MS DOS Commands In Hindi! एमएस डॉस की सारी कमांड्स


MS DOS Commands In Hindi! एमएस डॉस की सारी कमांड्स। MS DOS क्या है? उसके बारे में पहेले से ही बताया हुआ है, अगर आप DOS कमांड के विषय में इन सभी सवालों के जवाब ढूंढ रहे हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है।

MS DOS Commands In Hindi! एमएस डॉस की सारी कमांड्स

कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में गहरी रूचि रखने वाले उपयोगकर्ताओं ने DOS के बारे में जरूर सुना होगा। लेकिन कई सारे ऐसे नए यूजर्स भी होंगे जिन्हें DOS कमांड के बारे में कुछ खास जानकारी नहीं होती।


तो उन्हीं दोस्तों के लिए आज का यह आर्टिकल तैयार किया है, जिसमें हमने DOS कमांड के विषय पर आसान शब्दों में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, आइए सबसे पहले देखते है कुछ BEST MS DOS Commands In Hindi! टॉप एमएस डॉस कमांड हिंदी में!

अनुक्रम

Popular MS DOS Commands In Hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमएस डॉस के टोटल दो कमांड है जिनमें पहला कमांड है इंटरनल डॉस कमांड और दूसरा कमांड है एक्सटर्नल डॉस कमांड। इंटरनल डॉस कमांड अपने आप ही तब कंप्यूटर पर लोड हो जाता है जब आपके द्वारा कंप्यूटर को पावर ऑन किया जाता है और यह तब तक कंप्यूटर में मौजूद होता है जब तक आपके द्वारा कंप्यूटर को पावर ऑफ नहीं किया जाता है।


कोई भी कंप्यूटर किसी ना किसी ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही चलता है क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम के बलबूते पर ही कंप्यूटर काम करता है और ऑपरेटिंग सिस्टम को काम करवाने के लिए कमांड की आवश्यकता होती है, जो यूजर के द्वारा दिया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमएस डॉस लगभग हर विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ अवेलेबल होता है।

MS DOS Command क्या है?

साल 1980 से लेकर के साल 1990 के आसपास में यह काफी लोकप्रिय हुआ था। इसका पूरा नाम माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम इसलिए रखा गया है, क्योंकि इसका निर्माण किसी अन्य कंपनी के द्वारा किया गया था परंतु आगे चलकर के माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा इसकी खरीदारी कर ली गई थी।

एमएस डॉस ऑपरेटिंग सिस्टम की गिनती light ऑपरेटिंग सिस्टम में की जाती है।‌ हालांकि इसके बावजूद इसके काम करने की स्पीड बहुत ही शानदार है और इस पर काम करना भी काफी आसान हीं होता है। यह एक प्रकार का सिंगल यूजर सिंगल टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम होता है।


MS DOS Internal Commands In Hindi

एमएस डॉस इंटरनल कमांड विभिन्न प्रकार के हैं जिनमें से कुछ कमांड की जानकारी नीचे आपके सामने उपलब्ध करवाई जा रही है।

unlock 

सिस्टम डिस्क ड्राइव को अनलॉक करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

ver        

एमएस डॉस के वर्जन को शो करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।


verify   

फीचर फाइल ठीक से लिखी गई है अथवा नहीं इसे डिसाइड करने का काम करता है, उसे इनेबल ओर डिसएबल करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

vol        

इस कमांड का इस्तेमाल निर्दिष्ट ड्राइव के बारे में वॉल्यूम इंफॉर्मेशन शो करने के लिए होता है।

chdir     

इसका यूज भी सिस्टम डिरेक्टरी को मॉडिफाइड करने के लिए होता है।


cls 

सिस्टम स्क्रीन को साफ करने के लिए इस कमांड को यूज में लेते हैं।

cmd      

कमांड इंटरप्रेटर को ओपन करने के लिए इसका यूज होता है।

color

विंडो स्क्रीन के बैकग्राउंड और फॉर ग्राउंड रंग को मॉडिफाइड करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

copy

किसी दूसरी जगह पर एक या फिर एक से ज्यादा फाइल को कॉपी करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

date      

सिस्टम की तारीख को देखने के लिए अथवा उसे चेंज करने के लिए इस कमांड को यूज में लेते हैं।

