एनीमेशन क्या है और कैसे बनाये – What Is Animation In Hindi

5

एनीमेशन क्या है और कैसे बनाये – What Is Animation In Hindi? अगर आपको नहीं पता की एनीमेशन क्या होता है? और आप एनीमेशन के बारे में डिटेल से जानना चाहते हो तो आज इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा की एनीमेशन क्या है? एनीमेशन कितने प्रकार के होते हैं? animation के फायदे और नुकसान क्या हैं? एनीमेशन कैसे बनाये? एनीमेशन में कैरियर क्या है? All About Animation In Hindi.

दोस्तो क्या आप जानना चाहते हैं की एनीमेशन क्या है या कैसे बनाये – What Is Animation In Hindi तो आज का यह लेख आपके लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है। क्योंकि आज के इस लेख में मैं यहाँ सरल शब्दों में बताने जा रहा हूँ कि animation क्या होता है? तथा वर्तमान समय में हमारे लिए Animation को जानना किस तरह महत्वपूर्ण हो गया है।


दोस्तो इस डिजिटल दुनिया में आपने animation शब्द का नाम आपने कभी-न-कभी सुना होगा! Animation शब्द की उत्पत्ति लैटिन शब्द Anima से की गयी है। आपने देखा होगा वर्तमान समय में छोटे बच्चे TV या Online Internet पर कार्टून वीडियो, नाटक, फ़िल्म आदि देखना पसंद करते हैं।


क्योंकि एनिमेशन द्वारा कार्टून बनाये जाते हैं तथा Animation दूसरों तक किसी जानकारी को बेहतर तरीके से प्रस्तुत करती है। यदि इसे एक उदाहरण की सहायता से समझें तो हम किसी कहानी को किताब के माध्यम से पढ़ते हैं तथा दूसरी और किसी कहानी को वीडियो (Graphics) के माध्यम से समझते हैं तो संभव है कि हमें वीडियो फॉरमेट में देखी गई कहानी लंबे समय तक याद रहे।

अतः वर्तमान समय में एनिमेशन का उपयोग विभिन्न इंडस्ट्री, शिक्षण संस्थानों, विज्ञापन कंपनियों द्वारा किया जाता है, चलिए जानते हैं कि आखिर एनिमेशन क्या है?

एनीमेशन क्या है – What Is Animation In Hindi

सरल शब्दों में कहें तो जब हम किसी ऑब्जेक्ट को एक जगह से दूसरी जगह हिलाते (Move) है तो यह एनिमेशन कहलाता है। उदाहरण की सहायता से समझे तो जब यदि हम किसी वस्तु को एक जगह से दूसरी जगह (दाएं से बाएं) पर हिलाते हैं तो यह प्रक्रिया एनिमेशन कहलाती है। तथा उस हिलाई गई ऑब्जेक्ट को “एनीमेटेड ऑब्जेक्ट (Animated Object)” या “एनिमेटेड कैरेक्टर (Animated Character)” कहा जाता है।

किसी एनीमेशन ऑब्जेक्ट के लिए Designing, Object, Graphics, layout आदि अनेक टूल्स की सहायता से एक बेहतर animated object तैयार किया जाता है।

इसके साथ ही यदि आप एक छात्र हैं तथा एनीमेशन का कार्य करने में रुचि रखते हैं। तो आप अपनी इस इस कला को भविष्य में एक बड़े पेशे (profession) के रूप में ले सकते हैं। क्योंकि वर्तमान समय में फिल्म इंडस्ट्री, मीडिया एजेंसी तथा अनेक क्षेत्रों में इसकी माँग बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़े: QR Code क्या है और QR Code कैसे बनाये?

