मोबाइल क्या है और किसने बनाया – What Is Mobile In Hindi

2

Mobile kya hai? –  What is Mobile in Hindi? अगर आप मोबाइल, फ़ोन, telephone, smartphone, के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आजका यह पोस्ट आपके लिए काफ़ी हेल्पफ़ुल होने वाला है, क्यूकी आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की मोबाइल क्या है और किसने बनाया? अविष्कार किसने किया? मोबाइल का इतिहास? खोज किसने की? फायदे और नुकसान? कैसे काम करता है? All About Mobile Phone In Hindi.

दोस्तों अभी आप शायद इस लेख को अपने मोबाइल के जरिए पढ़ रहे हैं! दोस्तों आज मोबाइल हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा है जिसके बगैर एक दिन भी रहना कई लोगों के लिए लगभग नामुमकिन बन चुका है!


लेकिन यदि मैं आपसे पूछूं कि आखिर मोबाइल क्या है? तो शायद आप इस बात का जवाब नहीं दे पाएंगे! क्योंकि अक्सर हम मोबाइल का इस्तेमाल तो रोजाना करते हैं परंतु हमें यह पता नहीं होता कि आखिर मोबाइल क्या है? परंतु एक स्मार्ट मोबाइल यूजर होने के नाते आपके लिए यह जानना जरूरी है की

दोस्तों यदि आप मोबाइल के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आज का यह लेख आपके लिए ही है क्योंकि यहां हम उन सभी स्मार्ट यूजर्स के लिए इस जानकारी को लेकर आए हैं! जिससे उन्हें मोबाइल के बारे में तथा इसके इतिहास को जानने में मदद मिलेगी।

इसके साथ ही इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि लेख के अंत में आपको मोबाइल के फायदे तथा नुकसान के बारे में बताएंगे! जिससे आपको मोबाइल के सही इस्तेमाल के बारे में जानकारी मिल पाएगी! उम्मीद है आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आएगी चलिए शुरू करते हैं कि मोबाइल क्या है और किसने बनाया? अविष्कार किसने किया? मोबाइल का इतिहास? खोज किसने की? फायदे और नुकसान? कैसे काम करता है?

अगर आपको नही पता की Computer क्या होता है? तो कंप्यूटर क्या है और किसने बनाया – What Is Computer In Hindi इसके बारे में मैंने पहले से ही बताया हुआ है, लेकिन आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की मोबाइल क्या है और किसने बनाया – What Is Mobile In Hindi?

यह भी पढ़े: किसी का नंबर कैसे जाने – मोबाइल नंबर कैसे पता करे

मोबाइल फोन क्या है? – What Is Mobile Phone In Hindi

मोबाइल फोन हाथ में पकड़ा जाने वाला एक वायरलेस डिवाइस होता है जो यूजर्स को कॉलिंग करने & रिसीव करने और संदेश भेजने तथा अन्य फीचर्स की सुविधा देता है। शुरुआती जनरेशन के मोबाइल फ़ोन केवल कॉलिंग का कार्य करते थे तथा लोग वॉइस कॉलिंग के जरिए ही एक दूसरे से कनेक्टेड रहकर करते थे।

परंतु आज समय बदल चुका है अब मोबाइल में वेब ब्राउजर, गेमिंग, कैमरा, ब्लूटूथ, वाईफाई जैसे तमाम फीचर्स यूजर्स को एक मोबाइल में प्राप्त होते हैं।

मोबाइल फोन को cellular फोन या cellular के नाम से भी जाना जाता है! मोबाइल फोन के शुरुआती दौर में मोबाइल का आकार काफी अधिक होता था जिस वजह से इन्हें एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में (जेब में रखना) असंभव था!

परंतु समय के साथ मोबाइल फोन को GSM (global system for mobile communication) नेटवर्क से जोड़ा गया जिससे यूजर टेक्स्ट मैसेज सेंड तथा रिसीव कर सकते थे! इस तरह धीरे-धीरे मोबाइल फोन के आकार तथा फीचर्स में बदलाव किए गए और वर्तमान समय में सबसे युवा पीढ़ी सबसे अधिक स्मार्टफोन लेना पसंद क्यों करना पसंद करती हैं!

