ईमेल क्या है? – What Is Email In Hindi


अगर आपको नही पता की email address, email id या email account क्या होता है? कैसे बनाते है? कैसे भेजते हैं? तो आज इस पोस्ट में हम डिटेल से जानिंगे की ईमेल क्या है? – What Is Email In Hindi? कैसे बनाए? कैसे भेजे? फ़ायदे क्या हैं? All About email in hindi.

दोस्तो ईमेल अर्थात इलेक्ट्रॉनिक ईमेल क्या आपने अपने मोबाइल या कंप्यूटर में ईमेल का इस्तेमाल किया है? अगर आपको नही पता की email क्या होता है? या email id कैसे बनाते है? तो आजका यह पोस्ट आपके लिए काफ़ी मददगार साबित होने वाला है, क्यूँकि आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की ईमेल क्या है? – What Is Email In Hindi


दोस्तों आज इंटरनेट यूजर्स की संख्या बढ़ रही है परंतु अभी भी कई ऐसे इंटरनेट यूजर हैं जिन्हें ईमेल क्या है? तथा ईमेल के इस्तेमाल करने का तरीका पता नहीं लग पाता परंतु असल में ईमेल का इस्तेमाल करना काफी आसान है जिस तरह हम फेसबुक whatsapp में हमारा एक अकाउंट में होता है ठीक उसी प्रकार ई-मेल का भी एक अकाउंट होता है इसे ईमेल आईडी भी कहते हैं।

तथा यह जीमेल अकाउंट गूगल द्वारा हमें मुफ्त में बनाने की सुविधा दी जाती है अतः इसका मतलब है आप फेसबुक की तरह ही अपने स्मार्टफोन में एक-दो नहीं बल्कि अनेक ईमेल आईडी बना सकते हैं।

दोस्तों यदि आप भी जानना चाहते हैं कि ईमेल क्या है? किस तरह हम ई-मेल का इस्तेमाल कर सकते हैं? और ईमेल आईडी कैसे बनाते हैं तो आज किए यह लेख आपके लिए ही है क्योंकि आज इस पोस्ट में हम डिटेल से जानिंगे की ईमेल क्या है? – What Is Email In Hindi? कैसे बनाए? कैसे भेजे? फ़ायदे क्या हैं? All About email in hindi.

यह भी पढ़े: Facebook Se Apne Friends Ke Email Address Kaise Nikale

ईमेल क्या है? – What Is Email ID In Hindi

लोगों के बीच इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से संदेशों का आदान प्रदान करना इलेक्ट्रॉनिक ईमेल का कार्य होता है। पहले के समय में email करने के दौरान sender तथा रिसीवर दोनों को किसी समय पर ऑनलाइन रहना जरूरी होता था। जिससे instant messaging की जाती है परंतु आज आज email system store & forward मॉडल पर कार्य करता है।

EMail के इस्तेमाल से एक् यूजर दूसरे ईमेल users को टेक्स्ट इमेजेस तथा डॉक्यूमेंट के रूप में मैसेजेस को सेंड कर सकता है। तथा यह मैसेज ईमेल सर्वर में सेव होते हैं तथा इंटरनेट की मदद से messages को sent किया जाता है। भेजे गए मैसेज तथा रिसीव किए मैसेज को भविष्य में कभी भी आप ओपन कर सकते हैं। क्योंकि ईमेल सर्वर messages को स्टोर, फारवर्ड तथा डिलीवर करने का कार्य करता है ।

दोस्तों अब हम जानते हैं कि email id कैसे बनाते हैं?

यह भी पढ़े: Email पर आने वाले Unwanted Spam Mails कैसे बंद करें


Email ID Kaise Banaye?

