एंटीवायरस क्या है? – What Is Antivirus In Hindi


Antivirus Kya Hai? – What Is Antivirus In Hindi? दोस्तों antivirus के बारे में तो आप सब जानते ही होगे, और आपने अपने smartphone और computer में use भी किया होगा। लेकिन फिर भी अगर आपको एंटीवायरस के बारे में नही पता तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की एंटीवायरस क्या है? इसके प्रकार? फ़ायदे और उपयोग? कैसे काम करता है? इस्तेमाल करना चाइए या नही? History of antivirus & all about antivirus in hindi?

दोस्तों यदि आप अक्सर कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। तो आप एंटीवायरस शब्द को कई बार सुनते होंगे क्योंकि कई बार जब आप कंप्यूटर में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो आपको Antivirus डाउनलोड करने की सलाह दी जाती है। आखिर ऐसा क्यों कहा जाता है। कि आपके कंप्यूटर में एक अच्छा Antivirus सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होना चाहिए।


दोस्तों इसका सीधा सा कारण यह है कि Antivirus हमारे कंप्यूटर के लिए बेहद जरूरी होता है। इसकी उपयोगिता विशेषकर तब अधिक हो जाती है। जब आपका कंप्यूटर किसी नेटवर्क से या फिर इंटरनेट से जुड़ा हुआ हो। आज का यह लेख उन सभी कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं के लिए बेहद उपयोगी होने वाला है। जो जानना चाहते हैं कि एंटीवायरस क्या है? – What Is Antivirus In Hindi? एंटीवायरस क्यों जरूरी होता है? Antivirus कैसे काम करता है? तथा इसका इस्तेमाल करने के क्या फायदे हैं?

अतः एंटीवायरस से संबंधित पूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिल जाएगी। तो आइये दोस्तों बिना देरी किये सबसे पहले जान लेते हैं की एंटीवायरस क्या है?

यह भी पढ़े: वायरस क्या है – What Is Virus In Hindi


एंटीवायरस क्या है? – What Is Antivirus In Hindi

एंटीवायरस एक सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम होता है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में वायरस का पता लगाने एवं उस वायरस को डिलीट करने के लिए किया जाता है. वायरस को remove करने के अलावा एक एंटीवायरस worms, trojans, adware, इत्यादि को भी कंप्यूटर से remove करता है।

दोस्तों एंटीवायरस को समझने से पूर्व आपके लिए वायरस को समझना जरूरी हो जाता है। सरल शब्दों में समझें तो वायरस में निर्देश (instruction) होते हैं जिनके प्रभाव से कंप्यूटर की कार्यप्रणाली को रोकने के साथ ही save की गई इंफॉर्मेशन को नष्ट करना होता है।

दोस्तों इस प्रकार आप समझ सकते हैं कि वायरस आने से कंप्यूटर पर क्या प्रभाव पड़ता है। दोस्तों अब आप जान गये होंगे की एंटीवायरस क्या है? – What Is Antivirus In Hindi? अब यह सवाल आता है कि एक आपके कंप्यूटर के लिए Antivirus सॉफ्टवेयर की क्यों जरूरत पड़ती है?

कंप्यूटर में Antivirus का इंस्टॉल होना बेहद आवश्यक है। जिसके लिए Antivirus सॉफ्टवेयर कंपनियां समय-समय पर अपने programmes को update करती रहती हैं। क्योंकि बिना एंटीवायरस के इंटरनेट का इस्तेमाल करने पर आपका कंप्यूटर कुछ ही मिनटों में संक्रमित हो सकता है। रोजाना 60,000 से अधिक Malware निर्मित होते हैं तथा कंप्यूटर को इन मैलवेयर से बचाने के लिए Detection tools को update करना अत्यंत आवश्यक होता है।

वायरस को आपके डिवाइस के लिए नुकसान पहुंचाने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है। यह एक यूजर को data प्राप्त करने से रोक सकता है। यह आपका कंप्यूटर control कर सकता है अतः यह जरूरी हो जाता है कि आपके कंप्यूटर में एक अच्छा एंटीवायरस इंस्टॉल हो।

एंटीवायरस का कार्य?