यह भी पढ़े: चोरी हुआ मोबाइल कैसे ढूंढे गूगल की मदद से

मोबाइल के फायदे क्या हैं? – Benefits Of Mobile Phone In Hindi

आज मोबाइल हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है इसका मुख्य कारण यह है कि यह सभी लोगों से जुड़े रहने का एक सरल माध्यम बन चुका है, आज हम फेसबुक, व्हाट्सएप जैसे सोशल एप्स की मदद से अपने दोस्तों रिश्तेदारों तथा अन्य व्यक्ति से कहीं भी कभी भी बातें कर सकते हैं तथा कनेक्ट हो सकते हैं!

मोबाइल फोन के जरिए देश के भीतर कहीं भी तथा विदेश में दूसरे व्यक्ति को कॉलिंग के जरिए अपनी आवाज को दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा सकते है! मोबाइल फोन दूर रहकर मनुष्य के विचारों को व्यक्त करने का माध्यम है।

आज हम स्मार्टफोंन की मदद से कई सारे कार्य आसानी से कर सकते हैं जैसे कि हम घर बैठे बिजली, पानी, मोबाइल रीचार्ज, tv के बिलों का भुगतान घर बैठे कर सकते हैं जिस वजह से हम कह सकते हैं कि मोबाइल ने मनुष्य के समय के साथ-साथ उनके ऊर्जा शक्ति को save करने का भी कार्य किया है

मोबाइल फोन में इंटरनेट के इस्तेमाल से देश-दुनिया से जुड़ी जानकारी तथा इसके अलावा अन्य विषयों पर आसानी से जानकारी प्राप्त की जा सकती है।


इसके अलावा मोबाइल फोन इस्तेमाल करने के अनेक फायदे हैं आज कई लोगों के लिए मोबाइल के बिना एक दिन भी गुज़ारना नामुमकिन हो रहा है।

दोस्तों अब हम जानते हैं कि मोबाइल फोन हमारी जिंदगी मैं आज किस तरह से नुकसानदायक साबित हो रहा है? चलिए जानते हैं मोबाइल फोन के नुकसान के बारे में!

यह भी पढ़े: मोबाइल से पैसे कैसे कमाए – पैसे कमाने वाला एप्प

मोबाइल फ़ोन के नुक़सान?

सोशल मीडिया के इस युग मे मोबाइल फ़ोन में समय-समय पर नई नई नोटिफिकेशन आती रहती हैं, जो यूजर के किसी कार्य में ध्यान को भंग करने के मुख्य कारण है।

दरअसल मोबाइल फोन को बनाने का उद्देश्य लोगों को आपस में जोड़ना था परंतु आज इसका दुष्प्रभाव देखने को मिलता है! आज मोबाइल यूजर सोशल मीडिया में अधिक समय बिताते हैं तथा हम अपने दोस्तों रिश्तेदारों के सामने बैठते हुए भी अनावश्यक रूप से मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं!

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है परंतु मोबाइल के दुष्प्रभाव के कारण कहीं ना कहीं यह मनुष्य की जिंदगी को अव्यवस्तिथ कर सकते हैं!

देर रात तक मोबाइल फोन में गेम खेलने, चैटिंग करने से मनुष्य के दैनिक दिनचर्या मैं फर्क पड़ता है साथ ही यह स्वास्थ्य के लिए भी यह हानिकारक है क्योंकि फोन की ब्राइटनेस हमारी आंखों के लिए नुकसानदेह होती है रात्रि में मोबाइल के अधिक उपयोग से आंखों के कैंसर, अनिद्रा आदि कुछ मुख्य रोग होने की संभावनाएं बनी रहती हैं।

मोबाइल के उपयोग से पैसों का दुरुपयोग भी देखने को मिलता है! वर्तमान समय में  मोबाइल फोन को फैशन ट्रेंड के रूप में समय-समय पर युवा अनावश्यक रूप से फ़ोन बदलते रहते हैं!