एनीमेशन कितने प्रकार के होते हैं – Types Of Animation In Hindi

Traditional Animation

एनिमेशन का यह प्रकार काफी पुराना है, इस एनीमेशन को Paper में पेंसिल से Draw की गई एनिमेशन के तौर पर देखा जाता है! बीसवीं सेंचुरी में इस एनीमेशन का काफी इस्तेमाल होता था यदि आप इस एनिमेशन के Best Example को देखना चाहते हैं तो आप Disney old कार्टून शो को देख सकते हैं।

traditional एनिमेशन के अंतर्गत कैरेक्टर, बैकग्राउंड तथा Layout को किसी पेपर में ड्रॉ किया जाता था तथा एक बार जब यह ड्राइंग कंप्लीट हो जाती थी तो इसे transparent acetate sheets,  पर photocopied किया जाता था। परंतु आज के समय में यह टेक्नोलॉजी outdated हो चुकी है इसका स्थान डिजिटल एनिमेशन ने ले लिया है।

2D Animation

victor पर आधारित यह एनिमेशन भी ट्रेडिशनल एनिमेशन की तरह ही काम करती है! 2D एनीमेशन का अर्थ है “टू डाइमेंशनल एनीमेशन” परंतु इसमें डिजिटल तकनीक से Animating की जाती है। अर्थात कंप्यूटर प्रोग्राम जैसे फ्लैश के माध्यम से 2D एनीमेशन संभव होती है।

एनिमेशन का यह प्रकार artistic technique and media design का combination है जो two dimensional environment में movement का illusion Create करता है। एनीमेटेड मूवीज, टेलीविजन Shows, वीडियो गेम्स, वेबसाइट मोबाइल ऐप इत्यादि में इस एनिमेशन का इस्तेमाल होता है।

3D Animation

3D एनिमेशन के बारे में आपने जरूर सुना होगा इस एनिमेशन का उपयोग आज हम सामान्यतः फिल्मों में भी देखते है। 3D एनिमेशन के लिए विशेष टेक्निकल skills की आवश्यकता होती है, इसमें सभी ऑब्जेक्ट्स three dimensional space में दिखाई देते हैं। इसमें ऑब्जेक्ट इस प्रकार Rotate होते हैं जैसे की Real में होते हैं।

अतः 3D एनिमेशन वर्चुअल रियलिटी में बेहद महत्वपूर्ण हैं! लेकिन सबसे अधिक इसका इस्तेमाल 3D एनीमेशन, Games में किया जाता है। इसलिए 3D एनीमेशन को गेम्स का Heart भी कहा जाता है.

Motion Graphics Animation

अन्य एनिमेशन के प्रकारों की तुलना में एनिमेशन का यह प्रकार पूरी तरह अलग है! मोशन ग्राफिक्स किसी एनिमेशन या किसी भी डिजिटल फुटेज के pieces होते हैं इस प्रकार की एनिमेशन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया टेक्नोलॉजी के माध्यम से डिस्प्ले होती हैं! तथा इनका इस्तेमाल मल्टीमीडिया प्रोजेक्ट्स में ऑडियो के लिए अधिकतर किया जाता है।

Stop Motion Animation

स्टॉप मोशन एक एनिमेटेड फिल्म मेकिंग तकनीक है! जिसे सामान्यतः हम Stop फ्रेम एनिमेशन के तौर पर भी जानते हैं! इससे एनिमेशन में एक टाइम में किसी फ्रेम को केवल एक बार कैप्चर किया जा सकता है!

दोस्तों इंटरेस्टिंग fact यह है कि हम अक्सर Stop मोशन एनिमेशन को फिल्मों में म्यूजिक, वीडियोस या टीवी Shows में देखते हैं! परंतु हमारा इस एनिमेशन में कभी ध्यान ही नहीं जाता! चूंकि एनिमेशन का यह टाइप अनेक प्रकार की film style को बनाने में सक्षम होता है।

एनीमेशन में कैरियर – Career In Animation in Hindi

अब सवाल आता है कि हम किस तरह एनीमेशन को कैरियर के रूप में ले सकते हैं?

यदि आप एनिमेशन को भविष्य में कैरियर के तौर पर लेना चाहते हैं तो आपको एनिमेशन स्किल सीखनी होंगी तथा एनीमेशन के विषय पर गहन अध्ययन करना होगा जिससे आप इससे किसी कंपनी में एक बेहतर नौकरी पाने के अलावा खुद का व्यापार भी खोल सकते हैं।।

वर्तमान समय में आप एनीमेशन की ऑनलाइन जानकारी प्राप्त करने के साथ ही आप किसी अच्छे इंस्टीट्यूट को ज्वाइन कर सकते हैं। एनीमेशन कोर्स करने के लिए हमें किसी ग्रेजुएशन की या सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं होती.

