एंड्राइड मोबाइल रुट कैसे करे? (स्टेप by स्टेप गाइड)

35

मोबाइल को रुट करने के लिए आपको पहले थर्ड पार्टी रूटिंग App download करनी होती है। वैसे तो मार्केट में बहुत सी Rooting Apps मौजूद है। जिसका इस्तेमाल करके आप अपने मोबाइल को सिर्फ एक क्लिक में ही root कर सकते हैं।

आप अपना मोबाइल रुट करने के लिए kingo root, one click root, Farmaroot और Baiduroot इत्यादि ऐप का इस्तेमाल कर सकते है। ‌ये एप्लीकेशन आपके मोबाइल को कुछ ही मिनट के अंदर पूरा Root कर देते है। आइये एंड्राइड फ़ोन को रूट करने का पूरा प्रोसेस समझ लेते हैं।


Android फोन रूट करने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें

  • अपने फोन की बैटरी को 80% से अधिक चार्ज रखें। क्योंकि Rooting प्रोसेस समय लेती है और बीच में फोन का स्विच ऑफ होना आपके फोन के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।
  • अपने फोन का बैकअप अवश्य ले लें ताकि बाद में आपको Data से संबंधित कोई समस्या न हो। आप अपनी फोटो, म्यूजिक, फाइल्स, डॉक्यूमेंट इत्यादि का बैकअप कर लीजिए।
  • आपके फोन में मोजूद किसी भी एंटीवायरस App को Uninstall या Disable करें।
  • अपने फोन के लिए Best Rooting App का प्रयोग करें। और सही तरीक़े से रूट करे वरना आपका फ़ोन डेड भी हो सकता है।
  • इसके साथ ही फोन के Developer Option को इनेबल कर लीजिए तथा “USB Debugging” को इनेबल करें।

बिना कंप्यूटर के एंड्रॉयड मोबाइल रुट कैसे करें?

1. सबसे पहले फोन Setting ओपन करें और About Phone में जाएं। अब इसके बाद Version पर क्लिक करें।

2. अब यहां Build Number पर 7 बार क्लिक करें। जिससे आपके फोन का Developer Option इनेबल हो जाएगा।

3. इसके बाद USB Debugging को इनेबल करें। फिर नीचे स्क्रॉल करें और OEM Unlocking को भी इनेबल करें।

4. सबसे पहले स्मार्टफोन में KingRoot नामक ऐप को डाउनलोड करें।


5. ऐप ओपन होने के बाद फिर Continue पर क्लिक करें। फिर उसके बाद Allow पर क्लिक करें।

6. अब थोड़ी लोडिंग होगी और आपको थोड़ा इंतजार करना है। इसके बाद Root पर टैप करें।

7. इसके बार Rooting Process शुरू हो जायेगी। अब जैसे ही 100% प्रोसेस हो जायेगी तो आपका एंड्रॉयड Phone Root हो जाएगा।


कंप्यूटर/लैपटॉप के माध्यम से एंड्रॉयड फोन रूट कैसे करें? (दूसरा तरीका)

1. सबसे पहले अपने PC में KingoRoot नामक सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करें।

2. अब अपने फोन में Setting > About Phone > Version > Build Number पर सात बार टैप करें। फिर डेवलपर ऑप्शन के बाद को इनेबल करें।

3. अब जैसे ही PC/लैपटॉप में KingoRoot ओपन हो जाए उसके बाद अपने एंड्रॉयड फोन तथा लैपटॉप को USB केबल के माध्यम से कनेक्ट करें।


नोट: इस दौरान आपके PC में इंटरनेट कनेक्शन होना बेहद जरूरी है।

4. अब डिवाइस कनेक्ट होने के बाद आपके कंप्यूटर में आपके फोन से रिलेटेड Driver डाउनलोड होगा। जैसे ही वह Driver डाउनलोड हो जाएगा तो आपको कंप्यूटर में एक Flash Message दिखाई देगा जिसमें “Root Status NO” लिखा हुआ आयेगा।

5. अब आपको उस बॉक्स के नीचे एक Root नामक बटन दिखाई देगा। आपको इस बटन पर क्लिक करना है और Rooting प्रक्रिया शुरू हो जायेगी।

6. अब जैसे ही Root प्रकिया खत्म हो जायेगी तब आपको Finish पर क्लिक करना है।


इसके बाद अपने एंड्रॉयड फोन और लैपटॉप को डिस्कनेक्ट करें और अपने फोन को Restart करें। इस प्रकार अब देखोगे कि आपका फोन Root हो चुका है।

Rooted मोबाइल को UnRoot कैसे करें?

1. सबसे पहले आप SuperSu ऐप को अपने फोन में डाउनलोड करें।

2. ऐप को ओपन करें तथा अगर यह एप कुछ Permission मांगती है तो एलाऊ करें। उसके बाद फिर “Full Unroot” पर क्लिक करें।

3. अब इसके बाद एक बार Confirm पर क्लिक करें। इसके बाद यहां Continue पर टैप करें।

4. अब जैसे ही फोन सक्सेसफुली UnRoot होता है यह एप ऑटोमैटिक बंद हो जाएगा।

5. अब इसके बाद अपने फोन को एक बार Restart करें। यहां तक की अब आप SuperSu को भी अनइंस्टॉल कर सकते हैं।

फोन को रूट करने के फायदे

1. Bloatware हटाने की सुविधा 

जब भी कोई आप नया फोन खरीदते हैं तो उसमें बहुत सारे ऐसे एप्लीकेशन होते हैं जो सिस्टम में पहले आते हैं। उन्हें Pre Installed एप्स भी कहा जाता है। कुछ Apps तो हमारे काम के होते हैं लेकिन कुछ एप्स की हमें जरूरत नहीं होती है। लेकिन हम चाह कर भी उसे System से Uninstall या Remove नहीं कर पाते हैं। इन Apps को ही Bloatware कहते हैं।