मोबाइल किसने बनाया और अविष्कार किसने किया?

Martin Cooper जो एक अमेरिकी इंजीनयर थे उन्होंने अप्रैल वर्ष 1973 में mobile को बनाया! वह motorola कंपनी के शोधकर्ता तथा एक्सक्यूटिव पद पर कार्य कर रहे थे!


पहला Mobile Phone Motorola का 1973 में John F. Mitchell और Martin Cooper ने बनाया था, जिसका वजन 2 Kg था.

और कीमत 2 लाख रूपये। ओर उसके बाद आया मोटोरोला का Dynatac 8000x Model जिसका उपयोग 1983 में किया गया इसकी Battery को Charge करने के बाद लगभग 35 Min तक बात की जा सकती थी।

1979 में पहला Automated Cellular Network जापान में शुरू किया गया था। ये First Generation (1g) System था, जिसकी मदद से एक बार में कई लोग आपस में कॉल कर सकते थे। ओर Camera वाले Phone की शुरुआत 1997 में हुई।

यह भी पढ़े: मोबाइल में TV Channel कैसे चलाये – Online TV कैसे देखे

मोबाइल के प्रकार – Types Of Mobile In Hindi

तो दोस्तों अब हम बात करेंगे यहां पर मोबाइल के मुख्य Types की मोबाइल के तीन प्रकारों में से आपने सभी Types को अपनी जिंदगी में इस्तेमाल किया होगा! आइए हम उनके बारे में जानते हैं;

Cell Phones

इस टाइप के Phones का उपयोग आज से लगभग 10 साल पहले नॉर्मल था याद है ना नोकिया का फोन! इस टाइप के Phones में हम कॉलिंग, Messages में कर सकते हैं साथ ही कैलकुलेशन इत्यादि करने में भी सक्षम होते हैं।

लेकिन क्योंकि इन Phones को सभी लोग आसानी से इस्तेमाल कर सके! और कहीं भी Carry कर ले जाए इस तरह डिजाइन किए जाते हैं! और इनमें फीचर्स कम होते हैं, मार्केट में इस टाइप के मोबाइल सस्ते दाम पर विभिन्न डिजाइंस, form factor एवम् companies के उपलब्ध है!

Feature Phone

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है mobile फोन के प्रकार में आपको नॉर्मल cell फोन की तुलना में अधिक फीचर्स मिलते हैं! जैसे कि user इन मोबाइल में कैमरा, ब्लूटूथ, म्यूजिक प्लेयर के साथ साथ इंटरनेट सर्फिंग भी कर सकता है।

इस तरह के मोबाइल फोन का एक बेहतरीन एग्जांपल है जियो फोन जो स्मार्टफोन की तरह ही कई सारे फीचर्स एक Keypad फोन में भी यूजर्स को देता है! इसलिए मार्केट में यह मोबाइल सरलतम उपयोग के साथ ही स्मार्टफोन की तुलना में कम दाम में available होता है।

Smartphones

जब बात हो मोबाइल फोन की तो आज अधिकतर लोगों के लिए स्मार्टफोन पहली choice हो चुका है! हर किसी के पास आज हम स्मार्टफोन देख सकते हैं क्योंकि कई सारे स्पेशल फीचर इसमें नॉर्मल फीचर फोन की तुलना में यूजर को मिल जाते हैं।

जैसे कि wifi, 4G internet speed, HD कैमरा जैसे अनेक खास फीचर्स के साथ सुपर परफॉर्मेंस इनमें मिल जाती है। स्मार्टफोन विभिन्न ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित होते हैं ios, Android दो सबसे प्रमुख ऑपरेटिंग सिस्टम है। हालांकि दुनिया में सबसे अधिक एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के smartphones का उपयोग होता है, क्योंकि यह कम दाम में अधिक फीचर्स एक यूजर को देने में सक्षम होता है।