ईमेल अकाउंट बनाने के लिए कृपया नीचे दिए गए स्टेप्स को ध्यान पूर्वक समझिये जिसके बाद आप अपने मोबाइल या कंप्यूटर में ईमेल आईडी बना सकते हैं।

यहां आप मोबाइल में किस तरह ईमेल आईडी बनाते हैं वह तरीका जानेंगे।

1. सबसे पहले अपने स्मार्टफोन के सेटिंग्स में जाएं।

2. अब यहाँ accounts पर जाएं।

3. उसके बाद add account पर क्लिक करें। अब यहाँ google पर tap कीजिये।

4. उसके बाद सबसे नीचे create account का ऑप्शन होगा। अब यहाँ first name तथा last name एंटर करें। उसके बाद next बटन पर क्लिक करें।


5. अब आप यहाँ अपनी जन्मतिथि enter कीजिये। उसके बाद gender सेलेक्ट कीजिये।

यह भी पढ़े: Temporary Email ID Kaise Banaye | Disposable Email Kaise Banaye

6. अब यहाँ आपको email एड्रेस क्रिएट करना होगा। उदाहरण के लिए यदि आपका नाम mohit singh है तो यह [email protected] आप इस तरह ईमेल एड्रेस बना सकते हैं। ईमेल एड्रेस enter करने के बाद नीचे next बटन पर क्लिक कीजिए।

7. उसके बाद यहाँ create password पर क्लिक कर नया पासवर्ड सेट कर दीजिए।

8. पासवर्ड सेट करने के बाद आप phone नंबर add कर सकते हैं, या फिर skip कर लीजिए। उसके बाद privacy policy page को agree कीजिये।

इतना करते ही आपकी email id बनकर तैयार हो जाएगी। यदि आपको email id बनाने के दौरान समस्या उत्पन्न होती है, तो आप हमें अपने सवाल कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

ईमेल किसने बनाया?

ईमेल का अविष्कार वर्ष 1971 में Ray Tomlinson द्वारा किया गया था। 1960 के दशक में ईमेल का काफी सीमित उपयोग होता था परंतु 1970 के दशक से इसका इस्तेमाल बढ़ गया तथा इसे ई-मेल के नाम से जाने जाना लग गया।

ईमेल का इतिहास क्या है? – History of Email In Hindi

email का इतिहास apranet से काफी पुराना है। सरल शब्दों में समझें तो शुरुआत में ईमेल का इस्तेमाल कुछ इस तरह होता था जैसे किसी table पर कोई note या पर्ची दूसरे व्यक्ति के पढ़ने के लिए रखी गई हो। उस समय email कुछ इस फॉरमेट में होता था जैसा आज हम कंप्यूटर में फ़ाइल डायरेक्टरी को जानते हैं। उस समय किसी मैसेज को किसी दूसरे यूजर की डायरेक्टरी में रखा जाता था जहाँ दूसरा यूजर login कर उस मैसेज को read कर सकता था।

इस प्रकार की पहली email प्रणाली Mailbox थी। जिसका इस्तेमाल पहली बार 1965 में Massachusetts Institute of Technology (MIT) में किया गया था।

e-mail के प्रारंभिक दौर में यह सेवा सुविधाजनक नहीं थी तथा जिसमें सुधार करना अत्यंत आवश्यक था। इसलिए Ray Tomlinson को ईमेल का अविष्कार करने का श्रेय दिया जाता है। टॉमलिंसन ने इंटरनेट ठेकेदार के रूप में कार्य करना शुरू किया। उन्होंने एक यूजर से दूसरे यूजर तक email भेजने के लिए कंप्यूटर कीबोर्ड से @ symbol को सेलेक्ट किया जिस वजह से आज भी ईमेल भेजने के लिए @ का उपयोग किया जाता है।

ईमेल के फ़ायदे – Benefits of Email in Hindi

वेसे तो आज के समय में एक email account के बहुत से फ़ायदे हैं लेकिन यहाँ में आपको कुछ important Benefits बता रहा हूँ;