del        

एक अथवा उससे ज्यादा फाइल को डिलीट करने के लिए इसका यूज होता है।

delete  

किसी इस्तेमाल की गई फाइल को डिलीट करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

dir         

एक अथवा विभिन्न डिरेक्टरीज के कंटेंट को लिस्ट करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

call        

किसी दूसरी फाइल के जरिए बैच फाइल को कॉल करने के लिए इसका यूज होता है।

cd          

सिस्टम डायरेक्टरी को मॉडिफाई करने के लिए इस कमांड को इस्तेमाल में लेते हैं।

assoc    

फाइल एसोसिएशन को देखने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

atmadm             

इसके द्वारा ऐसे कनेक्शन और एड्रेस को लिस्ट किया जाता है जिसे विंडोज एटीएम कॉलमैनेजर देखता है।

break   

कंप्यूटर ब्रेकिंग कैपेसिटी को डिसएबल करने के लिए अथवा इनेबल करने के लिए इसका यूज होता है।

goto

किसी स्पेशल लेबल या फिर स्पेशल जगह पर बैच फाइल को ले जाने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

if            

इसके द्वारा कुछ शर्तों के साथ बैच फाइल को प्रोसेसिंग करने की परमिशन दी जाती है।

ctty       

कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट डिवाइस को चेंज करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

erase    

सिस्टम से फाइल को डिलीट करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

exit

डॉस कमांड इंटरप्रेटर से बाहर निकलने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

for         

बैच फाइल में इस्तेमाल की गई बुलियन के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

lh           

बड़े पैमाने पर मेमोरी में डिवाइस ड्राइवर को लोड करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

loadhigh             

डिवाइस ड्राइवर को भारी पैमाने पर मेमोरी में लोड करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

driveparm          

इस कमांड के द्वारा मूल डिवाइस ड्राइवर के ओवरराइटिंग की परमिशन दी जाती है।

echo     

इको को डिसएबल अथवा इनेबल करने के लिए साथ ही मैसेज को दिखाने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

endlocal             

सेटलोकल कमांड के द्वारा इनेबल किए गए एनवायरमेंट चेंज के लोकलाइजेशन को स्टॉप करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

move   

किसी एक डायरेक्टरी से किसी दूसरी डायरेक्टरी में एक अथवा उससे ज्यादा फाइल को ले जाने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

path     

सिस्टम के पथ स्थान को मॉडिफाइड करने के लिए साथ ही उसे देखने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

pause

बैच फाइल में प्रोसेसिंग को स्टॉप करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

lock      

सिस्टम के हार्ड ड्राइव को लॉक करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

md        

सिस्टम में नई डिरेक्टरी को निर्मित करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

mkdir   

इस वाले कमांड का इस्तेमाल नई डायरेक्टरी का निर्माण सिस्टम में करने के लिए होता है।

mklink

सिंबल टाइप के लिंक को निर्मित करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

pushd

pushd कमांड के द्वारा जिस नेटवर्क या फिर डायरेक्टरी को सेव किया गया है उसे मॉडिफाइड करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

prompt

डॉस प्रॉम्प्ट को देखने के लिए अथवा उसे चेंज करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

pushd

डायरेक्टरी अथवा नेटवर्क पाथ को स्टोर करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

rd          

सिस्टम में मौजूद खाली डायरेक्टरी को हटाने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

ren        

सिस्टम में मौजूद किसी फाइल के नाम को चेंज करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

rename

सिस्टम में अवेलेबल किसी फाइल के नाम को चेंज करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

switches             

जो फंक्शन डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम में शामिल किए गए हैं उन्हें हटाने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

time      

सिस्टम टाइमिंग को देखने के लिए अथवा उसे चेंज करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

title

डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम विंडो के टाइटल को चेंज करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

rmdir    

ऐसी खाली डायरेक्टरी जो सिस्टम में मौजूद है उसे हटाने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

set         

वेरिएबल अथवा स्ट्रिंग को दूसरे में मॉडिफाइड करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

setlocal

इसके द्वारा लोकल उद्देश्य के लिए मॉडिफिकेशन ईनेबल किया जाता है।

shift      

बैच प्रोग्राम में चेंज किए जाने वाले पैरामीटर की जगह को मॉडिफाई करने के लिए इसका यूज होता है।