तो दोस्तों अब हम आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि एक एंटीवायरस क्या-क्या कार्य करता है?

वर्तमान समय में कई सारी कंपनियां अपना एंटीवायरस सॉफ्टवेयर निर्मित करती हैं। तथा प्रत्येक software में अलग-अलग फीचर्स हो सकते हैं परंतु आमतौर पर सभी एंटीवायरस प्रोग्राम निम्नलिखित कार्य कर सकते हैं।

  • किसी विशेष file या directory को scan कर मैलवेयर का पता लगा सकता है। या Malicious patterns का पता लगा सकता है.
  • एंटीवायरस आपके पूरे कंप्यूटर या किसी specific फाइल को स्कैन करने की सुविधा देता है। इसके अलावा आप किसी CD या flash ड्राइव को भी एंटीवायरस के जरिए scan कर सकते हैं।
  • एंटीवायरस आपके कंप्यूटर की health status को बताता है। जिससे कंप्यूटर की परफॉर्मेंस का आकलन किया जा सकता है।
  • एंटी वायरस वायरस अर्थात malicious कोड को detect करने पर उसे ऑटोमेटिक डिलीट कर देता है। यह कभी- कभी आपसे उन malicious फाइल को delete करने की अनुमति भी लेता है।
  • एक एंटीवायरस में virus scan करने के लिए ऑटोमेटिक schedule होता है जिस वजह से बार-बार कंप्यूटर को manually scan करने की आवश्यकता नहीं पड़ती।

तो दोस्तों यह थे कंप्यूटर एंटीवायरस के कार्य। अतः security की दृष्टि से आपके कंप्यूटर, laptop, स्मार्टफोन में हमेशा एक अच्छा Antivirus होना जरूरी है। एक एंटीवायरस इस्तेमाल करने के कई सारे फायदे होते हैं आइए उनमें से कुछ मुख्य फायदों को जान लेते हैं।

एंटीवायरस के फ़ायदे – Benefits of Antivirus in Hindi

Protection From Virus

कंप्यूटर में एक Antivirus सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होने का मुख्य लाभ यह है कि यह आपके कंप्यूटर को virus जैसे कि trojans, malware तथा spyware को कंप्यूटर में प्रवेश होने से बचाता है। इसके अलावा यह न सिर्फ आपके महत्वपूर्ण data को leak होने या फिर नष्ट होने से बचाता है।

जरा सोचिए। यदि आपके कंप्यूटर में वायरस चला जाता है तो यह आपके कंप्यूटर की processing को damage कर कंप्यूटर की परफॉर्मेंस को बेहद धीमा कर सकता है। अतः एक वायरस आपके कीमती कंप्यूटर, लैपटॉप डिवाइस की value खराब कर सकता है। इसलिए एक अच्छा एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में इंस्टॉल होना चाहिए।

Protect Private Information

दोस्तों जैसा कि आप जानते होंगे है जिस तरह hackers लोगों की निजी जानकारियों को चुराते हैं। ठीक उसी तरह वायरस का भी यही काम करता है एक एंटीवायरस आपको इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए आपकी निजी जानकारियां जैसे credit card, bank अकाउंट इनफार्मेशन को लीक होने से बचाता है।

इसके अलावा अधिकतर एंटीवायरस में firewall फीचर उपलब्ध होता है। जिससे वह किसी भी unauthorised (अनधिकृत) कंप्यूटर नेटवर्क को आपके डिवाइस से कनेक्ट होने से रोकता है। इसलिए security के तौर पर एंटीवायरस का काम आपके कंप्यूटर के लिए और अधिक बढ़ जाता है।

Convince

हालांकि आप में से कई यूजर्स सोच रहे होंगे की एक अच्छा एंटीवायरस find करने, install करने तथा फिर उसे run करें। थोड़ा असुविधाजनक लग रहा होगा परंतु सोचिए यदि आप के कंप्यूटर में Antivirus नहीं है तो?