  • Email communication का एक अच्छा ज़रिया है, ओर आप email के ज़रिए घर बैठे किसी को भी अपना message send ओर receive कर सकते हो।
  • Email के ज़रिए भेजा हुआ mail (message) safe रहेता है, उसको आप कागज की तरह जला नही सकते है. और ना ही इसके खोने का डर होता हैं. आपके द्वारा भेजा गया email Mail Server पर सुरक्षित रहेता हैं.
  • email account बनाने के लिए आपको कोई पैसा ख़र्च नही करना पड़ता, email id बनाना ओर email भेजना बिलकुल free होता है।
  • आप जितना चाहो उतना लम्बा मैल भेज सकते हो।
  • आप email में multimedia (photos, music, videos, files) भेज सकते हो।

ओर इसके इलावा ओर भी बहुत से फ़ायदे हैं email के।

Hope अब आपको email के बारे में काफ़ी जानकारी मिल चुकी होगी, ओर आपने अपना email id भी बना लिया होगा, तो चलिए अब देखते हैं की email kaise bheje in hindi?

ईमेल कैसे भेजें? – How to Send Email In Hindi

email भेजने के लिए सबसे पहले स्मार्टफोन में gmail app को ओपन कीजिये। या आप gmail.com साइट से भी अपने ईमेल एकाउंट को एक्सेस कर सकते हैं।

  • gmail app होने पर दाई ओर नीचे plus का symbol दिखाई देगा उस पर क्लिक कीजिए।
  • अब यहाँ from, To, subject तथा compose email चार ऑप्शन हैं,
  • from अर्थात जिस व्यक्ति की तरफ से मैसेज भेजा जाता है, मतलब यदि आप email sent करते हैं तो आपका
    ईमेल address show होगा
  • to अर्थात जिस व्यक्ति को आप ईमेल करना चाहते हैं उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस enter कीजिये।
  • अब subject में अपने मैसेज के subject को type कीजिये।
  • अब compose email में मैसेज के text को टाइप कीजिये।

इसके साथ ही यदि आप images, video या डॉक्यूमेंट उस व्यक्ति को भेजना चाहते हैं, तो आप attach file पर क्लिक कर अपने डिवाइस से फ़ाइल सेलेक्ट कीजिये। तथा send आइकॉन पर tap कर उस व्यक्ति को सेंड कर दीजिए।

दोस्तों इस तरह आप सरलतापूर्वक किसी व्यक्ति को email कर पाएंगे।

जीमेल क्या है? – What Is Gmail In Hindi

जीमेल गूगल कंपनी द्वारा सभी उपयोगकर्ताओं को दी गई एक मुफ्त ईमेल सेवा है। जिसके उपयोग से कोई भी व्यक्ति अपनी मुफ्त में Email id Create कर सकता है तथा उस जीमेल आईडी के माध्यम से इंटरनेट पर किसी को भी ईमेल Send तथा Receive किया जा सकता है।

आज gmail को मार्केट में आए 15 वर्ष से भी अधिक समय हो चुके है। और पूरे विश्व में गूगल यूजर्स द्वारा Gmail का इस्तेमाल किया जाता है, एक रिपोर्ट के मुताबिक रोजाना 1.5 Billion लोगों द्वारा Gmail का उपयोग अपने मोबाइल एवं डेस्कटॉप पर किया जाता है।

गूगल द्वारा सभी Gmail उपयोगकर्ताओं को 15 GB का फ्री स्टोरेज दिया जाता है जिसमें वे अधिकतम 50MB के साइज का ईमेल Receive कर सकते हैं।

Email Vs Gmail In Hindi

दोस्तों अक्सर बात होती है ईमेल या फिर जीमेल की तो कहीं लोगों को लगता है यह Same है। परंतु क्या यह सच हैं, आइए जानते हैं।