हालांकि Windows, ब्लैकबेरी भी मार्केट में दो अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम मौजूद हैं! परंतु इनकी डिमांड एंड्रॉयड, ios की तुलना में काफी कम है।

Mobile Phone Manufacturers/ Brands

Apple iPhone
HTC
Nokia
Alcatel
Google
Motorala
BlackBerry
Sony
Samsung

LG

यह कुछ प्रमुख मोबाइल ब्रांड्स हैं जो काफी समय से Mobiles को मार्केट में लांच कर रहे हैं। हालांकि वर्तमान समय में और भी कहीं सारी कंपनियों के mobiles देखने को मिल जाते हैं।

क्या आपको याद है अपना पहला mobile फोन…? अब आप अपने इस मोबाइल फोन पर नजर डालिए और सोचिए कितना बदलाव आ चुका है मोबाइल टेक्नोलॉजी में! Future में क्या होगा इन Smartphones का!

स्मार्टफोन का भविष्य?

Foldable phone

जैसा कि आप जानते होंगे हाल ही में Samsung ने Samsung Galaxy Fold, और  मोटरोला द्वारा भी एक फोल्डेबल स्माटफोन मार्केट में लॉन्च किया! लेकिन लॉन्च करने से पूर्व मार्केट में कई ग्राहकों के लिए ऐसा कल्पना करना भी नामुमकिन सा था कि फोल्डेबल फोन भी मार्केट में आ सकते हैं।

हालांकि इन स्मार्टफोंस का दाम नॉर्मल स्मार्टफोन की तुलना में काफी ज्यादा इस समय मार्केट में है! तो यह भी हम बात करेंगे कि क्या भविष्य में फोल्डेबल फोन हम सभी के हाथों में होंगे तो यह मोबाइल बनाने वाली कंपनी पर निर्भर करता है कि वह किस दाम में Foldable Phones को मार्केट में उपलब्ध करवाती है।

मान लेते हैं कि अगले दो-तीन सालों में मार्केट में यदि फोल्डेबल Smartphone Affordable प्राइस में मौजूद हो जाते हैं तो अगले 10 सालों में हम सभी के पास इस तरह के फोल्डेबल फोन देखने को मिल सकते हैं! जो कि स्मार्टफोन की टेक्नोलॉजी में एक बड़ा बदलाव फिर से हम लोगों को देखने को मिलेगा।

5G and 6G 

दुनिया के कई देशों में इस समय 5G लॉन्च हो चुका है, हालांकि भारत में इसकी Testing चल रही है और अनुमान है जल्दी भारत में भी 5G लॉन्च होगा।

लेकिन यहां बात हो रही Smartphone के फ्यूचर की तो क्या ऐसे में क्या 5G हमें इन स्मार्टफोंस में देखने को मिलेगा लोगों के मन में यह सवाल है?

दोस्तों अभी यही कहा जा सकता है कि मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां इंडिया में 5G मोबाइल लांच करने के लिए अभी पूरी तरीके से तैयार नहीं है, क्योंकि पूरी तैयारी के साथ ही भारत में 5G लॉन्च करना संभव होगा इसलिए हम आने वाले 3 से 4 सालों में भारत में 5G स्मार्टफोन देख सकते हैं।

और इस दशक के खत्म होने के साथ ही 6G को भी launch करने की उम्मीद की जा सकती है।

Front Facing Camera

आज से 10 साल पहले एक स्मार्टफोन में बस Front Facing कैमरा होना ही काफी था! परंतु आज मोबाइल कंपनियां front कैमरा को बेहतर से बेहतर बनाने की और कार्य कर रही है।

इसलिए स्मार्टफोन के Front Facing कैमरा का भविष्य कैसा होगा! यह भी एक बड़ा सवाल है क्योंकि 2019 में कंपनियां जैसे Vivo द्वारा कई ऐसे Smartphones Launch किए जिनमें front में Dual Camera मौजूद था! जिसमें एक कैमरा Clearity के लिए और दूसरा Background Blur पर फोकस करता है।