मान लीजिए कि आपके computer में वायरस आ जाता है तो अब इस स्थिति में आप आप उस वायरस को remove करने के लिए काफी समय लगाकर ढूंढगे फिर उस वायरस को डिलीट करेंगे। तथा संभव है कि दोबारा से कहीं ना कहीं वायरस file आपके कंप्यूटर में saved हों।

परंतु जब आपके कंप्यूटर में एक real time best एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होता है। तो आपको computer में वायरस आने की सूचना तुरंत मिल जाती है जिस वजह से आप उस infected फाइल को एक क्लिक में डिलीट कर सकते हैं।

Cost Saving

दोस्तो आज विभिन्न एंटीवायरस प्रोग्राम अलग-अलग दाम में उपलब्ध हैं। तथा कुछ ऐसे भी एंटीवायरस हैं जिनमें अच्छे फीचर्स उपलब्ध हैं। तथा यह पूरी तरह फ्री हैं। दोस्तों इनमें से कहीं सारे ऐसे free एंटीवायरस हैं जो आपके system को protection प्रदान करते हैं।

परंतु यदि आप Paid Antivirus का इस्तेमाल करते हैं तो उस programme एवं सब्सक्रिप्शन की फीस आपके कंप्यूटर को कई सालों secure बनाए रखेगी अतः इस तरह आप समझ सकते हैं कि एक कंप्यूटर में best एंटीवायरस का इस्तेमाल करने से आपका कंप्यूटर smoothly कई सालों तक चलेगा। तो दोस्तों अब तक हमने एंटीवायरस से संबंधित कई सारी जानकारियां प्राप्त की हैं अब हम जान लेते हैं

एंटीवायरस कैसे काम करता है? – How Antivirus Works In Hindi

दोस्तों Antivirus प्रोग्राम की शुरुआत 1980 के दशक में की गयी। एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का कार्य आपके कंप्यूटर में सभी सॉफ्टवेयर को check करने तथा malware का पता लगाने से शुरू होता है।

इसलिए एक एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को scan कर नए एवं पुराने Malware की उपस्थिति का पता लगाता है। दोस्तों यह करने के लिए Antivirus आमतौर पर निम्नलिखित तीन डिटेक्शन प्रक्रियाओं का उपयोग करता है।

Specific Detection

इस प्रक्रिया मे एंटीवायरस set of characteristics की मदद से ज्ञात Malware का पता लगाता है।

Generic Detection

इस प्रक्रिया में computer उन Malware का पता लगाता है जो की common codebase पर आधारित malware होते हैं। या फिर वह ज्ञात किए गए families के प्रकार होते हैं।

Heuristic Detection

इस प्रक्रिया में एंटीवायरस ज्ञात किये गए suspicious behavior या फाइल structure को देखते हुए यह पिछले unknown (अज्ञात) viruses को scan करता है।

तो दोस्तों सभी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर अनेक effective tools का इस्तेमाल कर वायरस का पता लगाते हैं। तो जैसे ही आप अपने कंप्यूटर को infected पाते हैं तो तुरंत Antivirus के जरिए उस समस्या को दूर करने का प्रयास कीजिए।

यह भी पढ़े: Phishing Attack क्या है? – What Is Phishing In Hindi

Best Antivirus In Hindi

Quick Heal Total Security

दोस्तों आपके कंप्यूटर डिवाइस के लिए यह एक ऐसा एंटीवायरस software है जिसमें आपको Ransomware Protection, Web Security, Safe  Banking, Data Theft Protection, Parental Control, Malware Protection और Flash Drive Protection. आदि फीचर्स मिल जाते हैं