यदि बात करें Email की (इलेक्ट्रॉनिक मेल) तो यह एक मेथड है, जिसके माध्यम से हम किसी मैसेज को Digitally किसी नेटवर्क जैसे कि इंटरनेट के माध्यम से Send & Receive कर सकते हैं। लेकिन बात करें यदि Gmail की तो यह गूगल का एक प्रोडक्ट है जो एक ईमेल सर्विस प्रोवाइडर के रूप में काम करता है।

तो जैसा कि हम जानते हैं इंटरनेट के माध्यम से हम Globally किसी भी व्यक्ति को संदेश भेज सकते हैं, तथा रिसीव कर सकते हैं। और इंटरनेट की दुनिया में Gmail एवं ईमेल यह दोनों terms इंटरनेट से संबंधित हैं। हम जीमेल और ईमेल को और यदि और आसान शब्दों में समझें तो Email के जरिए आप किसी को भी Text, वीडियोस इत्यादि कॉन्टेंट भेज सकते हैं। लेकिन उसे भेजने के लिए आपको किसी प्लेटफार्म की तो जरूरत होगी ही ना तो उस प्लेटफार्म के लिए हम Gmail का इस्तेमाल करते हैं।

जहां पर हम ईमेल्स को सेंड एवं रिसीव कर सकते हैं। और न सिर्फ जीमेल बल्कि पर और भी ऐसे ईमेल सर्विस प्रोवाइडर्स हैं जिनका आप इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि Yahoo Mail, हॉटमेल इत्यादि। लेकिन चूंकि gmail-google का एक प्रोडक्ट है, इसीलिए यह सबसे अधिक पॉपुलर है। और अधिकतर लोग इसी का इस्तेमाल मैसेजेस को सेंड एवं रिसीव करने के लिए करते हैं।

उम्मीद है अब आप अच्छी तरह समझ गए होंगे कि ईमेल और जीमेल में फर्क क्या होता है। नीचे कुछ पॉइंट्स दिए गए हैं जिनसे आप समझ सकते हैं कि आखिर जीमेल का इस्तेमाल वर्ल्ड वाइड सबसे अधिक क्यों किया जाता है?

Best Features of Gmail in Hindi

Schedule Email

Gmail में लेटेस्ट अपडेट के बाद अब आप Email को भी शेडूल कर सकते हैं। मान लीजिए आप किसी व्यक्ति को कोई जरूरी ईमेल Morning, Evening या फिर किसी विशेष टाइम में Send करना चाहते हैं।

तो आप इस शेड्यूल फीचर के जरिए उस ईमेल को शेडूल के टाइम पर सेंड कर सकते हैं।

Add Signature With Your Mail

आप डेस्कटॉप Mode में जीमेल सेटिंग के अंतर्गत सिग्नेचर में अपने नाम, कंपनी इत्यादि सेट कर सकते हैं। जिसके बाद आप किसी भी व्यक्ति को कोई मेल भेजते हैं तो उस मेल के साथ नीचे आपके सिग्नेचर भी उस व्यक्ति को चले जाते हैं।

Unsend Message

आपने यदि किसी Recipient को गलती से कोई ईमेल सेंड कर दिया है तो फिर आप उसे Unsend भी कर सकते हैं। जी हां आज Whatsapp, Telegram इत्यादि ऐप्स में delete for everyone फीचर आ चुका है जिससे आप भेजे गए मैसेज को सामने वाले व्यक्ति के Email से गायब कर सकते हैं।

लेकिन यह करने के लिए आपको Gmail की सेटिंग्स से Undo send नामक इस ऑप्शन को इनेबल करना होगा। जिसके बाद आप किसी भी यूजर को Mail करते हैं तो 5 सेकंड से पहले यदि आप Undo ऑप्शन पर क्लिक कर देते हैं तो वह मैसेज उस यूजर के पास नहीं पहुंचेगा।

