वेब पेजेस को प्राप्त करके उन्हें एकत्रित करते हैं।

सर्च इंजन के उपयोग?

एक search Engine किसी भी यूजर को किसी भी topic पर जानकारियां सर्च करने की सुविधा देता है। गूगल हो या फिर कोई भी सर्च इंजन उसके प्रमुख उपयोग निम्नलिखित है।

Research| एक सर्च इंजन का प्रयोग किसी मुद्दे पर जानकारी पाने या फिर Research में गहन अध्ययन करने हेतु किया जाता है।
Shopping| एक search engine का प्रयोग ऑनलाइन शॉपिंग के लिए भी किया जाता हैं। आज यूजर्स प्रोडक्ट खरीदने से पहले विभिन्न प्रोडक्ट्स को आपस में कंपेयर भी करते हैं।
Entertainment| आज भी ज्यादातर लोग सर्च इंजन का उपयोग काम से अधिक मनोरंजन के लिए इस्तेमाल करते हैं । वे इन्टरनेट पर movies, web series, मजेदार videos देखते हैं।
Work| कार्यालयों/ कंपनियों में कंप्यूटर का उपयोग डाटा कैलकुलेट करने, important डाटा को स्टोर करने इत्यादि के लिए किया जाता है।

अतः इस प्रकार देखा जाए तो सर्च इंजन के अनेक उपयोग हैं।

उम्मीद है अब आपको सर्च इंजन (Search Engine) से संभंदित पूरी जानकारी मिल चुकी होगी। और अब आप जान गए होंगे की सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi? सर्च इंजन कैसे काम करता है? तथा किस तरह हम अपने सभी सवालों के जवाब सर्च इंजन पर खोज पाते हैं? All About Search Engine In Hindi.

यह भी पढ़े:

Hope की आपको सर्च इंजन क्या है – What Is Search Engine In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here