दोस्तों यह एक पसिद्ध antivirus है तथा इतने सारे फीचर्स कि होने की वजह से यह एक paid tool है। हालांकि आप इसके एक महीने का free ट्रायल का उपयोग कर सकते हैं। तथा बाद में इस एंटीवायरस के लिए pay कर सकते हैं। दोस्तों जैसे ही आप इस एंटीवायरस को अपने कंप्यूटर में इनस्टॉल कर इसके free ट्रायल का इस्तेमाल करते हैं तो आप इस Antivirus की कई सारी खूबियों के बारे में जाने पाएंगे।

दोस्तों सभी windows कंप्यूटर में यह एंटीवायरस कार्य करता है। अतः यदि आपके windows कंप्यूटर में 1GB रैम
है, तो आप इस एंटीवायरस को अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल कर सकते हैं।

360 Total Security

यदि आप free एंटीवायरस सॉफ्टवेयर की तलाश में हैं तो 360 आपके कंप्यूटर को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन सुरक्षा प्रदान करने में सहायता करता है।

इस सॉफ्टवेयर में आपको Speedup, Cleanup, Full Check फीचर्स मिल जाएंगे पर खास बात यह है कि यह एंटीवायरस सिस्टम के काफी कम resources का उपयोग करता है तथा आप easily कंप्यूटर में इस एंटीवायरस को इंस्टॉल कर सकते हैं।

Avast Free Antivirus

दोस्तों यदि आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तो आपने Avast एंटीवायरस का नाम कई बार सुना होगा। यह एंटीवायरस आपकी पर्सनल इंफॉर्मेशन तथा system फाइल्स को वायरस से सुरक्षा प्रदान करता है। इसमें आपको Sandbox, Browser Cleanup, passwords, Secure DNS जैसे बहुत से features मिलते है।

दोस्तों यह फ्री एंटीवायरस तेजी से तथा सरलता पूर्वक आपके डिवाइस में Malware को रिमूव करने में सहायक होता है। साथ ही यह software आपको real टाइम मालवेयर attack प्रोटेक्शन की सुविधा देता है। दोस्तों आप ही से एंटीवायरस सॉफ्टवेयर को अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल करें फ्री में आवाज एंटीवायरस के अनेक फीचर्स का लाभ उठा सकते हैं.

AVG

Best एंटीवायरस की बात हो तो AVG सबसे पॉपुलर एंटीवायरस प्रोग्राम में से एक है इसे हम अपने कंप्यूटर में फ्री में इस्तेमाल कर सकते हैं और आसानी से इसे इंटरनेट से डाउनलोड भी किया जा सकता है। App की खास बात यह है कि यह Windows के विभिन्न ऑपरेटिंग सिस्टम्स के साथ अच्छे से कार्य करता है। आप इसे Windows xp से Windows 7 तक में आराम से चला सकते हैं और अपने कंप्यूटर को वायरस से प्रोटेक्ट कर सकते हैं।

यह एंटीवायरस नियमित तौर पर आपके कंप्यूटर की फाइल्स को स्कैन करता है, यही नहीं यह न सिर्फ PC को वायरस से प्रोटेक्ट करता है। बल्कि spyware सॉफ्टवेयर को भी Anti-spyware एबिलिटी के जरिए कंप्यूटर में अटैक करने से रोकता है। जो वायरस files JPG में होती हैं उनके दुष्प्रभाव को कंप्यूटर से फैलने से पूर्व यह आपको उन्हें डिलीट करने की भी सूचना देता है.

McAfee

मार्केट में McAfee VirusScan पिछले कई सालों से लोकप्रिय एंटीवायरस में से एक है, यह सिंगल सॉफ्टवेयर विभिन्न वायरस एप्लीकेशंस का काम करता है आपके डिवाइस को न सिर्फ वायरस से प्रोटेक्ट करता है बल्कि Spyware, Malware, ransomware के अटैक से भी रोकता है।

दरअसल यह आपके कंप्यूटर के लिए एंटीवायरस से भी बढ़कर है इसीलिए इसका इस्तेमाल आज पर्सनल कंप्यूटर से लेकर इंटरप्राइज में किया जाता है। इस ऐप का मुख्य उद्देश्य आपके कंप्यूटर को एनालाइज करना है और वायरस की फाइल्स के चपेट में आने से आपको बचाना है।

यह आपके overall कंप्यूटर को एनालाइज करने के दौरान आपके firewall में इंस्टॉल किए गए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर  को भी स्कैन करता है और कोई भी खतरा होने पर आपको सूचना देता है हालांकि यह काम विंडोस पहले ही करता है परंतु McAfee के इस्तेमाल से आपकी सिक्योरिटी पक्की हो जाती है.