Colorful Stars

आप यह तो जानते होंगे अपने पसंदीदा मैसेज पर हम Whatsapp की तरह ही Gmail में भी स्टार लगा सकते हैं। परंतु यदि आप Red Blue Green इत्यादि किसी अन्य Color में Star लगाना चाहते हैं तो फिर आपको सेटिंग्स में जाना होगा। और नीचे Star ऑप्शन पर जाकर अपने फेवरेट कलर को select कर लेना है उसके बाद उसी Color में आप Email मैसेजेस को Star कर सकते हैं।

Search

यदि आप बहुत पुराना ईमेल मैसेज Gmail पर फाइंड करना चाहते हैं, तो डेस्कटॉप या मोबाइल डिवाइस में आपको ऊपर एक search bar Gmail में देखने को मिलेगा। जहां पर आप उस मैसेज का सब्जेक्ट हो या फिर उस मैसेज से मिलता-जुलता है word टाइप करते हैं, तो आपको रिजल्ट में वह Mail देखने को मिल जाएगी।

तो दोस्तों इस तरह हर साल गूगल अपनी सेवा को बेहतर बनाने के लिए Gmail को अपडेट करनी नए फीचर्स लाता रहता है.

जीमेल का इतिहास – History Of Gmail In Hindi

1 अप्रैल 2004 को गूगल द्वारा एक फ्री ईमेल सर्विस प्रोवाइडर को इंटरनेट पर लांच किया। शुरुआती दिनों में Gmail को एक Joke भी माना गया क्योंकि 1 अप्रैल को अप्रैल फूल day भी कहा जाता है। हालांकि ऐसा नहीं था कि जीमेल आने से पूर्व इंटरनेट पर ईमेल नहीं भेजे जाते थे?

उससे पहले इंटरनेट उपयोगकर्ताओं द्वारा उस समय ईमेल के लिए Yahoo Mail का इस्तेमाल सबसे अधिक होता था। परंतु जीमेल के मार्केट में लॉन्च होने के बाद समय-समय पर गूगल के अन्य प्रोडक्ट्स की तरह इसे भी बेहतर बनाने के लिए गूगल लगातार काम करता रहा और इस तरह आज दुनिया में सबसे अधिक इंटरनेट यूजर्स Email भेजने के लिए gmail का इस्तेमाल करते हैं।

आपको बता दें जीमेल को गूगल डेवलपर Paul Buchheit द्वारा बनाया गया था। इंटरेस्टिंग बात यह है कि इस समय जहां गूगल एक जीमेल यूजर को 15 जीबी फ्री स्टोरेज कैपेसिटी देता है। वहीं Gmail की शुरुआत में इसकी लिमिट मात्र 1 जीबी स्टोरेज थी।

हालांकि यूजर्स इस 15gb के स्टोरेज में गूगल की अन्य सर्विस जैसे गूगल ड्राइव, फोटोज इत्यादि में भी उपयोग कर सकते हैं।

ईमेल से जुड़े कुछ FAQs

ईमेल का मतलब क्या है?

जब कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस से इलेक्ट्रॉनिक मैसेजेस का आदान प्रदान किया जाता है तो उसी प्रक्रिया को ईमेल कहा जाता है। एक उपयोगकर्ता ईमेल का इस्तेमाल कर Text, फोटो, वीडियो इत्यादि संदेश के रूप में भेज सकता है। ई-मेल के लिए दुनिया की एक लोकप्रिय ईमेल सर्विस प्रोवाइडर का नाम है Gmail.

ईमेल में क्या लिखा जाता है?

ई-मेल के इस्तेमाल के कई कारण होते हैं, ईमेल को या तो व्यक्तिगत तौर पर या फिर पेशेवर तौर पर व्यवसाय में अपने ग्राहकों तक प्रोडक्ट& सेवाओं की जानकारी पहुंचाने के लिए किया जाता है। प्रायः इमेल का इस्तेमाल किसी बिजनेस में कर्मचारी और बॉस के बीच बातचीत हेतु की जाती है। 

संक्षेप में कहें तो विभिन्न कार्यों के लिए ईमेल लिखा और पढ़ा जाता है। भले ही आज सोशल मीडिया का दौर हो, लेकिन आज भी दुनिया में करोड़ों लोग रोजाना ईमेल का इस्तेमाल कर मैसेजिंग करते हैं।

EMAIL के जन्मदाता कौन है?