साथ ही इस समय हम देख रहे हैं कि Screen Space को कम करने के लिए मोबाइल में फ्रंट कैमरा Screen के ठीक ऊपर देखने को मिल रहे हैं! और संभव है भविष्य में हमें यह Front फेसिंग कैमरा Display के अंदर ही देखने को मिले! इसके लिए Oppo जैसी अन्य कंपनियां कार्य करना शुरू कर चुकी हैं।

Mobile Ports

आज हम देख रहे हैं मार्केट में वायरलेस चार्जिंग आ चुकी है, जिससे हम बिना मोबाइल Jack के किसी डाटा केबल के बगैर ही मोबाइल को दूर से ही चार्ज कर सकते हैं।

तो ऐसे में उम्मीद है भविष्य मैं हमें 3.5 MM  Headphone जैक या चार्जिंग पोर्ट Smartphone में देखने कोई ना मिले! क्योंकि वायरलेस Headphones मार्केट में है हम सभी जानते हैं।

और उम्मीद है आने वाले 10 सालों में Wifi, ब्लूटूथ तकनीक भी काफी एडवांस हो जाएगी। जिससे वायरलेस हेडफोन, मोबाइल चार्जिंग का इस्तेमाल Smartphones में होगा।

तो इससे हम अंदाजा लगा सकते हैं कि भविष्य में हमें स्मार्टफोन में कोई भी Port देखने को ना मिले।

मोबाइल फ़ोन का इतिहास? – History Of Mobile Phone In Hindi

वर्ष 1973 में हाथ में लिए जाने वाला पहला सेलुलर मोबाइल फ़ोन John F. Mitchell तथा Martin cooper द्वारा प्रदर्शित किया गया था। इस मोबाइल फ़ोन का वजन लगभग 2 किलोग्राम था अर्थात एक भारी-भरकम मोबाइल फ़ोन का निर्माण हुआ था। तथा 1979 में जापान में सेलुलर नेटवर्क 1G को लॉन्च किया गया।

पहली जनरेशन के यह मोबाइल फ़ोन में कॉलिंग सुविधाजनक थी लेकिन इनमें सेलुलर एनालॉग टेक्नोलॉजी का उपयोग होता था वर्ष DynaTAC 8000x में कमर्शियल रूप में पहला मोबाइल लॉन्च किया गया।

इसी तरह वर्ष 1991 में 2G सेलुलर टेक्नोलॉजी को GSM स्टैण्डर्ड के रूप में लॉन्च किया गया। तथा दस वर्ष बाद 2001 में तीसरी जेनेरेशन Docomo, WCDMA स्टैण्डर्ड के रूप में जापान द्वारा लॉन्च किए गए!

1991 में 2g टेक्नोलॉजी Finland में Radiolinja ने शुरू की, और फिर उसके पुरे 10 साल के बाद 2001 में आया 3g फ़ोन जो जापान की कंपनी Ntt Docomo ने शुरू किया। 1983 से 2014 तक लगभग 700 करोड़ मोबाइल फ़ोन का उपयोग किया गया।

फिर 2014 की सबसे ज्यादा मोबाइल फ़ोन बनाने वाली कंपनी Samsung, Nokia, Apple, और Lg थी, 25% Phone Samsung ने बनाए और 13% Phone Nokia ने। ओर अब तक सबसे ज्यादा बिकने वाला फ़ोन Nokia 1100 है, जिसके 2003 में Launch होने के बाद 25 करोड़ से अधिक सेट बेचे गये।

और इस तरह समय के साथ मोबाइल नेटवर्क में बदलाव आए परिणामस्वरूप मोबाइल types में भी परिवर्तन शुरू होने लगे!

उम्मीद है की अब आपको मोबाइल फ़ोन के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी, ओर अब आप जान गए होगे की मोबाइल क्या है और किसने बनाया? अविष्कार किसने किया? मोबाइल का इतिहास? खोज किसने की? फायदे और नुकसान? कैसे काम करता है? All About Mobile Phone In Hindi.

यह भी पढ़े:

Hope की आपको मोबाइल क्या है और किसने बनाया – What Is Mobile In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, ओर हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here