Norton

Norton antivirus को हम एंटी वायरस या एंटी मालवेयर सॉफ्टवेयर कह सकते हैं। मार्केट में norton के विभिन्न एंटीवायरस आपको देखने को मिलते हैं 30 साल से norton ने मार्केट में कंप्यूटर सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर के तौर पर अपनी एक विशेष पहचान बनाई है।

एक single सॉफ्टवेयर के जरिए आप अपने कंप्यूटर को वायरस एवं spyware से मुक्त रख सकते हैं। Norton का annual सब्सक्रिप्शन लेकर मार्केट में ज्यादातर कंप्यूटर यूजर्स इसकी सिक्योरिटी का उपयोग करते हैं। इंटरनेट चलाते समय यदि आप डेटा की सिक्योरिटी को लेकर चिंतित रहते हैं तो भी आप Norton के सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल कर सकते हैं यह सिंगल सॉफ्टवेयर आपको viruses, spyware, worms and Trojan horses  कंप्यूटर में आने से रोकता है और कंप्यूटर को हानि पहुंचाने से रुकता है।

अब स्मार्टफोंस में भी Norton सिक्योरिटी दी जा रही है तो आप अपने स्मार्टफोन के लिए भी इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

Bitdefender

Bitdefender भी एक बेस्ट एंटीवायरस प्रोग्राम है।इस सिंगल सॉफ्टवेयर की मदद से आप अपने कंप्यूटर को वायरस तथा अन्य प्रकार के सॉफ्टवेयर से प्रोटेक्ट कर सकते हैं। Bitdefender न सिर्फ कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं के लिए बनाया गया है बल्कि इसे आप सभी मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम्स के साथ-साथ स्मार्टफोन में भी उपयोग कर सकते हैं।

यह यूजर फ्रेंडली एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को सिक्योरिटी प्रदान करने के साथ-साथ Free vpn भी प्रदान करता है। जिसमें 200 एमबी की लिमिट है कंपनी द्वारा इस सॉफ्टवेयर को बेहतर बनाने के लिए इसमें parental controls, webcam protection, a password manager तथा tools दिए है जिससे ransomeware से फाइट की जा सके।

यह एंटीवायरस आपके डिवाइस को सिक्योरिटी 1 साल तक की प्रदान कर सकता है।


Panda

जब बात हो एंटीवायरस कि तो पांडा इस इंडस्ट्री में एक बड़ा नाम है यह एंटीवायरस प्रोग्राम सभी प्रकार के साइबर threats से आपको प्रोटेक्शन देता है। ऊपर बताये गए अन्य एंटीवायरस प्रोग्राम की तुलना में एक बड़ी खासियत है कि यह फास्ट परफॉर्मेंस प्रदान करता है।

यह एंटीवायरस नहीं daily के 150 MB वीपीएन की लिमिट देता है। लेकिन आईफोन यूजर्स इस एंटीवायरस का इस्तेमाल अपने डिवाइस में नहीं कर सकते क्योंकि अभी यह सिर्फ windows एंड्रॉयड और मैकिनटोश को सपोर्ट करता है bitdefender एंटीवायरस की तरह पांडा को भी एक साथ पांच डिवाइस में प्रोटेक्शन प्रदान करने के लिए डिजाइन किया है इस एंटीवायरस में भी आपको एक full android malware Scanner देखने को मिल जाता है।

दोस्तों यहां पर हमने सभी मार्केट के टॉप एंटी वायरस प्रोग्राम की जानकारी दे दी है। लेकिन अब हम जानते हैं कि कैसे अपने कंप्यूटर के लिए बेस्ट एंटीवायरस का आप चुनाव कर सकते हैं।

एक अच्छा एंटीवायरस प्रोग्राम कैसे चुने?