Ray Tomlinson को email के फादर के तौर पर जाना जाता है। वे एक पहली अमेरिकी कंप्यूटर प्रोग्रामर थे जिन्होंने दुनिया में ARPANET system के तहत दुनिया का पहला email program 1970 में बनाया था। इसलिए आज पूरी दुनिया उन्हें ई-मेल के आविष्कारक के तौर पर भी जानती है।

ईमेल का आविष्कार कब और किसने किया था?

 वर्ष 1971 में Ray Tomlinson नामक एक अमेरिकी कंप्यूटर प्रोग्रामर द्वारा email प्रोग्राम को विकसित कर ईमेल का आविष्कार किया था.

भारत में ईमेल की शुरुआत कब हुई?

15 अगस्त वर्ष 1995 में Videsh Sanchar Nigam Limited (VSNL) द्वारा सार्वजनिक रूप से इंटरनेट कि शुरुआत करने के बाद जल्द ही भारत में ईमेल की सेवा शुरू हुई। और उसके कुछ ही सालों बाद वर्ष 1998 में सरकार द्वारा private operators के लिए भी internet सेवा उपलब्ध करवाने के रास्ते खोल दिए गए।

Gmail और Email क्या है?

Gmail और email दोनों बिल्कुल अलग है, जीमेल एक ईमेल सर्विस प्रोवाइडर है जोकि गूगल का एक प्रोडक्ट है जीमेल का पूरा नाम गूगल मेल है।

वहीं दूसरी तरफ Email, electronic messages को भेजने तथा प्राप्त करने की एक प्रक्रिया है। अब बात आती है ईमेल करने के लिए जीमेल का इस्तेमाल क्यों? ईमेल किस प्लेटफार्म से किया जाए यह एक यूजर की इच्छा होती है।

अतः चूंकि दुनिया में एक popular email service provider जीमेल है। इसलिए अधिकतर लोग इसी के जरिए ईमेल करते है, अतः प्रायः हम भी ईमेल करने के लिए गूगल के ईमेल प्रोवाइडर Gmail का इस्तेमाल करते हैं

ई-मेल के क्या फायदे होते हैं?

इंटरनेट की दुनिया में ईमेल करने के अनेकों फायदे होते जिनमें से कुछ मुख्य निम्नलिखित हैं।

1. कोई भी व्यक्ति जो स्मार्टफोन या कंप्यूटर चलाना जानता है वह ईमेल सेवा का आसानी से यूज कर सकता है।
2. अपनी बात को कहने के लिए पुराने तरीकों जैसे डाक, चिट्ठी भेजने की तुलना में ईमेल फास्ट तरीका है आप सेकंड में किसी को भी मेल कर सकते हैं।
3. आप दिन में किसी भी समय 24×7 किसी भी समय साल के किसी भी दिन ईमेल भेज सकते हैं.
4. ईमेल करना फ्री होता है, हम Gmail जैसे free email service provider का इस्तेमाल करके दुनिया भर में किसी को भी ई-मेल के जरिए कोई संदेश भेज सकते हैं.
5. इसके अलावा यह एक paperless प्रक्रिया है, आपको अपनी बातें कहने के लिए कागजों की आवश्यकता नहीं पड़ती इसलिए संचार का यह माध्यम पर्यावरण हितैषी भी कहा जा सकता है।

Email कैसे देखें?