हम चाहे तो 10वीं या 12वीं पास करने के बाद एनीमेशन कोर्स करना प्रारंभ कर सकते हैं। एक एनीमेशन मेकर को अच्छी अवलोकन योग्यता, रचनात्मक ड्राइंग तथा इसके स्केचिंग आदि अनेक स्किल्स का होना महत्वपूर्ण होता है।

Animation अपनी imagination को वास्तविकता में बदलने का अवसर देता है। Animation इंडस्ट्री तेजी से भारत में Grow कर रही है, फिर चाहे वह Entertainment, gaming इंडस्ट्री हो या एजुकेशन आज हम एनिमेशन का भरपूर इस्तेमाल देख सकते हैं!

ऐसे में यदि आप भी सोच रहे हैं Animation में अपना कैरियर बनाने की तो अब हम बात करेंगे एनिमेशन कोर्स की! हम जानेंगे कि एनिमेशन field में जाने के लिए व्यक्ति के पास कौन-कौन सी skills का होना जरूरी है।

Animation course Detail in Hindi

दोस्तों मार्केट में इस समय आप 2 तरीकों से एनिमेशन कोर्स कर सकते हैं पहला Degree दूसरा सर्टिफिकेट बात करें Degree की तो उसे पाने के लिए आपको कॉलेज join करना होगा! वहीं दूसरी तरफ सर्टिफिकेट में आप 3 से 6 महीने तक का सर्टिफिकेट लेकर भी एनिमेशन कोर्स को कर सकते हैं!

तो आइए जानते हैं कौन कौन से इंडिया में Animation Courses & Certificate किए जा सकते हैं।

  • BA in Animation & Multimedia|   Bachelor’s Degree| 3 years
  • BA in Animation and CG Arts| Bachelor’s Degree| 3 years
  • B.Sc. in Animation & Multimedia| Bachelor’s Degree| 3 years
  • BA in Animation and Graphic Design|Bachelor’s Degree| 3 years
  • Bachelor of Visual Arts (Animation)| Bachelor’s Degree| 3 years
  • BA in Digital Filmmaking and Animation| Bachelor’s Degree| 3 years
  • Bachelor of Fine Arts in Animation, Graphics and Web Design| Bachelor’s Degree| 3 years
  • B.Sc. in Animation and Gaming| Bachelor’s Degree| 3 years
  • B.Sc. in Animation and VFX| Bachelor’s Degree| 3 years
  • Diploma in 2D Animation| Diploma Course|1 year
  • Diploma in Animation and Filmmaking| Diploma Course| 1 to 2 years
  • Diploma in 3D Animation| Diploma Course|1 year
  • Diploma in Animation and VFX|Diploma Course| 1 year
  • Diploma in Digital Animation|Diploma Course| 1 year
  • Diploma in Animation, Video Editing and Post Production work diploma Course| 1 to 2 years
  • Diploma in CG Animation| Diploma Course| 6 months
  • Diploma in VFX| Diploma Course| 6 months
  • Certificate in VFX| Certificate Courses| 3 to 6 months
  • Certificate in Editing, Mixing and Post Production Works| Certificate Courses| 6 months
  • Certificate in 2D Animation| Certificate Courses| 3 to 6 months
  • Certificate in CG Arts| Certificate Courses| 3 to 6 months
  • Certificate in 3D Animation| Certificate Courses| 3 to 6 months

Animation Course करने के लिए जरूरी योग्यता;

यदि आप उपरोक्त में से किसी भी Course को करने के इच्छुक हैं तो आपका 12th पास होना आवश्यक है। candidate मान्यता प्राप्त स्कूल से किसी भी Stream (साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स) से 12th पास होना चाहिए।

इसके अलावा ध्यान दें कई ऐसे इंस्टिट्यूट हैं, जहां पर इन Course को करने के लिए आपके कम से कम 50% मार्क्स होना जरूरी है!