दोस्तों यदि आप इंटरनेट पर एंटीवायरस सर्च करें तो आपको कई ऐसे फ्री एंटीवायरस भी देखने को मिल जाते हैं जो आपके सिस्टम को secure करने का दावा करते हैं ऐसे में संभव है पहली बार एंटीवायरस प्रोग्राम का इस्तेमाल करते हुए आप को यह कंफ्यूजन हो सकती हैं कि मेरे लिए फ्री एंटीवायरस बेहतर रहेगा या फिर Paid एंटीवायरस?

तो दोस्तो सबसे यदि आप अपने लिए एक बेस्ट एंटीवायरस का चयन करना चाहते हैं तो आपको उस एंटीवायरस की परफॉर्मेंस उसके फीचर तथा ऑपरेटिंग सिस्टम की कंपैटिबिलिटी और कितने Devices से यह एंटीवायरस आपको प्रोटेक्ट कर सकता है यह आपको देखना जरूरी है।

और न सिर्फ इंटरनेट पर उनके फीचर्स एवं रिव्यू को पढ़कर देखना है, बल्कि प्रैक्टिकली आप उसका इस्तेमाल करते हैं तो आप को और बेहतर पता लगता है। आप इसके लिए लिए वीडियो ट्यूटोरियल्स का सहारा ले सकते हैं, अब जहां तक बात रही फ्री एंटीवायरस की तो उनमें से अधिकतर एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को सभी threats से सिक्योरिटी प्रदान नहीं करते।

और आपको एडिशनल एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आपके अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल करना पड़ता है और साथ ही ad supported होने की वजह से इसमें ऐड भी देखने को मिलते हैं। इसलिए इन्हें Adware भी कहा जा सकता है। लेकिन यदि आप अच्छे एंटीवायरस में एक बार पैसा इन्वेस्ट करते हैं तो यह यह आपके फ्री एंटीवायरस कि इन सभी कमियों को दूर करेगा ही साथ में आपको लंबे समय तक प्रोटेक्शन आपके डिवाइस को देने की गारंटी प्रदान करता है।

F.A.Qs

एंटीवायरस की उपयोगिता?

Antivirus आपके कंप्यूटर में मौजूद रहकर निम्न फीचर्स के माध्यम से आपके कंप्यूटर को Safe और Secure रखता है। Computer में प्रवेश कर हानिकारक ट्रोजन, वायरस आपके डाटा सिस्टम को बुरी तरह प्रभावित कर सकते हैं। अतः एक एंटीवायरस उन सभी नुकसानदेह तत्वों को मिटाने का काम करता है।

यूजर की आवश्यकता के मुताबिक एक किसी एक फाइल& फोल्डर को या फिर पूरे कंप्यूटर को स्कैन कर चेक कर सकता है। आप रेगुलर पीरियड में ऑटोमेटिक स्कैन इनेबल कर सकते हैं। जिससे ऑटोमेटिकली यह आपके कंप्यूटर को स्कैन करेगा। आपके कंप्यूटर के malicious code और प्रोग्राम्स को Detect कर उन्हें कंप्यूटर से डिलीट करने का सुझाव देता है।

तो यह थे कुछ मुख्य कंप्यूटर एंटीवायरस, संक्षेप में कहें तो एक डिजिटल युग में एक बेस्ट एंटीवायरस की उपयोगिता काफी बढ़ चुकी है।

एक कंप्यूटर एंटीवायरस क्या है?