लेकिन जब आप अपना Phone Root करते हैं। तब developer Option Enable होने की वजह से आप उन Blotware को आसानी से System Apps होने के बावजूद भी Remove कर पाओगे। जिसकी वजह से आपकी फोन स्टोरेज भी बड़ जायेगी और आपका फोन Smooth हो जाएगा।

2. अपने हिसाब से फोन कस्टमाइजेशन की सुविधा

फोन रूट करने के बाद आप अपने फोन को Customise करने की पूरी सुविधा मिलती है। मतलब एक बार फोन रूट कर लेने के बाद आप को अपने Themes, Fonts, Wallpaper, Navigation, Interface, Control Panel Buttons, Gesture, App Launcher Style, Status Bar, Boot Animation इत्यादि सब कुछ अपने हिसाब से रख सकते हैं।

साथ ही आप अपने फोन की ऐसी कस्टमाइजेशन जोकि नॉर्मल संभव नहीं है। वह भी आप Rooting के बाद कर पाओगे जैसे कि RAM एक्सटेंड करना इत्यादि। इसके साथ ही आप Custom ROM को भी आसानी से इंस्टॉल करने में सक्षम हो जाओगे।

3. Phone की Performance बढ़ाएं 

अगर आपके फोन की परफॉर्मेंस कम हो चुकी है तो आप अपने Phone को root करके फोन एक्सपीरियंस को कई गुना तक बढ़ा सकते हैं। क्योंकि Rooting आपकी स्टोरेज और सिस्टम Apps को ऑप्टिमाइज करता है जिससे परफॉर्मेंस बढ़ती है।

4. Ad-Blocking में मदद

फोन रूट करने के बाद आप किसी भी एप्लीकेशन में आसानी से Ad-Blocking का प्रयोग कर सकते हैं। इसकी वजह से आपको उसे Apps में आने वाली एडवर्टाइजमेंट दिखाई नहीं देगी। जिसकी वजह से आपका फोन एक्सपीरियंस काफी ज्यादा बढ़ जाएगा। हालांकि नॉर्मल फोन में आप किसी भी एप्लीकेशन के अंदर Ad Block नहीं कर पाओगे।

संबंधित: मोबाइल में ऐड (Ads) कैसे बंद करें?

फोन को रूट करने के नुकसान

1. Warranty का एक्सपायर होना

जब भी नया फोन खरीदा जाता है तो उसके साथ आपको वारंटी या गारंटी दी जाती है परंतु अगर आप अपने फोन को एक बार रूट कर लेते हैं तो कंपनी की तरफ से वह टैग है जाता है इसका अर्थ है कि अब आप अपने फोन को वारंटी के अंदर ठीक नहीं कर सकते क्योंकि रूट करने से फोन की वारंटी पूर्ण रूप से खत्म हो जाती है।

2. फोन में वायरस तथा सिक्योरिटी समस्या होना

जब आप कोई नया फोन खरीद कर लाते हैं तो उसमें आपको बहुत सारे Security Patches तथा फीचर्स मिलते हैं। लेकिन कुछ ऐसे फीचर्स होते हैं, जिसे Phone Developers Restrict करके रखते हैं। परंतु मोबाइल रुट करने की वजह से वो restriction हट जाता है। जिसकी वजह से अगर आप कोई unauthorised App को डाउनलोड कर सकते हैं।

जिससे फिर आपके मोबाइल में वायरस आने का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है। वहीं ज्यादातर मामलों में तो वायरस आ भी जाता है और जिसकी वजह से फोन कई बार खराब हो जाते है।

3. Updates का मिलना बंद होना

किसी भी फोन की Performance को बढ़ाने के लिए अपडेट का काफी बड़ा योगदान देता है। जब भी कोई नया फोन लॉन्च होता है तो कंपनी उसे फोन के लिए 2 या 5 साल के अपडेट का वादा करती है। इस हिसाब से वह आपको अपडेट देती रहती है। परंतु अगर आप अपने फोन को Root कर लेते हैं तो आपको अपडेट मिलना बंद हो जाते हैं। जिसकी वजह से आपके फोन में कई सारे Bugs, Virus या Security से संबंधित समस्या उत्पन्न हो जाएगी।

4. Phone का Dead होना

किसी भी फोन को Root करने से पहले आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि फोन रूट करने से आपका फोन डेड भी हो सकता है। जिसका मतलब यह है की आप अपने फोन का फिर दोबारा कभी इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसका अर्थ है कि आपका Phone हमेशा के लिए डेड हो जाएगा।

तो दोस्तों आशा करते हैं की मोबाइल रुट करने से जुड़ी पूरी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल चुकी होगी, अब अपने फ़ोन को रूट करना या ना करना यह आपके ऊपर है।

यह भी पढ़ें;

Previous articleफोटो से फ़ेसबुक आईडी कैसे निकाले? (किसी की भी)
Next articleमोबाइल से अपना ब्लड प्रेशर (BP) कैसे चेक करे?
Arun Kumar
अरुण कुमार हिमाचल प्रदेश से संबंध रखते हैं। यह साल 2018 से लेखक का कार्य कर रहे हैं एवं टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, इंटरनेट ट्रिक्स, मोबाइल इत्यादि विषयों में कुशल हो चुके हैं। इन्होंने अब तक कई सारे मोबाइल न्यूज़ ब्लॉग तथा हिन्दी टेक्नोलॉजी ब्लॉग के लिए कार्य किया है।

35 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here