दोस्तो बात करते हैं Certificate कोर्स की तो आप चाहे तो इनमें से कोई भी सर्टिफिकेट कोर्स करना चाहते हैं! तो इसमें आपको कोई खास एजुकेशन, डिग्री की जरूरत नहीं पड़ती। हालांकि आपको एडमिशन पाने के लिए 10th पास सर्टिफिकेट होना जरूरी हो सकता है

तो दोस्तों इस प्रकार आप एनिमेशन की Field में जा सकते हैं।

इन सभी कोर्सेज को जानने के बाद यदि आप इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं! तो आप जरूर इनमें से किसी एनिमेशन कोर्स को कर सकते हैं! लेकिन यदि आप अपने पर्सनल शौक के लिए एनिमेशन सीखना चाहते हैं तो आपके पास और भी कई तरीके हैं जिनसे आप एनीमेशन सीख सकते हैं!

एनिमेशन कोर्स कैसे सीखें?

दोस्तों यदि आपके पास इंटरनेट कनेक्शन है, तो आप फ्री में भी कई सारी चीजें ऑनलाइन सीख सकते हैं! और यदि आपको एनिमेशन सीखना है तो फिर आप इसके लिए Google, Youtube, Udemy जैसे कई सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म, वेबसाइट हैजो आपको ऑनलाइन एनीमेशन सीखने में हेल्प करेगी!

इसके अलावा हमारी राय में Youtube भी आपके लिए एनिमेशन सीखने में काफी मददगार साबित हो सकता है! कई ऐसे यूट्यूब चैनल है जो Beginners के लिए बेहद लाभदाई है वहां पर आपको Starting से एनिमेशन के बारे में वीडियो ट्यूटोरियल के जरिए समझाया जाता है!

इसलिए यदि आपकी अभी एनिमेशन सीखने की शुरुआती ही है, तो आप ऑनलाइन फ्री में एनिमेशन सीखना शुरू कर सकते हैं। और साथ ही अपने सिस्टम में उसकी प्रैक्टिस भी कर सकते हैं!

यह भी पढ़े: App Kaise Banaye – App Banane Ka Tarika

एनीमेशन के क्या क्या फायदे हैं – Benefits Of Animation In Hindi

लोग बच्चों को नई नई चीजें सिखाने के लिए अनेक तरीकों का इस्तेमाल करते हैं जिनमें एनिमेशन काफी मददगार साबित होती है। इसके अलावा किसी व्यापार में डिजिटल दुनिया में किसी ब्रांड की विशेषताओं को एनिमेशन के जरिए लोगों के सामने प्रस्तुत करना काफी फायदेमंद हो सकता है।चलिए जानते हैं हम किस तरह एनिमेशन एनिमेशन हमारे लिए फायदेमंद साबित हो सकता है?

एनिमेशन किसी चीज को सीखने में बेहद उपयोगी होती है क्योंकि एनीमेशन चीजों को बेहतर तरीके से प्रस्तुत करने में मदद करती है जिससे हमारी योग्यता तथा कौशल दोनों का विकास होता है।

पारंपरिक शिक्षा के स्थान पर वर्तमान समय में एनिमेशन के जरिये चीजों को समझना न सिर्फ मजेदार बल्कि आसान बनाता है।

एनिमेशन से शिक्षा प्राप्त करने का बदल दिया है जिससे एक विद्यार्थी एनिमेशन की मदद से नई नई चीजों को सीखना अधिक पसंद करते हैं। एनीमेशन चीजों को जानने तथा समझने में मदद करता है जिससे दिमाग का विकास होता है।

एनिमेशन प्रैक्टिकल फॉर्म होता है जिससे किताबों में लेखन के बजाय किसी चीज को वास्तविक रूप में देखा जा सकता है जिससे चीजों को समझने में आसानी होती है।

स्टाइलिश एनिमेशन ध्यान आकर्षित करने में मदद करती है जिससे विद्यार्थी किसी टॉपिक को ध्यान मग्न होकर समझ सकता है।