सरल शब्दों में समझें तो एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो मैलवेयर को कंप्यूटर में आने से रोकने, उसका पता लगाने और उसे मिटाने के लिए बनाया गया हो। यहां पर आपका जानना जरूरी है कि malware एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता है जिसे बनाने का मुख्य उद्देश्य किसी कंप्यूटर, server, smartphone या किसी computer नेटवर्क को क्षति पहुंचाना होता है।

एक अच्छा एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को नुकसानदेह तत्वों malware जैसे worms, Trojan horses और spyware को रोकता है और साथ ही यह customisable farewell और website ब्लॉकिंग की भी सुविधा देता है।

एंटीवायरस कितने प्रकार के होते हैं?

समय के साथ कार्यप्रणाली और उद्देश्य के आधार पर आज मार्केट में कई तरह के antivirus उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ मुख्य प्रकार निम्नलिखित हैं।

Malware Signature Antivirus

आपकी मर्जी के बिना एक मालीशियस कोड या सॉफ्टवेयर जब आपके कंप्यूटर पर इंस्टॉल होता है तो इससे आपका पूरा कंप्यूटर वायरस या स्पाइवेयर से छतिग्रस्त हो सकता है। और दूर बैठा कोई साइबर क्रिमिनल यह हैकर मैलवेयर के जरिये आपके कंप्यूटर तक पहुंच कर उसे कंट्रोल कर सकता है।

आज मार्केट में विभिन्न कंपनियों के Malware प्रोटेक्शन के लिए एंटीवायरस उपलब्ध है। लेकिन चूंकि यह आपके कंप्यूटर में उपलब्ध Malware का पता लगाने और उन्हें कंप्यूटर से बाहर निकालने का कार्य करता है परंतु एंटीवायरस का यह प्रकार नए टाइप के वायरस को नहीं जान पाता क्योंकि इसमें नए वायरस की पहचान के गुण नहीं पाए जाते।

System Monitoring Antivirus

यह antivirus computer system के साथ साथ computer में maujud softwares के बिहेवियर को चेक करने का कार्य करता है। जब आप system monitoring antivirus अपने कंप्यूटर में सफलतापूर्वक इंस्टॉल करके सेटअप करते हैं। तो इंटरनेट ब्राउज करने के दौरान अगर आप किसी असुरक्षित वेबसाइट पर जाते हैं, तो यह आपको अलर्ट करता है या फिर जब आप कई सारी फाइल्स को एक साथ एक्सेस करते हैं तो उनकी सिक्योरिटी की जांच करता है।

इस प्रकार का एंटीवायरस चूंकि पूरे सिस्टम पर निगरानी रखता है अतः यह वायरस यह भी बताता है कि आपने जो कंप्यूटर पर एंटीवायरस इंस्टॉल किया है वह अब कार्य कर रहा है या फिर नहीं।

Machine Learning Antivirus

Virus protection देने वाले antivirus के अनेक प्रकारों में से एक है machine learning यह antivirus computer या Computer के पूरे network को स्कैन करता है।

इस प्रकार के वायरस का एक बेहतरीन एग्जांपल है माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित किया गया हाल ही में एक मशीन लर्निंग एंटीवायरस सॉफ्टवेयर, जो 400 million से भी अधिक कंप्यूटर जो Windows 10 पर कार्य कर रहे हैं उनसे डाटा प्राप्त करके नए malware का पता लगाने में सक्षम है।

इस प्रकार के सॉफ्टवेयर आमतौर पर टेक्नोलॉजी कंपनियां ही विकसित करती है और इनका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर नए मालवेयर्स की जांच के लिए किया जाता है।

वायरस और एंटीवायरस क्या है?

वायरस एक प्रोग्राम होता है जो किसी सिस्टम तक पहुंच कर वहां मौजूद Files, Programs को संक्रमित कर कंप्यूटर को नुकसान पहुंचाने का कार्य करता है। दूसरी तरफ इस virus को रोककर यूजर के कंप्यूटर में स्टोर डाटा को सुरक्षित रखने के लिए एक Antivirus प्रोग्राम बनाया जाता है। जिस को इंस्टॉल कर वायरस से प्रोटेक्शन मिलता है।

एक अच्छा कंप्यूटर एंटीवायरस आपको न सिर्फ वायरस बल्कि विभिन्न तरह के नुकसानदाई प्रोग्राम्स worms, spyware, Trojan horses, adware को कंप्यूटर में प्रवेश करने से रोकता है।

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कौन-कौन से हैं?