start      

विंडो में अवेलेबल डॉस प्रांप्ट से एक स्पेशल विंडो को शुरू करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

type      

फाइल के कंटेंट को शो करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

MS DOS External Commands in Hindi

अलग-अलग एक्सटर्नल डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम कमांड भी मौजूद है जिनमें से कुछ की जानकारी निम्नानुसार है।

ipconfig              

एडेप्टर सेटिंग्स और असाइन किए गए वैल्यू को देखने के लिए इस कमांड को इस्तेमाल में लिया जाता है।

keyb     

कीबोर्ड में मौजूद लेआउट को मॉडिफाई करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

label     

डिस्क ड्राइव के लेबल को मॉडिफाई करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

comp   

फाइल की कंपैरिजन करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

bcdedit

बूट कंफीग्रेशन डाटा स्टोर को चेंज करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

cacls     

फाइल एसीएल को देखने के लिए और उसे चेंज करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

chcp     

इसमें इंटरनेशनल कीबोर्ड और करैक्टर सेट नॉलेज उपलब्ध है।

choice  

बैच फाइल के अंदर मौजूद लिस्टिंग या अलग-अलग ऑप्शन की डेफिनेशन के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

clip        

कमांड लाइन आउटपुट को विंडोज क्लिपबोर्ड पर रीडायरेक्ट करने के लिए इस वाले कमांड का इस्तेमाल किया जाता है।

chkdsk 

एरर के लिए FAT चलाने वाली हार्ड ड्राइव की चेकिंग करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

arp        

नेटवर्क डिवाइस के द्वारा ए आर पी डाटा को दिखाने के लिए, जोड़ने के लिए, हटाने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

assign

किसी अलग अक्षर को ड्राइव अक्षर असाइन करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

convert

FAT को NTFS मे कन्वर्ट करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

debug  

यूटिलिटी एप्लीकेशन को डिबग करने के लिए इसका निर्माण किया गया है।

defrag  

लोडिंग प्रोग्राम में हार्ड ड्राइव को सहायता के लिए रिअरेंज करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

at          

कमांड को एक्‍सीक्‍यूट करने के लिए एक समय तय करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

deltree 

एक अथवा एक से ज्यादा फाइल ओर डायरेक्टरी को डिलीट करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

diskcomp

डिस्क की कंपैरिजन किसी दूसरे सिस्टम डिस्क से करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

attrib    

फाइल अटरीब्यूट को दिखाने के लिए और उसे मॉडिफाइड करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

chkntfs

एरर के लिए NTFS चलाने वाली हार्ड ड्राइव की चेकिंग करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

compact             

फाइल की कंप्रेसिंग करने के लिए अथवा अनकंप्रेसिंग करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

control 

डॉस प्रांप्ट से कंट्रोल पैनल आइकन ओपन करने के लिए इस कमांड को यूज में लेते हैं।

diskcopy

किसी एक डिस्क की इनफार्मेशन को कॉपी करके दूसरी डिस्क पर डालने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

doskey 

जो कमांड पहले चलाए गए थे उन्हें देखने के लिए और एग्जीक्यूट करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

driverquery       

इंस्टॉल डिवाइस ड्राइवर की लिस्ट दिखाने के लिए इसका यूज होता है।

edit       

फाइल की एडिटिंग करने के लिए और देखने के लिए इसका यूज होता है।

edlin     

इसका इस्तेमाल भी फाइल एडिटिंग और उसे देखने के लिए होता है।

emm386

एक्‍टटेंडेड मेमोरी मैनेजर को लोडिंग करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

expand

माइक्रोसॉफ्ट विंडो फाइल को फिर से उसके ओरिजिनल प्रारूप में एक्सपेंड करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

extract 

माइक्रोसॉफ्ट कैबिनेट से फाइल को एक्‍सट्रैक्‍ट करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

fasthelp              

एमएस डॉस कमांड की लिस्ट और उसकी इनफार्मेशन को देखने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

fc           

विभिन्न फाइल की कंपैरिजन के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

fdisk     

ड्राइव बाय सेट करने के लिए अथवा पार्टीशन क्रिएट करने के लिए या फिर मैनेज करने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

find       

फाइल में शब्दों की सर्चिंग करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