एनीमेशन के नुकसान – Disadvantage Of Animation In Hindi

ध्यान रहें किसी चीज के फायदे तथा नुकसान दोनों होते हैं। उसी तरह वास्तविक जिंदगी में एनिमेशन के भी कुछ
दुष्प्रभाव हैं जिनके बारे में यहाँ बताया जा रहा है।

एनिमेशन बनाने के लिए कुछ खास तरह के उपकरणों की आवश्यकता होती है, बेहतर हाई क्वालिटी एनीमेशन
बनाने के लिए खास प्रकार के सॉफ्टवेयर तथा एजुकेशन की आवश्यकता होती है जिस वजह से प्रत्येक यूजर के
लिए एनीमेशन तकनीक का इस्तेमाल करना संभव नही है।

ग्राफिक तथा टेक्स्ट की तुलना में गणित, विज्ञान जैसे विषयों में कैलकुलेशन तथा विभिन्न चीज़ों लिए एनिमेशन
के निर्माण में अधिक स्टोरेज तथा मेमोरी की आवश्यकता होती है।

हालांकि एनीमेशन वर्तमान समय में काफी उपयोगी है, परन्तु दूसरी तरफ हम एनीमेशन से वास्तविक जिंदगी का
ज्ञान प्राप्त नहीं कर सकते।

एनीमेशन कैसे बनाये – How to Create Animation In Hindi

चलिये अब हम जानते हैं कि हम किस तरह अपने स्मार्टफोन से Animation बना सकते हैं?

1. सबसे पहले आप tellagami app को इंस्टॉल कर लीजिए। आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर tallagami app को सीधे डाउनलोड कर स्मार्टफोन में इंस्टॉल कर सकते हैं

Download Tellagami

2. app इंस्टॉल होने के बाद इसे ओपन कर लीजिए। अब create पर tap कीजिये।

3. अब आपके सामने कई टूल्स दिए गए हैं जिनका इस्तेमाल कर आप अपनी एनिमेशन को तैयार कर सकते हैं।

4. सबसे पहले अभी Reset विकल्प है जिस पर क्लिक करने पर आपके द्वारा बनाया गया एनिमेशन रिसेट हो जाएगा।


5. उसके बाद कैरक्टर पर tap करने पर आप उस करैक्टर को gender को पुरुष/महिला में बदल सकते हैं। इसके साथ ही आप कैरक्टर की आँखों, चेहरे के रंग,बाल तथा कपड़े आदि अनेक चीज़ों को मन मुताबिक सेट कर सकते हैं।

ध्यान रहें:- दोस्तो यह एक paid app है जिसमें कई tools का उपयोग करने के लिए हमें पैसे देने पड़ते हैं।

6. अब अगले ऑप्शन bottom की मदद से आप करैक्टर के mood को happy, sad, angry में बदल सकते हैं।

7. उसके बाद अगले स्टेप में हम कैरक्टर के background को बदल सकते हैं। हम लाइव कैमरे से फ़ोटो क्लिक कर या गैलरी से भी किसी फ़ोटो को सेलेक्ट कर बैकग्राउंड में बदल सकते हैं। इसके साथ ही app में background बदलने के कई ऑप्शन हैं, जिनका इस्तेमाल सुविधानुसार कर सकते हैं।

8. अब animation तैयार करने के बाद अंत मे शेयर button पर tap करें। और आप यहाँ एनीमेशन को preview करने के बाद save पर tap कर लीजिए।

तथा आपकी animation तैयार हो जाएगी। दोस्तों इस तरह आप आसानी से अपने स्मार्टफोन की सहायता से
एनिमेशन तैयार कर सकते हैं.

उम्मीद है अब आपको एनीमेशन के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी। और आप जान गए होंगे की एनीमेशन क्या है? एनीमेशन कितने प्रकार के होते हैं? animation के फायदे और नुकसान क्या हैं? एनीमेशन कैसे बनाये? एनीमेशन में कैरियर क्या है? All About Animation In Hindi…

यह भी पढ़े:

Hope की आपको एनीमेशन क्या है और कैसे बनाये – What Is Animation In Hindi? का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।


अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here