बाजार में इस समय Paid तथा free दोनों तरह के एंटीवायरस उपलब्ध हैं। Paid एंटीवायरस क इस्तेमाल करने के लिए जहां आपको पैसे खर्च करने पड़ते हैं। परंतु यह आपके सिस्टम को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करते हैं वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी फ्री एंटीवायरस हैं। जिनका इस्तेमाल कर बिना खर्चा किए आप अपने कंप्यूटर को प्रोटेक्टेड रख सकते हैं पेश हैं कुछ बेस्ट एंटीवायरस।

1. Bitdefender Antivirus Plus.
2. Norton AntiVirus Plus 
3. Avira Antivirus Pro
4. Trend Micro Antivirus+ Security
5. Webroot SecureAnywhere Antivirus
6. ESET NOD32 Antivirus
7. G-Data Antivirus
8. Comodo Windows Antivirus
9. F-Secure Antivirus SAFE
10. Kaspersky Anti-Virus

Laptop में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कैसे डालें?

Computer में antivirus software install करना बेहद आसान है, सिर्फ आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना है। सबसे पहले आप इंटरनेट की मदद से किसी बेस्ट एंटीवायरस सॉफ्टवेयर को अपने कंप्यूटर में डाउनलोड कर लीजिए। फिर Download की गई फाइल पर क्लिक करें, और install बटन पर क्लिक करके सक्सेसफुली कंप्यूटर एंटीवायरस को इंस्टॉल कर लीजिए।

Installation के दौरान स्क्रीन पर यदि Custom & manual दो ऑप्शन नज़र आते हैं तो आप यदि Mannual ऑप्शन Choose करते हैं। तो कंप्यूटर ऑटोमेटिक ही उस एंटीवायरस के जरूरी फीचर्स को आपके कंप्यूटर में इंस्टॉल कर लेगा। जिसके बाद वह Antivirus सफलतापूर्वक आपके कंप्यूटर में इंस्टॉल हो जायेगा, और आपको डेस्कटॉप में इस एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का icon दिखाई देगा जिस पर क्लिक करके आप इसे ओपन कर सकते हैं।

इस antivirus की सहायता से आप अपने लैपटॉप/PC को स्कैन कर सकते हैं और वायरस, मालवेयर से इनफेक्टेड किसी फाइल& प्रोग्राम का पता लगाकर उसे डिलीट कर सकते है।

सबसे अच्छा एंटीवायरस कौन सा है?

आज मार्केट में चूंकि प्रत्येक एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंपनी खुद का सॉफ्टवेयर सबसे बेस्ट बताती है। ऐसे में कौन सा एंटीवायरस हमारे सिस्टम के लिए बेस्ट है? यह पता करना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है।

हालांकि यह बात सही है कि फ्री एंटीवायरस की तुलना में Paid एंटीवायरस ज्यादा बेहतर काम करते हैं क्योंकि इनमें आपके सिस्टम को सिक्योरिटी प्रोटेक्शन देने के लिए सभी अवश्य Features होते हैं।

दोस्तों उम्मीद है एंटीवायरस से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां आपको आज के इस लेख में मिल चुकी होंगी। और आप जान गये होगे की एंटीवायरस क्या है? (What is Antivirus in Hindi) इसके प्रकार? फ़ायदे और उपयोग? कैसे काम करता है? इस्तेमाल करना चाइए या नही? History of antivirus & all about antivirus in hindi?

यह भी पढ़े:

Hope की आपको एंटीवायरस (AntiVirus) क्या है? – What Is Antivirus In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here