अगर आपने अपने दोस्त के मुंह से या कहीं से सुना है कि आपको मेल की गई है? जरा चेक करें, तो ऐसे में आप नीचे दी गई स्टेप्स को फॉलो करके अपना मेल चेक कर सकते है।

1. सबसे पहले आप कंप्यूटर पर हैं तो gmail.com पर जाएं, वहीं मोबाइल में जीमेल ऐप ओपन करें।
2. यदि आपने अपने गूगल अकाउंट से sign in नहीं किया तो sign in के लिए कहा जाएगा। आप अपनी gmail id और पासवर्ड एंटर कर मोबाइल या कंप्यूटर में साइन इन करें।
3. Sign in करने के बाद स्क्रीन पर आपको सबसे पहले अपना inbox दिखेगा, यहां पर आपको Received सभी मैसेज दिखाई देंगे।
4. अब आप इनबॉक्स में से उस मैसेज पर क्लिक करके Read कर सकते हैं जो मैसेज आप देखना चाहते हैं।

इस तरह आप किसी का भी मेल आसानी से चेक कर सकते हैं।

दूसरे का ईमेल कैसे खोलें?

अगर आप दूर बैठे किसी की भी मेल अपने मोबाइल पर चेक करना चाहते हैं, तो ऐसा पॉसिबल नहीं है, दूसरों का ईमेल खोलने का मतलब है कि आप उस ईमेल को हैक करना चाहते हैं। हालांकि अगर आपका कोई दोस्त या कोई जान पहचान का व्यक्ति है जिसका गूगल अकाउंट और पासवर्ड आपके पास है तो उसकी mail को आप जरूर चेक कर सकते।

1. इसके लिए आपको अपने मोबाइल या कंप्यूटर से उसकी जीमेल id और पासवर्ड डालकर उस डिवाइस में साइन इन करना होगा।
2. साइन इन करने के बाद आप gmail.com पर आएं या अपने मोबाइल में जीमेल ऐप ओपन करें ।
3. अब प्रोफाइल आइकॉन पर क्लिक करें, उसकी जीमेल आईडी को सेलेक्ट करें।

अब आप उस व्यक्ति की इमेल यहां पर चेक कर सकते हैं।

ई-मेल से हमें क्या हानियां हैं?

अगर आप ईमेल का इस्तेमाल करके अपने क्लाइंट्स दोस्त या अन्य लोगों के साथ कम्युनिकेशन करते हैं, तो आपको निम्न परेशानी अक्सर झेलनी पड़ सकती है;

Spam:- Gmail में आपको एक inbox में मिलता है, अक्सर यह बॉक्स स्पैम messages से भरा रहता है। इसलिए ईमेल में सबसे बड़ी दिक्कत है कि यहां पर Spam मैसेजेस आते रहते हैं जो आपके काम के नहीं होते।

Email address:- व्हाट्सएप फेसबुक की तुलना में ईमेल का इस्तेमाल लोग कम करते है, इसलिए कई लोगों को ईमेल अच्छे से use करना नहीं आता। अगर आपको किसी को मेल करना है तो दूसरे व्यक्ति के पास भी ईमेल अकाउंट होना चाहिए और उसे यूज करना आना चाहिए।

Waiting for reply:- व्हाट्सएप, फेसबुक में आपके द्वारा किए गए मैसेज का आपको तुरन्त रिप्लाई मिल जाता है, वही ईमेल में मैसेज भेजने के बाद आपका मैसेज कब पढ़ा गया है, कब रिप्लाई आएगा हम नहीं कह सकते।

Useless mails:- अगर आप किस website पर अपने ईमेल अकाउंट से साइन इन कर लेते हैं। तो आपके मेल पर अक्सर वह कंपनी Mail भेजती रहती है, जो आपके काम के नहीं होते।

उम्मीद है की अब आपको email & gmail के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी। ओर अब आप जान गए होगे की ईमेल क्या है? जीमेल क्या है? – What Is Email In Hindi? कैसे बनाए? कैसे भेजे? फ़ायदे क्या हैं? All About email in hindi.

यह भी पढ़े:

Hope की आपको ईमेल क्या है? – What Is Email In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, ओर हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here