Findstr 

किसी फाइल के अंदर मौजूद टेक्स्ट स्ट्रिंग को सर्च करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

format 

किसी दूसरे काम के लिए डिस्क ड्राइव को मिटाने के लिए अथवा क्रिएट करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

ftp         

एफटीपी सर्वर को जोड़ने के लिए अथवा उस पर वर्क करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

graftabl

लंबे अक्षर को ग्राफिक मोड में दिखाने के लिए इस कमांड का यूज़ होता है।

help      

कमांड की लिस्ट को उनकी जानकारियों के साथ दिखाने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

ifshlp.sys            

इस कमांड का इस्तेमाल 32 बिट फाइल मैनेजर के लिए होता है।

loadfix 

64k से ऊपर वाले जो प्रोग्राम होते हैं उन्हें लोड करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

logoff   

सिस्टम का इस्तेमाल करते हुए वर्तमान की प्रोफाइल को लोग ऑफ करने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल किया जाता है।

mem    

सिस्टम के ऊपर मेमोरी को दिखाने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल होता है।

mode

जब पोर्ट अथवा डिस्प्ले सेटिंग को मॉडिफाई करने की आवश्यकता होती है तब इस वाले कमांड का यूज किया जाता है।

more    

एक ही बार में सिंगल पेज को शो करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

msav    

प्रारंभिक माइक्रोसॉफ्ट वायरस स्केनर के लिए इस कमांड का इस्तेमाल किया जाता है।

msd      

डायग्नोस्टिक यूटिलिटी के लिए इस वाले कमांड का इस्तेमाल होता है।

mscdex

एमएस डॉस के द्वारा cd-rom एक्सेस को इनेबल करने के लिए इस वाले कमांड का इस्तेमाल होता है।

net        

नेटवर्क के साथ ही साथ उसकी सेटिंग को अपडेट करने के लिए अथवा ठीक करने के लिए या फिर नेटवर्क और उसकी सेटिंग को देखने के लिए इस कमांड का इस्तेमाल किया जाता है।

netsh    

डॉस में मौजूद और काम करने वाले नेटवर्क डाटा को कनेक्ट करने के लिए इस वाले कमांड का इस्तेमाल किया जाता है।

netstat

इस वाले कमांड का इस्तेमाल टीसीपी तथा आईपी नेटवर्क प्रोटोकोल को दिखाने के लिए होता है।

nlsfunc

इस वाले कमांड का इस्तेमाल किसी स्पेशल डाटा को लोड करने के लिए किया जाता है।

ping      

किसी दूसरे नेटवर्क सिस्टम के डाटा की टेस्टिंग करने के लिए या फिर दूसरे नेटवर्क सिस्टम को डाटा भेजने के लिए इस वाले कमांड का इस्तेमाल होता है।

FAQ:

Q: DOS कमांड क्या है?

ANS: यह एक प्रकार का इंस्ट्रक्शन होता है जिसके द्वारा विंडोज यूजर को फोल्डर और फाइल पर काम करने की परमिशन प्राप्त होती है।

Q: MS-DOS में MD कमाण्ड का क्या उपयोग है?

ANS: इसका इस्तेमाल करके किसी भी ड्राइव में नए डायरेक्टरी का निर्माण किया जाता है।

Q: MS-DOS कौन सा सिस्टम है?

ANS: गैर-ग्राफ़िकल कमांड लाइन ऑपरेटिंग सिस्टम

उम्मीद है की अब आपको MS DOS Commands से जुड़ी पूरी जानकारी मिल गयी होगी और आप जान गये होगे की MS DOS Commands क्या है? and BEST MS DOS Commands In Hindi! एमएस डॉस की सारी कमांड्स!

यह भी पढ़े:

Hope की आपको MS DOS Commands In Hindi! एमएस डॉस की सारी कमांड्स! का यह पोस्ट पसंद आया होगा, और हेल्पफ़ुल लगा होगा।

अगर आपके पास इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करे. और अगर पोस्ट पसंद आया हो तो सोशल मीडिया पर शेयर भी कर दे.

3 COMMENTS

  1. bahut hi badhiya jankari aapne hum sabhi ke sath share kiya hai. aise hi useful informations ke bare me likhte rahiye. thanks share krne ke liye

  2. Adip Gaurav Bhai. Plz Make A FreeFire Script Page Like COC Phissing Page.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here